त्रिशूर पर्यटन में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें – Thrissur Tourist Places in Hindi

Thrissur Tourist Places in Hindi: त्रिशूर केरल का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है जिसे आधिकारिक तौर पर केरल की सांस्कृतिक राजधानी के रूप में जाना जाता है। त्रिशूर तिरु-शिव-प्रति-उर का संक्षिप्त रूप है जिसका शाब्दिक अर्थ है “भगवान शिव के तीन मंदिरों वाला शहर”। त्रिशूर केरल की शास्त्रीय प्रदर्शन कला, धार्मिक स्थलों और प्रसिद्ध त्योहारो के लिए प्रसिद्ध है। त्रिशूर वह जगह है जहां से केरल को अपनी उत्सव की चमक का एक अच्छा हिस्सा मिलता है और यहाँ पर मनाए जाने वाले त्यौहार पर्यटकों के लिए प्रमुख आकर्षण हैं। असंख्य मंदिरों, पहाड़ियों, समुद्र तटों के साथ, त्रिशूर में हर प्रकार के यात्री के लिए कुछ न कुछ है जो बड़ी संख्या भारतीय और विदेशी पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है। अगर आप भी केरल राज्य के सांस्कृतिक सौंदर्य की झलक पाने की इच्छा रखते हैं तो आपको त्रिशूर के सर्वोत्तम पर्यटन स्थलों की यात्रा अवश्य करनी चाहिये-

तो त्रिशूर घूमने की पूरी जानकारी के लिए आप हमारे इस लेख को पूरा अवश्य पढ़े जहाँ हमने आपके त्रिशूर के प्रमुख पर्यटक स्थलों की सूची तैयार की है-

Table of Contents

त्रिशूर के प्रमुख पर्यटक स्थल – Best Places to Visit in Thrissur in Hindi

अथिरापल्ली जलप्रपात – Athirapally Falls in Hindi

अथिरापल्ली जलप्रपात - Athirapally Falls in Hindi

शहर से 60 किमी की दूरी पर स्थित अथिरापल्ली जलप्रपात त्रिशूर में घूमने के लिए सबसे प्रमुख जगहों में से एक है। अथिरापल्ली जलप्रपात, 80 फीट ऊंचाई से गिरता हुआ एक अद्भुत झरना है जो पश्चिमी घाट के अनामुड़ी पहाड़ों से अपना रास्ता बनाता है। बता दे अथिरापल्ली जलप्रपात को अक्सर “भारत के नियाग्रा फॉल्स” के रूप में भी जाना जाता है। जब आप अथिरापल्ली में उतरते हैं, तो आप आकर्षक हरे शोलेयार चोटियों की झलक पाते हैं। यदि आप त्रिशूर की यात्रा पर जाने वाले है तो अथिरापल्ली जलप्रपात घूमने अवश्य जाएँ जिसे अक्सर प्रकृति प्रेमियों के लिए स्वर्ग के समान माना जाता है।

अथिरापल्ली जलप्रपात की टाइमिंग – Timings of Athirapally Falls in Hindi

  • सुबह 8.00 बजे से 6.00 बजे तक

अथिरापल्ली जलप्रपात की एंट्री फीस – Entry Fee of Athirapally Falls in Hindi

  • 15 रूपये प्रति व्यक्ति

चारपा जलप्रपात – Charpa Falls in Hindi

चारपा जलप्रपात – Charpa Falls in Hindi
Image credit : Suresh Krishna

केरल अपने कई झरनों के लिए जाना जाता है,  चारपा जलप्रपात उनमें से एक है। अथिरापल्ली और वाज़चल फॉल्स के बीच स्थित, यह त्रिशूर का एक और रत्न है। यह दूधिया झरना प्रकृति प्रेमियों के लिए एक शानदार स्थान हैं जो पूरे वर्ष पर्यटकों को आकर्षित करता हैं। त्रिशूर के सबसे प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक होने के नाते, इन फॉल्स का दौरा करने का सबसे अच्छा समय मॉनसून के बाद है जब इन फॉल्स का आकर्षण कई गुना बढ़ जाता है।

चारपा जलप्रपात की टाइमिंग – Timings of Charpa Falls in Hindi

  •  सुबह से लेकर शाम तक

चारपा जलप्रपात की एंट्री फीस – Entry Fee of Charpa Falls in Hindi

  • यहाँ पर्यटक बिना किसी प्रवेश शुल्क के घूमने जा सकते है।

शक्तिमान थाप्पुरन पैलेस – Shakthan Thampuran Palace in Hindi

शक्तिमान थाप्पुरन पैलेस – Shakthan Thampuran Palace in Hindi
Image credit : Gokul P Ramachandran

