Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Mehrangarh Fort In Hindi, मेहरानगढ़ किला जिसको मेहरान किले के रूप में भी जाना जाता है। इस किले को 1459 में राव जोधा द्वारा जोधपुर में में बनवाया गया था। यह किला देश के सबसे बड़े किलों में से एक है और 410 फीट ऊंची पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। मेहरानगढ़ किला विशाल दीवारों द्वारा संरक्षित है जहां पर कई तरह की हॉलीवुड और बॉलीवुड की शूटिंग हुई है जिनमे द लायन किंग, द डार्क नाइट राइज और ठग्स ऑफ हिंदोस्तान के नाम शामिल हैं। इस किले का प्रवेश द्वारा एक पहाड़ी के ऊपर है जो बेहद शाही है। किले में सात द्वार हैं जिनमें विक्ट्री गेट, फतेह गेट, भैरों गेट, डेढ़ कामग्रा गेट, फतेह गेट, मार्टी गेट और लोहा गेट के नाम शामिल है।

इस सभी गेटों का निर्माण अलग-अलग समय में किया गया था और इन्हें एक विशिष्ट उद्देश्य के चलते बनाया गया था। यहां पर जयपुर और बीकानेर सेनाओं पर महाराजा मान सिंह की जीत के उपलक्ष्य में विजय द्वार का निर्माण भी किया गया था। इसके अलावा किले में शीश महल (ग्लास पैलेस) और फूल महल (रोज पैलेस) जैसे आकर्षक महल भी हैं। अगर आप मेहरानगढ़ किले को देखने के लिए जाना चाहते हैं तो इस लेख को जरुर पढ़ें, इसमें हम आपको किले के बारे खास बातें जैसे मेहरानगढ़ किले का इतिहास, वास्तुकला, आसपास के पर्यटन स्थल और घूमने के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

मेहरानगढ़ किले का इतिहास – Mehrangarh Fort History In Hindi

मेहरानगढ़ किले की वास्तुकला – Architecture Of The Fort In Hindi

मेहरानगढ़ किले के आसपास पर्यटन – Sightseeing Around Mehrangarh Fort In Hindi

  1. चामुंडा माताजी मंदिर – Chamunda Mataji Temple In Hindi
  2. नागणेचजी मंदिर – Nagnechji Temple In Hindi
  3. राव जोधा डेजर्ट रॉक पार्क – Rao Jodha Desert Rock Park In Hindi
  4. चोकेलो गार्डन – Chokelao Garden In Hindi

मेहरानगढ़ फोर्ट की विशेषता – Mehrangarh Fort Facts in Hindi

मेहरानगढ़ किले का दौरा करने का सबसे अच्छा समय- Best Time To Visit Mehrangarh Fort In Hindi

जोधपुर में स्थानीय भोजन और रेस्तरां – Local Food And Restaurants In Jodhpur In Hindi

मेहरानगढ़ किले के पास रेस्टोरेंट – Restaurants Near Mehrangarh Fort In Hindi

मेहरानगढ़ किले तक कैसे पहुँचे – How To Reach Mehrangarh Fort In Hindi

  1. ट्रेन से मेहरानगढ़ किले तक कैसे पहुँचे – How To Reach Mehrangarh Fort By Train In Hindi
  2. हवाई जहाज से मेहरानगढ़ किले तक कैसे पहुँचे – How To Reach Mehrangarh Fort By Airplane In Hindi
  3. सड़क मार्ग से मेहरानगढ़ किले तक कैसे पहुँचे – How To Reach Mehrangarh Fort By Road In Hindi

