हरसिल घाटी के टॉप पर्यटन स्थल की जानकारी – Best Places To Visit In Harsil Uttarakhand In Hindi

Harsil In Hindi, हरसिल घाटी भारत के उत्तराखंड राज्य के गढ़वाल के उत्तरकाशी जिले में स्थित बहुत ही खूबसूरत पर्यटन स्थल हैं। गंगोत्री और उत्तरकाशी के मध्य रास्ते में बसा हुआ हरसिल पर्यटन क्षेत्र बहुत ही आकर्षक है। यहाँ (हरसिल इन हिंदी) भागीरथी नदी को गंगा के नाम से जाना जाता है। हरसिल वैली को भागीरथी नदी के तट पर स्थित होने के बजह से धार्मिक स्थान का दर्जा भी दिया जाता है। हरसिल में भागीरथी नदी के किनारे पर लक्ष्मी नारायण मंदिर है जिसमे श्री कृष्ण के लेटे हुए रूप की मूर्ति विराजमान है। हरसिल क्षेत्र में गंगोत्री मंदिर हिंदुओं द्वारा बहुत पवित्र माना जाता है। बर्फ से ढंके पहाड़ हरसिल में पर्यटकों को बहुत आकर्षित करते है। हरसिल की प्रसिद्धि की सबसे ख़ास वजह यहाँ के देवदार के पेड़ और सेब के बाग़ है, जिससे पूरा हरसिल क्षेत्र सुशोभित रहता है।

हिमालय पर्वत के बीच बसे हरसिल में 7 झीले है जोकि देखने योग्य है। समुद्र तल से 2620 मीटर की उंचाई पर होने के कारण हरसिल ट्रेकिंग के लिए बहुत ही अच्छा स्थान है। पर्यटक यहाँ परिवार के साथ छुट्टियों का आनंद लेने आते है। यदि आप हरसिल घाटी के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को पूरा जरूर पढ़े –

1. हरसिल वैली का इतिहास – Harsil Valley History In Hindi

हरसिल वैली का इतिहास

हरसिल के इतिहास के बारे में ऐसा माना जाता है कि ईस्ट इंडिया कंपनी के फेड्रिक विल्सन नामक अंग्रेज ने इसकी खोज की थी जोकि इंग्लैंड के निवासी थे। उन्हें यह स्थान इतना पसंद आया कि उन्होंने यहाँ रहने का मन बना लिया और अपनी नौकरी भी छोड़ दी। फेड्रिक विल्सन ने इंग्लैंड से सेब के पौधे लाकर हरसिल में लगाए और तब से हरसिल में सेब का व्यापार होने लगा। विल्सन नाम की सेब की एक प्रजाति भी हरसिल में बहुत प्रसिद्ध है। विल्सन ने हरसिल को स्विट्ज़रलैंड की उपाधि से नवाजा था। सन 1962 की भारत चीन की लड़ाई के बाद हरसिल में विदेशियों के आगमन पर रोक लगा दी।

और पढ़े: उत्तराखंड के मशहूर तुंगनाथ घूमने की जानकारी

2. हरसिल हिल स्टेशन क्यों है खास – Harsil Hill Station Information In Hindi

हरसिल हिल स्टेशन क्यों है खास

हरसिल बहुत ही आकर्षक हिल स्टेशन है। पर्यटक यहाँ टेंट का सामान लेकर आते है और कुछ दिन के ट्रेकिंग टूर के लिए यहाँ रुकते है। हरसिल क्षेत्र में हिमालय के बीच बहुत ही सुगन्धित फूल खिलते है जोकि ट्रेकर्स के मन को बहुत भाते है। ट्रेकिंग के साथ-साथ इन फूलों की खुशबू भी पर्यटकों के मन को मोह लेती है।

