Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Darjeeling Tourism In Hindi, दार्जिलिंग पश्चिम बंगाल राज्य के उत्तर में पूर्वी हिमालय की तलहटी में स्थित है। दार्जिलिंग के जिलों की सीमाएं बांग्लादेश, भूटान और नेपाल जैसे देशों के साथ जुडी हुई हैं। यह समुद्र तल से 2134 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है।
दार्जिलिंग विभिन्न बौद्ध मठों और हिमालय की आकर्षित चोटियों से घिरा हुआ है। यहां की वादियां बेहद मनमोहक हैं और यह एक हिल स्टेशन के रूप में दुनिया भर में प्रसिद्ध है। दार्जिलिंग सिर्फ चाय के कारण विश्वभर में प्रसिद्ध नहीं है बल्कि अपनी सुंदरता के कारण भी यह शहर पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है।

1. दार्जिलिंग का इतिहास – Darjeeling History In Hindi

दार्जिलिंग का इतिहास

दार्जिलिंग का इतिहास देखने पर हम पाते हैं कि दार्जलिंग ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा अधिग्रहण से पहले सिक्किम का एक हिस्सा हुआ करता था और उससे पहले नेपाल के एक अभिन्न अंग के रूप में जाना जाता था। लेकिन फरवरी 1829 में नेपाल और सिक्किम के बीच सीमाओं के बारे में विवाद शुरू होने लगा। इस समय के दौरान भारत के गवर्नर जनरल लॉर्ड विलियम बेंटिक थे और उन्होंने ने समस्या को हल करने की कोशिश की। इस प्रक्रिया के दौरान उन्होंने महसूस किया कि दार्जिलिंग में प्रमुख चोकी का निर्माण किया जा सकता हैं और यह चाय की खेती के लिए एक शानदार भूमि हैं। ब्रिटिश अधिकारीयों ने इस स्थान का दौरा किया और इसकी सुन्दरता को सराया। दार्जिलिंग बाद में एक आकर्षित पर्यटक स्थल बनता चला गया और पहाड़ियों की रानी की उपाधि प्राप्त की।

और पढ़े: पोखरा नेपाल में घूमने के लिए कुछ बेहतरीन जगह

2. दार्जिलिंग का अर्थ – Darjeeling Meaning In Hindi

दार्जिलिंग का अर्थ

दार्जिलिंग दो शब्दों “वज्र” और “लिंग” से मिलकर बना हैं। जिसका अर्थ होता हैं वज्र की भूमि या भूमि का टुकड़ा।

3. दार्जिलिंग में घूमने लायक प्रमुख पर्यटन और आकर्षण स्थल – Darjeeling Ke Darshaniya Sthal In Hindi

दार्जिलिंग हिल स्टेशन पर घूमने के लिए कई आकर्षित जगह विधमान है जिनका दौरा करके पर्यटक सुखद आनंद की अनुभूति कर सकता हैं। तो आइए हम दार्जलिंग हिल स्टेशन के टूरिस्ट प्लेस की जानकारी आपको देते हैं।

3.1 दार्जिलिंग की मशहूर पर्यटन स्थल टाइगर हिल – Darjeeling Ke Paryatan Sthal Tiger Hill In Hindi

दार्जिलिंग की मशहूर पर्यटन स्थल टाइगर हिल

दार्जलिंग में घूमने लायक जगह टाइगर हिल 2590 मीटर की ऊँचाई पर और दार्जिलिंग से 13 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं। टाइगर हिल सनसेट पॉइंट के लिए सबसे अधिक लौक प्रिय पर्यटन स्थल हैं। टाइगर हिल से कंचन जंगा का खूबसूरत नजारा देखने को मिलता हैं। टाइगर हिल की सबसे दिलचस्प बात घूम का शिखर और बर्फ से ढंकी हुई पहाड़ियां हैं जोकि पर्यटकों को बहुत अधिक लुभाती हैं। यहाँ स्थित दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल में शामिल सबसे ऊंचा रेलवे स्टेशन है।