मेहरानगढ़ किले की लोकेशन का मैप – Mehrangarh Fort Location

मेहरानगढ़ किले की फोटो गैलरी – Mehrangarh Fort Images

1. मेहरानगढ़ किले का इतिहास – Mehrangarh Fort History In Hindi

मेहरानगढ़ किले का इतिहास - Mehrangarh Fort History In Hindi

मेहरानगढ़ किले का इतिहास काफी दिलचस्प है जो हमें उस समय में वापस ले जाता है जब 15 वीं शताब्दी का दौरान राठौर शासक राव जोधा ने 1459 में जोधपुर की स्थापना की थी। राजा राम मल के पुत्र राव जोधा ने शहर को मंडोर से शासित किया लेकिन फिर उसने अपनी राजधानी को जोधपुर स्थानांतरित कर दिया था। इसके बाद उन्होंने भाऊचेरिया पहाड़ी पर किले की नीव रखी जिसकी दूरी मंडोर से सिर्फ 9 किमी थी। ‘मेहरान’ का अर्थ सूर्य है इसलिए राठोरों ने अपने मुख्य देवता सूर्य के नाम से इस किले को मेहरानगढ़ किले के रूप में नामित किया। इस किले के मुख्य निर्माण के बाद जोधपुर के अन्य शासकों मालदेव महाराजा, अजीत सिंह महाराजा, तखत सिंह और महाराजा हनवंत सिंह द्वारा इस किले में अन्य निर्माण किए।

2. मेहरानगढ़ किले की वास्तुकला – Architecture Of The Fort In Hindi

मेहरानगढ़ किले की वास्तुकला - Architecture Of The Fort In Hindi

मेहरानगढ़ किले और महलों को 500 साल की अवधि में बनाया गया था। किले की वास्तुकला में आप 20 वीं शताब्दी की वास्तुकला की विशेषताओं के साथ 5 वीं शताब्दी की बुनियादी वास्तुकला शैली को भी देख सकते हैं। किले में 68 फीट चौड़ी और 117 फीट लंबी दीवारें है। मेहरानगढ़ किले में सात द्वार हैं जिनमें से जयपोली सबसे ज्यादा लोकप्रिय है। किले की वास्तुकला 500 वर्षों की अवधि के विकास से गुजरी है। महाराजा अजीत सिंह के शासन के समय इस किले की कई इमारतों का निर्माण मुगल डिजाइन में किया गया है। इस किले में पर्यटकों को आकर्षित कर देने वाले सात द्वारों के अलावा मोती महल (पर्ल पैलेस), फूल महल (फूल महल), दौलत खाना, शीश महल (दर्पण पैलेस) और सुरेश खान जैसे कई शानदार शैली में बने कमरें हैं। मोती महल का निर्माण राजा सूर सिंह द्वारा बनवाया गया था। शीश महल, या हॉल ऑफ मिरर्स बेहद आकर्षक है जो अपनी दर्पण के टुकड़ों पर जटिल डिजाइन की वजह से पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केंद्र है। फूल महल का निर्माण महाराजा अभय सिंह ने करवाया था।

और पढ़े: जूनागढ़ किला जाने की पूरी जानकारी

3. मेहरानगढ़ किले के आसपास पर्यटन – Sightseeing Around Mehrangarh Fort In Hindi

अगर आप मेहरानगढ़ किले की सैर करने जा रहे हैं तो आपको बता दें कि इस किले के अंदर कुछ मंदिर और पार्क भी बने हुए है जहां आपको किले की यात्रा के दौरान जरुर जाना चाहिए।

3.1 चामुंडा माताजी मंदिर – Chamunda Mataji Temple In Hindi

चामुंडा माताजी मंदिर - Chamunda Mataji Temple In Hindi

Image Credit: Shubham Deo Prajapati

जब राव जोधा अपनी अपनी राजधानी को मंडोर से जोधपुर स्थानांतरित किया था तब वह अपने साथ दुर्गा माता की मूर्ति को भी ले गए थे। इस मूर्ति को मेहरानगढ़ किले में स्थापित किया गया था और आज कई भक्त माता की मूर्ति के दर्शन करने के लिए इस किले में आते हैं।

3.2 नागणेचजी मंदिर – Nagnechi Temple In Hindi

नागणेचजी मंदिर - Nagnechi Temple In Hindi

Image Credit: Parikshit Singh

नागणेचजी मंदिर किले के बिलकुल दाईं ओर स्थित है जिसका निर्माण 14 वीं शताब्दी में किया गया था, जब राव धुहड़ ने मूर्ति को मारवाड़ में लाया था जिसको बाद में किले में स्थापित कर दिया गया था।

