टिहरी बाँध का इतिहास और यात्रा से जुड़ी पूरी जानकारी  – Tehri Dam in Hindi

Tehri Dam in Hindi, उत्तराखंड में भागीरथी नदी, पर स्थित टिहरी बाँध भारत का सबसे ऊँचा बांध और दुनिया का 8 वाँ सबसे ऊँचा बाँध है। टिहरी बांध की ऊँचाई 261 मीटर तथा लम्बाई 575 मीटर है और यह डेम 52 वर्ग किलोमीटर के सतह क्षेत्र के साथ 2.6 क्यूबिक किलोमीटर के लिए एक जलाशय है। टिहरी बांध दुनिया की सबसे महत्वपूर्ण जलविद्युत परियोजना है जो भागीरथी और भिलंगना नदियों से पानी प्राप्त करता है जो हिमालय से निकलती हैं। सिंचाई और दैनिक खपत के लिए पानी की आपूर्ति के अलावा, बांध 1,000 मेगावाट बिजली पैदा करता है। आपकी जानकारी के लिए बता दे इसका पहला चरण 2006 में पूरा हुआ था और अन्य दो चरण अभी भी जारी हैं।

टिहरी बांध अपनी बिभिन्न परियोजनायों के साथ साथ एक पर्यटक स्थल के रूप में भी कार्य करता है जो प्रतिबर्ष हजारों की संख्या में पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है। सुरम्य हरी पहाड़ियों के बीच, टिहरी झील कई लोगों के लिए एक आदर्श सप्ताहांत भगदड़ बन गई है। तो आइये इस लेख में हम टिहरी बाँध के महत्वपूर्ण तथ्य और यात्रा से जुड़ी पूरी जानकारी को जानते है-

Table of Contents

टिहरी बांध का इतिहास – History of Tehri Dam in Hindi

बांध के निर्माण में कई उतार-चढ़ाव आए 1961 में परियोजना के लिए प्रारंभिक जांच पूरी हो गई जिसके बाद 1972 में इसके डिजाइन को पूरा किया गया। वित्तीय और सामाजिक प्रभावों ने निर्माण में देरी हुई और निर्माण 1978 में शुरू किया। यूएसएसआर ने तकनीकी और वित्तीय सहायता प्रदान करके 1986 में मदद की पैरवी की लेकिन राजनीतिक अस्थिरता इस सहायता की समाप्ति का कारण बन गई। 1990 में फिर से पुनर्विचार किया गया और 2006 को टिहरी बाँध का निर्माण पूरा हुआ। जबकि 2012 में, इस परियोजना का दूसरा हिस्सा, कोटेश्वर बांध के साथ मिला।

टिहरी बांध की संरचना – Structure of Tehri Dam in Hindi

टिहरी बांध की संरचना – Structure of Tehri Dam in Hindi
Image Credit : Himanshu Sajwan

भागीरथी नदी पर निर्मित टिहरी बांध बांध की ऊँचाई 261 मीटर तथा लम्बाई 575 मीटर है और यह डेम 52 वर्ग किलोमीटर के सतह क्षेत्र के साथ 2.6 क्यूबिक किलोमीटर के लिए एक जलाशय है। पंपेड स्टोरेज का निचला जलाशय डाउनस्ट्रीम कोटेश्वर बांध द्वारा बनाया गया है। कोटेश्वर बांध, और टिहरी पंपेड स्टोरेज हाइड्रोइलेक्ट्रिक पावर प्लांट, टिहरी हाइड्रोपावर कॉम्प्लेक्स बांध के महत्वपूर्ण हिस्से है जो कार्यरत है। टिहरी बांध 270,000 हेक्टेयर के क्षेत्र को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराता है। जबकि उत्पादित बिजली उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, दिल्ली, हरियाणा, जम्मू और कश्मीर, चंडीगढ़, राजस्थान और हिमाचल प्रदेश को आपूर्ति की जाती है।

टिहरी बांध विरोध आंदोलन – Tehri Dam Andolan in Hindi

बांध का निर्माण विभिन्न पर्यावरण बादियों और आसपास रहने वाले लोगों के लिए कई विरोधों का विषय रहा है और बांध के निर्माण का कड़ा विरोध किया गया। कई वैज्ञानिकों ने विनाश के कारण इसके निर्माण पर आपत्ति जताई। उनके अनुसार टिहरी बांध का निर्माण 10,000 लोगों को बेघर कर सकता था। इसके अलावा, आपत्ति का एक अन्य कारण हिमालयी सीस्मिक गैप से इसकी निकटता थी क्योंकि यदि कभी कारण भूकंप आया तो इससे 5,00,000 से अधिक लोगों का  जीवन खतरे में पड़ सकता था।

