मध्यप्रदेश राज्य की पूरी जानकारी – Complete information of Madhya Pradesh in Hindi

Madhya Pradesh in Hindi : मध्यप्रदेश भारत का एक प्रमुख राज्य है जो भारत के केंद्र में स्थापित है। मध्यप्रदेश क्षेत्रफल के हिसाब से दूसरा सबसे बड़ा भारतीय राज्य है जबकि जनसंख्या के हिसाब से 75 मिलियन निवासियों के साथ पांचवा सबसे बड़ा राज्य है। मध्य प्रदेश कुछ उन राज्यों में से एक है जो चारों और से कई राज्यों से घिरा हुआ है, यह राज्य उत्तर-पूर्व, छत्तीसगढ़ से दक्षिण-पूर्व, महाराष्ट्र से दक्षिण, गुजरात से दक्षिण-पश्चिम और उत्तर-पश्चिम में राजस्थान से घिरा है। लेकिन इस राज्य की एक अलग बात यह भी है कि यह अपनी सीमा किसी भी देश के साथ साझा नहीं करता है। मध्य प्रदेश हमारी संस्कृति, इतिहास, कला और परंपरा को जोड़ते हुए भारत का प्रमुख राज्य है जिसे भारत का “हृदय प्रदेश” भी कहा जाता है। मध्य प्रदेश भारत की प्राकृतिक सुन्दरता का खजाना भी है जहा आपको एक से एक प्राकृतिक नज़ारे देखने को मिलते है।

यदि आप मध्य प्रदेश राज्य की महत्वपूर्ण जानकारी पाना चाहते है तो इस लेख को पूरा जरूर पढ़े जिसमे हम मध्य प्रदेश का इतिहास, संस्कृति, वेशभूषा, खानपान, भाषा, त्यौहार, और मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थलों को जानने वाले है –

Table of Contents

मध्य प्रदेश का इतिहास – History of Madhya Pradesh in Hindi

मध्य प्रदेश का इतिहास - History of Madhya Pradesh in Hindi

मध्य प्रदेश का इतिहास काफी विस्तृत और ऐतिहासिक है, नर्मदा घाटी के हथनौरा में पाए गए होमो इरेक्टस के अलग-अलग अवशेषों से पता चलता है कि मध्य प्रदेश शायद मध्य प्लीस्टोसीन युग में बसा हुआ था। लेकिन यदि हम मध्यप्रदेश के आधुनिक इतिहास पर नजर डाले तो मध्य प्रदेश भारत का एक ऐसा राज्य निकल कर सामने आता है जिस पर सुंग, अंधरा, सातवाहन, क्षत्रप, नागा और गुप्तों जैसे राजवंशों जैसे कई महान साम्राज्यों ने शासन किया है। मध्य प्रदेश पर सबसे पहले मुगलों का राज था जबकि स्वतंत्रता प्राप्ति से पहले यह ब्रिटिश शासन के कब्जे में था। अंग्रेजों के राज्य संभालने के बाद, इसे केंद्रीय प्रांत घोषित किया गया। स्वतंत्रता के बाद, 1956 के राज्य पुनर्गठन अधिनियम के प्रावधान के तहत, मध्य प्रदेश को 1 नवंबर 1956 को एक उचित राज्य का दर्जा दिया गया था। छत्तीसगढ़ को एक नई राज्य के रूप में नवंबर 2000 में इसके एक हिस्से को विभाजित कर दिया गया था।

मध्यप्रदेश राज्य के कुछ महत्वपूर्ण और रोचक तथ्य – Some important and interesting facts of Madhya Pradesh in Hindi

