Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Leaning Tower Of Pisa In Hindi, लीनिंग टावर इटली देश के टस्कनी प्रदेश की राजधानी पीसा में स्थित है। पीसा की मीनार एक मानव निर्मित संरचना हैं जोकि दुनिया भर के पर्यटकों को बीच आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं। पीसा या टोरे पेंडेंटे डि पीसा के लीनिंग टावर को एक फ्री स्टैंडिंग घंटी टावर के रूप में जाना जाता है। पीसा स्थित लीनिंग टावर अपनी झुकी हुई मीनार के कारण लोकप्रिय है। मध्य युगीन वास्तु कलाओं में पीसा की झुकी मीनार सबसे प्रसिद्ध संरचना है। इटली का यह प्रसिद्ध टावर पीसा के अद्भुत तथा आश्चर्य जनक अजूबों में से एक है। पीसा की झुकी टावर इटली की आन-वन-शान का जीता जागता प्रतीक हैं। आठ मंजिलों वाली पीसा की झुकी हुई मीनार देखने के लिए पर्यटकों को टिकेट की जरूरत पड़ती है। यदि आप भी लीनिंग टॉवर के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को पूरा जरूर पढ़े।

1. पीसा की मीनार का इतिहास – Pisa Minar History In Hindi

पीसा की मीनार का इतिहास

पीसा की मीनार (लीनिंग टॉवर) का इतिहास राष्ट्रीय विरासत के एक हिस्से का प्रतिनिधित्व करते हुए नजर आता है। दुनिया के सात अजूबों में से एक इटली में स्थित पीसा की मीनार अपनी झुकी हुई संरचना के कारण विश्व प्रसिद्ध है। पीसा की मीनार का निर्माण सन 1173 में शुरू हुआ था और यह कार्य 200 वर्षों तक चलता रहा। टॉमासो पिसानो ने सन 1399 में टावर का काम पूरा किया। पीसा के निवासियों और इटली के फ़्लॉरेंस लोगों की आपसी दुश्मनी के चलते दोनों के बीच कई युद्ध लड़े गए। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फ़्लोरेंस के लोगों को नीचा दिखाने के लिए पीसा के वास्तुशिल्पी बोनानो पीसानो ने इस विशाल घंटी मीनार को बनाने की शुरुआत पीसा में की थी। 8 मंजिलो की इस मीनार की जब 3 मंजिल बनी तभी इस मीनार में झुकाव होने लगा था। आज भी पीसा की इस झुकी हुई मीनार को गिरने से बचाने के लगातार कई संभव प्रयास किये जा रहे है ताकि यह मीनार आने वाली पीढ़ियों के लिए भी आकर्षक स्थल के रूप में ऐतिहासिक बनी रहे।

2. पीसा की झुकी हुई टावर के बारे में रोचक तथ्य – Leaning Tower Of Pisa Facts In Hindi

पीसा की झुकी हुई टावर के बारे में रोचक तथ्य

  • पीसा की मीनार के उत्तर की ओर 294 और दक्षिण की ओर 296 सीढ़ियाँ हैं।
  • लीनिंग टॉवर के शीर्ष पर बेल-चैंबर में सात घंटी बैठती हैं जोकि संगीत के प्रमुख पैमाने के प्रत्येक नोट के लिए एक घंटी है।
  • द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जर्मनों ने लीनिंग टॉवर का उपयोग एक तलाश के रूप में किया था।
  • जहॉ यह मीनार खडी है उस स्‍थान कोकैथेड्रल स्क्वायर कहा जाता है।
  • कैथेड्रल स्क्वायर को 1987 में विश्व धरोहर स्थल घोषित किया गया था।

