Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

आपने सेवेन वंडर्स ऑफ द वर्ल्ड के बारे में तो सुना ही होगा। भारत के आगरा शहर में स्तिथ ताजमहल भी दुनिया के सात अजूबों में शामिल है। लेकिन आखिर इन सात जगहों को आश्चर्य क्यों कहा जाता है? और दुनिया के सात आश्चर्य कौन-कौन से हैं आपको बता दें की इन्हें दुनिया के आश्चर्य प्राचीनकाल के समय में हुए उनके निर्माण की भव्यता के कारण कहा जाता है। वर्ष 2000 में दुनिया के चमत्कारों को चुनने के लिए 200 मौजूदा स्मारकों में से विश्व के विश्व के सात नए आश्चर्य चुनने का एक अभियान शुरू किया गया था। इस लोकप्रियता के सर्वेक्षण का नेतृत्व कनाडाई-स्विस से बर्नार्ड वेबर ने किया था और दुनिया के सात आश्चर्य स्थलों के विजेता स्थानों के नाम 7 जुलाई 2007 को लिस्बन में घोषित किया गए थे। इन्हें स्विट्जरलैंड के ज़्यूरिख में स्थित न्यू 7 वंडर्स फाउंडेशन द्वारा आयोजित किया गया था। आईये दुनिया के सात अजूबों के बारे में विस्तार से जाने।

  1. दुनिया के सात आश्चर्य में से एक द ग्रेट वॉल ऑफ चाइना – The Great Wall Of China Is One Of The Seven Wonders Of The World In Hindi
  2. दुनिया के सात आश्चर्य में शामिल है क्राइस्ट द रिडीमर का स्टेच्यू – Seven Wonder Of The World Statue Of Christ The Redeemer In Hindi
  3. माचु पिच्छू पेरु दुनिया के सात आश्चर्य में से एक – Machu Picchu Peru One Of The Seven Wonders Of The World In Hindi
  4. चीचेन इट्ज़ा दुनिया के 7 चमत्कार में से एक – Chichen Itza One Of The 7 Wonders Of The World In Hindi
  5. रोमन कोलोसीयम विश्व के सात नए आश्चर्य में से एक – The Roman Colosseum Is A Seven Wonder Of The World In Hindi
  6. दुनिया के सात अजूबों में से एक है ताजमहल – One Of The Seven Wonders Of The World Taj Mahal In Hindi
  7. पेट्रा दुनिया के दुनिया के 7 अजूबे में से एक – Petra Is One Of The Seven Wonders Of The World In Hindi

1. दुनिया के सात आश्चर्य में से एक द ग्रेट वॉल ऑफ चाइना – One Of The Seven Wonders The World The Great Wall Of China In Hindi

दुनिया के सात आश्चर्य में से एक द ग्रेट वॉल ऑफ चाइना - One Of The Seven Wonders The World The Great Wall Of China In Hindi

दुनिया की सबसे लंबी दीवार को बनाने में कई सदियां लग गई थी। द ग्रेट वॉल ऑफ चाइना को पांचवी शताब्दी से लेकर 16 शताब्दी तक बनाया गया था और लाखों लोगों की मेहनत और समर्पण से इसका निर्माण पूरा हुआ था। इस दीवार को चाइनीज लोगों ने मंगोल के आक्रमण से बचने के लिए बनाया था। यह एक मानव निर्मित किलेनुमा दीवार है जो कि लगभग 4000 मील लंबी है।

अलग अलग सर्दियों में आए शासकों ने इस दीवार का निर्माण कराया था ताकि वे रेशम आक्रमणकारियों और अन्य उत्तरी दुश्मनों से बच सकें। इस दीवार को बनाने के लिए केवल ईट, पत्थर और रेत से लेकर चावल के पानी का इस्तेमाल किया गया है। द ग्रेट वॉल ऑफ चाइना दुनिया के सात अजूबों  में एक है जो की कई रेगिस्तानों, पठार, पहाड़ियों से गुजरती है।

दुनिया के इस सातवे आश्चर्य का निर्माण मिंग शासनकाल में पूरा हुआ था। आज के समय में ग्रेट वाल ऑफ़ चाइना के कई हिस्सों में पर्यटक आते हैं जिसमें की बडलिंग हिस्सा पर्यटकों में खास लोकप्रिय है। दीवार का एक हिस्सा मुटीनायुजो में हरी-भरी वादियां हैं और यहां पर केबल कार के जरिए पहुंचा जा सकता है। दीवार के इस सेक्शन में आपको कोई रेस्टोरेंट मिलेंगे।

