चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग – Chaainsheel Bugyal Trek Uttarakhand In Hindi

Chaainsheel Bugyal Trek In Hindi, चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में स्थित बहुत ऊँची घाटी है। चांईशील समुद्र तल से 11700 फीट की उंचाई पर स्थित है। पहले चांईशील लोगो के बीच फेमस नही था लेकिन वर्ष 2017 में इसे “ट्रैक ऑफ़ द ईयर” की उपाधि दी गई है। इसके बाद से चांईशील ट्रैकिंग के लिए पर्यटक अधिक संख्या में जाने लगे और चांईशील पर्यटकों के बीच लोकप्रिय और आकर्षक पर्यटन स्थल बन गया है। चांईशील में पर्यटक 7 दिन की शानदार ट्रैकिंग करके यहाँ से जुड़े रहस्यों को जान सकते है। चांईशील तक जाने के लिए ट्रैकिंग यात्रा बालावत से शुरू होती है और आसपास की पहाड़ियों पर घूमने के बाद देहरादून में ख़त्म होती है।

चाइंशील बुग्याल ट्रेक में सुन्दर वन और घास के मैदानों की एक विस्तृत श्रृंखला देखने को मिलती है। यदि आप भी चांईशील ट्रैकिंग के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को पूरा अवश्य पढ़े।

Table of Contents

चांईशील बुग्याल में ट्रैकिंग – Chaainsheel Bugyal Trek In Hindi

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग का पहला दिन (बालावत से धौलचा)

चांईशील बुग्याल में 7 दिन की ट्रैकिंग में आप सबसे पहले बालवत में आवास स्थान बना सकते है। बालावत गाँव के लोग अपनी संस्कृति और स्वभाव को उजागर करते हुए आपका स्वागत करते हुए नजर आएंगे। यहाँ के निवासी अतिथि देवो भाव का पालन करते है। बालवत में रहने से आप यहाँ के लोगों के जीवन यापन के तरीकों को करीब से जान सकते है। बता दें कि 350 से भी अधिक लोगों के इस गाँव में आपको अपने घर की याद नही आएगी। ये लोग बहुत ही अच्छे व्यवहार वाले होते है। चलिए हम आपको चांईशील की सात दिन की ट्रैकिंग के बारे में विस्तार से बताते हैं।

और पढ़े: उत्तराखंड के प्रमुख पर्यटन स्थल और घूमने की जानकारी 

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग का पहला दिन (बालावत से धौलचा)

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग का पहला दिन (बालावत से धौलचा)

पहले दिन की चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग में आपका दिन बहुत ही चुनौतियों से भरा हुआ होगा। बालवत से धौलचा तक की ट्रैकिंग में पूरे मार्ग में बहुत सी कठिन चढ़ाई का सामना करना पड़ेगा। पहले दिन की ट्रैकिंग में आप मार्ग में हरे-भरे जंगल और घास के मैदानो के दिलचस्प नजारों से रूबरू होंगे। जैसे जैसे आपकी यात्रा आगे बढती जाएगी आपको रास्ते में जामुन, मशरूम, फूल, चाय की पत्ती आदि की एक विस्तृत श्रृंखला देखने को मिलेगी। बता दें कि यह सफ़र लगभग 10 घंटे का होगा इसलिए आप अपने साथ जरूरी चीजे लेकर चले जिससे मार्ग में आने वाली परेशानियों से निपटा जा सके।

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग का दूसरा दिन (धौलचा से अखौटी)

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग का दूसरा दिन (धौलचा से अखौटी)

