सास बहू मंदिर उदयपुर घूमने की जानकरी – Sahastra Bahu Temple Udaipur In Hindi

Saas Bahu Temple Udaipur In Hindi, सहस्त्रबाहु मंदिर उदयपुर से लगभग 22 किमी दूर, Nh-8 पर नागदा गाँव में स्थित है। जिसे सास- बहू मंदिर के नाम से भी जाना जाता है, सहस्त्रबाहु मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित है, जहाँ सहस्त्रबाहु नाम का अर्थ,’एक लाख भुजाओं वाला’, जो विष्णु के रूपों में से एक है। मंदिर रामायण पर आधारित कई सुंदर नक्काशी से सुशोभित है। सास बहू मंदिर स्थानीय लोगो और तीर्थ यात्रियों के लिए उदयपुर का प्रमुख आस्था केंद्र बना हुआ है। जहाँ देशी और विदेशी पर्यटकों के भीड़ देखी जा सकती है।

Table of Contents

उदयपुर की सहस्त्रबाहु मंदिर का इतिहास – History Of Sas Bahu Temple Udaipur In Hindi

उदयपुर की सहस्त्रबाहु मंदिर का इतिहास

कच्छवाह वंश के राजा महीपाल ने इस मंदिर का निर्माण 10 वीं या 11 वीं शताब्दी में करवाया था। महिपाल की रानी भगवान विष्णु की भक्त थीं। राजा अपनी प्यारी पत्नी के लिए बहुत दयालु और उदार था, इसीलिए उसने इस मंदिर का निर्माण करवाया। वह चाहता था कि वह अपने इष्ट भगवान विष्णु की शांति से पूजा करे। बाद में, जब राजकुमार का विवाह हुआ, तो उसकी पत्नी के लिए एक और मंदिर का निर्माण किया गया, जो भगवान शिव की उपासक थी। इस प्रकार, भगवान शिव को सम्मान देने के लिए मंदिर विष्णु मंदिर के बगल में बनाया गया था।

सास बहू मंदिर उदयपुर की वास्तुकला – Saas Bahu Mandir Udaipur Architecture In Hindi

सास बहू मंदिर विभिन्न देवी-देवताओं के पांच से दस छोटे मंदिरों का समूह है। जहाँ विशेष अवसरों के दौरान भगवान विष्णु की मूर्ति रखने के लिए सामने की जगह में मंदिर का एक मेहराब है। मंदिर में अलग-अलग तीन दिशायों के तीन तीन दरवाज़े हैं। जिसके प्रवेश द्वार पर, देवी सरस्वती, भगवान ब्रम्हा और भगवान विष्णु की मूर्तियाँ स्थापित हैं। मंदिर की जटिल नक्काशी और वास्तुकला अविश्वसनीय रूप से भव्य हैं। सास बहू मंदिर का विशाल परिसर चौड़ाई में 22 मीटर और लंबाई में 32 मीटर भूमि में फैला हुआ है। जिसमे मंदिर की दीवारों में 10 वीं शताब्दी की विशेष नक्काशी है। और मंदिरों का मुख्य द्वार एक मानक द्वार से है जो मध्य खंड में लिंटल्स और बहु-लोब वाले मेहराब की शानदार नक्काशी से सुसज्जित है।

सहस्त्रबाहु मंदिर खुलने और बंद होने का समय – Sahastra Bahu Temple Udaipur Timing In Hindi

सास बहू मंदिर श्रद्धालुओं के लिए प्रतिदिन सुबह 5.00 बजे से दोपहर 12 बजे तक और शाम 4.00 बजे से रात 9.00 बजे तक खुला रहता है। और आपको बता दे मंदिर की पूर्ण व सुखद यात्रा के लिए 1-2 घंटे का समय निकालकर सास बहू मंदिर की यात्रा सुनिश्चित करें।

उदयपुर का सास बहू मंदिर का प्रवेश शुल्क – Sahastra Bahu Temple Ticket Price In Hindi

सास बहू मंदिर में श्रद्धालुओं का प्रवेश नि: शुल्क है।

सहस्त्र बाहु मंदिर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Saas Bahu Temple Udaipur In Hindi

सहस्त्र बाहु मंदिर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

अगर आप सहस्त्रबाहु मंदिर उदयपुर घूमने जाने के बारे में विचार कर रहे हैं तो हम आपको बता दें की वैसे तो आप साल की किसी भी समय सहस्त्रबाहु मंदिर की यात्रा कर सकते है लेकिन अगर आप सास बहू मंदिर के साथ -साथ उदयपुर के अन्य पर्यटक स्थल घूमने का प्लान बना रहे है, तो आपको बता दे उदयपुर घूमने के लिए सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च तक का समय होता है। सर्दियों का मौसम उदयपुर की यात्रा करना एक अनुकूल समय है। क्योंकि रेगिस्तान क्षेत्र होने की वजह से राजस्थान गर्मियों में बेहद गर्म होता है जिसकी वजह से गर्मी के मौसम में उदयपुर की यात्रा करने से बचना चाहिए।

और पढ़े: राजस्थान के 20 सबसे प्रमुख मंदिर

सहस्त्र बाहु मंदिर के आसपास के प्रमुख पर्यटक स्थल – Tourist Attractions Near Saas Bahu Temple Udaipur In Hindi

