जोधपुर का प्रसिद्ध उम्मेद भवन पैलेस – Information about Umaid Bhawan Palace in Hindi

Umaid Bhawan Palace in Hindi : 1943 में निर्मित उम्मेद भवन पैलेस एक आकर्षक अतीत और शानदार वर्तमान का एक अद्भुत संगम है। यह पैलेस अद्भुत डिजाइन और वास्तुकला के लिए लोकप्रिय है, जो जोधपुर के पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है। शहर के परिसर के भीतर स्थित, यह महल जोधपुर की रियासत के लिए एक दर्पण है। वर्तमान में, उम्मेद भवन पैलेस तीन क्षेत्रों में विभाजित है, जिनमें से एक अभी भी जोधपुर शहर के शाही परिवार के स्वामित्व में है। अन्य दो में से एक को एक हेरिटेज होटल में परिवर्तित किया जा चुका है। दूसरा एक संग्रहालय है जो शाही युग की कला को दर्शाता है। शक्तिशाली चित्तर पहाड़ी के ऊपर स्थित, इस महल को अक्सर चित्तर महल भी कहा जाता है। महल की सुंदरता में इजाफा करने के लिए, हरे भरे हरियाली और फूलों की विभिन्न किस्मों के साथ बाहर एक सुंदर बगीचा है।

यदि आप उम्मेद भवन पैलेस घूमने जाने का प्लान बना रहे है या फिर इस अद्भुद और ऐतिहासिक स्थल के बारे और अधिक जानने के लिए एक्साईटेड हैं तो आपको इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़ना चाहिये –

Table of Contents

उम्मेद भवन का इतिहास – Umaid Bhavan Palace History in Hindi

उम्मेद भवन का इतिहास - Umaid Bhavan Palace History in Hindi
Image Credit : Satya Patel

उम्मेद भवन पैलेस जोधपुर के प्रमुख ऐतिहासिक स्थलो में से एक है। उम्मेद भवन पैलेस के इतिहास पर नजर डालने पर मिलता है की उम्मेद भवन पैलेस के निर्माण के पीछे मुख्य उद्देश्य लोगों का कल्याण था। राठौड़ शासन के समृद्ध शासन के दौरान जोधपुर को लगातार तीन बर्षो तक सूखे का सामना करना पड़ा था जिस वजह से किसान और मजदुर काफी आहात हो गये थे और बेरोज्रागरी भुखमरी की समस्या पैदा हो गयी थी। जिस वजह से किसानो और निम्न वर्ग के लोगो ने महाराजा के सामने मदद की गुहार लगाई।

जिसके बाद महाराजा ने आम लोगो की मदद करने और उन्हें रोजगार देने के लिए, उम्मेद सिंह ने उम्मेद पैलेस के निर्माण का काम शुरू किया। वास्तुकार हेनरी वॉन लानचेस्टर को डिजाइन की अवधारणा के काम के साथ सौंपा गया था और उन्होंने नई दिल्ली के सरकारी परिसर की तर्ज पर महल का डिजाइन तैयार किया था। महल को इस तरह से डिजाइन किया गया था कि इसमें पश्चिमी प्रौद्योगिकी के साथ-साथ शास्त्रीय भारतीय वास्तुकला सुविधाओं को भी शामिल किया गया था।

चूंकि महल बनाने के पीछे मुख्य मकसद पीड़ित किसानों को रोजगार देना था, इसलिए महल का निर्माण बहुत धीमी गति से किया गया था। वास्तविक निर्माण वर्ष 1929 में शुरू हुआ था, लेकिन वर्ष 1943 में ही पूरा हो गया था। इसने लगभग 3000 लोगों को लगातार रोजगार प्रदान किया और यह उस समय 11 मिलियन रुपये की लागत से बनाया गया था।

उम्मेद भवन पैलेस की वास्तुकला – Architecture of Umaid Bhavan Palace in Hindi

उम्मेद भवन पैलेस की वास्तुकला – Architecture of Umaid Bhavan Palace in Hindi
image credit : Dhrumit Bhavsar

उम्मेद भवन पैलेस की वास्तुकला करें तो इस शानदार पैलेस को बक्स आर्ट्स शैली में बनाया गया था और इसके दो पंख हैं। महल के अंदर की लकड़ी पर सफ़ेद पीले बलुआ पत्थर, मकराना संगमरमर और बर्मी टीक की लकड़ी का इस्तेमाल किया गया था। महल में 347 कमरे, कई आंगन और 300 लोगों की क्षमता वाला एक बैंक्वेट हॉल था। महल में एक सिंहासन कक्ष, एक विशेष निजी बैठक हॉल, जनता से मिलने के लिए एक दरबार हॉल, एक मेहराबदार बैंक्वेट हॉल, स्विमिंग पूल और स्पा, निजी भोजन कक्ष, दो अद्वितीय संगमरमर स्क्वैश कोर्ट, एक बॉल रूम, एक पुस्तकालय है इनडोर, एक बिलियर्ड रूम, चार टेनिस कोर्ट और लंबे मार्ग शामिल है।