  • मध्य प्रदेश भारत के मध्य में स्थित है और इसलिए इसे ‘भारत का हृदय’ कहा जाता है।
  • मध्य प्रदेश राज्य की स्थापना 1 नवंबर 1956 को हुई थी इसीलिए हर साल 1 नवंबर को मध्य प्रदेश स्थापना दिवस मनाया जाता है।
  • भोपाल मध्यप्रदेश राज्य की राजधानी है।
  • बता दे मध्य प्रदेश भारत का एक ऐसा राज्य है जो किसी देश के साथ अपनी सीमा साझा नही करता है।
  • इस भूमि से कुछ महत्वपूर्ण नदियाँ बहती हैं जैसे बेतवा नदी, चंबल, इंद्रावती, महानदी और सोन नदी जबकि नर्मदा नदी मध्य प्रदेश की सबसे महत्वपूर्ण नदी है जिसे मध्य प्रदेश की जीवन दायनी के नाम से भी जाना जाता है।
  • इंदौर मध्यप्रदेश की सबसे बड़ी सिटी है जिसे भारत के सबसे स्वच्छ शहर के रूप में भी घोषित किया जा चूका है।
  • मध्यप्रदेश क्षेत्रफल के हिसाब भारत का दूसरा सबसे बड़ा राज्य है जिसका क्षेत्रफल 308,245 वर्ग किमी है।
  • जनसंख्या के द्रष्टिकोण से मप्र भारत का पांचवा सबसे बड़ा राज्य है। 2011 जनगणना के अनुसार मध्य प्रदेश की जनसंख्या 33 करोड़ थी।
  • मध्य प्रदेश की मुख्य फसल गेहूंहैं लेकिन इसके साथ साथ मप्र में गन्ना, चना, मटर, राई, सरसों, मसूर, चावल, सोयाबीन, कपास, गन्ना, मूंगफली, तिल, तुअर, ज्वार, मक्का, सूर्यमुखी जैसी विभिन्न फसलों का उत्पादन भी किया जाता है।

मध्यप्रदेश की संस्कृति और परम्पराएँ – Culture and Traditions of Madhya Pradesh in Hindi

मध्य प्रदेश की संस्कृति स्वदेशी परंपराओं और राज्य के एक बड़े हिस्से में निवास करने वाली जनजातियों की रीति-रिवाजों से काफी प्रभावित है। यह राज्य सभी धर्म और समुदायों का घर है इसीलिए यह राज्य सभी धर्म के लोगो की अलग अलग संस्कृतियों के रंग में रंगा हुआ है। मध्य प्रदेश की संस्कृति में हिंदू, मुस्लिम, बौद्ध, जैन, ईसाई और सिखों का सामंजस्यपूर्ण समामेलन है। इस राज्य में सभी धर्म और जनजातियों के लोगो को अपनी अपनी संस्कृति अपनाने की स्वतंत्रता है इसीलिए यह राज्य किसी भी एक परम्परा या संस्कृति का अनुसरण नही करता है। जब आप मध्य प्रदेश के अलग अलग हिस्से में जायेंगे तो आपको अलग अलग संस्कृति और परम्परायें देखने को मिलेगी।

मध्य प्रदेश की भाषा और धर्म – Local language and Religion of Madhya Pradesh in Hindi

मध्य प्रदेश की मुख्य भाषा हिंदी है लेकिन इसके अलावा मध्य प्रदेश में मालवीय, कोरकूम तिरहरी, ब्रज भाषा, बघेलखंडी, निमाड़ी, बुंदेलखंडी, गोड़ी भाषायें भी बोली जाती है। यदि हम मध्यप्रदेश के धर्म की बात करें तो 2011 की जनगणना के अनुसार, मध्यप्रदेश में 90.89% हिन्दू, 6.57 % मुस्लिम, 0.78% जैन, 0.29% बौद्ध, 0.29% ईसाई और 0.20% सिख धर्म के लोग निवास करते है।

मध्य प्रदेश के लोगो की पारंपरिक वेशभूषा – Traditional Costumes of Madhya Pradesh in Hindi

संस्कृति और परम्परायों की तरह मध्य प्रदेश की वेशभूषा भी यहाँ निवास करने वाले विभिन्न धर्म के लोगो और जनजातियों से प्रभावित है लेकिन मध्य प्रदेश की पारंपरिक वेशभूषा आज भी इस राज्य में जीवित है जो भारत के अन्य राज्यों के काफी अलग है जिसमें आदिवासी लोग ज्यादातर चांदी के आभूषण पहनते हैं –