इन्हें कारणों के कारण 1990 में, टिहरी बंधु विरोधी संघर्ष समिति ने इसके निर्माण पर रोक लगाने के लिए एक आधिकारिक याचिका दायर की और इसे सुप्रीम कोर्ट में भेज दिया। यह मामला अदालत में लगभग दस साल तक जारी रहा। सुंदरलाल बहुगुणा ने टिहरी बांध के निर्माण के खिलाफ कई विरोध प्रदर्शन किए और 1995 में भूख हड़ताल की। इनके अलावा भी अनेको बार स्थानीय लोगो द्वारा हड़ताल और विरोध प्रदर्शन किये गये, जिसमे सरकार द्वारा भी बल प्रदर्शन और विरोधियो पर कार्यवाही की गयी थी।

और पढ़े : भारत में 17 सर्वश्रेष्ठ और रोमांचक ट्रेक्स

टिहरी बांध खुलने का समय – Timings of Tehri Dam in Hindi

टिहरी बांध खुलने का समय – Timings of Tehri Dam in Hindi
Image Credit : Mohd Shafee

यदि आप अपने परिवार या दोस्तों के साथ टिहरी बाँध घूमने का प्लान बना रहे है तो हम आपकी जानकारी के लिए वता दे वैसे तो टिहरी बांध 24 घंटे खुला रहता है लेकिन टिहरी बांध की यात्रा के लिए सुबह 9.00 बजे से शाम 6.00 बजे तक का समय मान्य समय होता है। इसके अलावा हम आपको अवगत करा दे टिहरी बांध की पूर्ण और रोमांचक यात्रा के लिए 2-3 घंटे का समय अवश्य निकालें।

टिहरी बांध का प्रवेश शुल्क – Entry Fee of Tehri Dam in Hindi

बता दे भारत के सबसे ऊँचे बांध टिहरी बांध में पर्यटकों के घूमने के लिए कोई एंट्री फीस नही है लेकिन यदि आप टिहरी झील में रोमांचक गतिविधियों में शामिल होना चाहते हैं तो उसके लिए आपको निश्चित शुल्क का भुगतान कर होगा।

टिहरी बांध की मनोरंजक गतिविधियाँ – Activities at Tehri Dam in Hindi

टिहरी बांध की मनोरंजक गतिविधियाँ – Activities at Tehri Dam in Hindi
Image Credit : bhoi

सुरम्य स्थलों की पेशकश के अलावा टिहरी बांध अपने आगंतुकों को टिहरी झील में कुछ रोमांच का अनुभव करने का अवसर प्रदान करता है। यह अपनी गोद के भीतर खेल के एक चरम अनुभव को आगे लाता है। टिहरी बांध की यात्रा में आप एडवेंचर स्पोर्ट्स एक्टिविटीज से अपनी ट्रिप को एन्जॉय कर सकते है। जहाँ अक्सर पर्यटक जेट स्कीइंग, वाटर स्कीइंग, राफ्टिंग,वाटर ज़ोरबिंग जैसी रोमांचक गतिविधियों को एन्जॉय करते हुए देखे जाते है।

और पढ़े : भारत की 12 प्रसिद्ध और प्राचीन बावड़ीयां

टिहरी बांध के आसपास घूमने लायक पर्यटक स्थल – Tourist Places To visit Around Tehri Dam in Hindi

यदि अपनी फैमली या दोस्तों के साथ साथ टिहरी बांध घूमने जाने का प्लान बना रहे है तो क्या आप जानते है ? टिहरी गढ़वाल में टिहरी बांध के अलावा भी अन्य प्रसिद्ध और लोकप्रिय पर्यटक स्थल मौजूद है जो पर्यटकों के लिए आकर्षण के  केंद्र बने हुए है। तो अगर आप भी टिहरी बांध की यात्रा पर जाने वाले हैं तो नीचे दिए गये इन पर्यटक स्थलों को अपनी सूची में अवश्य शामिल करें जो वास्तव देखें लायक है-

टिहरी बांध घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit Tehri Dam in Hindi

टिहरी बांध घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit Tehri Dam in Hindi

यदि आप टिहरी डेम की यात्रा के लिए सबसे अच्छे समय की तलाश में हैं तो हम आपको बता दे वैसे बर्ष के किसी भी मौसम में टिहरी बांध की यात्रा की जा सकती है। लेकिन फिर भी यदि आप टिहरी बांध को पूरे वेग के साथ देखना चाहते है तो मानसून का समय सबस आपकी यात्रा के लिए सबसे अच्छा समय होगा। लेकिन यदि आप टिहरी बांध के साथ साथ टिहरी गढ़वाल के अन्य पर्यटक स्थलों की भी यात्रा करने वाले है तो उसके लिए सितम्बर से मार्च का समय बेस्ट समय होता है लेकिन इस समय सर्दी अधिक होती है जबकि शहर के कई हिस्से बर्फ से ढके होते है लेकिन यह जो दृश्य प्रस्तुत करता है वह मंत्रमुग्ध कर देने वाला है।

और पढ़े : भारत के सबसे बड़े बांध

टिहरी बांध की यात्रा में कहा रुकें – Where to stop in the journey of Tehri Dam in Hindi

टिहरी बांध की यात्रा में कहा रुकें – Where to stop in the journey of Tehri Dam in Hindi