1971 में महल के एक हिस्से को एक होटल में बदल दिया गया जिसमे 70 अतिथि कमरे हैं और इसमें महाराजा और महारानी सूट भी शामिल हैं। महाराजा सुइट में एक काले संगमरमर का फर्श और एक घुमावदार दर्पण गुंबद है, जबकि महारानी सुइट में एक लकड़ी की छत है और बगीचे का एक शानदार दृश्य प्रस्तुत करता है।

उम्मेद भवन पैलेस के हिस्से – Parts of Umaid Bhawan Palace in Hindi

उम्मेद भवन पैलेस जोधपुर के साथ साथ पूरे राज्य के प्रमुख पर्यटक आकर्षण में से एक है जो वर्तमान में तीन हिस्सों में बटा हुआ है जिनके बारे में हम आपको नीचे बताने वाले है।

रॉयल निवास – The Royal Residence in Hindi

रॉयल निवास - The Royal Residence in Hindi
Image Credit : Maninder Preet Singh

दुनिया के सबसे बड़े निजी आवासों में से एक के रूप में प्रसिद्ध, उम्मेद पैलेस जोधपुर के गज सिंह और शाही परिवार का घर है। इस महल को इंटीरियर जे.एस. द्वारा डिजाइन किया गया था। कला डेको डिजाइन में नॉर्ब्लिन और पूर्व की विंग में एक फ्रेस्को – सजाया सिंहासन कक्ष है। लेकिन महल का यह हिस्सा  जनता के लिए खुला नहीं है। यहाँ किसी भी आम आदमी को जाने की अनुमति नही होती है।

उम्मेद भवन पैलेस म्यूजियम – Umaid Bhawan Palace Museum in Hindi

उम्मेद भवन पैलेस म्यूजियम - Umaid Bhawan Palace Museum in Hindi
Image Credit : Viren Saini

उम्मेद भवन पैलेस एक अहम् हिस्सों को एक म्यूजियम में भी परिवर्तित किया गया है जो देश विदेश पर्यटकों और इतिहास प्रेमियों को आकर्षित करता है। उम्मेद भवन पैलेस संग्रहालय पहले कभी नहीं देखा गया कलाकृतियों और विलासिता का एक भव्य प्रसार है। संग्रहालय में तेंदुए, कांच और चीनी मिट्टी के बरतन के बर्तन और स्मृति चिन्ह जैसे एक प्रतीकात्मक झंडे को रखा गया है, जिसे राजा जसवंत सिंह ने स्वयं रानी विक्टोरिया को उपहार में दिया था। संग्रहालय में घड़ियों और तस्वीरों का एक विशाल संग्रह भी है जो अपने सबसे शानदार रूप में पैलेस के इंटीरियर को चित्रित करते हैं। संग्रहालय के सामने वाले बगीचे में महाराजाओं की क्लासिक कारें भी हैं जिन्हें पर्यटक उम्मेद भवन पैलेस की यात्रा में देख सकेगें।

उम्मेद भवन पैलेस होटल – Umaid Bhawan Palace Hotel in Hindi

उम्मेद भवन पैलेस होटल - Umaid Bhawan Palace Hotel in Hindi

उम्मेद भवन पैलेस को रॉयल निवास, म्यूजियम के साथ साथ 1971 में एक होटल में बदल दिया गया जिसमे 70 अतिथि कमरे हैं और इसमें महाराजा और महारानी सूट भी शामिल हैं। यहां के सुइट्स और कमरे हरे-भरे बगीचों का शानदार दृश्य प्रस्तुत करते हैं, जो आपको रॉयल्टी से कम नहीं लगेगा। मेहमानों की सुविधा के लिए होटल के परिसर में कई शीर्ष स्तर की सुविधाएं प्रदान की जाती हैं। होटल में एक अद्भुत इन-हाउस रेस्तरां है जो शानदार महाद्वीपीय और भारतीय संलयन व्यंजन प्रदान करता है। Jiva Grande Spa आपको कई तरह के अनुभव प्रदान करता है, जिसमें बॉडी स्क्रब और रैप्स, आयुर्वेदिक थेरेपी, योगा और मेडिटेशन, ब्यूटी ट्रीटमेंट्स और स्पा इंडोलॉग्स शामिल हैं।