3.2 दार्जिलिंग के दर्शनीय स्थल बतासिया लूप – Darjeeling Ke Darshaniya Sthan Batasia Loop In Hindi

दार्जिलिंग के दर्शनीय स्थल बतासिया लूप

दार्जिलिंग की सबसे सुरम्य ट्रेन मार्गों में से एक बतासिया लूप प्राकृतिक रूप से हरा-भरा ट्रेन मार्ग हैं जोकि दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे की ऊंचाई को कम करने के उद्देश्य से बनाया गया हैं। बतासिया लूप की सबसे करामाती पहलुओं में शामिल इसकी बेजोड़ प्राकृतिक सुंदरता है, जोकि अद्भुत दृश्य प्रस्तुत करती है। दार्जिलिंग से लगभग 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित घूम में बतासिया लूप के निर्माण के पीछे का उद्देश्य दार्जिलिंग इलाके को नेविगेशन के लिए आसान बनाना हैं। यहां से कंचन जंगा की बर्फीली पहाड़ियों का नजारा भी देखा जा सकता हैं।

और पढ़े: सिक्किम यात्रा की जानकारी

3.3 दार्जिलिंग घूमने के लिए रोपवे – Darjeeling Me Ghumne Layak Jagha Darjeeling Ropeway In Hindi

दार्जिलिंग घूमने के लिए रोपवे

दार्जिलिंग पर्यटन स्थल दुनिया भर में सबसे अधिक मनोरम हिल स्टेशन के रूप में जाना जाता हैं। दार्जिलिंग में खूबसूरत भू-छाया वाले पर्वतों से लेकर शानदार चाय के साथ-साथ बरामदे की खूबसूरत वादियों का नजारा आपकी नजरो के सामने होता हैं और पर्यटक इसका लुत्फ़ उठाते हुए नजर आते हैं। रोपवे से घूमते हुए यहा के शानदार नाजारो को देखना बहुत सुखद होता हैं। आप जब भी दार्जिलिंग की यात्रा पर जाए तो रोपवे का आनंद लेना न भूले।

3.4 दार्जिलिंग में देखने वाली जगह हिमालय पर्वतारोहण संस्थान – Himalayan Mountaineering Institute Darjeeling In Hindi

दार्जिलिंग में देखने वाली जगह हिमालय पर्वतारोहण संस्थान

दार्जिलिंग में घूमने वाली जगह हिमालयन पर्वतारोहण संस्थान को दुनिया के सर्वश्रेष्ठ पर्वतारोहण संस्थानों में से एक माना जाता है। हिमालय पर्वतारोहण संस्थान को 4 नवंबर 1954 में स्थापित करने का उद्देश्य पर्वतारोहण के खेल में लोगों के हित और रूचि को प्रोत्साहित करना था। दुनिया भर से पर्वतारोही अपने कौशल को विकसित करने के लिए इस संस्थान में आते हैं और इसका लाभ उठाते हैं।

3.5 दार्जिलिंग में देखने लायक जगह नाइटेंगल पार्क – Darjeeling Me Dekhne Layak Jagah Nightingale Park In Hindi

दार्जिलिंग में देखने लायक जगह नाइटेंगल पार्क

Image Credit: S Gain

नाइटेंगल पार्क दार्जिलिंग में मंत्रमुग्ध करने वाले हिल स्टेशन में स्थित है और  नाइटेंगल पार्क को सार्वजनिक पार्क के रूप में भी जाना जाता हैं। पर्यटक यहां से कंचनजंघा पर्वतमाला के भव्य दृश्यों को देखने का अनुभव लेते हैं। नाइटेंगल पार्क को ब्रिटिश शासनकाल के दौरान सर थॉमस टार्टन के बंगले के एक निजी आंगन के रूप में ‘द श्रॉबरी’ के रूप में जाना जाता था। नाइटेंगल पार्क को नवीकरण करने के उद्देश्य से चार साल के लिए बंद कर दिया गया था और वर्ष 2011 में इसे पर्यटन के लिए फिर से खोल दिया गया हैं।