त्रिशूर शहर में घूमने के लिए सबसे प्रमुख पर्यटक स्थलों में से एक शक्तिमान थाप्पुरन पैलेस कोचीन के राजा के शाही निवास को चिह्नित करता है। यह पैलेस अपने ऐतिहासिक मूल्य के कारण एक प्रसिद्ध पर्यटक आकर्षण रहा है जिसे लोकप्रिय रूप से वडक्करे पैलेस के रूप में जाना जाता है। शक्तिमान थाप्पुरन पैलेस का निर्माण 1795 में राजा राम वर्मा द्वारा किया गया था। महल के निर्माण में डच शैली की वास्तुकला का प्रयोग किया गया है जो विशेष रूप से कला के प्रशंसकों के लिए निहारना एक मनोरम दृश्य है।

इस महल की एक और खासियत यह है कि इसमें नागों के देवता को समर्पित एक मंदिर है, जिसे सर्प ग्रोव (सर्पाकवु) के नाम से जाना जाता है। बता दे यह महल राज्य के पुरातात्विक विभाग के नियंत्रण में आता है और इसे 2005 में एक संग्रहालय में बदल दिया गया था। जिसमे विभिन्न अद्वितीय कांस्य और ग्रेनाइट की मूर्तियां, सिक्के, शिलालेख प्लेट, रॉयल्स और मुद्रा द्वारा उपयोग किए गए बर्तन को प्रदर्शित किया गया है।

शक्तिमान थाप्पुरन पैलेस की टाइमिंग – Timings of Shakthan Thampuran Palace in Hindi

  • सुबह 9.30 बजे से शाम 4.30 बजे तक

शक्तिमान थाप्पुरन पैलेस की एंट्री फीस – Entry Fees of Shakthan Thampuran Palace in Hindi

  • व्यस्क पर्यटकों के लिए : 20 रूपये प्रति व्यक्ति
  • बच्चो के लिए : 5 रूपये

डोलोरस बेसिलिका चर्च – Dolores Basilica Church in Hindi

डोलोरस बेसिलिका चर्च - Dolores Basilica Church in Hindi

त्रिशूर शहर के केंद्र में हरे-भरे घाटियों के बीच स्थित, डोलोरस बेसिलिका चर्च (या लेडी ऑफ़ डोलोरस का बेसिलिका) त्रिशूर में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है जिसका एक धार्मिक महत्व भी है। डोलोरस बेसिलिका चर्च का निर्माण वर्ष 1814 में किया गया था। बता दे यह चर्च एशिया में तीसरा सबसे लंबा चर्च है, जो अपने चरम रूप से आकर्षक गोथिक शैली की वास्तुकला और ठीक इंडो-गोथिक अंदरूनी के लिए प्रसिद्ध है। जिसे देश के विभिन्न हिस्सों और यहां तक ​​कि विदेशों से भी पर्यटक चर्च के अंदर संरक्षित, भित्ति चित्रों, संतों की छवियों और धर्मग्रंथों के दृश्यों को देखने के लिए इस अद्भुत चर्च में जाते हैं। यदि आप भी त्रिशूर घूमने जाने वाले है तो डोलोरस बेसिलिका चर्च को अपनी यात्रा सूची में अवश्य शामिल करें।

डोलोरस बेसिलिका चर्च की टाइमिंग – Timings of Dolores Basilica Church in Hindi

  • चर्च प्रतिदिन सुबह 6.00 बजे से शाम तक खुला रहता है।

डोलोरस बेसिलिका चर्च की एंट्री फीस – Entry Fees of Dolores Basilica Church in Hindi

  • बता दे पर्यटक बिना किसी प्रवेश शुल्क के चर्च घूम सकते है।

और पढ़े : केरल का प्रसिद्ध खाना और व्यंजन जिनके बारे में जानकर आपके मुह में पानी आ जायेगा

त्रिशूर जू एंड स्टेट म्यूजियम – Thrissur Zoo and State Museum in Hindi

त्रिशूर जू एंड स्टेट म्यूजियम - Thrissur Zoo and State Museum in Hindi
Image credit : Evin Ruben

त्रिशूर में घूमने के लिए सबसे पसंदीदा जगहों में से त्रिशूर जू और स्टेट संग्रहालय शहर के केंद्र में स्थित है।  यह चिड़ियाघर वर्ष 1885 में शुरू किया गया था जो लगभग 13.5 एकड़ क्षेत्र में फैला है। चिड़ियाघर में जानवरों, सरीसृप और पक्षियों की एक विस्तृत विविधता है। जीवों की व्यापक विविधता के अलावा, चिड़ियाघर में आपको मोहित करने के लिए कई अन्य आकर्षण जैसे क्षेत्र के सामाजिक-सांस्कृतिक विरासत को दर्शाने वाला एक प्राणी उद्यान, वनस्पति उद्यान, एक प्राकृतिक इतिहास संग्रहालय और एक कला संग्रहालय स्थापित है।त्रिशूर चिड़ियाघर अपने परिवार के साथ शैक्षिक और रोमांचक यात्रा के लिए बाहर निकलने का अवसर प्रदान करता है।

त्रिशूर जू एंड स्टेट म्यूजियम की टाइमिंग – Timings of Thrissur Zoo and State Museum in Hindi