यहाँ उपलब्ध अन्य सुविधाओं में इनडोर और आउटडोर और किडी पूल, फिटनेस सेंटर, कुछ बिलियर्ड्स और पूल टेबल, क्रोकेट सुविधाएं, सीमेंटेड टेनिस कोर्ट, संगमरमर स्क्वैश कोर्ट, गोल्फ, पोलो और घुड़सवारी शामिल हैं। 24 घंटे ऑन-कॉल डॉक्टर और नर्स और विकलांगों के लिए सुविधाएं भी है। यहां के कमरों की कीमत लगभग 22,000 प्रति रात है।

और पढ़े : राजस्थान के प्रमुख दुर्ग घूमने की जानकारी

उम्मेद भवन पैलेस की यात्रा में क्या करें – What to do in a visit to Umaid Bhawan Palace in Hindi

यदि आप अपने फ्रेंड्स या फैमली के साथ उम्मेद भवन पैलेस की ट्रिप पर जाने वाले है तो उम्मेद भवन में कई ऐसी एक्टिविटीज जिन्हें आप कर सकते है या कहे आपको जरूर करना चाहिए। उम्मेद भवन पैलेस की यात्रा में आप जसवंत थड़ा की यात्रा कर सकते हैं, जो नाजुक रूप से नक्काशीदार संगमरमर है। यह सरंचना महाराजा जसवंत सिंह II की याद में समर्पित है। यह स्मारक गुंबदों, पोट्रेट्स और मोर को समर्पित एक खंड के साथ सुशोभित है, जिसके बारे में माना जाता है कि इसे महाराजा के अंतिम संस्कार की चिता में प्रवाहित किया गया था।

यहां आगे बढ़ने के लिए एक और गतिविधि “हेरिटेज वॉक” होगी, जो सीधे जोधपुर के गौरवशाली अतीत में है। आप संपत्ति के चारों ओर एक निर्देशित सैर कर सकते हैं और जोधपुर के राजाओं से संबंधित आकर्षक कहानियां सुन सकते हैं।

उम्मेद भवन पैलेस की एंट्री फीस – Entry fees of Umaid Bhawan Palace in Hindi

  • भारतीय पर्यटकों के लिए : 30 रूपये
  • बच्चो के लिए : 10 रूपये
  • विदेशी पर्यटकों के लिए : 100 रूपये

उम्मेद भवन पैलेस की टाइमिंग – Timings of Umaid Bhawan Palace in Hindi

उम्मेद भवन पैलेस की टाइमिंग – Timings of Umaid Bhawan Palace in Hindi
Image Credit : Abhishek Chandra

सुबह 9.00 बजे से शाम 5.00 बजे तक

उम्मेद भवन पैलेस के आसपास घूमने की जगहें – Places to visit around Umaid Bhawan Palace in Hindi

अगर आप जोधपुर में उम्मेद भवन पैलेस  घूमने जाने का प्लान बना रहे है तो हम आपको बता जोधपुर में क्लॉक टावर के अलावा भी अन्य लोकप्रिय पर्यटक स्थल है जिन्हें आप अपनी जोधपुर की यात्रा दोरान घूम सकते हैं।

जोधपुर के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल

जोधपुर के प्रमुख धार्मिक स्थल और मंदिर

जोधपुर में घूमने वाली जगहें

उम्मेद भवन पैलेस घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit Umaid Bhawan Palace in Hindi

उम्मेद भवन पैलेस घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit Umaid Bhawan Palace in Hindi
Image Credit : Virag Shah

अगर आप जोधपुर के प्रसिद्ध उम्मेद भवन पैलेस की ट्रिप को प्लान कर रहे है और जोधपुर घूमने के लिए सबसे अच्छे समय के बारे में जानना चाहतेहैं तो हम आपको बता दें की जोधपुर घूमने के लिएअक्टूबर से मार्च तक का यानी सर्दियों का टाइम बेस्ट टाइम होता है। सर्दियों का मौसम इस शहर की यात्रा करना एक अनुकूल समय है। मार्च से शुरू होने वाली ग्रीष्मकाल के दौरान जोधपुर की यात्रा से बचें क्योंकि इस समय जोधपुर का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुँच जाता है।

और पढ़े : राजस्थान की यात्रा के लिए टिप्स और ध्यान रखने योग्य बातें

जोधपुर में रुकने के लिए होटल्स – Hotels in Jodhpur in Hindi

जोधपुर में रुकने के लिए होटल्स – Hotels in Jodhpur in Hindi

जोधपुर राजस्थान राज्य का प्रमुख पर्यटक स्थल और शहर है, इस वजह से जोधपुर में रुकने के लिए सभी बजट की होटल्स अवेलेवल है जिनको आप अपनी चॉइस के अनुसार सिलेक्ट कर सकते है।

