भारत में प्रमुख चाय के बगान – Tea Gardens in India in Hindi

Tea Gardens in India in Hindi : भारत विश्व में चाय का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश है। इंडिया में 563.98 हजार हेक्टेयर में चाय के बागान हैं, जिसमें से असम (304.40 हजार हेक्टेयर), पश्चिम बंगाल (140.44 हजार हेक्टेयर), तमिलनाडु (69.62 हजार हेक्टेयर) और केरल (35,000 हजार हेक्टेयर) में चाय उत्पादन होता है। लेकिन क्या आप जानते है भारत में चाय के बगान, चाय उत्पादन के साथ साथ इंडिया के पर्यटन में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है जहाँ हर साल लाखों की संख्या में पर्यटक अपनी फैमली, फ्रेंड्स के साथ घूमने और हनीमून मनाने के लिए आते है।

क्या आप एक चाय प्रेमी हैं? यदि हाँ, तो आपको इस बार की छुट्टियों में अपने फ्रेंड्स या फैमली के साथ चाय बागान घूमने जाने का प्लान बनाना चाहिये। इस तरह की यात्रा के दौरान, आप मनमोहक वादियों के बीचो बीच चाय कारखानों का पता लगा सकते हैं और अपनी पसंद के चाय एस्टेट में कुछ दिन बिता सकते हैं।

तो आइये इस आर्टिकल में हम इंडिया के बेस्ट टी गार्डन्स के बारे में जानते है, जहाँ टी लवर्स के साथ साथ हर पर्यटक को अपनी लाइफ में एक बार अवश्य जाना चाहिये –

इंडिया के फेमस टी गार्डन्स की लिस्ट – List of Tea gardens in india in Hindi

ग्लेनबर्न टी एस्टेट दार्जिलिंग – Glenburn Tea Estate Darjeeling in Hindi

ग्लेनबर्न टी एस्टेट दार्जिलिंग - Glenburn Tea Estate in Hindi
Image Credit : Balakrishnan S

बर्फ से ढके हिमालय की तलहटी में बसा “ग्लेनबर्न टी एस्टेट” भारत के प्रमुख चाय के बागान (Tea Gardens in India in Hindi) में से एक है। ग्लेनबर्न टी एस्टेट 1,600 एकड़ में फैला हुआ है, जिसे 1859 में एक स्कॉटिश चाय कंपनी द्वारा स्थापित किया गया था। ग्लेनबर्न टी एस्टेट दार्जिलिंग से एक घंटे की ड्राइव पर है, इसीलिए पर्यटक आसानी से यहाँ घूमने आ सकते है। इस गार्डन में कपल्स और टूरिस्ट्स के लिए अच्छी तरह से सुसज्जित 8 सुइट्स और एक रोमांटिक वेरैंडा है, जो हिमालय के शानदार दृश्य पेश करता है। यदि आपने इस बार की ट्रिप के लिए इंडिया के टी गार्डन्स को सिलेक्ट किया है तो आप ग्लेनबर्न टी एस्टेट दार्जिलिंग को अपनी ट्रिप के लिए पिक कर सकते है यकीन माने यह जगह किसी स्वर्ग से कम नही है।

हैप्पी वैली टी एस्टेट दार्जलिंग – Happy Valley Tea Estate, Darjeeling in Hindi

हैप्पी वैली टी एस्टेट दार्जलिंग - Happy Valley Tea Estate, Darjeeling in Hindi
Image Credit : Prakash Dangi

“हैप्पी वैली टी एस्टेट” दार्जलिंग का एक और प्रमुख चाय का बगान है। दार्जिलिंग से 3 किलोमीटर की दूरी पर समुद्र तल से 6,800 फीट की ऊंचाई पर स्थित हैप्पी वैली टी एस्टेट 437 एकड़ में फैला हुआ है। हैप्पी वैली टी एस्टेट दार्जिलिंग के सबसे पुराने चाय बागानों में से एक है, जिसे 1854 में डेविड विल्सन द्वारा स्थापित किया गया था। कारखाने के प्रवेश द्वार पर, एक बोर्ड है जो अभी भी संपति का मालिक और स्थापना बर्ष दिखाता है। यहाँ पर उगाई जाने वाली चाय को एक नाजुक atel मस्कटेल ’या‘ फूल ’स्वाद के लिए जाना जाता है।

यदि आप फैमली वेकेशन या फिर अपने लाइफ पार्टनर के साथ हनीमून के लिए दार्जलिंग घूमने जाने का प्लान बना रहे है, तो आप अपनी ट्रिप में इंडिया के बेस्ट टी गार्डन्स में से एक हैप्पी वैली टी एस्टेट घूमने जरूर जायें और वहाँ की फेमस चाय को टेस्ट करना बिलकुल भी मिस ना करें।