दूसरे दिन की ट्रैकिंग में आप धौलचा से अखौटी के बीच की दूरी तय करेंगे। सुबह कि नास्ता के बाद आप अखोटी के लिए निकलेंगे जोकि 8350 फिट की ऊंचाई पर स्थित हैं और लगभग 6 घंटे का मार्ग हैं। रास्ते के लिए लंच पैक करके आपने साथ रख ले और इस्तरी गाद नदी के निशानों का पालन करते हुए आगे बढे। आपकी ट्रैकिंग में 10 किलोमीटर लम्बी बॉर्डर देखने के लिए अखोटी पड़ाव डाले और  हड़वारी गाँव में भी घूम सकते हैं। यहाँ आप अँधेरे जंगलो में देवदार के पेड़, सिल्वर बर्च और रोडोडेंड्रोन पाइन ट्री झाड़ियों से भी गुजरते हैं।

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग का तीसरा दिन (अखोटी से चन्गशील)

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग का तीसरा दिन (अखोटी से चन्गशील)

तीसरे दिन की ट्रैकिंग में आप अखोटी से चन्गशील के लिए रवाना होंगे जोकि 11730 फिट की ऊंचाई पर स्थित हैं। आज भी आप नास्ता करने और अपने जरूरत की चीजो को साथ में रखने के बाद 6 घंटे की यात्रा पर निकलेंगे। गढ़वाल हिमालय के शानदार नज़ारो को देखते हुए आपकी यात्रा आगे बढती हैं। घास के मैदानों से बाहर होने के बाद आपको लगातार चलना  होता हैं। यहाँ आपको पहाड़ियों पर लगातार ट्रेकिंग करते हुए आगे बढ़ना होता हैं। जोकि थोला शीर, बन्दरपूंच पहाड़ की ढलान के आकर्षित नज़ारे, स्वर्गारोहिणी चोटी, काली चोटी आदि इसमें शामिल है। अंत में टेंट लगाकर आप रात बिता सकते हैं।

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग का चौथा दिन (चांईशील बुग्याल में आराम)

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग का चौथा दिन (चांईशील बुग्याल में आराम)

चांईशील बुग्याल उत्तरकाशी के मोरी बुग्याल जिले में स्थित हैं और यहाँ घास के सुन्दर मैदान देखने को मिलेंगे। यहाँ आप रात्रि शिविर में आराम कर सकते हैं। हल्की धुंध, तापमान मध्यम और हल्की फुहारों का दृश्य आपको खुशनुमा बना देता हैं। बता दें कि बुग्याल का आँगन रंग-बिरंगे फूलो से भरा हुआ हैं। चांईशील की ऊंचाई 11638 फीट जोकि खूबसूरत दृश्य प्रस्तुत करती हैं। चांईशील बुग्याल पहुँच कर आप ऐसा महसूस करेंगे जैसे आप बहुत ऊंचाई पर आ पहुंचे और दुनिया आपसे बहुत निचे रह गई हैं।

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग का पांचवा दिन (चांईशील से बलावत)

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग का पांचवा दिन (चांईशील से बलावत)

पांचवे दिन आप बलावत वापसी के लिए निकल सकते हैं जोकि 6,283 फीट पर स्थित हैं। चांईशील में ब्रेकफास्ट करने के बाद आप अखोटी थाच के लिए निकल सकते हैं। यह सफ़र आपका लगभग 6 घंटे का हो सकता हैं। हम कह सकते हैं कि 4700 फिट तक नीचे आना एक साहसिक यात्रा का हिस्सा साबित होता हैं। पर्यटक बालावत पहुँच कर एक रात्रि विश्राम कर सकते हैं।

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग का छठा दिन (बालाबत से मसूरी या अखोटी)

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग का छठा दिन (बालाबत से मसूरी या अखोटी)

चांईशील बुग्याल यात्रा के छाटवें दिन कि सुबह आप बलाबत को अलविदा कह कर आपनी यात्रा को आगे बड़ा सकते हैं। बलाबत में यहाँ के स्थानीय निवासियों द्वारा आपका स्वागत शानदार ढंग से किया जाएगा आपको ऐसा लगेगा जैसे आप अपने घर में ही हैं। चाय, भोजन और आराम करने की सारी सुविधा आपको दी जाएगी। बालाबात से आप मसूरी के लिए रुख कर सकते है। या अखोटी थच में नास्ता करने के बाद आप (8350 फीट) से धौला कैंप के लिए यात्रा को आगे बढ़ा सकते हैं।