  • अजीत भवन पैलेस
  • नमस्ते केफे
  • कांकरिया हेरिटेज
  • सूरज हवेली
  • कृष्णा प्रकाश हेरिटेज हवेली

उम्मेद भवन पैलेस कैसे पहुंचे – How To Reach Umaid Bhawan Palace Jodhpur in Hindi

अगर आप अपने परिवार या दोस्तों के साथ उम्मेद भवन पैलेस जोधपुर घूमने जाने का प्लान बना रहे है तो हम आपको बता दे आप हवाई, ट्रेन या सड़क मार्ग से यात्रा करके उम्मेद भवन पैलेस जोधपुर पहुंच सकतें है।

फ्लाइट से उम्मेद भवन पैलेस कैसे पहुंचे – How To Reach Umaid Bhawan Palace Jodhpur By Flight in Hindi

फ्लाइट से उम्मेद भवन पैलेस कैसे पहुंचे – How To Reach Umaid Bhawan Palace Jodhpur By Flight in Hindi

अगर आप उम्मेद भवन पैलेस जोधपुर फ्लाइट से जाने को प्लान कर रहे  हैं तो आपको बता दें कि उम्मेद भवन पैलेस का निकटतम हवाई अड्डा अपना घरेलु हवाई अड्डा है जो उम्मेद भवन पैलेस से लगभग 04 किलोमीटर दूर स्थित है। यह हवाई अड्डा दिल्ली, मुंबई, जयपुर और कोलकाता जैस देश का कई प्रमुख शहरों से हवाई मार्ग से जुड़ा हुआ है। हवाई अड्डे पर उतरने के बाद यहां से आप कैब किराए पर ले सकते हैं या प्री-पेड टैक्सी बुक करके उम्मेद भवन पैलेस जोधपुर आसानी से पहुंच सकते हैं।

सड़क मार्ग से उम्मेद भवन पैलेस कैसे पहुंचे – How To Reach Umaid Bhawan Palace By Road in Hindi

सड़क मार्ग से उम्मेद भवन पैलेस कैसे पहुंचे – How To Reach Umaid Bhawan Palace By Road in Hindi

उम्मेद भवन पैलेस जोधपुर की यात्रा सड़क मार्ग से यात्रा करना काफी आरामदायक साबित हो सकता है क्योंकि यह सिटी अच्छी तरह रोड नेटवर्क द्वारा भारत के कई प्रमुख शहरों जैसे मुंबई, दिल्ली, इंदौर, कोटा और अहमदाबाद से अच्छी तरह से जुड़ा है। बस से यात्रा करने के लिए भी आपके सामने बहुत से विकल्प होते हैं। आप डीलक्स बसें, एसी कोच और राज्य द्वारा संचालित बसों के माध्यम से उम्मेद भवन पैलेस  की यात्रा कर सकते हैं।

ट्रेन से उम्मेद भवन पैलेस कैसे पहुंचे – How To Reach Umaid Bhawan Palace By Train in Hindi

ट्रेन से उम्मेद भवन पैलेस कैसे पहुंचे – How To Reach Umaid Bhawan Palace By Train in Hindi

अगर आपने जोधपुर जाने के लिए ट्रेन को सिलेक्ट किया है तो हम आपको बता दे जोधपुर राजस्थान का एक प्रमुख शहर है जो रेल के विशाल नेटवर्क पर स्थित है।  जोधपुर रेलवे स्टेशन भारत के प्रमुख शहरों जैसे जयपुर, दिल्ली, कोलकाता, इंदौर, मुंबई और कोटा से ट्रेनों द्वारा जुड़ा हुआ है। भारत के कई बड़े शहरों से जोधपुर के लिए प्रतिदिन कई ट्रेने चलती हैं। रेलवे स्टेशन पहुंचने के बाद आप एक टैक्सी या कैब और एक ऑटो-रिक्शा किराए पर लेकर उम्मेद भवन पैलेस  जोधपुर पहुंच सकते हैं।

और पढ़े : जोधपुर में घूमने वाली जगह 

इस आर्टिकल में आपने उम्मेद भवन पैलेस का इतिहास और इससे जुड़ी जानकारी को डिटेल में जाना है आपको हमारा ये लेख केसा लगा हमे कमेंट्स में जरूर बतायें।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

उम्मेद भवन पैलेस का मेप – Map of Umaid Bhawan Palace 

और पढ़े :

Leave a Comment