Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Seven Sisters Of India In Hindi पूर्वोत्तर भारत में सात राज्य हैं। जिन्हें ‘सात बहनें’ या ‘सेवन सिस्टर्स’ के नाम से जाना जाता है। उत्तर पूर्व भारत को इनके एक दूसरे पर परस्पर निर्भरता के कारण आम तौर पर “सात बहनों की भूमि” के रूप में जाना जाता है। सेवन सिस्टर्स में अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम, नागालैंड और त्रिपुरा को मिला कर सात राज्यों को यह नाम दिया गया है।

ये राज्य एक दुसरे पर परस्पर निर्भर करते हैं। त्रिपुरा बांग्लादेश से घिरा एक घेरे की तरह है जो असम पर परिवहन के लिए निर्भर करता है। असम में बाढ़ वाली सभी नदियां अरुणाचल प्रदेश और नागालैंड से निकलती हैं। मिजोरम और मणिपुर असम के बराक घाटी के माध्यम से भारत के बाकि हिस्सों से जुड़े हुए हैं। इस परस्पर निर्भरता के कारण, उन्हें ज्योति प्रसाद साइकिया (असम के एक सिविल सेवक) द्वारा “सात बहनों की भूमि” को उपनाम दिया गया।

  1. इनफार्मेशन अबाउट ७ सिस्टर्स ऑफ इंडिया इन हिंदी – 7 Sisters States Of India In Hindi
  2. पूर्वी भारत के राज्य के नाम और राजधानियां – Seven Sister State Names And Capitals In Hindi
  3. सात बहनों के राज्यों की जातीय और धार्मिक संरचना – Ethnic And Religious Composition Of The Seven States In Hindi
  4. उत्तर पूर्व की सात बहनों के राज्यों में प्रसिद्ध व्यंजन – North East India’s Seven Sisters Cuisine In Hindi
  5. सात बहनों के उत्तर पूर्व राज्य की जनजाति – North East Tribes Seven Sisters Of India In Hindi
  6. उत्तर पूर्व भारत की सात बहनों वाले राज्यों में विकास – Development In North East India Seven Sisters States In Hindi
  7. सात बहनों के राज्य के प्राकृतिक संसाधन के बारे में जानकारी – Information About Natural Resources Of North Eastern Seven Sister States In Hindi
  8. उत्तर पूर्व सात बहनों वाले राज्यों में आकर्षण के केंद्र – North East India’s Seven Sister States Attraction Points In Hindi

इनफार्मेशन अबाउट ७ सिस्टर्स ऑफ इंडिया इन हिंदी – 7 Sisters States Of India In Hindi

इनफार्मेशन अबाउट ७ सिस्टर्स ऑफ इंडिया इन हिंदी - 7 Sisters States Of India In Hindi

सात बहनों के इन राज्यों को “पैराडाइज अनएक्सप्लोर” (Paradise Unexplored) भी कहा जाता है। ये राज्य 255,511 किमी2 के क्षेत्र में फैले हुए हैं और भारत के कुल क्षेत्रफल का लगभग 7 प्रतिशत हिस्सा कवर करतें हैं। 2011 में इन राज्यों की आबादी 44.98 मिलियन थी, जो भारत का कुल 3.7 प्रतिशत थी। भले ही इन सात राज्यों में जातीय और धार्मिक विविधता है, लेकिन उनके पास राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक मुद्दों में समानताएं भी हैं।

उत्तर पूर्व भारत दुनिया के सबसे ज्यादा जातीय रूप से विविध क्षेत्र के रूप प्रसिद्ध है। यह क्षेत्र भूटान, चीन, म्यांमार और बांग्लादेश के साथ 2000 किमी से अधिक किमी की सीमा शेयर करता है, और “चिकन की गर्दन” नामक 20 किमी के कॉरिडोर से भारत के बाकी हिस्सों से जुड़ा हुआ है जो की यहाँ पहुचने का एकमात्र तरीका है।