  • सुबह 9.00 बजे से शाम 5.15 बजे तक

त्रिशूर जू एंड स्टेट म्यूजियम की एंट्री फीस – Thrissur Zoo Entry Fees in Hindi

  • (Thrissur zoo ticket) व्यस्क पर्यटकों के लिए : 6 रूपये प्रति व्यक्ति
  • बच्चो के लिए : 4 रूपये

पीची बांध – Peechi Dam in Hindi

पीची बांध - Peechi Dam in Hindi
Image credit : Abhijith Menon

पीची बांध त्रिशूर से 23 किमी की दूरी पर स्थित है। पीची बांध का निर्माण 1957 में मनाली नदी पर किया गया था, जो 3200 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है।  यह बांध पूरे केरल में मुख्य सिंचाई परियोजना के साथ साथ एक आदर्श पिकनिक स्थल है जो बड़ी संख्या में स्थानीय लोगो और पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है। पीची बांध की यात्रा में पर्यटक यहां नौका विहार का विकल्प चुन सकते हैं और इस जगह का आनंद उठा सकते हैं।

इसके अलावा पीची बांध की यात्रा में आप पीची-वज़हानी वन्यजीव अभयारण्य भी जा सकते है, जो प्रकृति और वन्य जीव प्रेमियों के लिए स्वर्ग के समान माना जाता है।

पीची बांध खुलने का समय – Timings of Peechi Dam in Hindi

  • सुबह 8.00 बजे से शाम 6.30 बजे तक

पीची बांध की एंट्री फीस – Entry Fees of Peechi Dam in Hindi

  • 20 रूपये प्रति व्यक्ति

और पढ़े : केरल के मशहूर हिल स्टेशन मुन्नार के पर्यटन स्थल

केरल कलामंडलम – Kerala Kalamandalam in Hindi

केरल कलामंडलम - Kerala Kalamandalam in Hindi
Image credit : Shiju Kumar

केरल कलामंडलम, भरतपुझा नदी के तट पर त्रिशूर जिले के चेरुथुथरी गांव में स्थित है, जो केरल में एक डीम्ड विश्वविद्यालय कला और संस्कृति केंद्र है। यदि आप केरल की रंगीन, जीवंत संस्कृति का अनुभव करना चाहते हैं, तो आपको केरल कलामंडलम की यात्रा करनी चाहिए। केरल कलामंडलम  की स्थापना 1930 में की गयी थी जिसे भारत सरकार द्वारा कला और संस्कृति विश्वविद्यालय के रूप में मान्यता प्राप्त है। यह प्रदर्शन कलाओं के बारे में जानने के लिए दक्षिण भारत की एक शानदार जगह है। अपनी यात्रा के दौरान, आप यहाँ प्रस्तुत किये जाने वालें कथकली, कुडियट्टम और मोहिनीअट्टम नृत्य रूपों के दर्शक हो सकते हैं। एक नृत्य कट्टरपंथी के लिए, यह जगह त्रिशूर में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है।

केरल कलामंडलम खुलने का समय – Timings of Kerala Kalamandalam in Hindi

  • सुबह 9.00 बजे से दोपहर 1.00 बजे तक

केरल कलामंडलम का प्रवेश शुल्क – Entry Fees of Kerala Kalamandalam in Hindi

  • भारतीय पर्यटकों के लिए : 1000 रूपये प्रति व्यक्ति
  • विदेशी पर्यटकों के लिए : 1292 रूपये

हेरिटेज गार्डन – Heritage Garden in Hindi

हेरिटेज गार्डन - Heritage Garden in Hindi

शहर के केंद्र में स्थित, हेरिटेज गार्डन त्रिशूर यात्रा में घूमने के लिए एक और शीर्ष स्थान है, जहाँ प्रकृति प्रेमी सैर सपाटा कर सकते हैं। यह एक सुव्यवस्थित उद्यान है जो स्थानीय लोगों और पर्यटकों के बीच पिकनिक स्थल के रूप में काफी लोकप्रिय है। यदि आप अपने परिवार के साथ त्रिशूर घूमने जाने वाले है तो अपनी यात्रा में शांत वातावरण में आराम करने और पिकिनिक मनाने के लिए हेरिटेज गार्डन की यात्रा अवश्य करें।

हेरिटेज गार्डन खुलने का समय – Timings of Heritage Garden in Hindi

  • सुबह 9.00 बजे से दोपहर 1 बजे तक
  • और 2.00 बजे से शाम 4.30 बजे तक

हेरिटेज गार्डन का प्रवेश शुल्क – Entry Fees of Heritage Garden in Hindi

  • व्यस्क पर्यटकों के लिए : 20 रूपये
  • बच्चो के लिए : 5 रूपये

अर्कोलोजिकल म्यूजियम – Archaeological Museum in Hindi

बता दे अर्कोलोजिकल म्यूजियम त्रिशूर शहर के केंद्र में शक्तिमान थाप्पुरन पैलेस के अन्दर स्थित है। यह पुरातत्व संग्रहालय इतिहासकारो के घूमने के लिए त्रिशूर का एक प्रमुख स्थान है। इस संग्रहालय में केरल के भित्ति चित्र और अवशेषों का एक विशाल और मूल्यवान संग्रह मौजूद है। केरल के समृद्ध प्राचीन अतीत में एक चक्कर लगाने के लिए हजारों पर्यटक और इतिहास शौक़ीन म्यूजियम का दौरा करते है।