3.6 दार्जिलिंग में घूमने लायक जगह रॉक गार्डन – Darjeeling Me Ghumne Layak Jagah Rock Garden In Hindi

दार्जिलिंग में घूमने लायक जगह रॉक गार्डन

दार्जिलिंग में घूमने वाली जगह रॉक गार्डन एक उत्कृष्ट पिकनिक स्थल है और इसे प्राकृतिक रूप से चुन्नु ग्रीष्म ऋतु के नाम से भी जाना जाता है। जोकि दार्जिलिंग से 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह गार्डन बारबोटे रॉक गार्डन के रूप में भी प्रसिद्ध हैं और खूबसूरत पहाड़ी धारा से घिरा हुआ स्थान है। गार्डन में खूबसूरत फूल और प्राकृतिक परिवेश देखने को मिलता हैं।

और पढ़े: गंगासागर तीर्थ यात्रा की जानकारी 

3.7 दार्जिलिंग पर्यटन का मशहूर सिंगालीला राष्ट्रीय उद्यान – Darjeeling Tourism Me Famous Singalila National Park In Hindi

दार्जिलिंग पर्यटन का मशहूर सिंगालीला राष्ट्रीय उद्यान

दार्जिलिंग का प्रसिद्ध सिंगालीला रेंज में समुद्र तल से लगभग 7000 फीट की ऊंचाई पर स्थित सिंगालीला राष्ट्रीय उद्यान एक शानदार पर्यटन स्थल हैं। यह वन्यजीव अभ्यारण राष्ट्रीय उद्यान में कुंवारी रोडोडेंड्रॉन वनों, अल्पाइन घाटी, जानवरों और ऑर्किड की दुर्लभ प्रजातियों के लिए जाना जाता हैं। सिंगालीला राष्ट्रीय उद्यान बहुत ही दुर्लभ विदेशी लाल पांडा और हिमालय के काले भालू के निवास स्थान के रूप में जाना जाता हैं।

3.8 दार्जिलिंग के आकर्षण स्थल संदकफू ट्रेक – Darjeeling Ke Aakarshan Sthal Sandakphu Trek In Hindi

दार्जिलिंग के आकर्षण स्थल संदकफू ट्रेक

दार्जिलिंग की प्रसिद्ध संदकफू ट्रेक पश्चिम बंगाल की सबसे ऊँची चोटी है और यहां पर ट्रेकिंग का आनंद लिया जा सकता हैं। सैंडकफू ट्रेक सिंगालीला नेशनल पार्क के बहुत करीब स्थित है। पश्चिम बंगाल की सबसे ऊँची चोटी संदकफू आपको दुनिया की पाँच सबसे ऊँची चोटियों में से चार का आकर्षित नजारा प्रस्तुत करती हैं। संदकफू ट्रेक पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता हैं।

3.9 दार्जिलिंग में एडवेंचर के लिए तीस्ता नदी में रिवर राफ्टिंग – Adventurous River Rafting In Teesta River Darjeeling In Hindi

दार्जिलिंग में एडवेंचर के लिए तीस्ता नदी में रिवर राफ्टिंग

दार्जलिंग में तीस्ता नदी में व्हाइट वाटर राफ्टिंग सबसे रोमांचक गतिविधियों में से एक है। एडवेंचर के दीवानों के लिए एक पसंदीदा जगह हैं जोकि राफ्टिंग में ग्रेड 1 से 4 तक के रैपिड्स की एक श्रृंखला है। हालांकि रोफ्टिंग के लिए केवल पेशेवरों या मौसमी प्रशिक्षकों को अनुमति दी जाती है क्योंकि इसमें जोखिम अधिक होता हैं।