और पढ़े:  इटली देश के बारे में जानकारी और प्रमुख पर्यटन स्थल 

3. पीसा की मीनार का रहस्य – Pisa Ki Jhuki Minar Ka Rahasya In Hindi

पीसा की मीनार का रहस्य

पीसा के मीनार से जुड़े रहस्य को लेकर कई सवाल खड़े हुए है। हर कोई इस रहस्य को जानने के लिए उत्सुक रहता है की पीसा की मीनार इतनी झुकी हुई होने के बाद भी 500 सालों से भी ज्यादा समय से ऐसी ही खडी है। इटली के लीनिंग टॉवर का यह रहस्य पूरी दुनिया को चौकाने वाला है कि आखिर इस पीसा की मीनार में ऐसा क्या है जो इसे गिरने से बचा रहा है। कुछ वैज्ञानिकों ने इस रहस्य के बारे में यह जानकारी दी है कि पीसा की मीनार की नीव बनाने में एक विशेष प्रकार की मुलायम मिट्टी का उपयोग किया गया था। इस मुलायम मिट्टी के कारण ही यह मीनार झुक गई थी। वैज्ञानिकों ने इसी मिट्टी को इस मीनार के अब तक बचे रहने की बजह बताई है। जब से यह मीनार बनी तबसे 4 बड़े भूकंप भी आ चुके है परन्तु इटली में स्थति इस मीनार को हिला भी नही पाए। इस मुलायम मिट्टी की ख़ास बात यह है कि भूकंप से होने वाले कम्पन्न को यह मिट्टी खुद ही संभाल लेती है।

4. लीनिंग टॉवर कहा पर स्तिथ है – Pisa Ki Minar Kis Desh Mein Sthit Hai

पीसा की मीनार इटली देश के टस्कनी प्रदेश की राजधानी पीसा में स्थित है।

5. पीसा की झुकी हुई मीनार की संरचना – Leaning Tower Of Pisa Architecture In Hindi

पीसा की झुकी हुई मीनार की संरचना

इटली के पीसा शहर में पियाज़ा दे मीराकोली (चमत्कारों का चौक) कहा जाने वाला स्थान पीसा की झुकी हुई मीनार के कारण बहुत प्रसिद्ध है। पीसा के मीनार की संरचना मध्ययुगीन रोमनस्क्यू शैली में इस आकर्षक टावर का निर्माण सेफद संगमरमर से बने गोलाकार बेल टॉवर के रूप में किया गया था। फ्रीस्टैंडिंग घंटी टॉवर की उंचाई 57 मीटर है इसमें सबसे ऊपर की तीन मंजिले लगभग 4 डिग्री के खतरनाक कोण तक झुकी हुई है। नीचे की मंजिल में 15 संगमरमर के मेहराब होते हैं जबकि अगले छह मंजिला में प्रत्येक में 30 होते हैं और शीर्ष घंटी कक्ष में 16 होते हैं। मीनार के उत्तर की ओर 294 और दक्षिण की ओर 296 सीढ़ियाँ बनी हुई हैं।

6. लीनिंग टॉवर ऑफ़ पीसा की ऊंचाई – Height Of Leaning Tower Of Pisa In Hindi

लीनिंग टावर ऑफ़ पीसा की ऊंचाई 57 मीटर है।

7. पीसा की मीनार को किसने बनाया – Pisa Ki Minar Ko Kisne Banaya In Hindi

पीसा की झुकी हुई मीनार का निर्माण बोनानो पिसानो या घेरादो डी घेरादो द्वारा किया गया था। कई इतिहासकारों द्वाराइसआठ मंजिला मीनार का वास्तुकार बोनेब्रस को भी बताया जाता है।

और पढ़े: कोलोसियम का इतिहास और इसके 25 के रोचक तथ्य

8. पीसा की झुकी हुआ टावर कब बना – How Old Is The Leaning Tower Of Pisa In Hindi

पीसा के लीनिंग टॉवर को बनाने में लगभग 200 साल का समय लगा था जिसकी शुरुआत अगस्त 1173 में हुई थी। इस मीनार का निर्माण 3 चरणों में पूरा हुआ जोकि सन 1399 में जाकर संपन्न हुआ। सन 1990 तक पीसा की मीनार का दौरा करने वाले पर्यटक इस मीनार की सर्पिल सीढ़ी के 294 चरणों पर चढ़ सकते थे। लेकिन सन 1990 के बाद इस मीनार को बंद कर दिया गया था। इसके बाद वर्ष 2001 में इस शानदार मीनार को पर्यटकों के लिए पुनः खोल दिया गया।