पुरुषों के लिए मध्य प्रदेश की पारंपरिक वेशभूषा

धोती और सफा मध्य प्रदेश के पुरुषों के लिए प्रसिद्ध पारंपरिक पोशाक है जो काफी आरामदायक भी होती है। सफा, एक प्रकार की पगड़ी है जो पुरुषों के लिए गर्व और सम्मान का प्रतीक माना जाता है। मिर्ज़ाई और बांदी सफेद या काले रंग में एक प्रकार की जैकेट हैं जो मध्य प्रदेश में पुरुषों की पारंपरिक पोशाक का एक हिस्सा बनती हैं, खासकर मालवा और बुंदेलखंड के क्षेत्रों में। इनके अलावा विभिन्न त्योहारों और अवसरों में राज्य के सभी धर्म के लोगो और जनजातियों द्वारा अपनी अपनी पारंपरिक वेशभूषा और कपडे पहने जाते है।

मध्य प्रदेश की महिलायों के पारंपरिक कपड़े

मध्य प्रदेश में महिलाओं के बीच लीन्गा और चोली सबसे प्रसिद्ध पारंपरिक पोशाक है। ओधनी एक प्रकार का दुपट्टा है जो सिर और कंधों को कवर करता है और पारंपरिक पोशाक का एक अनिवार्य तत्व है। कपड़े में काले और लाल रंग सबसे लोकप्रिय रंग हैं। वर्तमान परिदृश्य में, साड़ी भी मध्य प्रदेश में महिलाओं के परिधान का हिस्सा बन गई है।

मध्य प्रदेश के लोकप्रिय हस्तशिल्प –  Popular Handicrafts of Madhya Pradesh in Hindi

मध्य प्रदेश के लोकप्रिय हस्तशिल्प -  Popular Handicrafts of Madhya Pradesh in Hindi

मध्य प्रदेशराज्य अपने हस्तशिल्प और विभिन्न कला रूपों के लिए जाना जाता है उनमें से कुछ सबसे प्रसिद्ध बांस और बेंत के हस्तशिल्प, कालीन, डुरियाँ, लोक चित्र, जूट वर्क्स आदि के नाम शामिल है। साप्ताहिक बाज़ारों में इन दस्तकारी वस्तुओं को बनाने और बेचने वाले समुदाय को बसोड़ या बसोर कहा जाता है। इनके अलावा मध्य प्रदेश अपने बुनाई के काम के लिए भी जाना जाता है जिनमे माहेश्वरी और चंदेरी साड़ियाँ सबसे जाड्या प्रसिद्ध है।

 मध्य प्रदेश की जनजातियाँ – Tribes of Madhya Pradesh in Hindi

मध्य प्रदेश की जनसंख्या में यहाँ निवासरत जनजातियों की बड़ी संख्या शामिल है। मध्य प्रदेश की जनजातियाँ की सबसे प्रमुख जनजातियाँ गोंड, कोल, भील, मुरीस, बेगस, कोरकस, कामरस, मारीस और उरोन है। गोंड की जनजाति व्यावहारिक रूप से सबसे अछूती है। प्रत्येक जनजाति के संगीत, नृत्य, आभूषण और यहां तक ​​कि निवास स्थान में काफी भिन्नता देखने को मिलती है।

मध्य प्रदेश में मनाये जाने वाले प्रमुख त्यौहार – Famous Festivals Of Madhya Pradesh in Hindi

मध्य प्रदेश में मनाये जाने वाले प्रमुख त्यौहार - Famous Festivals Of Madhya Pradesh in Hindi