यदि आप भारत के सबसे ऊँचे डेम टिहरी डेम और इसके आसपास के पर्यटक स्थल घूमने जाने का प्लान बना रहे है, और अपनी यात्रा के दौरान रुकने के लिए किसी अच्छी होटल की तलाश में हैं, तो हम आपको बता दें की टिहरी डेम के आसपास और गढ़वाल में आपको लो-बजट से लेकर हाई-बजट तक सभी प्रकार के होटल मिल जायेंगे। जिनकी आप आपनी सुविधानुसार चुनाव कर सकते हैं।

  • होटल श्री राम (Hotel Shri Ram)
  • फुलारी होमस्टे, कनातल (Phullari Homestay, Kanatal)
  • होटल देवकी प्लेसेस (Hotel Devki Palace)
  • होटल फ्रेंड्स क्लब रिज़ॉर्ट एंड रेस्टोरेंट (Hotel Friends Club Resort & Restaurant)

टिहरी बांध केसे जायें – How To Reach Tehri Dem in Hindi

बता दे टिहरी डेम टिहरी गढ़वाल के माध्यम से उत्तराखंड के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।  टिहरी गढ़वाल शहर के लिए नियमित रूप से बस सेवाएं चलती हैं लेकिन टिहरी गढ़वाल के लिए कोई सीधी उड़ान या रेल संपर्क नहीं है। निकटतम हवाई अड्डा देहरादून में जॉली ग्रांट हवाई अड्डा है जबकि निकटतम रेलवे स्टेशन ऋषिकेश में है। तो आइये हम नीचे विस्तार से जानेगे की हम ट्रेन, बस या फ्लाइट से टिहरी डेम केसे जा सकते है।

फ्लाइट से टिहरी बांध केसे पहुंचे – How to reach Tehri Dem by Flight in Hindi

फ्लाइट से टिहरी बांध केसे पहुंचे – How to reach Tehri Dem by Flight in Hindi

यदि आप अपने दोस्तों या फैमली के साथ हवाई यात्रा करके टिहरी डेम घूमनें जाने का प्लान बना रहे हैं तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दे टिहरी गढ़ेवाल के लिए सीधी हवाई कनेक्टिविटी नही है। टिहरी गढ़ेवाल का निकटतम एयरपोर्ट जॉली ग्रांट हवाई अड्डा देहरादून में है जो टिहरी गढ़वाल से लगभग 81 किमी की दूरी पर स्थित है। यह हवाई अड्डा दैनिक उड़ानों द्वारा दिल्ली से जुड़ा हुआ है और हवाई अड्डा पहुचे के बाद टेक्सी या बस से यात्रा करके आप टिहरी डेम पहुंच सकते है।

ट्रेन से टिहरी बांध केसे जायें – How to Reach Tehri Dem by Train in Hindi

ट्रेन से टिहरी बांध केसे जायें – How to Reach Tehri Dem by Train in Hindi

ट्रेन के माध्यम से टिहरी बांध की यात्रा करना एक आरामदायक और सुविधाजनक विकल्प साबित हो सकता है हालाकि टिहरी गढ़ेवाल की लिए कोई सीधी रेल कनेक्टिविटी नही है। टिहरी गढ़ेवाल के निकटतम रेलवे स्टेशन ऋषिकेश रेलवे स्टेशन है जो लगातार ट्रेनों के माध्यम से कई प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। ऋषिकेश रेलवे स्टेशन टिहरी डेम से लगभग 79 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। ट्रेन से सफ़र करके ऋषिकेश रेलवे स्टेशन पहुचने के बाद आप बस टेक्सी या केब बुक करके अपने गंतव्य तक पहुच सकते है।

सड़क मार्ग से टिहरी डेम कैसे पहुँचे – How to Reach Tehri Dem by Road in Hindi

सड़क मार्ग से टिहरी डेम कैसे पहुँचे - How to Reach Tehri Dem by Road in Hindi

यदि आपने टिहरी डेम की यात्रा के लिए बस या सड़क मार्ग का चुनाव किया है तो आपको बता दे टिहरी सड़कों का एक सुव्यवस्थित नेटवर्क प्रदान करता है जो इसे कई पड़ोसी शहरों के साथ-साथ राज्यों से जुड़ने में मदद करता है। टिहरी गढ़वाल शहर के लिए नियमित रूप से बस सेवाएं चलती हैं और निजी और सरकारी मालिकों, विशेष रूप से उत्तराखंड राज्य सड़क परिवहन निगम दोनों द्वारा संचालित की जा रही हैं। बस और टैक्सी के रूप में परिवहन देहरादून, मसूरी, ऋषिकेश, उत्तरकाशी और हरिद्वार, आदि शहरों से भी उपलब्ध है। इन सबके अलावा आप अपने निजी वाहन से यात्रा करके भी टिहरी डेम की यात्रा कर सकते हैं बस आपको अपने सुविधानुसार वाहनों का चयन करना है।

टिहरी डेम का मेप – Map of Tehri dam in Hindi

और पढ़े :

Leave a Comment