3. हरसिल से गंगोत्री की दूरी – Distance Between Harsil To Gangotri In Hindi

हरसिल से गंगोत्री धाम के बीच की दूरी लगभग 25 किलोमीटर हैं।

4. हरसिल की लोकप्रियता का कारण – Why To Visit In Harsil Tourism In Hindi

हरसिल की लोकप्रियता का कारण

हरसिल पर्यटन स्थल के बारे में पहले बहुत कम लोग जानते थे परन्तु एक बार बॉलीवुड अभिनेता राज कपूर हरसिल घूमने आए और यात्रा के दौरान हरसिल की सुन्दर हरियाली और यहाँ के शांत वातावरण ने उनको इतना मोहित कर दिया कि सन 1985 में उन्होंने अपनी सुपरहिट फिल्म “राम तेरी गंगा मैली” की शूटिंग हरसिल में की थी। तबसे हरसिल बहुत मशहूर क्षेत्र के रूप में सामने आया।

5. हरसिल घाटी में बोली जाने वाली स्थानीय भाषा – Language Of Harsil In Hindi

हरसिल गढ़वाल में स्थित क्षेत्र है इसलिए यहाँ गढ़वाली भाषा बोली जाती है। इसके साथ ही यहाँ के लोग हिंदी और अंग्रेजी भाषा भी जानते है।

और पढ़े: यमुनोत्री धाम की यात्रा और इसके प्रमुख पर्यटन स्थल की जानकरी 

6. हरसिल में घूमने लायक प्रमुख पर्यटन स्थल – Tourist Attractions Of Harsil In Hindi

हरसिल बहुत ही खूबसूरत क्षेत्र है जोकि पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। हरसिल में आपको घूमने के लिए कई ऐसे पर्यटन स्थल मिलेंगे जहां घूमकर आप एक अनूठे आनंद का अनुभव करेंगे। प्रकृति की गोद में स्थित हरसिल अपने घने जंगलो, ऊँची पहाड़ियों और झीलों के लिए जाना जाता है। हरसिल की यात्रा पर आने वाले पर्यटक इन स्थानों की यात्रा जरूर करते है।

6.1 हरसिल का प्रसिद्ध धार्मिक स्थल गंगोत्री – Harsil Ka Prasidh Dharmik Sthal Gangotri In Hindi

हरसिल का प्रसिद्ध धार्मिक स्थल गंगोत्री

हरसिल से लगभग 21 किलोमीटर दूर स्थित गंगोत्री नामक एक तीर्थ स्थान स्थित है। उत्तराखंड में स्थित चारों धामों की यात्रा इस स्थान पर आकर संपन्न हो जाती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि गंगोत्री धाम परम गंगा माता के सुन्दर रूप का वर्णन है और यहाँ गंगा माता का बहुत ही आकर्षित ऊँचा मंदिर भी बना हुआ है। इस उंचाई से भागीरथी नदी का दृश्य देखने में बहुत अच्छा लगता है।

6.2 हर्षिल का दर्शनीय स्थल धराली गंगोत्री हरसिल – Harsil Ke Darshaniya Sthal Dharali Gangotri In Hindi

हर्षिल का दर्शनीय स्थल धराली गंगोत्री हरसिल

हर्षिल वैली के प्रमुख आकर्षण में शामिल धराली पर्यटन स्थल भी शानदार जगह हैं। जोकि हर्षिल घाटी से लगभग 2 किलोमीटर दूर स्थित हैं। धराली पर्यटन स्थल अपने सेव बाग और लाल सेम के लिए जाना जाता हैं। पौराणिक कथाओं के अनुसार धराली गंगोत्री ही वह स्थान है जहां भागीरथ ने गंगा नदी को धरती पर लाने के लिए तपस्या की थी। धराली गंगोत्री में भगवान शंकर का बहुत ही खूबसूरत और प्राचीन मंदिर है जोकि हिन्दुओं की आस्था का केंद्र बना हुआ है।

और पढ़े: गंगोत्री धाम की यात्रा और प्रमुख पर्यटन स्थल की जानकारी 

6.3 हरसिल के आकर्षण स्थल सत्तल पर्यटन – Harsil Ke Aakarshan Sthal Sattal Tourism In Hindi