भारत के दिल के रूप में जाने जाना वाला मध्य प्रदेश अपनी सांस्कृतिक विरासत और त्यौहार के लिए प्रसिद्ध है। मध्य प्रदेश में आयोजित होने वाले लोकप्रिय फेस्टिवलो को कहीं और नहीं देखा जा सकता है। भारत के किसी भी अन्य स्थान की तरह मध्य प्रदेश कई धर्मों का सह अस्तित्व है जो विभिन्न त्योहारों के उत्सव के साक्षी होते हैं। जिसमे धार्मिक त्योहारों के साथ-साथ आदिवासी त्योहार भी देखने को मिलते हैं। धार्मिक त्योहारों में दशहरा, दिवाली, ईद, जैन त्योहार और क्रिसमस शामिल हैं, जबकि आदिवासी त्योहारों में मडई, भगोरिया और करबा शामिल हैं। इनके अलावा झाबुआ में दुनियाभगोरिया हाट, नृत्य खजुराहो का नृत्य समरोह, ग्वालियर का तानसेन संगीत समारोह, मडई त्यौहार, और प्रयागराज का मेला भी प्रसिद्ध हैं।

मध्य प्रदेश के मेले और त्यौहारों के दौरान, आपको पारंपरिक वेशभूषा, नृत्य, संगीत, भोजन और कला और स्थानीय जनजातियों के शिल्प भी देखने को मिलते हैं।

और पढ़े : मध्य प्रदेश के प्रमुख त्यौहार और मेलो की जानकारी

मध्य प्रदेश का प्रसिद्ध और स्थानीय भोजन- Famous & Local Food Of Madhya Pradesh in Hindi

मध्य प्रदेश का प्रसिद्ध और स्थानीय भोजन- Famous & Local Food Of Madhya Pradesh in Hindi

भारत दिल मध्य प्रदेश राज्य में भोजन विभिन्न शैलियों और विशिष्टताओं के साथ बनाया जाता है। मध्य प्रदेश की सीमा विभिन्न राज्यों से लगी होने की वजह से यह अपने स्थानीय भोजन के अलावा दूसरे राज्य के भोजन से भी प्रभावित है। मध्य प्रदेश में आप सभी तरह के भोजन का स्वाद चख सकते हैं। बता दें कि यहां के मुख्य भोजन में गेहूं के आटे की रोटी, दाल चावल, मांस और मछली, दाल बाफला, बिरयानी, कबाब, रोगन जोश, जलेबी, लाडो, कोरमा, पोहा के नाम शामिल हैं। इसके अलावा आप स्ट्रीट फूड में कई तरह के चटपटी चीजों का स्वाद ले सकते हैं। अगर मध्य प्रदेश के कुछ स्थानीय पेय पदार्थों में लस्सी, बीयर, गन्ने का रस और नीबू पानी का नाम शामिल है।

मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्यटक स्थल – Tourist Places in Madhya Pradesh in Hindi

मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्यटक स्थल - Tourist Places in Madhya Pradesh in Hindi

मध्य प्रदेश भारत का एक प्रमुख पर्यटक राज्य है जो अपनी कला, संस्कृति, परपंरा और वेशभूषा के साथ साथ अपने पर्यटक स्थलों के लिए भी जाना जाता है। मध्य प्रदेश विश्व भर के यात्रियों के लिए भारत के प्रमुख दर्शनीय स्थानों में से एक बना हुआ है जो यहां आने वाले पर्यटकों को अपने कई ऐतिहासिक स्मारकों, मंदिरों, किले, महलों से काफी आकर्षित करता है

मध्य प्रदेश के टॉप पर्यटक स्थल

और पढ़े : मध्य प्रदेश में एडवेंचर एक्टिविटीज की 5 खास जगह, जहा दूर दूर से सैलानी आते है मनोरंजन के लिए

मध्य प्रदेश केसे जायें – How To Reach Madhya Pradesh in Hindi

जब कोई भी मध्य प्रदेश घूमने के लिए जाने का प्लान बनाता है तो उसके दिमाग प्रश्न जरुर आता है कि कि वायु, सड़क और ट्रेन माध्यमों द्वारा मध्य प्रदेश आसानी से कैसे पहुंचा जा सकता है। आइये हम आपको मध्य प्रदेश की यात्रा के बारे में जानकारी देते हैं।

सड़क मार्ग से मध्य प्रदेश कैसे पहुंचे- How To Reach Madhya Pradesh By Road in Hindi

सड़क मार्ग से मध्य प्रदेश कैसे पहुंचे- How To Reach Madhya Pradesh By Road in Hindi