जब भारत ने आजादी हासिल की, उत्तर पूर्व भारत में केवल 3 राज्य थे: -असम, और मणिपुर और त्रिपुरा रियासतें (princely states)। भारतीय सरकार की नीति के चलते इन राज्यों को भाषा के आधार पर विभाजित कर, 4 और नए राज्य तैयार किए गए। 1963 में नागालैंड राज्य बन गया, जबकि 1972 में मेघालय और मिजोरम केंद्र शासित प्रदेश (Union territory) बन गया। और फिर 1987 में अरुणाचल प्रदेश राज्य बन गया।

पूर्वी भारत के राज्य के नाम और राजधानियां – Seven Sister State Names And Capitals In Hindi

  • अरुणाचल प्रदेश – ईटानगर
  • असम – दिसपुर
  • मेघालय – शिलोंग
  • मणिपुर – इम्फाल
  • त्रिपुरा – अगरतला
  • मिज़ोरम – ऐजवाल
  • नागालैंड – कोहिमा

सात बहनों के राज्यों की जातीय और धार्मिक संरचना – Ethnic And Religious Composition Of The Seven States In Hindi

सात बहनों के राज्यों की जातीय और धार्मिक संरचना - Ethnic And Religious Composition Of The Seven States In Hindi

असम के अलावा, यहां की मुख्य भाषा असमिया और त्रिपुरा हैं, और यहां की प्रमुख भाषा बंगाली है, बाकि के प्रांत में मुख्य रूप से जनजातीय (tribal) आबादी है जो तिब्बती-बर्मन और ऑस्ट्रो-एशियाई भाषाओं में बात करती है। मेतीई (Meitei) , इस क्षेत्र में तीसरी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा असल में तिब्बती-बर्मन भाषा है। इस क्षेत्र में हिंदू धर्म और ईसाई धर्म प्रमुख धर्म हैं। असम, त्रिपुरा और मणिपुर के आबादी वाले राज्यों में मुस्लिम अल्पसंख्यक के साथ मुख्य रूप से हिंदू रहते हैं। ईसाई मिशनरियों के काम के माध्यम से, नागालैंड, मिजोरम और मेघालय राज्यों में ईसाई धर्म प्रमुख धर्म बन गया है।

उत्तर पूर्व की सात बहनों के राज्यों में प्रसिद्ध व्यंजन – North East India’s Seven Sisters Cuisine In Hindi

उत्तर पूर्व की सात बहनों के राज्यों में प्रसिद्ध व्यंजन - North East India’s Seven Sisters Cuisine In Hindi

उत्तर पूर्व भारत के लोग मूल रूप से मांसाहारी हैं। भले ही वे सब्जियां बनायें लेकिन उसमे भी वे मासाहारी चीजे जोड़ देते हैं। इस क्षेत्र के अधिकांश हिस्सों में, विशेष रूप से नागालैंड के लोग वहां उपलब्ध हर जानवर को खाते हैं और इसके किसी भी हिस्से को फेंकते नहीं हैं। अधिकांश लोगो के लिए मछली बहुत पसंदीदा पकवान है।

त्रिपुरा और असम, बंगाल के कुछ हिस्सों के निकट स्तिथ होने के कारण किसी भी अन्य राज्य की तुलना में मछली को पसंदीदा व्यंजन मानते हैं। चावल इस क्षेत्र में प्रसिद्ध भोजन है। असम में लोग विभिन्न रूपों और स्वादों में चावल खाते हैं। पेठा, चावल से बनी एक मिठाई है जो इस क्षेत्र का एक लोकप्रिय पकवान है। यहाँ के लोग खाने में कम तेल डालते हैं और सरसों के तेल को खाना पकाने के लिए उपयोग करते हैं। बतख, बांस की शूटिंग आदि से तैयार व्यंजन उत्तर-पूर्व क्षेत्र में बहुत लोकप्रिय हैं।

सात बहनों के उत्तर पूर्व राज्य की जनजाति – North East Tribes Seven Sisters Of India In Hindi

सात बहनों के उत्तर पूर्व राज्य की जनजाति - North East Tribes Seven Sisters Of India In Hindi