जिनशानलिंग दीवार का वह हिस्सा है जो की पहाड़ियों में बनाया गया है। इस हिस्से में कम भीड़ होती है और इसमें 31 वॉचटावर बनाए गए हैं। यहां पर भी आप केबल कार के जरिए पहुंच सकते हैं और गेट पर मौजूद टिकट काउंटर से टिकट खरीद सकते हैं।

Read More: चीन की महान दीवार के बारे में जानकारी – The Great Wall Of China In Hindi

2. दुनिया के सात आश्चर्य में शामिल है क्राइस्ट द रिडीमर का स्टेच्यू – Seven Wonder Of The World Statue Of Christ The Redeemer In Hindi

दुनिया के सात आश्चर्य में शामिल है क्राइस्ट द रिडीमर का स्टेच्यू - Seven Wonder Of The World Statue Of Christ The Redeemer In Hindi

दुनिया के सात अजूबों में शामिल क्राइस्ट द रिडीमर का स्टेच्यू लगभग 98 फीट की ऊंचाई का है, यह ब्राजील के रियो डी जनेरियो के दक्षिणी हिस्से में मौजूद है। स्टैचू का निर्माण 1931 में पूरा हुआ था। स्टैचू कंक्रीट का बना है और इसका तल लगभग 26 फीट की ऊंचाई का है। स्टैचू का निर्माण राजकुमारी इसाबेल, जो ब्राज़ील के पेड्रो शासक की बेटी थी उसकी याद में बनाया गया है। इस प्रतिमा का निर्माण का प्रपोजल 18 वीं शताब्दी में दिया गया था लेकिन उस समय इसका निर्माण नहीं हुआ।

रियो डी जनेरियो के आर्कीडियोसीस ने प्रतिमा का निर्माण पहाड़ के ऊपर करने को कहा था ताकि पूरा शहर स्टेच्यू को देख सके। इस स्टेचू का निर्माण ब्राजील का पोर्च्यूगल से स्वतंत्र होने पर किया गया था।

कार्लोस ओसवाल और सिल्वा कोस्टामिस्टेक ने स्टेचू का डिजाइन बनाया था और मूर्तिकार पॉल लैंडोव्स्की ने स्टैचू के सर और हाथों को डिजाईन किया था। स्टैचू का निर्माण 21 अक्टूबर 1931 में पूरा हुआ। वर्ष 2002 में इसमें एस्केलेटर और जाने के लिए रास्ते बनाए गए ताकि विजिटर स्टेच्यू तक पहुंच सकें।

3. माचु पिच्छू पेरु दुनिया के सात आश्चर्य में से एक – Machu Picchu Peru One Of The Seven Wonders Of The World In Hindi

माचु पिच्छू पेरु दुनिया के सात आश्चर्य में से एक - Machu Picchu Peru One Of The Seven Wonders Of The World In Hindi

विश्व के सात नए आश्चर्य में शामिल माचु पिच्छू को साउथ अमेरिका में पन्दरा से लेकर सोलवीं शताब्दी जब इनका (Inca) का शासन था, तब बनाया गयाI लगभग 100 साल से माचू पिच्छू की साइट पर कोई नहीं गया है। माचु पिच्छू को स्पेनिश आक्रमण के बाद बंद कर दिया गया था। इस जगह 150 बिल्डिंग हैं जिनके अंदर मंदिर, घर, बाथरूम और इसके अलावा खंडहर भी बने हुए हैं।

माचू पिच्छू के इतिहास के बारे में ज्यादा नहीं पता चला है लेकिन कहा जाता है कि यहां कोई धार्मिक स्थल था। जब इसकी खोज की गई तब इसके बारे में कई थ्योरीज बनाई गई। अमेरिकन आर्कियोलॉजिस्ट हीरम बिंघम ने माचू पिच्छू की पेरू में खोज की थी। वह अपनी टीम के साथ और एक घोड़े को लेकर इस तक पहुंचे थे। एक किताब द लॉस्ट सिटी ऑफ इनकास माचू पिच्छू पर आधारित है। यूनेस्को ने सन 1983 में इसे एक विश्व हेरिटेज में शामिल किया था।

4. चीचेन इट्ज़ा दुनिया के 7 चमत्कार में से एक – Chichen Itza One Of The 7 Wonders Of The World In Hindi