मध्य प्रदेश राज्य की सीमा 5 राज्यों गुजरात, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र से लगती है जिसकी वजह से सभी राज्य सड़क मार्गों द्वारा मध्य प्रदेश के शहरों और कस्बों से अच्छी तरह जुड़ें जुड़े हैं। एनएच 7, एनएच 12A, एनएच 25, एनएच 26, एनएच 27, एनएच 69, एनएच -3, एनएच 92, एनएच 12 आदि जैसे कुछ प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्ग मध्य प्रदेश से होकर गुजरते हैं। मध्य प्रदेश के कुछ प्रमुख पर्यटन स्थान जैसे आगरा, जयपुर, वाराणसी, रणथंभौर, रायपुर, ताडोबा राष्ट्रीय उद्यान, विशाखपट्टनम, अजंता, एलोरा, उदयपुर, चित्तौड़गढ़, माउंट आबू, चंबल अभयारण्य, अहमदाबाद, लखनऊ आदि से सड़क माध्यम द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा है। मध्य प्रदेश के खास पर्यटक स्थलों जैस भोपाल , इंदौर, खजुराहो, ग्वालियर, जबलपुर जाने के लिए आप टैक्सी भी किराए पर ले सकते हैं।

ट्रेन से मध्य प्रदेश कैसे जायें – How To Reach Madhya Pradesh By Train in Hindi

ट्रेन से मध्य प्रदेश कैसे जायें – How To Reach Madhya Pradesh By Train in Hindi

मध्य प्रदेश राज्य भारतीय रेलवे नेटवर्क से अच्छी तरह कनेक्टेड है। भारत के मध्य में स्थित होने की वजह से देश के ज्यादातर प्रमुख रेलवे ट्रैक अपने केंद्रीय स्थान के कारण इस राज्य से गुजरते हैं। मध्य प्रदेश के सभी महत्वपूर्ण शहर और पर्यटन स्थल सीधी ट्रेनों से आगरा, दिल्ली, मुंबई, बैंगलोर, चेन्नई, कोलकाता, रणथंभौर, उदयपुर, अहमदाबाद, पुरी, हरिद्वार, वाराणसी, जयपुर, हैदराबाद जैसे देश के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह जुड़े हुए हैं।  मध्य प्रदेश के इटारसी, बीना, कटनी, उज्जैन,  इंदौर, ग्वालियर, छिंदवाड़ा, देवास, खंडवा आदि के शहरों के अंदर रेल अंदर स्थित होने की वजह से देश की लगभग सभी ट्रेन मध्य प्रदेश से गुजरती हैं।

फ्लाइट से मध्य प्रदेश तक कैसे पहुंचे – How To Reach Madhya Pradesh By Flight in Hindi

फ्लाइट से मध्य प्रदेश तक कैसे पहुंचे – How To Reach Madhya Pradesh By Flight in Hindi

मध्य प्रदेश राज्य भारत के प्रमुख पर्यटन स्थलों और शहरों जैसे दिल्ली, मुंबई, पुणे, श्रीनगर, नागपुर, विशाखापत्तनम, हैदराबाद, बैंगलोर, अहमदाबाद से हवाई मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। मध्य प्रदेश राज्य के प्रमुख हवाई अड्डे भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर और खजुराहो में स्थित हैं। मध्य प्रदेश में एयर-टैक्सी सेवा से ये सभी हवाई अड्डे अच्छी तरह से जुड़े हुए हैं जो राज्य के प्रमुख शहरों के भीतर तेजी से परिवहन की अच्छी सुविधा देते हैं।

और पढ़े : मध्य प्रदेश के 10 प्रसिद्ध शहर 

इस लेख में आपने मध्य प्रदेश राज्य (Complete information of Madhya Pradesh in Hindi) के बारे में जाना है आपको हमारा यह लेख केसा लगा हमे कमेंट्स में जरूर बतायें।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

मध्य प्रदेश का मेप – Mep of  Madhya Pradesh

और पढ़े :

Leave a Comment