3.3 राव जोधा डेजर्ट रॉक पार्क – Rao Jodha Desert Rock Park In Hindi

राव जोधा डेजर्ट रॉक पार्क - Rao Jodha Desert Rock Park In Hindi

राव जोधा डेजर्ट रॉक पार्क किले के पास स्थित है जो प्रकृति प्रेमियों के लिए स्वर्ग के सामान है। यह पार्क 72 हेक्टेयर के क्षेत्र में फैला हुआ है जहां रेगिस्तान और शुष्क वनस्पति पाई जाती है। इस पार्क में पर्यटक गाइड के साथ 880 से 1100 मीटर लंबे रोमांचक रास्ते जा सकते हैं जहां पर कुछ अनोखे पौधों को देखा जा सकता है।

3.4 चोकेलो गार्डन – Chokelao Garden In Hindi

चोकेलो गार्डन - Chokelao Garden In Hindi

Image Credit: Hari Shanker Jangid

चोकेलो गार्डन मेहरानगढ़ किले के ठीक नीचे स्थित है जिसे आपको अपनी किले की यात्रा में जरुर शामिल करना चाहिए। यह गार्डन 18 वीं शताब्दी का है जिसके बाद इसका जीर्णोद्धार किया गया है। इस गार्डन में एक रेस्टोरेंट भी है जहां से आप मनोरम दृश्य का आनंद लिया जा सकता है।

4. मेहरानगढ़ फोर्ट की विशेषता – Mehrangarh Fort Facts in Hindi

मेहरानगढ़ फोर्ट की विशेषता - Mehrangarh Fort Facts in Hindi

  • मेहरानगढ़ किला राजस्थान के सबसे बड़े, संरक्षित और सबसे प्रभावशाली स्मारकों में से एक है।
  • यह किला एक लंबवत चट्टान पर बना हुआ है और यह लगभग चार सौ फीट की ऊंचाई पर स्थित है।
  • किले के निर्माण के लिए राव जोधा को एक ऋषि चीरिया नाथजी को जबरदस्ती इस जगह से हटाया था जिसके बाद उस ऋषि ने राजा को शाप दिया था कि इस किले को पानी की कमी का सामना करना पड़ेगा। लेकिन बाद में राव जोधा ने उनके लिए एक मंदिर और एक घर बनवाकर उन्हें प्रसन्न किया।
  • जब आप इस किले को देखने के लिए जायेंगे तो इसके मुख्य द्वार के सामने आपको कुछ लोग लोक नृत्य करते नजर आयेंगे।
  • कई हॉलीवुड और बॉलीवुड फिल्मों को किले में शूट किया गया है जिसमें फिल्म द डार्क नाइट राइजेस का नाम भी शामिल है।

और पढ़े: आमेर किले का इतिहास और घूमने की जानकारी

5. मेहरानगढ़ किले का दौरा करने का सबसे अच्छा समय- Best Time To Visit Mehrangarh Fort In Hindi

मेहरानगढ़ किले का दौरा करने का सबसे अच्छा समय- Best Time To Visit Mehrangarh Fort In Hindi

अगर आप मेहरानगढ़ किले की यात्रा करने की योजना बना रहे हैं तो आपको बता दें कि यहां जाने का सबसे अच्छा समय सर्दियों के मौसम का है। अक्टूबर से मार्च के के महीनों के बीच यहां का मौसम काफी ठंडा और सुखद रहता है। इस मौसम में आप पूरे किले को एक्सप्लोर कर सकते हैं। किला घूमने के लिए आप सर्दियों के मौसम में सुबह के समय जाएँ। यह किला सुबह 9:00 बजे पर्यटकों के लिए खोला जाता। आप दो या तीन घंटे एक किले में बिताने के बाद यहां के पास के पर्यटन स्थलों पर जा सकते हैं।

6. जोधपुर में स्थानीय भोजन और रेस्तरां – Local Food And Restaurants In Jodhpur In Hindi

जोधपुर में स्थानीय भोजन और रेस्तरां - Local Food And Restaurants In Jodhpur In Hindi

