Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Jawai Dam In Hindi, जवाई बांध राजस्थान में लूनी नदी की एक सहायक नदी जवाई नदी पर बना एक बांध है, जो लगभग 70 साल पुराना है। आपको बता दें कि जवाई बांध राजस्थान के सबसे बड़े बांधों में से एक है। यह डैम अपने आस-पास के शहरों के लिए वन रक्षक के रूप में काम करता है। यह एक असाधारण सुरम्य बांध है जो यहां आने वाले पर्यटकों को अदभुद दृश्य प्रस्तुत करता है। यहां पर पर्यटक कई प्रवासी पक्षियों को देख सकते हैं जो सर्दियों के दौरान दुनिया के बर्फीले हिस्सों से उड़ कर यहां आते हैं। क्रेन और गीज़ जैसे क्षणभंगुर प्राणी भी अक्सर बांध पर दिखाई देते हैं।
इसके अलावा पर्यटन भालू और हाइना को अपनी प्यास बुझाते हुए देख सकते हैं। अगर आप जवाई बांध के इतिहास या फिर इसके आस-पास के पर्यटन स्थलों के बारे में जानकारी चाहते हैं तो हमारे इस लेख को जरुर पढ़ें। यहां हम आपको जवाई डैम जाने और इसके पास स्थित पर्यटन स्थलों के बारे में बताने जा रहें हैं।

1. जवाई बांध का निर्माण किसने करवाया – Jawai Bandh Ka Nirman Kisane Karavaaya In Hindi

जवाई बांध का निर्माण किसने करवाया

Image Credit: Deepesh Suthar

जवाई बांध का निर्माण जोधपुर के महाराजा उम्मेद सिंह ने 12 मई 1946 को शुरू करवाया था जो 1957 में बनकर तैयार हो गया।

2. जवाई बांध का इतिहास – Jawai Bandh History In Hindi

जवाई बांध का इतिहास

Image Credit: Pradhyumn Singh

जवाई डैम राजस्थान राज्य के पाली जिले के सुमेरपुर शहर के पास बना हुआ है। इस बांध का निर्माण जोधपुर के महाराजा उम्मेद सिंह द्वार करवाया गया है। जवाई बांध को बनाने का कार्य 12 मई 1946 को शुरू हुआ था और यह 1957 में बनकर तैयार हो गया था। जवाई बांध के निर्माण में कुल खर्च 2 करोड़ 7 लाख रुपए था। यह बांध लगभग 500 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है। जवाई बांध पश्चिमी राजस्थान का सबसे बड़ा बांध है जिसकी क्षमता 7887.5 मिलियन क्यूबिक फ़ीट है। आपको बता दें कि सेई बांध और कालीबोर बांध जवाई बांध के फीडर बांध हैं।

और पढ़े: उदयपुर के प्रमुख पर्यटन स्थल

3. जवाई बांध के आसपास में घूमने लायक पर्यटन और आकर्षण स्थल – Places To Visit Around Jawai Dam In Hindi

पाली राजस्थान का एक ऐसा क्षेत्र है जहां पर घूमने के लिए बहुत कुछ है अगर आप पाली घूमने की योजना बना रहें हैं और इसके पास स्थित पर्यटन स्थलों की सैर करना चाहते हैं तो नीचे हम पाली शहर के पर्यटन स्थलों की जानकारी दे रहे हैं, जहां आपको अपनी यात्रा के दौरान जरुर जाना चाहिए। पाली को अपने आकर्षक मंदिरों के लिए भी जाना जाता है जिनमें कई एक से बढ़कर एक मंदिर शामिल हैं। बता दें यहां पर्यटक हिंगलाज माँ मंदिर, श्री नवलखा पार्श्वनाथ जैन मंदिर, जैन मंदिर, देवगिरी मंदिर, रामेश्वर महादेव मंदिर, सोमनाथ मंदिर, साईं बाबा मंदिर, करणी माता मंदिर, बंगोर मंदिर, इलोजी मंदिर, महालक्ष्मी मंदिर की यात्रा कर सकते हैं। इन सभी मंदिरों के अलावा पाली में गीता भवन, बजरंग बाग, हवास बांध जैसे पर्यटन स्थल भी हैं।