अर्कोलोजिकल म्यूजियम की टाइमिंग – Timings of Archaeological Museum in Hindi

  • सुबह 10.00 बजे से शाम 5.00 बजे तक

अर्कोलोजिकल म्यूजियम की एंट्री फीस – Entry Fees of Archaeological Museum in Hindi

  • बता दे अर्कोलोजिकल म्यूजियम में पर्यटक बिना किसी प्रवेश शुल्क के घूम सकते है।

विलंगनकुन्नू – Vilangan Kunnu in Hindi

विलंगनकुन्नू - Vilangan Kunnu in Hindi
Image credit : Alex Francis

यदि आप त्रिशूर और उसके आसपास घूमने जाने के लिए सबसे अच्छे स्थानों की तलाश कर रहे हैं, तो आपकी जानकारी के लिए बता दे विलंगनकुन्नू, त्रिशूर में घूमने के लिए एक आदर्श स्थान है। यह खूबसूरत पहाड़ी शहर से 7 किमी दूर स्थित है जिसे एक मनोरंजन पार्क में बदल दिया गया है। पार्क में बच्चों के मनोरंजन के लिए कई राइड्स उपलब्ध हैं जहाँ आप अपने बच्चो के साथ विलंगनकुन्नू की यात्रा का भरपूर मजा उठा सकते है। इसके अलावा यह जगह अपने सूर्योदय और सुर्योस्त के अद्भुद नजारों के लिए प्रसिद्ध है।

विलंगनकुन्नू की टाइमिंग – Timings of Vilangan Kunnu in Hindi

  • प्रतिदिन सुबह 9.00 बजे से शाम 5.00 बजे तक

विलंगनकुन्नू की एंट्री फीस – Entry Fees of Vilangan Kunnu in Hindi

  • व्यस्क पर्यटकों के लिए : 10 रूपये प्रति व्यक्ति
  • बच्चो के लिए : 5 रूपये

चावक्कड़ बीच – Chavakkad Beach in Hindi

चावक्कड़ बीच - Chavakkad Beach in Hindi

केरल अपने सुंदर -सुंदर समुद्र तटो के लिए दुनिया भर में जाना जाता है और चावक्कड़ बीच केरल के उन्ही प्रसिद्ध समुद्र तटो में से एक है।  चावक्कड़ बीच बच्चो के साथ पिकनिक मनाने या समुद्र तट के किनारे सैर करने के लिए एक शानदार जगह है जिसे त्रिशूर में घूमने के लिए शीर्ष स्थानों में से एक माना जाता है। सुनहरी रेत, चट्टानों से टकराती लहरों की आवाज और सूर्यास्त का अद्भुद नजारा आपकी कल्पना से बिलकुल परे है जिसका अनुभव आपको स्वयं जाकर अवश्य करना चाहिये।

और पढ़े : भारत के खूबसूरत हिल स्टेशन

कोल्लेंगोडे पैलेस – Kollengode Palace in Hindi

केरल के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक त्रिशूर कई प्रसिद्ध महलों का घर है कोल्लेंगोडे पैलेस उनमे से एक है। बता दे कोल्लेंगोडे पैलेस को शक्थान थाप्पुरन पैलेस के बाद त्रिशूर का सबसे लोकप्रिय पैलेस माना जाता है। इसकी समृद्ध वास्तुकला और प्राचीन कथायें आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। जो निश्चित रूप से आपकी त्रिशूर की यात्रा में देखने लायक है। महल का भ्रमण करने के बाद, आप महल के अंदर स्थित भित्ति कला संग्रहालय भी देख सकते हैं।

विंटेज वॉक्सहॉल वेलॉक्स कार क्लब – Vintage Vauxhall Velox Car Club in Hindi

विंटेज वॉक्सहॉल वेलॉक्स कार क्लब - Vintage Vauxhall Velox Car Club in Hindi
Image credit : Manorama Jacob

यदि आप कार के शौक़ीन हैं और आपको पुराने ज़माने की क्लासिक्स कारे देखना पसंद है तो विंटेज वॉक्सहॉल वेलॉक्स कार क्लब शायद त्रिशूर में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है। बता दे यह  क्लब फोर्ड, सिट्रोएन, मिनी कूपर, राजदूत और कई लक्जरी कारों का घर है, जिनमे से सभी कारें 80 से 50 दशक के बीच की है।  इन लक्जरी कारों को देखने के साथ साथ इनकी नीलामी में भाग लेने के लिए बड़ी संख्या में पर्यटक विंटेज वॉक्सहॉल वेलॉक्स कार क्लब का दौरा करते है। यदि आप भी इन लक्जरी कारों की झलक पाना चाहते है तो आपको त्रिशूर की यात्रा में इस क्लब को अपनी सूची में अवश्य शामिल करना चाहिये।

