क्या आप जानते है ? दुनिया के इस एक मात्र तैरते हुए केयबुल लामजाओ राष्ट्रीय उद्यान के बारे में नही तो एक बार जरूर जान लें

Keibul Lamjao National Park in Hindi : कीबुल लामजाओ नेशनल पार्क दुनिया का एकमात्र तैरता हुआ राष्ट्रीय उद्यान है, जो भारत के मणिपुर राज्य के उत्तर-पूर्व में स्थित है और यह लोकतक झील का एक प्रमुख हिस्सा है। केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क 40 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है जिसे 1977 में राष्ट्रीय रिजर्व के रूप में घोषित किया गया था। यह खूबसूरत पार्क 450 से अधिक किस्मों के ऑर्किड की मेजबानी करता है जबकि इसमें जलीय वनस्पतियों की 100 से अधिक प्रजातियों सहित हिमालयी चितकबरे किंगफिशर, ब्लैक पतंग, बत्तख आदि पक्षियों की कई प्रजातियां भी पाई जाती हैं। तथ्य यह है कि यह एक तैरता हुआ द्वीप है, एक अनूठी विशेषता है जो दुनिया भर से प्रकृति के प्रति उत्साही और शोधकर्ताओं को आकर्षित करती है। प्रकृति का यह पहलू जादुई है जिसे केवल इम्फाल में ही देखा जा सकता है।

यदि आप केयबुल लामजाओ नेशनल पार्क घूमने जाने या फिर इस अनोखे पार्क के बारे में जानना चाहते है तो हमारे इस लेख को पूरा जरूर पढ़े –

काइबुल लामजाओ नेशनल पार्क का इतिहास – History of Keibul Lamjao National Park in Hindi

काइबुल लामजाओ नेशनल पार्क का इतिहास - History of Keibul Lamjao National Park in Hindi
Image Credit : Karthik Sjk

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क को सबसे पहले संगाई हिरण की रक्षा के लिए 1953 में एक अभयारण्य के रूप में जाना गया था। लेकिन आधिकारिक तौर पर इसे 1966 में एक अभयारण्य के रूप में घोषित किया गया था, और 1977 में इसे केइबुल लामजाओ राष्ट्रीय उद्यान के रूप में घोषित किया गया था, और तब से यहाँ किसी को भी शिकार की अनुमति नहीं दी गई है।

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क की स्थलाकृति – Topography of Keibul Lamjao National Park in Hindi

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क की स्थलाकृति – Topography of Keibul Lamjao National Park in Hindi
Image Credit : Kim Baite

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क मूल रूप से वनस्पति के कई तैरने वाले टापूयों के साथ एक दलदल है, जो कि मिट्टी के कणों के साथ कार्बनिक डंप और बायोमास के संचय द्वारा निर्मित है। लोकतक झील में तैरते हुए ये टापू इतने बड़े होते हैं कि काफी भारी स्तनधारी जीव उन पर जीवित रह सकते हैं। कुछ फुमदी झील के पार तैरती हैं जबकि कुछ पानी के नीचे जमीन से जुड़ी जड़ों के साथ स्थित होती हैं। यह क्षेत्र वेटलैंड के संरक्षण के लिए रामसर साइट्स की सूची में शामिल है। 1997 तक, पार्क का कुल क्षेत्रफल 4,000 हेक्टेयर से अधिक था, हालांकि, अब इसे घटाकर लगभग 2,200 हेक्टेयर कर दिया गया है। राष्ट्रीय उद्यान के कुल क्षेत्रफल का एक बड़ा हिस्सा तैरते हुए टापू या फुमदी से बनता है।

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क की वनस्पति और जीव – Flora and Fauna of Keibul Lamjao National Park in Hindi

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क की वनस्पति और जीव – Flora and Fauna of Keibul Lamjao National Park in Hindi

वन्यजीव

दुनिया का एक मात्र तैरता हुआ केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क लीयर स्काईलार्क, नॉर्दर्न हिल मैना, बर्मीस पाइद मैना, नॉर्थ इंडियन ब्लैक ड्रोंगोस, जंगल क्रो, येलो हेडेड वैगेटल, विभिन्न प्रकार के डक, क्रेन और वुड पेकर्स जैसे पक्षियों की कई प्रजातियों का घर है। जबकि जानवरों में, ब्रो एंटेलियर डियर या डांसिंग डियर, हॉग डियर, जंगली सूअर, बड़े भारतीय सिवेट, फॉक्स, जंगल कैट, गोल्डन कैट, बे बांस रैट, मस्क क्रू, कॉमन श्रूव, फ्लाइंग फॉक्स, सांभर जैसे कई वन्यजीव यहाँ पाए जाते हैं।