और पढ़े: केम्पटी फॉल्स मसूरी घूमने की जानकारी और इसके पर्यटन स्थल 

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग का सातवा दिन (धौला केम्प या मसूरी से देहरादून)

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग का सातवा दिन (धौला केम्प या मसूरी से देहरादून)

चांईशील बुग्याल ट्रैकिंग के सातवे दिन आप मसूरी पहुँच सकते हैं और मसूरी में ढेर सारी गतिविधियों का हिस्सा बन सकते हैं। मसूरी से आप देहरादून के लिए निकल सकते हैं। या फिर आप धौला कैंप से देहरादून के लिए भी जा सकते हैं।

और पढ़े: चकराता हिल स्टेशन की यात्रा की पूरी जानकारी

उत्तराखंड के चांईशील घाटी में घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Chaainsheel Valley Uttarakhand In Hindi

उत्तराखंड के चांईशील घाटी में घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

चांईशील बुग्याल उत्तराखंड घूमने जाने की योजना बनाई है तो हम आपको बता दे कि आप अप्रैल से नवम्वर माह के बीच किसी भी महीने में चांईशील की यात्रा कर सकते है। यह समय ट्रैकिंग के लिए बहुत अच्छा माना जाता है, नवम्बर के महीने से इधर से बर्फ़बारी शुरू हो जाती है।

और पढ़े: केरल के मशहूर हिल स्टेशन मुन्नार के पर्यटन स्थल

चांईशील उत्तराखंड कैसे पंहुचा जाये – How To Reach Chaainsheel Bugyal In Hindi

चांईशील आप हवाई मार्ग, रेलवे मार्ग और सड़क मार्ग से आसानी से पहुँच सकते है।

फ्लाइट से चांईशील कैसे पहुंचे – How To Reach Chaainsheel By Flight In Hindi

फ्लाइट से चांईशील कैसे पहुंचे

चांईशील फ्लाइट से जाने की योजना बनाई है तो हम आपको बता दे कि चांईशील बुग्याल से 245 किलोमीटर की दूरी पर देहरादून का जॉली ग्रांट हवाई अड्डा है जोकि भारत के प्रमुख हवाई अड्डो से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ हैं। यहाँ से आप किसी टैक्सी या बस के माध्यम से आसानी से चांईशील पहुँच सकते है।

ट्रेन से चांईशील कैसे जाये – How To Reach Chaainsheel By Train In Hindi

ट्रेन से चांईशील कैसे जाये

चांईशील की यात्रा के लिए यदि आपने रेलवे मार्ग का चुनाव किया है तो बता दे की चांईशील बुग्याल से 220 किलोमीटर की दूरी पर देहरादून रेलवे स्टेशन है। इस रेलवे स्टेशन से आप कार या टैक्सी लेकर आसानी से चांईशील पहुँच सकते है।

सड़क मार्ग से चांईशील उत्तराखंड कैसे जाये – How To Reach Chaainsheel By Road In Hindi

सड़क मार्ग से चांईशील उत्तराखंड कैसे जाये

चांईशील बुग्याल जाने के लिए आपने सड़क मार्ग का चुनाव किया हैं। तो बता दे कि उत्तरकाशी भारत के विभिन्न शहरो से सड़क मार्ग से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। आप बस या अपने निजी साधन के माध्यम से आसानी से चांईशील पहुँच जाएंगे है।

और पढ़े: हरसिल घाटी के टॉप पर्यटन स्थल की जानकारी

चांईशील उत्तराखंड का नक्शा – Chaainsheel Valley Uttarakhand Map

चांईशील घाटी की फोटो गैलरी – Chaainsheel Valley Images

और पढ़े:

Leave a Comment