विंटेज वॉक्सहॉल वेलॉक्स कार क्लब की टाइमिंग – Timings of Vintage Vauxhall Velox Car Club in Hindi

  • सुबह 10.00 बजे से 5.00 बजे तक

विंटेज वॉक्सहॉल वेलॉक्स कार क्लब एंट्री फीस – Entry Fees of Vintage Vauxhall Velox Car Club in Hindi

  • बता दे पर्यटक विंटेज वॉक्सहॉल वेलॉक्स कार क्लब में बिना किसी एंट्री फीस के घूम सकते है।

पुन्नाथुर कोट्टा – Punnathur Kotta in Hindi

पुन्नाथुर कोट्टा - Punnathur Kotta in Hindi
Image credit : Babu Venkatesh

पुन्नाथुर कोट्टा त्रिशूर का प्रसिद्ध हाथी अभयारण्य है, जो गुरुवायूर मंदिर से केवल 3 किमी दूर स्थित है। पुन्नाथुर कोट्टा में हाथियों को उनके प्राकृतिक आवास में देखने से लेकर उनके काम करने तक, यहाँ बहुत कुछ ऐसा है जो आपका मनोरंजन करता रहेगा। पुन्नाथुर कोट्टा शुरुआत में एक स्थानीय शासक से संबंधित एक महल था, जिसे कुछ समय पश्चात् हाथियों के घर (हाथी अभयारण्य) में बदल दिया गया था और यहाँ वर्तमान में लगभग 59 हाथी निवासरत है।

इसके अलावा पुन्नाथुर कोट्टा में हाथियों को त्योहारों में भाग लेने के लिए प्रशिक्षित भी किया जाता है। निश्चित रूप से पुन्नाथुर कोट्टा त्रिशूर के लोकप्रिय पर्यटक स्थलों में से एक है जिसे आपको अपनी यात्रा के दौरान घूमने अवश्य जाना चाहिये।

पुन्नाथुर कोट्टा खुलने का समय – Timings of Punnathur Kotta in Hindi

  • सुबह 9.00 बजे से शाम 5.00 बजे तक

पुन्नाथुर कोट्टा का प्रवेश शुल्क – Entry Fees of Punnathur Kotta in Hindi

  • पर्यटकों के लिए : 10 रूपये प्रति व्यक्ति
  • कैमरा के लिए : 25 रूपये

चेट्टुवा बैकवाटर – Chettuva Backwaters in Hindi

चेट्टुवा बैकवाटर – Chettuva Backwaters in Hindi
Image credit : Vinny James

त्रिशूर में घूमने के लिए सबसे आकर्षक जगहों में सूचीबद्ध , चेट्टुवा बैकवाटर अपनी अद्भुत सुंदरता और आकर्षक परिदृश्यों के कारण पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।  बैकवाटर एनामक्कल झील से शुरू होता हैं और उस मुहाना पर समाप्त होता है  जहां यह झील अरब सागर से मिलता है। यह मैंग्रोव पेड़ों और विदेशी प्रवासी पक्षियों के लिए विश्व प्रसिद्ध स्थल है। इसके अलावा आप यहाँ कई द्वीपों और एक किले को भी देख सकते हैं। यह वास्तव में प्रकृति प्रेमियों के लिए एक महान जगह है जिसे सरकार द्वारा विरासत स्थल के रूप में घोषित किया गया है।

चेट्टुवा बैकवाटर की टाइमिंग – Timings of Chettuva Backwaters in Hindi

  • बात दे वैसे तो चेट्टुवा बैकवाटर 24 घंटे खुला रहता है लेकिन क्रूज के लिए आपको सुबह 6.00 बजे से शाम 4.00 बजे के बीच जाना होगा।

चेट्टुवा बैकवाटर की एंट्री फीस – Entry Fees of Chettuva Backwaters in Hindi

  • हालाकि चेट्टुवा बैकवाटर के लिए कोई प्रवेश शुल्क नही है लेकिन यदि नाव क्रूज की सफारी करना चाहते है तो उसका शुल्क 6000 रूपये शुल्क है जो 3.5 घंटे के लिए होती है।

और पढ़े : केरल बैक वाटर घूमने की जानकारी

नेहरू पार्क – Nehru Park in Hindi

नेहरू पार्क - Nehru Park in Hindi
Image credit : Prasad

भारत के पहले प्रधान मंत्री के नाम पर शहर के केंद्र में स्थित नेहरू पार्क त्रिशूर में घूमने के लिए सबसे लोकप्रिय जगहों में एक है खासकर यदि आप अपने बच्चों के साथ यात्रा पर हों। नेहरू पार्क की यात्रा में आप यहाँ एक अद्भुत और यादगार पिकनिक की योजना बना सकते हैं, पैदल यात्रा कर सकते हैं और बगीचे में स्थित सुंदर मछलीघर में बिभिन्न मछलीयों को देख सकते हैं।