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क की प्राकृतिक परिस्थितियाँ कई जलीय प्रजातियों, उभयचरों और सरीसृपों का समर्थन भी करती हैं जिनमें चन्ना स्ट्रेटा, कॉमन कार्प, कीलबैक कछुआ, वाइपर, क्रेट, कोबरा, पायथन, एशियन रैट स्नेक, वाटर कोबरा, रसेल का वाइपर और चेकर गार्टर स्नेक शामिल हैं।

वनस्पतियाँ

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क में प्रचुर मात्रा में पाई जाने वाली वनस्पति तेजस्वी है। तैरने वाले दलदल या फुमदी में इस वनस्पति का समावेश होता है जो लगभग 120 सेंटीमीटर मोटी होती है। इसके अलावा इस एरिया में लेर्सिया हेक्सेंड्रा और सिंग कांबोंग ज़िजानिया लतीफोलिया की कुछ विशिष्ट प्रजातियाँ भी पाई जाती हैं। ज़िज़ानिया लतीफ़ोलिया को मंचूरियन वाइल्ड राइस के नाम से भी जाना जाता है और यह एक ऐसा पौधा है जो प्रोटीन का एक समृद्ध स्रोत है, जो अक्सर आस-पास रहने वाले रहने वालों द्वारा खाया जाता है। इस क्षेत्र में कोइक्स लेक्रिमा-जोबी, केरेक्स और लिल्हर पॉलीगोनम परफोलिएटम जैसे कई चावल भी उगते हैं।

और पढ़े : दुनिया का सबसे बड़ा पार्क “येलोस्टोन राष्ट्रीय उद्यान” की पूरी जानकारी

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क की यात्रा के लिए टिप्स – Tips For Visiting Keibul Lamjao National Park in Hindi

यदि आप केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क की यात्रा पर जाने वाले है, तो किसी भी दुर्घटना और परेशानी से बचने के लिए नीचे दिए इन टिप्स को अपनी यात्रा के दौरान अवश्य फोलो करें –

  • ध्यान दे वन अधिकारियों द्वारा पार्क की देखरेख 24 घंटे की जाती है इसीलिए किसी भी असामान्य गतिविधि को करने का प्रयास न करें।
  • नेशनल पार्क की खोज करते समय अपने आप को हाइड्रेटेड रखने के लिए पर्याप्त पानी लें।
  • सुनिश्चित करें कि पार्क की यात्रा के लिए उचित कपड़े पहनें कैमरा, दूरबीन, टोपी, रेनकोट, सनस्क्रीन जैसी अपनी जरूर की वस्तुएं साथ ले कर चलें।

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क की टाइमिंग – Keibul Lamjao National Park Timing in Hindi

यदि आप केइबुल लामजाओ राष्ट्रीय उद्यान घूमने जाने वाले है और केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क की टाइमिंग सर्च कर रहे है तो हम आपको बता यह अनोखा राष्ट्रीय उद्यान पर्यटकों के घूमने के लिए सुबह 9.00 बजे से शाम 6.00 बजे तक खुला रहता है इस दौरान आप कभी केइबुल लामजाओ राष्ट्रीय उद्यान घूमने आ सकते है।

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क की एंट्री फीस – Entry fee of Keibul Lamjao National Park in Hindi

  • भारतीय पर्यटकों के लिए : 30 रूपये
  • विदेशी पर्यटकों के लिए : 200 रूपये

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क के आसपास घूमने की जगहें – Places to visit around Keibul Lamjao National Park in Hindi

यदि आप मणिपुर राज्य के इम्फाल में स्थित दुनिया के एक मात्र तैरता हुआ नेशनल पार्क केइबुल लामजाओ नेशनल की ट्रिप पर जाने वाले है तो हम आपको बता दे केइबुल लामजाओ पार्क के आसपास भी घूमने के लिए भी कई जगहें मौजूद है जिन्हें आप अपनी यात्रा के दौरान घूमने जा सकते है।

  • लोकतक झील
  • कंगला फोर्ट
  • तारों केव
  • शहीद मीनार
  • सिंगड़ा डेम
  • मणिपुर जूलॉजिकल गार्डन
  • श्री गोविंदजी मंदिर
  • मणिपुर स्टेट म्यूजियम
  • लंगथबल

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Keibul Lamjao National Park in Hindi