अरुणाचल प्रदेश में 26 (छत्तीस) प्रमुख जनजातियां हैं। नागालैंड उत्तरपूर्वी भारत में 16 प्रमुख जनजातियों का घर है। उत्तर पूर्व में असम राज्य भी कई प्राचीन जनजातीय समूहों का घर है। इनमें खम्ति, फकील, खम्यांग, एटोनिया, नारा, गुरुंग और श्याम शामिल हैं।

उत्तर पूर्व भारत की सात बहनों वाले राज्यों में विकास – Development In North East India Seven Sisters States In Hindi

उत्तर पूर्व भारत की सात बहनों वाले राज्यों में विकास – Development In North East India Seven Sisters States In Hindi

जब भी हम भारत में जनजातियों और आदिवासी सभ्यता की बात करते हैं, भारत के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र का नाम एक बार दिमाग में जरुर आता है। उत्तर पूर्व के क्षेत्र अभी भी आधुनिकीकरण (modernization) से बचे हुए है। आदिवासी जनजीवन की सुरक्षा के अलावा उत्तर पूर्व क्षेत्र शानदार लैंडस्केप, वनस्पतियों और जीवों के मामले में समृद्ध है।

सात बहनों के राज्य के प्राकृतिक संसाधन के बारे में जानकारी – Information About Natural Resources Of North Eastern Seven Sister States In Hindi

सात बहनों के राज्य के प्राकृतिक संसाधन के बारे में जानकारी – Information About Natural Resources Of North Eastern Seven Sister States In Hindi

भारत के उत्तर पूर्व क्षेत्र में सबसे महत्वपूर्ण उद्योग चाय आधारित, कच्चे तेल और प्राकृतिक गैस, रेशम, बांस और हस्तशिल्प हैं। इन राज्यों में बहुत ज्यादा जंगल हैं और यहाँ सालभर में भरपूर बारिश होती है। चेरापूंजी विश्व में सबसे अधिक मासिक और वार्षिक बारिश वाला क्षेत्र है। यहाँ खूबसूरत वन्यजीव अभयारण्य, चाय-एस्टेट और ब्रह्मपुत्र जैसी शक्तिशाली नदियां हैं। यह क्षेत्र एक सींग वाले गैंडों (rhinoceros), हाथियों और अन्य लुप्तप्राय वन्यजीवो का घर है। लेकिन कई सुरक्षा कारणों से जैसे की अंतर-जनजातीय तनाव, व्यापक विद्रोह, और पड़ोसी देश चीन के साथ सीमा विवाद के तहत, यहाँ का पर्यटन उद्योग बहुत प्रभावित है।

उत्तर पूर्व सात बहनों वाले राज्यों में आकर्षण के केंद्र – North East India’s Seven Sister States Attraction Points In Hindi

उत्तर पूर्व सात बहनों वाले राज्यों में आकर्षण के केंद्र - North East India’s Seven Sister States Attraction Points In Hindi

उत्तर पूर्व के प्रसिद्ध आकर्षण कुछ इस प्रकार हैं-

  • असम चाय गार्डन, असम (Assam Tea Garden, Assam)
  • एक सींग का राइनो, असम (Assam One Horned Rhino, Assam)
  • बिहू महोत्सव, असम (Assam Bihu Festival, Assam)
  • सिक्किम में ट्रेकिंग, सिक्किम (Trekking in Sikkim, Sikkim)
  • नागालैंड जनजाति, नागालैंड (Nagaland Tribes, Nagaland)
  • काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान, असम (Kaziranga National Park, Assam)
  • कंचनजंगा, सिक्किम (Kanchenjunga, Sikkim)
  • चेरापूंजी, मेघालय (Cherrapunji, Meghalaya)
  • तवांग मोनैस्टरी, अरुणाचल प्रदेश (Tawang Monastaries, Arunachal Pradesh)

 

Read More: स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की खास बातें – Facts Of Statue Of Unity In Hindi

Write A Comment