नेहरू पार्क की टाइमिंग – Timings of Nehru Park in Hindi

  • प्रतिदिन दोपहर 1.00 बजे से शाम 8.00 बजे तक

नेहरू पार्क की एंट्री फीस – Entry Fees of Nehru Park in Hindi

  • यहाँ पर्यटक बिना किसी एंट्री फीस के घूम और पिकनिक माना सकते है।

वज़हचल फॉल्स – Vazhachal Falls in Hindi

वज़हचल फॉल्स – Vazhachal Falls in Hindi

त्रिशूर पर्यटन के प्रमुख पर्यटक स्थलों में शुमार वजाहचल जलप्रपात त्रिशूर शहर से 60 किमी और अथिरापिली फॉल्स से 5 किमी की दूरी पर स्थित है। वज़हचल फॉल्स एक लोकप्रिय पिकिनिक स्पॉट के रूप में भी काफी प्रसिद्ध है, जहाँ आप अपने परिवार के साथ क्वालिटी टाइम बिताया जा सकता है और अपने दोस्तों के साथ मस्ती कर सकते है।  बता दे यह जलप्रपात शोलेयार पर्वतमाला के घने जंगल से घिरा हुआ है। इसके अलावा इसके पास में एक प्राकृतिक उद्यान भी हैं, इस कारण से यहाँ प्रकृति के मनोरम दृश्यों को भी देखा जा सकता है।

वज़हचल फॉल्स की टाइमिंग – Timings of Vazhachal Falls in Hindi

  • सुबह 8.00 बजे से शाम 6.00 बजे तक

वज़हचल फॉल्स की एंट्री फीस – Entry Fees of Vazhachal Falls in Hindi

  • बता दे यहाँ पर्यटको के घूमने के लिए कोई एंट्री फीस नही है।

त्रिशूर के प्रसिद्ध मंदिर – Thrissur temples in Hindi

त्रिशूर टुरिसम लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्यटकों स्थलों में साथ साथ अपने प्राचीन और प्रमुख मंदिरों के लिए भी जाना जाता है जो पर्यटकों और श्रद्धालुयों सभी के लिए आकर्षण का केंद्र बने हुए है।  तो आइये नीचे त्रिशूर के प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों के बारे में विस्तार से जानते है-

वडक्कुनाथन मंदिर – Vadakummnathan temple in Hindi

वडक्कुनाथन मंदिर – Vadakummnathan temple in Hindi
Image credit : Amith Mohan A

वडक्कुनाथन मंदिर केरल के त्रिशूर जिले में स्थित भगवान परशुराम द्वारा निर्मित पहला मंदिर है जो भगवान शिव के साथ भगवान विष्णु के लिए भी समर्पित है। वडक्कुनाथन मंदिर केरल का सबसे प्राचीन मंदिर माना जाता है जो लगभग 1000 साल पुराना है। यह मंदिर केरल के सबसे प्रमुख तीर्थ स्थलों में से एक है जो बड़ी संख्या श्रद्धालुयों को आकर्षित करता है।

मंदिर के अन्य आकर्षण के रूप में मंदिर में कुछ सुंदर भित्ति चित्रों का संग्रह देखा जा सकता है, जिनमें से कुछ 400 साल से अधिक पुराने हैं।  इसके अलावा मंदिर परिसर में महाविष्णु और शंकरनारायण के मंदिर भी स्थित हैं।

वडक्कुनाथन मंदिर के दर्शन का समय – Timings of Vadakummnathan Temple in Hindi

  • सुबह 5.00 बजे से लेकर रात 8.30 बजे तक

वडक्कुनाथन मंदिर का प्रवेश शुल्क – Entry Fee of Vadakummnathan Temple in Hindi

  • यहाँ श्रद्धालु बिना किसी प्रवेश शुल्क के मंदिर में प्रवेश और भगवान के दर्शन कर सकते है।

गुरुवायुर श्री कृष्ण मंदिर – Guruvayur Sri Krishna Temple in Hindi

गुरुवायुर श्री कृष्ण मंदिर – Guruvayur Sri Krishna Temple in Hindi
Image credit : Ganesh Bharadwaj