केइबुल नेशनल पार्क घूमने जाने का सबसे अच्छा समय - Best Time To Visit Keibul Lamjao National Park in Hindi

केइबुल लामजाओ राष्ट्रीय उद्यान की यात्रा का सबसे अच्छा समय अक्टूबर और मार्च के बीच है क्योंकि झील के जल स्तर पार्क का पता लगाने के लिए सबसे सही होता हैं। जबकि यदि हम दिन में घूमने के लिए सबसे अच्छे समय की बात करें तो में सुबह 6:00 बजे से 10:00 बजे और दोपहर 3:30 बजे से शाम 6:00 बजे तक घूमना सबसे अच्छा है क्योंकि संगाई हिरण ज्यादातर इन दिनों में झुंडों में चरने के लिए निकलते हैं।

और पढ़े : मई में घूमने के लिए भारत की सबसे अच्छी जगहें

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क में रुकने के लिए जगहें – Stay at Keibul Lamjao National Park in Hindi

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्कमें रुकने के लिए जगहें - Stay at Keibul Lamjao National Park in Hindi

यदि आप केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क की यात्रा में रुकने के लिए होटल्स सर्च कर रहे है तो हम आपको बता दे केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क के आसपास और इम्फाल में लगभग सभी बजट की होटल्स मिल जायेगी जिनको आप अपने बजट और चॉइस के अनुसार सिलेक्ट कर सकते है।

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क केसे पहुचें – How to reach Keibul Lamjao National Park in Hindi

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क की यात्रा पर जाने वाले पर्यटकों को बता दे आप फ्लाइट, ट्रेन या रोडवे में से किसी से भी ट्रेवल करके केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क इम्फाल पहुंच सकते है।

तो आइये नीचे डिटेल में जानते है, हम फ्लाइट ट्रेन या सड़क मार्ग से लामजाओ नेशनल पार्क केसे पहुचें

फ्लाइट में केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क केसे पहुचें – How To Reach Keibul Lamjao National Park By Flight in Hindi

फ्लाइट में केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क केसे पहुचें – How To Reach Keibul Lamjao National Park By Flight in Hindi

यदि आपने अपनी केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क की ट्रिप के लिए फ्लाइट से ट्रेवल करने के ऑप्शन को सिलेक्ट किया है, तो हम आपको बता दे केइबुल लामजाओ राष्ट्रीय उद्यान का निकटतम एयरपोर्ट इम्फाल एयरपोर्ट में है, जो पार्क से लगभग 43 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह एयरपोर्ट दिल्ली, आगरा सहित भारत के कई प्रमुख शहरों से हवाई मार्ग द्वारा जुड़ा है। फ्लाइट से ट्रेवल करके इम्फाल एयरपोर्ट पहुचने के बाद, केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क जाने के लिए आप एक टेक्सी बुक कर सकते है।

ट्रेन से केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क केसे जायें – How To Reach Keibul Lamjao National Park By Train in Hindi

ट्रेन से केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क केसे जायें – How To Reach Keibul Lamjao National Park By Train in Hindi

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क से लगभग 250 किलोमीटर की दूरी पर स्थित दीमापुर रेलवे स्टेशन पार्क का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन है। इसीलिए बेहतर होगा फ्लाइट या ट्रेन से यात्रा केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क जाएँ।।

सड़क मार्ग से केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क केसे पहुंचे – How To Reach Keibul Lamjao National Park By Road in Hindi

सड़क मार्ग से केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क केसे पहुंचे – How To Reach Keibul Lamjao National Park By Road in Hindi

बस या सड़क मार्ग से केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क इम्फाल की यात्रा करना भी एक बेस्ट ऑप्शन है, जो टूरिस्ट्स को काफी पसंद भी आता है। क्योंकि इंफाल उत्तर पूर्व के शहरों से सड़क मार्ग द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। नियमित रूप से चलने वाली निजी बसें, साथ ही इम्फाल को दीमापुर, सिलचर, कोहिमा, आइजोल, ईटानगर, नागालैंड, अगरतला और शिलांग से जोड़ती हैं। इस मार्ग पर निजी टैक्सी भी उपलब्ध हैं।

और पढ़े : मणिपुर में घूमने लायक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल की जानकारी

इस आर्टिकल में आपने केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क की ट्रिप से रिलेटेड पूरी इन्फोर्मेशन को डिटेल में जाना है आपको हमारा ये आर्टिकल केसा लगा हमे कमेंट्स में जरूर बतायें।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क का मेप – Map of Keibul Lamjao National Park

और पढ़े :

Leave a Comment