हरसिल के आकर्षण स्थल सत्तल पर्यटन

हरसिल पर्यटन स्थल से लगभग 3 किलोमीटर दूर सत्तल नामक स्थान है जोकि ताजे पानी की 7  बड़ी झीलों का समूह है। इन सात झीलों का नाम क्रमशः पन्ना, नलद्यमंती ताल, राम, सीता, लक्ष्मण, भरत सुक्खा ताल और ओक्स है। जो भी पर्यटक फोटोग्राफी का शौक रखते है उनके लिए यह प्राकृतिक स्थान बहुत ही आकर्षक है।

और पढ़े: सत्ताल घूमने की जानकारी और इसके प्रमुख पर्यटन स्थल

6.4 हर्षिल में घूमने लायक जगह मुखवास ग्राम – Harsil Mein Ghumne Layak Jagah Mukhwas Village In Hindi

हर्षिल में घूमने लायक जगह मुखवास ग्राम

मुखवास ग्राम हरसिल से 1 किलोमीटर की दूरी स्थित बहुत ही लोकप्रिय पर्यटक स्थान है। मुखवास ग्राम को देवी गंगोत्री का घर माना जाता है और लोग यहाँ देवी की पूजा करने के लिए आते है। मुखवास ग्राम में बहुत बर्फ गिरती है जिसके कारण यह स्थान बहुत ही आकर्षक दिखाई देता है और साल भर ठंडा बना रहता है। पर्यटक बर्फ से सम्बंधित गतिविधियों का आनंद भी यहाँ लेते हैं।

6.5 हरसिल का प्रमुख पर्यटन स्थल गंगनानी – Harsil Ka Pramukh Paryatan Sthal Gangnani In Hindi

हरसिल का प्रमुख पर्यटन स्थल गंगनानी

हरसिल में घूमने वाली जगहों में शामिल गंगनानी एक आकर्षित स्थान है। गंगनानी अपने गर्म पानी के झरने के लिए बहुत लोकप्रिय है और पर्यटक इस स्थान पर आना बहुत पसंद करते हैं। गंगनानी हरसिल से लगभग 26 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। हिमालय पर्वत पर स्थित इस स्थान पर हर साल बहुत बड़ी संख्या में पर्यटक आते है।

7. हरसिल में लगने वाला फेमस मेला उत्तरकाशी मेला – Famous Fair In Harsil Uttarkashi Mela In Hindi

हरसिल में लगने वाला फेमस मेला उत्तरकाशी मेला

हरसिल पर्यटन स्थल भारत के उत्तराखंड राज्य के उत्तरकाशी में स्थित है। जहां प्रति वर्ष कई मेलों का आयोजन किया जाता है। ये मेले पर्यटकों को भी बहुत पसंद आते है। उत्तरकाशी में होने वाले कुछ प्रमुख मेले जोकि यहाँ के आकर्षण में शामिल हैं – नागराज देवता मेला, माघ मेला, कंडक मेला, ख़रसाली मेला, माहा मेला, संकलू मेला इत्यादि हैं।

और पढ़े: अल्मोड़ा हिल स्टेशन की यात्रा पर इन 10 बेहद खुबसूरत जगहों पर घूमना न भूले

8. हरसिल घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Harsil In Hindi

हरसिल घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

हरसिल की यात्रा के लिए सबसे अच्छा मौसम अप्रैल से जून और सितंबर से अक्टूबर के बीच का माना जाता है। यदि आप हरसिल टूरिस्ट प्लेस की पर घूमना चाहते हैं तो इस समय का चुनाव कर सकते हैं। यह समय हरसिल वैली की यात्रा का भरपूर आनंद लेने के लिए सबसे अच्छा साबित हो सकता है।

9. हर्षिल का प्रसिद्ध भोजन – Famous Food Of Harsil In Hindi

हर्षिल का प्रसिद्ध भोजन

हर्षिल गढ़वालियों का क्षेत्र है और आपको यहाँ पर बहुत ही प्रसिद्ध गढ़वाली भोजन चखने को मिलेगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यहाँ के प्रसिद्ध व्यंजनों में मुख्य रूप से थेंचवान (Thenchwan), चाउन्सा (Chaunsa), फाना (phaana), मैथियाली रोटी (Maithiyali Roti), कड़े की रोटी (kade ki roti), काफुली/कापली (Kaafuli / Kaapli), छोली रोटी (chholi roti), भांग की चटनी (bhaang ki chutney) इत्यादि शामिल हैं।