3.1 लखोटिया गार्डन – Lakhotia Garden In Hindi

लखोटिया गार्डन

Image Credit: Pritesh Jain

लखोटिया गार्डन पाली का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। आपको बता दें कि यह गार्डन लाखोटिया तालाब से घिरा हुआ है और इसी की वजह से इसे अपना नाम मिला है। लखोटिया गार्डन एक बहुत विशाल उद्यान है जिसमें बैठे की लिए बहुत सारी साफ और हरी भरी जगह भी है। दिन के समय काफी लोग इस खूबसूरत गार्डन को देखने के लिए आते हैं। बात दें कि इस गार्डन का प्रमुख आकर्षण यहां केंद्र में स्थित शिव मंदिर है जो पर्यटकों को बेहद आकर्षित करता है। यह सुंदर मंदिर नीलकंठ को समर्पित है और पर्यटकों को बेहद रोमांचित करता है। लखोटिया गार्डन पाली की एक ऐसी जगह है जिसे आपको अपनी लिस्ट में जरुर शामिल करना चाहिए।

3.2 परशुराम महादेव मंदिर – Parshuram Mahadev Temple In Hindi

परशुराम महादेव मंदिर

परशुराम महादेव मंदिर पाली का एक प्रमुख मंदिर है जो भगवान विष्णु के छठे अवतार- भगवान परशुराम को समर्पित है। आपको बता दें कि यह मंदिर पाली के पास अरावली पर्वत श्रृंखलाओं के बीच स्थित है जिसके बारे में यह कहा जाता हा कि यहां पर आक्रामक कुल्हाड़ी चलाने वाले परशुराम ने ध्यान किया था। अगर आप इस मंदिर की यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि यह मंदिर एक सुदूर स्थान पर स्थित है और यहां पहुंचने के लिए काफी पैदल चलना पड़ता है लेकिन फ़िक्र करने की जरूरत नहीं क्योंकि इस मंदिर की यात्रा करना बेहद आकर्षक है। आप यहां पैदल यात्रा के दौरान कई पानी से भरे कुंड और पहाड़ पर फैली वनस्पतियों को देख सकते हैं। परशुराम महादेव मंदिर की यात्रा ट्रेकिंग प्रेमियों के लिए एक बहुत अच्छी जगह है।

और पढ़े: परशुराम महादेव मंदिर के दर्शन और इसके पर्यटन स्थल की जानकारी 

3.3 बांगुर संग्रहालय – Bangur Museum In Hindi

बांगुर संग्रहालय

Image Credit: Sumeet Singroha

पाली में एक साफ सुथरा छोटा संग्रहालय, जिसमें आप तांबे के सिक्के, पेंटिंग, आर्मरेस्ट और जनजातीय हस्तशिल्प के अदभुद संग्रह को देख सकते हैं। आपको बता दें कि इस संग्रहालय में कई उपकरण है जो पुरापाषाण काल ​​के हैं। इसके अलावा बांगुर संग्रहालय में चित्रकला और हथियारों का सबसे शानदार संग्रह हैं, जो राजस्थान की संस्कृति का वर्णन करते हैं। तुगलक, खिलजी और शासकों से संबंधित यहां पर कई सिक्के रखे हुए हैं। यह संग्रहालय पारंपरिक कला और शिल्प को भी बर्तनों से लेकर गहनों तक प्रदर्शित करता है जो स्थानीय और क्षेत्रीय संस्कृति के बारे में बताते हैं। इस संग्रहालय की एक यात्रा आपके लिए यादगार साबित होगी और आपको राजस्थान राज्य के बारे में और अधिक जागरूक करेगी।

3.4 ओम बन्ना मंदिर – Om Banna Temple In Hindi

ओम बन्ना मंदिर

Image Credit: Lokesh Dilar

ओम बन्ना मंदिर पाली का एक प्रमुख मंदिर है जो दुनिया के बाकी मंदिरों से बिलकुल अलग है। पाली के इस मंदिर को बुलेट बाबा मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। आपको बता दें कि ओम बन्ना मंदिर का अपना एक अलग खास महत्व है। जब आप इस मंदिर में प्रवेश करेंगे तो आपको यहां पर किसी देवी या देवता की मूर्ति नहीं बल्कि कांच के अंदर एक रॉयल एनफील्ड बाइक दिखेगी और यहां के व्यक्ति की फोटो भी दिखेगी। आपको यह तस्वीर और किसी की नहीं बल्कि खुद ओम बन्ना की है। ऐसा कहा जाता है कि यहां पाली हाईवे पर ओम बन्ना की आत्मा दुर्घटनाओं से लोगों की रक्षा करती इसलिए लोग उनकी पूजा करते हैं और उन्हें फूलों की माला भी चढ़ाते हैं। अगर आप पाली की यात्रा करने जा रहें हैं तो आपको एक बार ओम बन्ना के मंदिर जरुर जाना चाहिए।

4. जवाई बांध राजस्थान घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Jawai Dam In Hindi