जोधपुर एक ऐसा शहर है जहां के व्यंजन मिर्च मसाले से भरपूर होते हैं। यहां पर पर्याप्त मात्रा में स्ट्रीट फूड और मिठाइयां उपलब्ध हैं। यहां आप मिर्ची बड़ा, मावा कचोरी और प्याज़ कचोरी जैसे कुछ स्वादिष्ट स्ट्रीट फूड का स्वाद भी ले सकते हैं इसके अलावा यहां के मखानिया लस्सी भी काफी लोकप्रिय है। अगर आप इस शहर में कुछ मीठा खाना चाहते हैं तो यहां मिलने वाले भोग बेसन की चक्की, मावे की कचौरी, मोतीचूर के लड्डू और मखान वडे का मजा भी ले सकते हैं।

7. मेहरानगढ़ किले के पास रेस्टोरेंट – Restaurants Near Mehrangarh Fort In Hindi

मेहरानगढ़ किले के पास कई रेस्तरां और कैफे स्थित हैं जो आपको राजस्थानी व्यंजनों का आनंद देते हैं। जिसमें मेहरान टेरेस, केसर हेरिटेज रेस्तरां आदि के नाम शामिल हैं।

और पढ़े: जयगढ़ किले का इतिहास और रहस्य

8. मेहरानगढ़ किले तक कैसे पहुँचे – How To Reach Mehrangarh Fort In Hindi

जोधपुर शहर भारत के सभी प्रमुख शहरों के साथ रेल, सड़क और हवाई नेटवर्क से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है।

8.1 ट्रेन से मेहरानगढ़ किले तक कैसे पहुँचे – How To Reach Mehrangarh Fort By Train In Hindi

ट्रेन से मेहरानगढ़ किले तक कैसे पहुँचे - How To Reach Mehrangarh Fort By Train In Hindi

अगर आप मेहरानगढ़ किले या जोधपुर की यात्रा रेल द्वारा करना चाहते हैं तो बता दें कि जोधपुर रेलवे स्टेशन सभी प्रमुख भारतीय शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है और यहां रोज कई ट्रेनें उपलब्ध हैं। इसके अलावा यहां का निकटतम रेलवे स्टेशन ‘राय का बाग’ रेलवे स्टेशन है। जोधपुर रेलवे स्टेशन से मेहरानगढ़ किले की दूरी लगभग 6 किलोमीटर है, जहां आप टैक्सी या कैब की मदद से पहुंच सकते हैं।

8.2 हवाई जहाज से मेहरानगढ़ किले तक कैसे पहुँचे – How To Reach Mehrangarh Fort By Airplane In Hindi

हवाई जहाज से मेहरानगढ़ किले तक कैसे पहुँचे - How To Reach Mehrangarh Fort By Airplane In Hindi

राजस्थान के प्रमुख हवाई अड्डों में से एक, जोधपुर अब एक अंतरराष्ट्रीय में तब्दील हो रहा है। यहां के लिए आपको देश के विभिन्न शहरों से दैनिक उड़ानें मिल जायेंगी। जोधपुर हवाई अड्डे से मेहरानगढ़ किले की दूरी करीब 8 किलोमीटर है।

8.3 सड़क मार्ग से मेहरानगढ़ किले तक कैसे पहुँचे – How To Reach Mehrangarh Fort By Road In Hindi

सड़क मार्ग से मेहरानगढ़ किले तक कैसे पहुँचे - How To Reach Mehrangarh Fort By Road In Hindi

जोधपुर शहर राजस्थान के सभी महत्वपूर्ण शहरों के साथ ही अपने पड़ोसी राज्यों के लिए सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है। यहां पर कई डीलक्स और एक्सप्रेस बस सेवाएं उपलब्ध हैं। अगर आप शहर की यात्रा करना चाहते हैं तो ऑटो रिक्शा, बस, साइकिल रिक्शा या कैब की मदद ले सकते हैं।

और पढ़े: नाहरगढ़ किले का इतिहास और घूमने की जानकारी

9. मेहरानगढ़ किले की लोकेशन का मैप – Mehrangarh Fort Location

10. मेहरानगढ़ किले की फोटो गैलरी – Mehrangarh Fort Images

और पढ़े:

Write A Comment