Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Tonk Tourism In Hindi, टोंक राजस्थान राज्य के जयपुर शहर से 96 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक शांत शहर है जो अपने कई पर्यटन स्थलों के लिए जाना जाता है। टोंक राजस्थान के एक ऐसा ऐतिहासिक स्थल है जहां पर पहले अफगानिस्तान के ‘पठानों’ का शासन था। टोंक का प्रमुख आकर्षण सुनेरी कोठी, गोल्डन बंगला है जो बाहर से दिखने में तो बेहद साधारण है लेकिन अगर से यह आश्चर्यजनक रूप से सजा हुआ है। यह टोंक शहर के सबसे पर्यटकों द्वारा सबसे ज्यादा देखे जाने वाले पर्यटन स्थलों में से एक है। अगर टोंक के बारे में अन्य जानकारी चाहते हैं या इसके पर्यटन स्थलों की सैर करना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को जरुर पढ़ें, यहां हम आपको टोंक घूमने की जानकारी दे रहे हैं और इसके प्रमुख पर्यटन स्थलों के बारे में बता रहें हैं।

1. टोंक का इतिहास – Tonk History In Hindi

टोंक का इतिहास

Image Credit: Vijay Kumar

ऐतिहासिक डाटा के अनुसार टोंक पर जयपुर के राजा मान सिंह ने अकबर शासन के दौरान तारी और टोकरा जनपद पर विजय प्राप्त की। टोकरा जनपद के 12 गांवों को वर्ष 1643 में भोला ब्राह्मण को दे दिया था। बाद में भोला द्वारा ही इन 12 गाँव को टोंक’ नाम दिया गया था। आपको बता दें कि टोंक बैराठ संस्कृति और सभ्यता से जुड़ा एक ऐतिहासिक स्थल है। आधुनिक टोंक शहर की स्थापना नवाब अमीर खां ने की थी।

और पढ़े: पिंक सिटी जयपुर में घूमने की 10 खास जगह

2. टोंक जिले के १० मशहूर दर्शनीय स्थल – Top 10 Tourist Attractions In Tonk Tourism In Hindi

अगर आप राजस्थान के टोंक शहर की यात्रा करने जा रहें हैं तो हम आपको यहां आपको टोंक के कुछ पर्यटन स्थलों के बारे में बताने जा रहें हैं जहां आपको अपनी टोंक यात्रा के दौरान जरुर जाना चाहिए।

2.1 टोंक में घूमने की सबसे मशहूर जगह सुनहरी कोठी – Tonk Mein Ghumne Ki Sabse Mashhur Jagah Sunheri Kothi In Hindi

टोंक में घूमने की सबसे मशहूर जगह सुनहरी कोठी

Image Credit: Michèle Béguin

सुनहरी कोठी टोंक के सबसे प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। सुनहरी कोठी (सोने की हवेली) राजस्थान में स्थित एक सुंदर महल है जो अपनी सुंदरता की वजह से जाना जाता है। इस महल की सबसे खास बात है कि इसके अंदर की दीवारों को सोने के पॉलिश से सजाया गया है इसके साथ ही दीवारों पर कांच की कलाकारी भी की गई है। बताया जाता है कि इस महल का निर्माण टोंक के नवाब मोहम्मद इब्राहिम अली खान (1867-1930) नृत्य और संगीत के लिए के लिए बनाया था। अगर आप टोंक की यात्रा करने जा रहें हैं तो आपको एक बार इस सुनहरी कोठी की यात्रा जरुर करना चाहिए।

2.2 टोंक के पर्यटन स्थल हाथी भाटा – Tonk Ke Paryatan Sthal Hathi Bhata In Hindi

टोंक के पर्यटन स्थल हाथी भाटा

हाथी भाटा राजस्थान में टोंक- सवाई माधोपुर हाईवे से 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित राजस्थान के कुछ खूबसूरत स्मारकों में से एक है। यह एक ही पत्थर से निर्मित एक हाथी है, जो यहां आने वाले पर्यटकों को बेहद आकर्षित करता है। हाथी भाटा पर्यटन स्थल की सबसे खास बात यह है कि ये राजस्थान के अन्य पर्यटन स्थलों की तरह लोगों को अन्य हिस्सों पर ऑनलाइन जानकारी प्रदान करता है। अगर आप टोंक की यात्रा करने जा रहे हैं तो आपको एक बार हाथी भाटा की यात्रा जरुर करना चाहिए।