9. पीसा की मीनार झुकी हुई क्यों है – Pisa Ki Minar Jhuki Hui Kyo Hai In Hindi

पीसा की मीनार झुकी हुई क्यों है

लीनिंग टॉवर (पीसा की मीनार) के प्रारंभिक समय के दौरान सन 1173 में इसकी नीव के निर्माण में मुलायम मिटटी का उपयोग किया गया था। इस मिट्टी के कारण इस मीनार में झुकाव आने लगा और जब सन 1778 में इस आकर्षक मीनार की तीसरी मंजिल बनके तैयार हुई। तब यह मीनार झुकने लगी जिसकी वजह से लीनिंग टॉवर का निर्माण कार्य बंद कर दिया गया था। लेकिन बाद में इस मीनार का निर्माण करती दुबारा शुरू किया था।

10. लीनिंग टॉवर ऑफ़ पीसा को देखने का प्रवेश शुल्क – Leaning Tower Of Pisa Tickets In Hindi

लीनिंग टॉवर (पीसा की झुकी हुई मीनार) को देखने लिए लिए पर्यटकों को कुछ निर्धारित शुल्क अदा करना होता हैं। भारतीय नागरिको के लिए 1198 रूपये चुकाना होता हैं तो वही अन्य नागरिक 15 यूरो के साथ इस आकर्षित स्थान में प्रवेश कर सकते हैं।

11. पीसा की झुकी मीनार के खुलने और बंद होने का समय – Leaning Tower Of Pisa Opening Hours In Hindi

पीसा की मीनार सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक खुली रहती है और हफ्ते के 6 दिन इस मीनार में घूमा जा सकता हैं। सोमवार को लीनिंग टॉवर बंद रहता हैं।

और पढ़े: चिचेन इट्ज़ा के बारे में जानकारी और इसके 30 रोचक तथ्य

12. पीसा की मीनार के आसपास में घूमने लायक प्रमुख पर्यटन स्थल – Best Place To Visit Near Leaning Tower Of Pisa In Hindi

लीनिंग टावर ऑफ़ पीसा (पीसा की झुकी हुई मीनार ) की आकर्षक  संरचना देखने के लिए दूर-दूर से पर्यटक इटली के पीसा शहर का दौरा करने आते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इटली के पीसा शहर में झुकी हुई घंटा मीनार के अलावा भी कई खूबसूरत जगहें हैं जहां आप घूमने जा सकते है। तो आइए हम आपको पीसा के पर्यटन स्थलों के बारे में जानकारी देते हैं।

12.1 कैथेड्रल ऑफ़ सेंटा मारिया असुनटा – Cathedral Of Santa Maria Assunta Pisa In Hindi

कैथेड्रल ऑफ़ सेंटा मारिया असुनटा

पीसा के प्रमुख दर्शनीय स्थलों में से एक प्रसिद्ध वास्तुकार बुश्चो द्वारा स्थापत्य शैली में बनाया गया सांता मारिया असुनटा का कैथेड्रल है। यह सफ़ेद संगमरमर से निर्मित किया गया था।

12.2 बैपटिसट्री पीसा – Baptistery Pisa Italy In Hindi

बैपटिसट्री पीसा

बैपटिसट्री पीसा पर्यटन में स्थित संगमरमर की एक प्रसिद्ध गुंबद है जोकि इटली के प्रमुख आकर्षण में शामिल हैं। इसके निर्माण की शुरुआत सन 1153 में हुई थी जोकि सन 1260 में निकोला-पिसानो द्वारा पूरा किया गया था। यह कैथेड्रल के पश्चिम में स्थित है। बैपटिसट्री पीसा की उल्लेखनीय ध्वनि यहाँ के प्रदर्शन का केंद्र मानी जाती है। यह शंक्वाकार गुंबद देखने की इक्षा हर पर्यटक के मन में होती है।

12.3 कैम्पो सेंटो पीसा – Campo Santo Pisa In Hindi

कैम्पो सेंटो पीसा

कैंम्पोसैंटो (सेक्रेड फील्ड) का निर्माण सन 1278 में पीसा के नागरिकों को पवित्र मिट्टी में दफन करके रखने के लिए किया था। यह एक आयताकार क्लोस्टर है जहाँ देशभक्तों की कब्रें हैं। यह पीसा के लोकप्रिय स्थानों में से एक बन गया है।