3.10 दार्जिलिंग में घूमने वाली जगह पदमाजा नायडू हिमालयन जूलॉजिकल पार्क – Darjeeling Me Ghumne Wali Jagah Padmaja Naidu Himalayan Zoological Park In Hindi

दार्जिलिंग में घूमने वाली जगह पदमाजा नायडू हिमालयन जूलॉजिकल पार्क

पदमाजा नायडू जूलॉजिकल पार्क दार्जिलिंग में तरह तरह के जानवरों की घनी आबादी देखने को मिल जाती हैं। दार्जिलिंग एक खूबसूरत चिड़ियाघर के रूप में भी जाना जाता है और माना जाता हैं कि दार्जिलिंग सभी प्रकार के जानवरों के लिए स्वर्ग हैं। पदमाजा नायडू पार्क पशु प्रेमियों और प्रकृति के प्रति उत्साही लोगों के लिए एक आकर्षण का केंद्र हैं। पार्क में हिम तेंदुआ और लाल पांडाओं के लिए एक ऑफ-डिस्प्ले प्रजनन केंद्र भी बनाया गया हैं। इनके अलावा चिड़ियाघर में एशियाई काले भालू, भौंकने वाले हिरण, तेंदुए, नीले और पीले रंग के मैकॉ, हिमालयन वुल्फ, लेडी एमहर्स्ट, तेंदुए बिल्ली, मैकॉ, पूर्वी पैंगोलिन, तीतर, हिमालयी मोनाल, लाल जंगल फाउल भी पाए जाते हैं।

और पढ़े: सुंदरवन नेशनल पार्क घूमने की जानकारी और प्रमुख पर्यटन स्थल 

4. दार्जिलिंग घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Darjeeling Tourism In Hindi

दार्जिलिंग घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

दार्जिलिंग घूमने का सबसे अच्छा समय अप्रैल से जून के महीनों के बीच होता है। इस दौरान जब देश के अन्य भागों में खूब गर्मी पड़ती है तब दार्जिलिंग का तापमान 14 से 8 डिग्री सेल्सियस के बीच होता है। इस दौरान यहां भारी संख्या में पर्यटक आते हैं। यदि आप ठन्डे मौसम का लुत्फ उठाना चाहते हैं तो नवंबर से दिसंबर के मध्य यहां आ सकते हैं। इन महीनों में यहां का तापमान 6 डिग्री सेल्सियस गिर जाता है और 1 डिग्री सेल्सियस तक कम हो जाता है। बारिश के मौसम में यहां भारी वर्षा होती है और भूस्खलन भी होता है इसलिए इस दौरान पर्यटक यहां कम आते हैं। दिसंबर से जनवरी के बीच आप यहां हनीमून मनाने वाले सलानियों भीड़ बहुत अधिक देखी जा सकती हैं। यदि आप एडवेंचर के शौकीन हैं तो फरवरी से जून के बीच कभी भी आ सकते हैं।

5. दार्जलिंग में खाने के लिए स्थानीय भोजन – Local Food In Darjeeling Tourism In Hindiदार्जलिंग में खाने के लिए स्थानीय भोजन

 

दार्जिलिंग के स्थानीय भोजन के लिए रेस्तरां आम तौर पर पश्चिम बंगाल से आते हैं, इसके अलावा देशी और विदेशी खाने का आनंद भी आप यहां ले सकते हैं। दार्जलिंग के प्रमुख भोजन में चावल, नूडल्स, बंगाली थाली और आलू अधिक पसंद किए जाते हैं। इसके अलावा मोमोज जैसे कुछ लोकप्रिय स्नैक्स के साथ चटनी परोसी जाती है। इसके अलावा स्नैक फूड,  पकौड़े, नॉन-वेज मोमोज में स्टफिंग के रूप में चिकन या पोर्क होता है, गोभी, दम आलू, पनीर और अन्य सब्जियां यहाँ चकने को मिल जाती हैं।