2.3 टोंक के दर्शनीय स्थल दिग्गी कल्याण जी मंदिर – Tonk Ke Darshaniya Sthal Diggi Kalyan Ji Temple In Hindi

टोंक के दर्शनीय स्थल दिग्गी कल्याण जी मंदिर

Image Credit: Deepak Soni

दिग्गी कल्याण जी मंदिर टोंक का एक पुराना मंदिर है जो अपनी प्राचीनता के लिए जाना जाता है। इस मंदिर का शिखर बेहद आकर्षक है जो पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करता है। मंदिर के शिखर को 16 खंबे सपोर्ट देते हैं जो बेहद दिखने में बेहद अदभुद हैं। यह मंदिर संगमरमर की सुरुचिपूर्ण वास्तुकला का एक अच्छा उदाहरण है। जब आप इस मंदिर के दर्शन करने जायेगे तो इसके पास स्थित लक्ष्मी नारायण मंदिर के दर्शन करने के लिए भी जा सकते हैं।

2.4 टोंक में देखने लायक जगह जामा मस्जिद – Tonk Me Dekhne Layak Jagah Jama Masjid In Hindi

टोंक में देखने लायक जगह जामा मस्जिद

Image Credit: Syed Abdul Ahad

टोंक जिले में स्थित जामा मस्जिद राजस्थान के सबसे प्रसिद्ध और शानदार मस्जिदों में से एक है। आपको बता दें यह मस्जिद अंदर से जटिल पैटर्न के साथ और बाहर से शानदार नाजुक पैटर्न से सजी हुई है। इस मस्जिद में आज भी कुछ प्राचीन लैंप हैं।

और पढ़े: जयपुर में शॉपिंग के लिए प्रसिद्ध बाजारों की जानकारी 

2.5 टोंक के आकर्षण स्थल अरबी और फारसी अनुसंधान संस्थान – Tonk Ke Aakarshan Sthan The Arabic And Persian Research Institute In Hindi

टोंक के आकर्षण स्थल अरबी और फारसी अनुसंधान संस्थान

Image Credit: Dhruv Bhargava

अरबी और फारसी अनुसंधान संस्थान टोंक शहर में दो पहाड़ियों के बीच स्थित है। आपको बता दें कि इस संग्राहलय में अरबी में पुस्तकों और पांडुलिपियों के कुछ सबसे पुराने का संग्रह देखा जा सकता है। यहां रखी हुई कुछ प्राचीन पुस्तकें सोने, पन्ना, मोती और माणिक्य से सुभोभित है। अगर आप टोंक की यात्रा करने जा रहें हैं तो आपको इस संस्थान की यात्रा अवश्य करनी चाहिए।

2.6 टोंक के प्रमुख धार्मिक स्थल बीसलदेव मंदिर – Tonk Tourism Ke Pramukh Dharmik Sthal Bisaldeo Temple In Hindi

टोंक के प्रमुख धार्मिक स्थल बीसलदेव मंदिर

Image Credit: Giriraj Singh

बीसलदेव मंदिर- राजस्थान के प्रमुख मंदिरों में से एक है जो टोंक जिले से लगभग 60-80 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। आपको बता दें कि यह मंदिर गोकर्णेश्वर के मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। इस मंदिर के आंतरिक भाग में एक शिवलिंग स्थित है। मंदिर में एक गोलार्द्ध का गुंबद है जो आठ ऊंचे खंभों पर टिका हुआ है और इन ऊंचे खंभों पर फूलों की सुंदर नक्काशी बनी हुई है, जो हर किसी को अपनी तरफ आकर्षित करती है। अगर आप टोंक की यात्रा करने जा रहें हैं तो आपको एक बार बीसलदेव मंदिर के दर्शन करने के लिए जरुर जाना चाहिए।