12.4 म्यूजियो डेल ओपेरा डेल ड्यूमो – Museo Dell’opera Del Duomo Pisa In Hindi

म्यूजियो डेल ओपेरा डेल ड्यूमो

Image Credit: Silas Lozano Paz

म्यूजियो डेल ओपेरा डेल ड्यूमो पीसा के शानदार दृश्यों में रंगीन संगमरमर से बनाया हुआ बहुत ही अनौखा चर्च है। इस चर्च में स्थापित सभी मूर्तियाँ आज भी इतनी अच्छी है कि उन्हें देखके लगता है मानो अभी बनाई गई हो। इस चर्च में फेमस रोमन मूर्तिकला का उदाहरण जुलियस सीजर की मूर्ति है।

12.5 म्यूज़ो नाज़ियोनेल (राष्ट्रीय संग्रहालय) – Museo Nazionale (National Museum) Pisa In Hindi

म्यूज़ो नाज़ियोनेल (राष्ट्रीय संग्रहालय)

Image Credit: Shona Johnson

म्यूज़ो नाज़ियोनेल पीसा का राष्ट्रीय संग्रहालय है जिसमे टस्कन के स्कूलों की मूर्ति और तस्वीरें है। 12 वी से 15 वी शताब्दी के कलाकारों द्वारा यह संग्रहालय सजाया गया था

और पढ़े: पेरिस में घूमने लायक पर्यटन स्थल

12.6 सांता मारिया डेला स्पाइना – Santa Maria Della Spina Pisa In Hindi

 सांता मारिया डेला स्पाइना

Image Credit: Анна Колосова

सांता मारिया डेला स्पिना का चर्च पीसा के छोटे तथा आकर्षक चर्चों में से एक है। इस इमारत में कई प्रतिमाओं के झरोखे देखने को मिलेंगे जोकि पर्यटकों के लिए यहाँ से जुडी जानकारी देने में सहायता करेंगे।

12.7 पलाज़ो देई कैवेलियरी – Palazzo Dei Cavalier Ipisa In Hindi

पलाज़ो देई कैवेलियरी

Image Credit: Maurizio Bertini

पीसा की शानदार पलाज़ो देई कैवलियरी का नाम स्टीफन के घुड़सवारों के प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों के नाम पर रखा गया था। इस स्थान पर घुड़सवारी की प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता था। पीसा घूमने आने वाले पर्यटकों के लिए यह स्थान बाकइ देखने लायक है। खासकर घोड़ों में रूचि रखने वाले पर्यटकों के लिए यह स्थान दिलचस्प साबित होता हैं।

12.8 बेसिलिका रोमैनिका डि सान पियो एक ग्रेडो पिसा – Basilica Romanica Di San Piero A Grado Pisa In Hindi

बेसिलिका रोमैनिका डि सान पियो एक ग्रेडो पिसा

बेसिलिका रोमैनिका डि सान पियो एक ग्रेडो पीसा का वह स्थान है जहाँ सेंट पीटर 44 ईस्वी के दौरान इटली में उतरे थे। यह बंदरगाह 10 वी शताब्दी में बनाया गया था जोकि आज पीसा के प्रमुख दर्शनीय स्थलों में से एक है।

12.9 पलाज़ो ब्लू – Palazzo Blue Pisa In Hindi

पलाज़ो ब्लू

Image Credit: Nicola Baldocchi

पलाज़ो ब्लू पीसा का बहुत ही प्रसिद्ध संग्राहलय है जोकि इटालियन कलाकारों की कला को अपने में समेटे हुए है। इस प्रसिद्ध संग्रहालय में 16 वी से 20 वी शताब्दी की जानकारी मिलती है। इसमें स्थित प्रदर्शनियों में पीसा के शुरूआती सिक्कों की प्रतिमा आदि भी शामिल है।

12.10 सेनटो स्टेफनो देई कैवेलियरी – Santo Stefano Dei Cavalieri Pisa In Hindi

सेनटो स्टेफनो देई कैवेलियरी

Image Credit: Yosuke Suzuki

द सेनटो स्टीफनो के चर्च पीसा के प्रमुख आकर्षक स्थानों में से एक है। इस चर्च का निर्माण वसारी द्वारा सन 1565-69 में किया गया था। यह चर्च सेंट स्टीफन के योद्धाओं की याद में बनाया गया था। यह ऐतिहासिक धरोहर हर पर्यटक को पीसा के तुर्की युद्ध से जुडी जानकारी प्रदान करता हैं।