और पढ़े : दार्जिलिंग के टॉप पर्यटन और दर्शनीय स्थल की जानकारी

नीलगिरि चाय बागान तमिलनाडु – Nilgiri Tea Plantations, Tamil Nadu in Hindi

नीलगिरि चाय बागान तमिलनाडु - Nilgiri Tea Plantations, Tamil Nadu in Hindi

भारत के प्रसिद्ध चाय बागान (Tea plantation in india in Hindi) में से एक “नीलगिरि चाय बागान” 100 वर्षों से चाय का उत्पादन कर रहा हैं जो अपनी सुंदर और सुगंधित चाय के लिए प्रसिद्ध हैं। भारत के अन्य चाय बागानों के विपरीत यहाँ के बागान पूरे वर्ष भर चाय उगाते हैं, इसीलिए आप बर्ष के किसी भी समय घूमने आ सकते है। जब भी आप यहाँ घूमने आयेंगे तो कोडानाड एस्टेट, हाई फील्ड टी फैक्ट्री, लॉकहार्ट टी एस्टेट, विग्नेश्वर एस्टेट टी फैक्ट्री और ग्लेंडेल टी एस्टेट जैसी चाय उत्पादन करने वाली कई फर्मो को देख सकगें। चारों ओर सुंदर हरी-भरी हरियाली से भरपूर नीलगिरि चाय बागान तमिलनाडु पर्यटन का महत्वपूर्ण हिस्सा है, जो हर लाखों टूरिस्ट्स और हनीमून कपल्स को अट्रेक्ट करता है।

कानन देवन हिल्स प्लांटेशन, मुन्नार –  Kanan Devan Hills Plantation, Munnar in Hindi

कानन देवन हिल्स प्लांटेशन, मुन्नार -  Kanan Devan Hills Plantation, Munnar in Hindi

भारतीय राज्य केरल के इडुक्की जिले में स्थित, कानन देवन हिल्स प्लांटेशन भारत के प्रमुख चाय के बगान में से (Tea Gardens in India in Hindi)  एक है। डैनियल मुनरो ने इस पहाड़ी को कानन देवन से 11 जुलाई, 1877 को चाय और कॉफी के बागान के लिए पट्टे पर लिया था, और तब से यह जगह चाय उत्पादन और पर्यटन के लिए भारत के प्रमुख चाय बागान में से एक बनी हुई है। बता दे यह देश का पहला संग्रहालय भी है जिसका उद्देश्य इस सदी के पुराने चाय बागान के विकास को चित्रित करना है।

जो पर्यटक अपनी ट्रिप के लिए इंडिया के बेस्ट टी गार्डन्स को सर्च कर रहे है, उन्हें केरल के फेमस कानन देवन हिल्स प्लांटेशन अवश्य जाना चाहिये, यकीन माने इसके मैनीक्योर चाय बागानों और अद्वितीय जैव-विविधता को देखर मंत्रमुग्ध आप हो जायेगें।

जोरहाट टी बंगला असम – Jorhat Tea Bungalows, Assam in Hindi

जोरहाट टी बंगला असम - Jorhat Tea Bungalows, Assam in Hindi
Image Credit : Monuj Sarmah

पूर्वोत्तर भारत के सबसे दूरस्थ क्षेत्र में स्थित, असम देश का सबसे बड़ा चाय उत्पादक क्षेत्र है और जोरहाट टी बंगला उसी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। घाटी के मध्य भाग में बसे, जोरहाट को अक्सर ‘विश्व की चाय राजधानी’ के रूप में भी जाना जाता है जिससे इसकी प्रसिद्धी का अंदाजा लगाया जा सकता है। जोरहाट टी बंगला चाय के बागानों के साथ साथ पर्यटकों के ठहरने के लिए आवास के विकल्प भी प्रदान करता है, यहाँ के बंगले औपनिवेशिक काल के हैं जो आपको प्राकृतिक सुन्दरता से भरपूर इन चाय के बागानों के बीचो बीच में एक अलग ही अनुभव प्रदान करते हैं। इसी वजह में यहाँ हर साल लाखों टूरिस्ट वेकेशन एन्जॉय करने और हनीमून मनाने के लिए यहाँ आना पसंद करते है।

और पढ़े : भारत के आकर्षक रेलवे स्टेशन जो प्राकृतिक सुन्दरता और मनमोहक वास्तुकला से लबरेज है

दारंग टी एस्टेट हिमाचल प्रदेश – Darang Tea Estate, Himachal Pradesh in Hindi

दारंग टी एस्टेट हिमाचल प्रदेश - Darang Tea Estate, Himachal Pradesh in Hindi
Image Credit : Ishan Karve

हिमाचल प्रदेश राज्य में स्थित “दारंग टी एस्टेट” भारत में प्रमुख चाय बागान (Tea plantation in india in Hindi) में से एक है। 70 एकड़ में फैली हुई दारंग टी एस्टेट एक परिवार के स्वामित्व वाली संपत्ति है और इसमें एक देहाती आकर्षण भी है। इस चाय बगान में पर्यटकों के रुकने के लिए घरों में 4 आरामदायक कॉटेज भी हैं, हर एक हिमालय की बर्फ से ढकी धौलाधार श्रेणी के लुभावने दृश्य पेश करता है जो यहाँ आने वाले पर्यटकों को बेहद आकर्षित करते है।