2.7 टोंक पर्यटन में घूमने की अन्य जगह – Other Tourist Spots In Tonk Tourism In Hindi

टोंक पर्यटन में घूमने की अन्य जगह

Image Credit: B. Ramaratnam

  • बीसलपुर डेम –  Bisalpur Dam
  • हादी रानी बोरी – Hadi Rani Baori
  • जल्देवी मंदिर – Jaldevi Temple
  • घंटा घर – Clock Tower

3. टोंक घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Tonk Tourism In Hindi

टोंक घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

Image Credit: Michèle Béguin

अगर आप टोंक की यात्रा करने की योजना बना रहें हैं तो बता दें कि अक्टूबर से मार्च तक सर्दियाँ होती हैं और टोंक शहर में छुट्टियों का आनंद लेने का सबसे अच्छा समय होता है। ग्रीष्मकाल अप्रैल से जून तक होता है और बहुत गर्म और शुष्क होता है। इसलिए आपको इस दौरान टोंक की यात्रा नहीं करना चाहिए। यहां पर मानसून का मौसम जुलाई से सितंबर तक होता है लेकिन टोंक में मध्यम से कम वर्षा होती है।

और पढ़े: चोखी ढाणी जयपुर घूमने की पूरी जानकारी

4. टोंक कैसे जाये – How To Reach Tonk In Hindi

अगर आप टोंक शहर की यात्रा करने की योजना बना रहें हैं तो बता दें कि यह जयपुर शहर से टोंक 96 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है जहां की यात्रा आप सड़क, हवाई, और रेल आदि परिवहनों के माध्यम से कर सकते हैं।

4.1 हवाई मार्ग से टोंक कैसे पहुंचें – How To Reach Tonk By Plane In Hindi

हवाई मार्ग से टोंक कैसे पहुंचें

अगर आप हवाई मार्ग द्वारा टोंक की यात्रा करने जा रहें हैं तो बता दें कि जयपुर सांगानेर हवाई अड्डा निकटतम हवाई अड्डा है और देश के सभी प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। इस हवाई अड्डे से आप टोंक शहर तक पहुंचने के लिए कैब या बस से यात्रा कर सकते हैं।

4.2 टोंक रेल मार्ग से कैसे पहुंचें – How To Reach Tonk In By Train Hindi

टोंक रेल मार्ग से कैसे पहुंचें

जो भी पर्यटक रेल मार्ग द्वारा टोंक की यात्रा करना चाहते हैं उनको हम जानकारी देना चाहते हैं कि टोंक का निकटतम मुख्य रेलवे स्टेशन बनस्थली-नयाई है, जो टोंक से लगभग 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यात्री इस रेलवे स्टेशन से भंवर टोंक के लिए ट्रेन पकड़ सकते हैं।

4.3 टोंक कैसे पहुंचें सड़क मार्ग से – How To Reach Tonk By Road In Hindi

टोंक कैसे पहुंचें सड़क मार्ग से

जो भी लोग अपनी निजी कार या फिर बस और टैक्सी की मदद से टोंक शहर के लिए यात्रा करने की योजना बना रहें हैं उनके लिए बता दें कि टोंक राज्य के प्रमुख शहरों से अच्छी सड़कों के माध्यम से जुड़ा हुआ है। राजस्थान पर्यटन यात्रियों को कई नियमित बस सेवा प्रदान करता है जो प्रमुख पर्यटन शहरों से चलती हैं।

और पढ़े: हवा महल की जानकारी और इतिहास

5. टोंक का नक्शा – Tonk Map

6. टोंक की फोटो गैलरी – Tonk Images

View this post on Instagram

Bislpur dam

A post shared by Anuj soyal (@anuj.soyal) on

और पढ़े:

Write A Comment