और पढ़े: नयाग्रा फॉल्स कनाडा की जानकारी

13. पीसा शहर में खाने के लिए प्रसिद्ध भोजन – Pisa Italy Famous Food In Hindi

पीसा शहर में खाने के लिए प्रसिद्ध भोजन

लीनिंग टॉवर इटली देश के पीसा में स्थित शहर है और यहाँ इटालियन खाना बहुत प्रसिद्ध है। आम पिसान के मांस से बने गुलगुले पीसा का सबसे प्रसिद्ध भोजन है। इसके साथ ही मकई के आटे, बीन्स और केल से बना हुआ शूप पीसा के लोगों द्वारा बहुत पसंद किया जाता है।

14. पीसा की मीनार घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Leaning Tower Of Pisa In Hindi

 पीसा की मीनार घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

अगर आप पीसा की मीनार घूमने जाने की योजना बना रहे है तो हम आपको बता दे कि अप्रैल से मई माह का समय सबसे अच्छा होता है। इस मौसम में आप यहाँ आराम से यात्रा कर सकते है। हालाकि सर्दियों का मौसम भी बहुत सुहावना होता है। इसके अलावा आप क्रिसमिस के अवसर पर पिसा की झुकी हुई मीनार लीनिंग टॉवर का दौरा कर सकते हैं।

15. पीसा में कहाँ रुके – Where To Stay In Pisa In Hindi

पीसा में कहाँ रुके

आप पीसा की झुकी हुई मीनार तथा यहाँ के आकर्षित पर्यटन स्थलों की यात्रा करने के बाद पीसा में रुकना चाहते है। तो हम आपको बता दे कि इटली के इस खूबसूरत शहर में आपको लो-बजट से लेकर लक्जरी होटल मिल जाएँगी। आप अपनी सुविधा के अनुसार होटल का चुनाव कर सकते है।

  • बोलोग्ना होटल पीसा (Bologna Hotel Pisa)
  • होटल एलेसेंड्रो डेला स्पाइना (Hotel Alessandro della Spina)
  • होटल पीसा टॉवर (Hotel Pisa Tower)
  • हेल्वेटिया होटल (Helvetia Hotel)

16. भारतीयों के लिए इटली की वीज़ा नीति – Visa Policy Of Italy For Indians In Hindi

इटली में 2 मुख्य वीज़ा श्रेणियां हैं जिनमें से एक नियमित पर्यटक यात्रा के लिए शेंगेन शॉर्ट टर्म (Schengen Short Term) वीज़ा या सी वीज़ा(C Visa) आवश्यक है। दूसरे प्रकार का वीजा लॉन्ग टर्म वीजा या इटली राष्ट्रीय वीजा है। एक शेंगेन शॉर्ट टर्म वीजा आपको 90 दिनों तक इटली में रहने की अनुमति देता है जिस में आप कितनी भी बार आ जा सकते है।

और पढ़े: 50 देशों में वीजा ऑन अराइवल प्राप्त कर सकते है भारतीय  

17. भारत से पीसा इटली कैसे पंहुचा जाये – How To Reach Pisa From India In Hindi

भारत से पीसा इटली कैसे पंहुचा जाये

लीनिंग टॉवर इटली के पीसा शहर में स्थित हैं। पीसा शहर का अपना हवाई अड्डा है जोकि राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों का संचालन करता हैं। पीसा का प्रमुख हवाई अड्डा टस्कनी पीसा गैलीलियो गैलीली  (Tuscany Galileo Galilei Airport) हैं। भारत से इटली जाने के लिए एयर इंडिया द्वारा सीधी (नॉनस्टॉप) उड़ान भरी जाती हैं। जोकि रोम हवाई अड्डे पर पहुंचाती हैं यहाँ से आप लोकल साधनों की मदद से या हवाई मार्ग से लीनिंग टॉवर स्थित पीसा शहर पहुँच जाएंगे।

और पढ़े: बुर्ज खलीफा घूमने की जानकारी और पर्यटन स्थल

18. पीसा की मीनार का नक्शा – Leaning Tower Of Pisa Map

19. पीसा की मीनार की फोटो गैलरी – Leaning Tower Of Pisa Images

और पढ़े:

Write A Comment