6. दार्जिलिंग में कहाँ रुके – Where To Stay In Darjeeling In Hindi

दार्जिलिंग में कहाँ रुके

दार्जिलिंग की यात्रा के दौरान यदि आप यहाँ होटल की तलाश में हैं तो हम आपको बता दें कि दार्जिलिंग में लों-बजट से लेकर हाई बजट तक के होटल आपको मिल जाएंगे। आप अपनी आवश्यकतानुसार होटल का चुनाव कर सकते हैं।

यहाँ के कुछ प्रमुख होटल जैसे –

  • मायफेयर दार्जिलिंग
  • लिटिल तिब्बत रिज़ॉर्ट
  • लिटिल सिंगामरी होमस्टे
  • शांगरी-ला रीजेंसी
  • मैगनोलिया रेजीडेंसी
  • होटल विला एवरेस्ट

और पढ़े: विक्टोरिया मेमोरियल कोलकाता की जानकारी 

7. दार्जिलिंग कैसे जाये – How To Reach Darjeeling In Hindi

दार्जिलिंग के आसपास के शहरों में हवाई जहाज, ट्रेन और बस से आने की सुविधा मौजूद है। इन स्थानों पर पहुंचने के बाद आप आसानी से दार्जिलिंग जा सकते हैं।

7.1 फ्लाइट से दार्जिलिंग कैसे पहुंचे – How To Reach Darjeeling By Flight In Hindi

फ्लाइट से दार्जिलिंग कैसे पहुंचे

दार्जिलिंग का निकटतम एयरपोर्ट बागडोगरा है जो दार्जिलिंग से 88 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं। एयरपोर्ट से लगभग साढ़े तीन घंटे की यात्रा के बाद दार्जिलिंग पहुंचा जा सकता है। बागडोगरा एयरपोर्ट देश के मेट्रो शहरों के एयरपोर्ट से हवाई मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है। इसलिए आप प्लेन से यहां पहुंच सकते हैं।

7.2 दार्जिलिंग ट्रेन से कैसे पहुंचे – How To Reach Darjeeling By Train In Hindi

दार्जिलिंग ट्रेन से कैसे पहुंचे

न्यू जलपाईगुड़ी (NJP) यहां का निकटतम रेलवे स्टेशन है और दार्जिलिंग से लगभग 88 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। एनजेपी देश के सभी प्रमुख शहरों से भी जुड़ा हुआ है और इस जंक्शन पर उत्तर-पूर्वी राज्यों के लिए जाने वाली अधिकांश ट्रेनें रुकती हैं। दार्जिलिंग की यात्रा के लिए ट्रेन का विकल्प भी आदर्श होगा।

7.3 दार्जिलिंग कैसे पहुंचे बस से – How To Reach Darjeeling By Bus In Hindi

दार्जिलिंग कैसे पहुंचे बस से

दार्जिलिंग, मिरिक और कलिम्पोंग पहुंचने के लिए तेनजिंग नोर्गे बस टर्मिनस सिलीगुड़ी से बस सेवाएं उपलब्ध हैं। यदि आप दार्जिलिंग बस से जाना चाहते हैं तो आपको पहले सिलीगुड़ी पहुंचना होगा। इसके बाद आप सीट शेयरिंग बसों या जीप से लगभग तीन से साढ़े तीन घंटों में दार्जिलिंग पहुंच सकते हैं।

और पढ़े: पश्चिम बंगाल के पर्यटन स्थल की जानकारी 

8. दार्जिलिंग का नक्शा – Darjeeling Map

9. दार्जिलिंग की फोटो गैलरी – Darjeeling Images

View this post on Instagram

#darjeeling #hill

A post shared by Sahil Ahmed (@sahilahmed821) on

और पढ़े:

Write A Comment