10. हर्षिल घाटी में कहाँ रुके – Where To Stay In Harsil Valley In Hindi

हर्षिल घाटी में कहाँ रुके

हरसिल और इसके पर्यटन स्थलों की यात्रा करने के बाद यदि आप किसी आवास स्थान की तलाश में हैं तो हम आपको बता दें कि हरसिल में कई होटल (Harsil Hotels) उपलब्ध हैं। जोकि आपको अपनी जरूरतानुसार मिल जायंगे और इनकी कीमत भी कम ज्यादा होती हैं।

  • सुंदर होम स्टे (Sunder Home Stay)
  • हरसिल चार धाम केम्प (Harsil Char Dhaam Camp)
  • शिव परिवार रिसोर्ट (Shiv Parivar Resort)
  • हरसिल कॉटेज (Harsil Cottage)
  • हिमालय होटल (Himalayahote)

और पढ़े: सिद्धबली बाबा मंदिर कोटद्वार उत्तराखंड के दर्शन की जानकारी

11. हरसिल उत्तराखंड कैसे पहुँचे – How To Reach Harsil Uttarakhand In Hindi

यदि आपने हरसिल पर्यटन स्थल उत्तराखंड जाने की योजना बनाई हैं तो हम आपको बता दे की आपको हरसिल जाने के लिए फ्लाइट, ट्रेन और सड़क मार्ग में से किसी का भी चुनाव कर सकते हैं।

11.1 फ्लाइट से हरसिल पर्यटन उत्तराखंड कैसे पहुंचे – How To Reach Harsil By Flight In Hindi

फ्लाइट से हरसिल पर्यटन उत्तराखंड कैसे पहुंचे

अगर आपने हवाई मार्ग द्वारा हरसिल जाने की योजना बनाई है तो हम आपको बता दे कि हरसिल का सबसे निकटतम हवाई अड्डा जॉली ग्रांट हवाई अड्डा (Jolly Grant Airport Dehradun) है। जोकि हरसिल घाटी से लगभग 232 किलोमीटर दूर स्थित है। इस हवाई अड्डे से आप टैक्सी के माध्यम से हरसिल आसानी से पहुँच सकते है।

11.2 ट्रेन से हरसिल पर्यटन उत्तराखंड कैसे पहुंचे – How To Reach Harsil By Train In Hindi

ट्रेन से हरसिल पर्यटन उत्तराखंड कैसे पहुंचे

अगर आपने हरसिल जाने के लिए रेल मार्ग का चयन किया है तो हम आपको बता दे कि हरसिल से लगभग 215 किलोमीटर की दूरी पर स्थित ऋषिकेश रेलवे स्टेशन (Rishikesh Railway Station) इस घाटी का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन है। आप यहाँ से कोई टैक्सी किराए पर लेकर हरसिल घाटी आसानी से पहुँच सकते है।

11.3 बस से हरसिल पर्यटन उत्तराखंड कैसे पहुंचे – How To Reach Harsil By Road In Hindi

बस से हरसिल पर्यटन उत्तराखंड कैसे पहुंचे

अगर आपने हरसिल जाने के लिए सड़क मार्ग का चुनाव किया है तो हम आपको बता दे कि हरसिल घाटी भारत के विभिन्न शहरों से सड़क मार्ग के माध्यम से अच्छी तरह जुड़ा हैं। यहाँ जाने के लिए आप राज्य परिवाहन के साधन या अपने निजी साधनों का उपयोग कर सकते हैं।

और पढ़े: उत्तराखंड के पंच प्रयाग की यात्रा और इसके प्रमुख पर्यटन स्थल की जानकारी

इस लेख में आपने हरसिल घाटी के बारे में जाना है आपको हमारा ये लेख केसा लगा हमे कमेंट्स में जरूर बतायें।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

12. हर्षिल उत्तराखंड का नक्शा – Harsil Uttarakhand Map

13. हरसिल की फोटो गैलरी – Harsil Images

https://www.instagram.com/p/B1rPiKzggfl/?utm_source=ig_web_button_share_sheet

और पढ़े:

Leave a Comment