जवाई बांध राजस्थान घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

Image Credit: Vijay Yadav

आप अक्टूबर से मार्च के बीच कभी भी बांध घूमने जा सकते हैं। इस दौरान यहां का मौसम सुखद होने के साथ आरामदेह भी रहता है। लेकिन अगर आप अपनी यात्रा का पूरा मजा लेना चाहते हैं तो आपको ठंड यानि सर्दियों के मौसम में पाली की यात्रा करना चाहिए। क्योंकि इस मौसम में आप बांध के पास कई तरह के प्रवासी पक्षियों को भी देख सकते हैं। इसके अलावा यह मौसम शहर के अन्य पर्यटन स्थलों की यात्रा करने के लिए भी अच्छा समय है।

जवाई बांध पाली में खाने के लिए स्थानीय भोजन – Famous Food Near Jawai Dam Pali In Hindi

जवाई बांध पाली में खाने के लिए स्थानीय भोजन

पाली जोधपुर के पास स्थित है और यहाँ पर स्ट्रीट फूड बहुत मशहूर है। जोधपुर अपने लिप स्मैकिंग स्ट्रीट और क्लासिक डाइनिंग रेस्टोरंट के लिए जाना जाता है। जोधपुर के खाने की पारंपरिक शैली राजस्थान की तरह ही है, लेकिन यहां की यात्रा करने के के साथ कई स्वादिष्ट भोजन स्वाद ले सकते हैं। यहां कई तरह के व्यंजन जैसे मिर्च के साथ करी, राब, दाल-बाटी चूरमा, आटे का हलवा, लप्सी, बादाम हलवा, बाजरे का सोगरा, काबुली, चंदलिया सब्जी और काचरा मिर्चा सब्जी बहुत मशहूर है, जिनका स्वाद लेना आपको कभी नहीं भूलना चाहिए।

और पढ़े: बीकानेर के करणी माता मंदिर के दर्शन की जानकारी और पर्यटन स्थल

6. जवाई बांध कैसे जाये – How To Reach Jawai Dam Pali Rajasthan In Hindi

अगर आप यह जानना चाहते हैं कि जवाई बांध कैसे पहुंच सकते हैं तो हम आपको बता दें कि आप सड़क, हवाई और रेल मार्ग से जवाई बांध आसानी से पहुंच सकते हैं जिसकी पूरी जानकारी हमने नीचे विस्तार में दी है।

6.1 रेल द्वारा जवाई बांध तक कैसे पहुंचे – How To Reach Jawai Bandh By Train In Hindi

रेल द्वारा जवाई बांध तक कैसे पहुंचे

पाली भारत के प्रमुख शहरों से ट्रेन द्वारा अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। पाली मारवाड़ रेलवे स्टेशन यहां शहर के केंद्र में स्थित है। आप टैक्सी या कैब की मदद से जवाई बांध आसानी से पहुंच सकते हैं।

6.2 जवाई बांध सड़क मार्ग द्वारा कैसे पहुंचे – How To Reach Jawai Bandh By Road In Hindi

जवाई बांध सड़क मार्ग द्वारा कैसे पहुंचे

पाली बस स्टेशन शहर के केंद्र से लगभग 3.7 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। पाली जोधपुर से सिर्फ 70 किलोमीटर दूर है। पाली तक आप NH 62 मार्ग से जोधपुर शहर से बस या कैब की मदद से आसानी से पहुंच सकते हैं। आपको बता दें कि जवाई बांध का अपना कोई बस स्टेशन नहीं है इसलिए आपको सिरोही बस स्टैंड पहुंचना होगा। पाली से सिरोही की दूरी 115 किलोमीटर है।

6.3 कैसे पहुंचे जवाई बांध तक हवाई मार्ग से – How To Reach Jawai Bandh By Air In Hindi

कैसे पहुंचे जवाई बांध तक हवाई मार्ग से

पाली का निकटतम हवाई अड्डा जोधपुर में लगभग 72 किलोमीटर दूर स्थित है। हवाई अड्डे से आप बस या टैक्सी की मदद से पाली पहुंच सकते हैं। पाली पहुंचने के बाद आप बस या टैक्सी की मदद से सड़क मार्ग द्वारा जवाई बांध पहुँच सकते हैं।

और पढ़े: ब्रह्माजी मंदिर पुष्कर के दर्शन और पर्यटन स्थल की जानकारी 

7. जवाई बांध पाली राजस्थान का नक्शा – Jawai Dam Pali Rajasthan Map

8. जवाई बांध की फोटो गैलरी – Jawai Dam Pali Images

और पढ़े:

Write A Comment