जब भी आप यहाँ आयेंगे तो 70 एकड़ के चाय बागानों के माध्यम से लंबी पैदल यात्रा, तैराकी और मछली पकड़ने जैसी एक्टिविटीज को एन्जॉय कर सकेंगे। इनके अलावा दारंग टी एस्टेट के आसपास द कांगड़ा फोर्ट, ट्रायंड और मैकलोडगंज जैसे कई टूरिस्ट अट्रेक्शन भी है जिन्हें पर्यटक दारंग टी एस्टेट की ट्रिप में घूम सकते है।

केलगुर टी एस्टेट –  Kelagur Tea Estate, Karnataka in Hindi

केलगुर टी एस्टेट –  Kelagur Tea Estate, Karnataka in Hindi

1,500 एकड़ में फैले, केलगुर टी एस्टेट दुनिया का सबसे बड़ा ऑर्थोडॉक्स टी एस्टेट है जो चाय बनाने की जैविक प्रक्रिया के लिए जाना जाता है। एस्टेट के बीच में स्थित एक कारखाना है और 70 साल पहले बनाया गया था। यह पारंपरिक तकनीकों का उपयोग करता है और चाय के शौकीनों के लिए एक प्रमुख आकर्षण है। जब भी पर्यटक यहाँ आते है तो वह कारखाने का दौरा कर सकते हैं और चाय बनाने की तकनीकों या चरणों के बारे में जान सकते है।

और पढ़े : भारत में हनीमून मनाने के लिए 15 सस्ती और खुबसूरत जगह 

कूच बिहार टी एस्टेट, पश्चिम बंगाल – Cooch Behar Tea Estate, West Bengal in Hindi

दार्जिलिंग हिल्स की तलहटी में स्थित “कूच बिहार टी एस्टेट” भारत के प्रमुख चाय बागान (Tea Gardens in India in Hindi) में से एक है, जो 30,000 छोटे चाय उत्पादकों की मेजबानी करता है। कूच बिहार टी एस्टेट एक प्रमुख चाय बगान होने के साथ साथ पश्चिम बंगाल राज्य के पर्यटन का महत्वपूर्ण हिस्सा भी ,है जो हर साल हजारों की संख्या में पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है। कूच बिहार टी एस्टेट कूच बिहार चाय निगम लिमिटेड के स्वामित्व में है, जिसे 1950 में वापस स्थापित किया गया था। यदि आप फ्रेंड्स के साथ घूमने के लिए इंडिया के बेस्ट टी गार्डन्स को सर्च कर रहे है तो आप कूच बिहार टी एस्टेट को अपनी ट्रिप के लिए पिक कर सकते है।

 कोलुकुमलाई टी एस्टेट, तमिलनाडु – Kolukkumalai Tea Estate, Tamil Nadu in Hindi

 कोलुकुमलाई टी एस्टेट, तमिलनाडु - Kolukkumalai Tea Estate, Tamil Nadu in Hindi
Image Credit : Sunil Kurup Vlogs

समुद्र तल से लगभग 7,900 फीट ऊपर स्थित “कोलुकुमलाई टी एस्टेट” को 1930 में स्थापित किया गया था जो वर्तमान में अपनी उत्कृष्ट जायकेदार चाय के उत्पादन के लिए जाना जाता है। कोलुकुमलाई टी एस्टेट दो मंजिला या 2 भागो में विभाजित है। इन चाय बागानों के उपर से तमिलनाडु राज्य के अन्य मैदानी भागो को देखा जा सकता है जो इसके आकर्षण में चार चाँद लगाने के कार्य करते है। लगभग 70 साल पहले, एस्टेट के बीच में चाय का कारखाना स्थापित किया गया था, जो अभी भी पारंपरिक तकनीकों का उपयोग करता है और चाय के पारखी लोगों और पर्यटकों के लिए एक प्रमुख पर्यटक आकर्षण के रूप में कार्य करता है।

गटोंगा टी एस्टेट असम – Gatoonga Tea Estate, Assam in Hindi

देश में सबसे बड़ा चाय उत्पादक क्षेत्र होने के नाते असम अपने चाय के टेस्ट और चमकीले रंग के लिए जानी जाती है। यदि आप असम में हैं, तो आपको  जोरहाट के पास गटोंगा टी एस्टेट पर बरगद ग्रोव में अवश्य रहना चाहिये। 100 से अधिक वर्षों के इतिहास के साथ, यह औपनिवेशिक विरासत बंगला चाय के बागानों को देखने के लिए सबसे अच्छी जगह है। यहाँ से आप मैनीक्योर चाय बागानों के सुंदर दृश्यों को देख सकेगें जो निश्चित ही आपको मंत्रमुग्ध कर देगें।

इस आर्टिकल में आपने भारत के प्रसिद्ध चाय के बगान (Tea plantation in india in Hindi) के बारे जाना है आपको हमारा ये आर्टिकल केसा लगा हमे कमेंट्स में जरूर बतायें।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

और पढ़े :

Leave a Comment