त्रिशूर के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक गुरुवायुर श्री कृष्ण मंदिर
त्रिशूर के पास गुरुवायुर कस्बे में स्थित है। हिंदू भगवान, गुरुवायुरप्पन को समर्पित मंदिर केरल में रहने वाले हिंदुओं के लिए सबसे पवित्र स्थानों में से एक है। मंदिर के अंदर कई कलाकृतियाँ को देखा जा सकता हैं जो केरल की हस्तकला की सुंदरता को प्रदर्शित करती हैं। यह मंदिर न केवल राज्य के लोगों की भक्ति, बल्कि ललित कला और शिल्प की भी एक सच्ची गवाही के रूप में खड़ा है। यदि आप मंदिर को उसके सबसे अद्भुद और सोंदर्य रूप में देखना चाहते है तो आपको उत्सवो के दौरान मंदिर की यात्रा करनी चाहिये। क्योंकि जब उत्सव के दौरान मंदिर को द्वीप और लाइटो से सजाया है, तो लाल ईंट की संरचना की चमक देखने लायक होती है।

गुरुवायुर श्री कृष्ण मंदिर के दर्शन का समय – Timings of Guruvayur Sri Krishna Temple in Hindi

  • मंदिर श्र्धालुयों के लिए सुबह 3.00 बजे से दोपहर 1.00 बजे तक और शाम 4.30 बजे से रात 9.15 बजे तक खुला रहता है।

गुरुवायुर श्री कृष्ण मंदिर का प्रवेश शुल्क – Entry Fees of Guruvayur Sri Krishna Temple in Hindi

  • गुरुवायुर श्री कृष्ण मंदिर में तीर्थ यात्री और पर्यटक बिना किसी प्रवेश शुल्क के भगवान के दर्शन कर सकते है।

तिरुवम्बाडी कृष्णा मंदिर – Thiruvambadi Krishna Temple in Hindi

तिरुवम्बाडी कृष्णा मंदिर – Thiruvambadi Krishna Temple in Hindi
Image credit : Uthamarajan N

त्रिशूर के सबसे प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों में सूचीबद्ध तिरुवम्बाडी कृष्णा मंदिर भगवान कृष्णा जी को समर्पित एक प्राचीन मंदिर है। यह प्राचीन मंदिर स्थानीय लोगो के साथ साथ राज्य के बिभिन्न श्रद्धालुयों के लिए भी एक महत्वपूर्ण तीर्थस्थल के रूप में कार्य करता है। मंदिर के साथ कई लोककथाएँ भी जुड़ी हुई हैं, जिसने कई तीर्थयात्रियों का ध्यान खींचा है। अगर आप भी भगवान कृष्ण के अनुयायी हैं तो आपको इस स्थान पर अवश्य जाना चाहिए और अपने मन को शांत करना चाहिए।

तिरुवम्बाडी कृष्णा मंदिर के दर्शन का समय – Timings of Thiruvambadi Krishna Temple in Hindi

  • सुबह 5.00 बजे से 11.00 बजे तक और शाम 5.00 बजे से रात 8.00 बजे तक

तिरुवम्बाडी कृष्णा मंदिर का प्रवेश शुल्क – Entry Fees of Thiruvambadi Krishna Temple in Hindi

  • तिरुवम्बाडी कृष्णा मंदिर में श्र्धालुयों को प्रवेश के लिए किसी भी प्रकार का शुल्क नही देना होता है।

अराटुपुझा मंदिर – Arattupuzha Temple in Hindi

अराटुपुझा मंदिर - Arattupuzha Temple in Hindi
Image credit : Ajith Ammath

यदि आप एक धार्मिक व्यक्ति हैं और त्रिशूर की यात्रा की योजना बना रहे हैं तो अराटुपुझा मंदिर को अपनी त्रिशूर यात्रा सूची में अवश्य शामिल करना चाहिये। अराटुपुझा मंदिर भगवान अय्यप्पा को समर्पित है, जिसके कारण मंदिर में हर महीने पर्यटकों और स्थानीय लोगों का मध्यम स्तर पर आगमन होता है। पूरम महोत्सव के दौरान मंदिर अपने सबसे सुंदर रूप में होता है, जब पूरे मंदिर परिसर को रोशनी से सजाया जाता है और इस दौरान स्थानीय लोगो के साथ साथ पर्यटक भी इस उत्सव और प्रार्थना में शामिल होने के लिए करने के लिए एकत्र होते हैं।

परमकेवु भगवती मंदिर – Paramekkavu Bhagvathy Temple in Hindi

परमकेवु भगवती मंदिर - Paramekkavu Bhagvathy Temple in Hindi
Abhijith : Sreedevi T.P

परमकेवु भगवती मंदिर केरल के सबसे बड़े भगवती मंदिरों में से एक है जिसे त्रिशूर के प्रमुख तीर्थ स्थलोके रूप में भी जाना जाता है। यह मंदिर 1000 साल पुराना मंदिर है जो देवी दुर्गा को समर्पित है, जहाँ पूरे वर्ष मंदिर में देवी दुर्गा के दर्शन के लिए भक्तों का झुंड लगा रहता है। इस मंदिर के बारे में सबसे लोकप्रिय बात त्रिशूर पूरम महोत्सव है जब 15 हाथियों का भव्य जुलूस निकाला जाता है।