चीचेन इट्ज़ा दुनिया के 7 चमत्कार में से एक - Chichen Itza One Of The 7 Wonders Of The World In Hindi

दुनिया के सात अजूबे में शामिल चीचेन इट्ज़ा से माया सभ्यता जुड़ी हुई है। यह एक बहुत ही लोकप्रिय पर्यटक स्थान है। यह माया सभ्यता के बचे हुए अवशेष हैं जो की यूकाटन पेनिनसुला पर बने हुए हैं। इस जगह पर कई पिरामिड, मंदिर, खेल के मैदान और कॉलम बने हुए हैं। माया सभ्यता में सौसर की बॉल और जटिल नियमों के साथ खेल खेले जाते थे। इन कॉलम पर जटिल नक्काशी भी मजूद हैं। इसके अलावा इस साइट पर, एक पवित्र कुएं के साथ ही खगोलीय वेधशाला भी है। जहां पर शूरवीरों के मंदिर हैं और माया धर्म के कई रिकार्ड इस साइट पर मिलते हैं। इसका निर्माण 800 से लेकर 1200 एडी में हुआ था।

5. रोमन कोलोसीयम विश्व के सात नए आश्चर्य में से एक – The Roman Colosseum Is A Seven Wonder Of The World In Hindi

रोमन कोलोसीयम विश्व के सात नए आश्चर्य में से एक - The Roman Colosseum Is A Seven Wonder Of The World

विश्व के सात नए आश्चर्य में शामिल रोमन कोलोसियम का निर्माण 70 से लेकर 80 ऐडी के बीच में हुआ था। रोमन कोलोसियम रोम में स्थित है। यह वह जगह जहां ग्लैडिएटर इवेंट्स आयोजित किए जाते थे। अब यह जगह क्षतिग्रस्त हो चुकी है क्योंकि यहां कई बार भूकंप आए हैं। यहाँ आज भी कई एमफीथियेटर का निर्माण रोमन कोलोसियम की डिजाइन और आर्किटेक्चर से प्रेरणा लेकर किया जाता है।

6. दुनिया के सात अजूबों में से एक है ताजमहल – One Of The Seven Wonders Of The World Taj Mahal In Hindi

दुनिया के सात अजूबों में से एक है ताजमहल - One Of The Seven Wonders Of The World Taj Mahal In Hindi

दुनिया के सात आश्चर्य में शामिल ताजमहल का निर्माण मुगल शासक शाहजहां ने अपनी बेगम मुमताज महल की याद में उत्तर प्रदेश के आगरा शहर में किया था। ताजमहल मुगल वास्तुकला का उत्कृष्ट नमूना है। इसकी वास्तु शैली फारसी, तुर्क, भारतीय और इस्लामी वास्तुकला के घटकों का अनोखा सम्मेलन है। ताज महल के अंदर बगीचे, पूल और हरे भरे रास्ते बनाए गए हैं। इसका निर्माण मार्बल या संगेमरमर के द्वारा किया गया है। यह पर्यटकों के लिए एक बहुत ही पसंदीदा घूमने की जगह भी है जहां हर साल लाखों देशी और विदेशी पर्यटक ताजमहल की सुंदरता को देखने के लिए आते हैं। ताजमहल को भारत की इस्लामी कला का रत्न भी घोषित किया गया है।

7. पेट्रा दुनिया के 7 अजूबे में से एक – Petra Is One Of The Seven Wonders Of The World In Hindi

पेट्रा दुनिया के दुनिया के 7 अजूबे में से एक - Petra Is One Of The Seven Wonders Of The World In Hindi

दुनिया के सात अजूबों में से एक पेट्रा अपने शानदार वास्तुकला, ऐतिहासिक, और पुरातात्विक महत्व के लिए भी लोकप्रिय है। इस शहर की विशेषता चट्टानों से बनी वास्तुकला और जल प्रणाली है। पेट्रा यूनानी शैली की वास्तुकला से 300 बीसी में बनाया गया था और इसके लिए जाना जाता है।

ये विभिन्न सभ्यताओं के माध्यम से दुनिया के सात आश्चर्य हैं जो उस समय के लोगों के जीवन के कहानियों को बताते हैं और उनके शिल्प कौशल और समर्पण के बारे में भी जिससे इन सात चमत्कारों का निर्माण किया गया था।

Read More: स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की खास बातें – Facts Of Statue Of Unity In Hindi

Write A Comment