और पढ़े : केरल के 30 सबसे प्रसिद्ध मंदिर

त्रिशूर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Thrissur In Hindi

त्रिशूर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Thrissur In Hindi
Image credit : Uthamarajan N

बता दे त्रिशूर की यात्रा का बेस्ट समय मानसून के मौसम के दौरान होता है जब जगह की सुंदरता अपने चरम पर होती है। यदि आप इनडोर गतिविधियों का आनंद लेना चाहते हैं, तो उसके लिए गर्मियों का मौसम सबसे अच्छा समय है जबकि बाहरी गतिविधियों और दर्शनीय स्थलों की यात्रा के लिए सर्दियों का समय बेस्ट समय होता है। यदि आप त्रिशूर के प्रसिद्ध उत्सवो में शमिल होना चाहते है तो आप अप्रैल या मई के महीने में आयोजित होने वाले प्रसिद्ध त्रिशूर पूरम उत्सव में शामिल हो सकते है। तो इस प्रकार त्रिशूर की यात्रा करने का बेस्ट समय आपकी रुचि और यात्रा के उद्देश्य पर निर्भर करता है।

त्रिशूर में रुकने के लिए होटल्स – Hotels in Thrissur in Hindi

त्रिशूर में रुकने के लिए होटल्स - Hotels in Thrissur in Hindi

यदि आप अपनी त्रिशूर की यात्रा में  रुकने के लिए अच्छी होटल्स की तलाश में है तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दे त्रिशूर में लो बजट से लेकर हाई बजट तक सभी प्रकार की होटल्स उपलब्ध है जिनकी आप अपने बजट के अनुसार चुनाव कर सकते है।

  • त्रिशूर होमस्टे (Thrissur Homestay)
  • होटल पार्क रेसिडेंसी (Hotel Park Residency)
  • भवनाम रीजेंसी (Bhavanam Regency)
  • शिवालय रेजीडेंसी (Shivalaya Residency)

त्रिशूर केसे पहुंचें – How to Reach Thrissur in Hindi

त्रिशूर की यात्रा पर जाने वाले पर्यटकों को बता दे आप हवाई मार्ग, रेल मार्ग या सड़क मार्ग किसी से भी यात्रा करके त्रिशूर जा सकते है।  तो आइये हम नीचे विस्तार से जानते है की हम फ्लाइट, ट्रेन या सड़क मार्ग से त्रिशूर केसे जायें।

फ्लाइट से त्रिशूर केसे जायें – How to Reach Thrissur by Flight in Hindi

फ्लाइट से त्रिशूर केसे जायें – How to Reach Thrissur by Flight in Hindi

यदि आपने त्रिशूर घूमने जाने के लिए फ्लाइट का चुनाव किया है तो जान लें त्रिशूर का अपना कोई हवाई अड्डा नहीं है। त्रिशूर का निकटतम हवाई अड्डा कोच्चि अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है, जो त्रिशूर से 67 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।  यह हवाई अड्डा भारत के प्रमुख शहरों से हवाई मार्ग द्वारा जुड़ा है और यहाँ दैनिक रूप से भी बिभिन्न उड़ाने संचालित की जाती है। एयरपोर्ट पर उतरने के बाद त्रिशूर पहुंचने के लिए आप एक टैक्सी किराए पर ले सकते हैं।

ट्रेन से त्रिशूर केसे जायें – How to Reach Thrissur by Train in Hindi

ट्रेन से त्रिशूर केसे जायें – How to Reach Thrissur by Train in Hindi

ट्रेन से सफ़र करके त्रिशूर की यात्रा करने वाले पर्यटकों को बता दे इस शहर में अपना खुद का त्रिशूर रेलवे स्टेशन मौजूद है। त्रिशूर रेलवे स्टेशन दक्षिण भारत में प्रमुख रेलवे स्टेशन है जो सभी प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है और दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और बैंगलोर जैसे शहरों से त्रिशूर के लिए दैनिक ट्रेने उपलब्ध हैं।

सड़क मार्ग से त्रिशूर केसे पहुचें – How to Reach Thrissur by Raod in Hindi

सड़क मार्ग से त्रिशूर केसे पहुचें – How to Reach Thrissur by Raod in Hindi

यदि आपने त्रिशूर पर्यटन की यात्रा के लिए बस के विकल्प को चुना है।  तो हम आपको बता दे आप कन्नूर, तिरुवनंतपुरम, कोयंबटूर, मैंगलोर, कोझीकोड जैसे शहरों से बस द्वारा त्रिशूर पहुंच सकते हैं। त्रिशूर
त्रिशूर NH544, NH17, NH47 और NH66 द्वारा सड़कों के एक अच्छे नेटवर्क के माध्यम से केरल के साथ साथ अन्य प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। इस प्रकार आप बस या अपने निजी वाहन से यात्रा करके आसानी से अपने गंतव्य तक पहुच सकते है।

और पढ़े : केरल में घूमने की जगह की जानकारी

त्रिशूर का मेप – Thrissur Map in Hindi

और पढ़े :

Leave a Comment