यदि आप राजस्थान के प्रमुख पर्यटक स्थल उदयपुर में सास बहू मंदिर घूमने जाने का प्लान बना रहे है तो हम आपको अवगत करा दे की उदयपुर, सहस्त्रबाहु मंदिर के अलावा भी अन्य प्रसिद्ध किलो, धार्मिक स्थलों, पार्क व अन्य पर्यटक स्थलों से भरा हुआ है, जिन्हें आप अपनी उदयपुर की यात्रा के दौरान घूम सकते हैं-

उदयपुर के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल

उदयपुर के प्रमुख धार्मिक स्थल और मंदिर

उदयपुर की प्रसिद्ध झीलें

उदयपुर में घूमने वाले आकर्षक स्थल

  • जग मंदिर
  • अहर म्यूज़ियम
  • विंटेज कार
  • क्रिस्टल गैलरी
  • वैक्स म्यूजियम
  • भारतीय लोक कलामंडलऔर म्यूजियम
  • गुलाब बाग और चिड़ियाघर
  • सुखाड़िया सर्किल
  • शिल्पग्राम
  • महाराणा प्रताप स्मारक
  • ताज लेक पैलेस
  • सज्जनगढ़बायोलॉजिकल पार्क
  • उदयपुर फिश एक्वेरियम
  • चेतक सर्कल
  • अम्बराई घाट
  • हाथीपोल बाजार

उदयपुर के प्रसिद्ध उत्सव

  • मेवाड़ उत्सव
  • कुंभलगढ़ उत्सव

उदयपुर में आप क्या – क्या कर सकते हैं – Things To Do In Udaipur In Hindi

अगर आप राजस्थान के खूबसूरत शहर उदयपुर घूमने का प्लान बना रहे तो आप यहाँ के आकर्षक पर्यटक स्थल घूमने के अलावा भी बहुत कुछ कर सकतें है

  • उदयपुर के प्रसिद्ध बाजारों में खरीददारी
  • रोपवे की यात्रा
  • बायसिकल राइड
  • धरोहर फोक डांस शो
  • बोट राइड

उदयपुर में प्रसिद्ध भोजन – Udaipur Famous Local Food In Hindi

उदयपुर में प्रसिद्ध भोजन

उदयपुर राजस्थान राज्य का प्रमुख पर्यटन शहर है जहाँ आप विभिन्न प्रकार के स्वादिष्ट व्यंजनों का स्वाद ले सकते हैं। अगर आप उदयपुर की यात्रा करने जा रहे हैं तो आपकी यात्रा यहां के व्यंजनों को शामिल किये बिना पूरी नहीं होगी। यहां के प्रसिद्ध होटल नटराज में दाल बाट चूरमा और गट्टे की सब्जी का स्वाद हर किसी के दिल में बस जाता है।  इस होटल को राजस्थानी भोजन बनाने में बहुत ही अच्छा है।  इसके अलावा शिव शक्ति चाट पर आप विभिन्न प्रकार के कचौरी चाट का स्वाद चख सकते हैं, जो इस शहर के खास व्यंजनों में से एक है।  नीलम रेस्तरां एक राजस्थानी थाली देता है जो मीठी, चटपटी और मसालेदार घर के खाने के भोजन से भरी हुई होती है।

सहस्त्रबाहु मंदिर उदयपुर कैसे पहुंचे – How To Reach Saas Bahu Temple Udaipur In Hindi

अगर आप सास बहू मंदिर उदयपुर घूमने जाने की योजना बना रहे है तो हम आपको बता दे आप हवाई, ट्रेन या सड़क मार्ग से यात्रा करके सास बहू मंदिर उदयपुर आसानी से पहुंच सकते हैं।

हवाई जहाज से सहस्त्रबाहु मंदिर कैसे पहुंचे – How To Reach Sahastra Bahu Temple By Flight In Hindi

हवाई जहाज से बागोर की हवेली उदयपुर कैसे पहुंचे

अगर आप सहस्त्रबाहु मंदिर उदयपुर हवाई जहाज से जाना चाहते हैं तो आपको बता दें कि इसका निकटतम हवाई अड्डा महाराणा प्रताप हवाई अड्डा है जो सहस्त्रबाहु मंदिर से लगभग 33 किलोमीटर दूर स्थित है। यह हवाई अड्डा दिल्ली, मुंबई, जयपुर और कोलकाता जैस देश के कई प्रमुख शहरों से हवाई मार्ग से जुड़ा हुआ है। हवाई अड्डे पर उतरने के बाद आप यहां से कैब या प्री-पेड टैक्सी बुक कर करके सहस्त्रबाहु मंदिर आसानी से पहुंच सकते हैं।

बस से सहस्त्रबाहु मंदिर कैसे पहुंचे – How To Reach Sahastra Bahu Temple Udaipur By Bus In Hindi

बस से उदय सागर झील कैसे जाये

सहस्त्रबाहु मंदिर उदयपुर की यात्रा सड़क मार्ग से यात्रा करना काफी आरामदायक साबित हो सकता है क्योंकि यह सिटी अच्छी तरह रोड नेटवर्क द्वारा भारत के कई प्रमुख शहरों जैसे मुंबई, दिल्ली, इंदौर, कोटा और अहमदाबाद से अच्छी तरह से जुड़ा है। बस से यात्रा करने के लिए भी आपके सामने बहुत से विकल्प होते हैं। आप डीलक्स बसें, एसी कोच और राज्य द्वारा संचालित बसों के माध्यम से सहस्त्रबाहु मंदिर उदयपुर की यात्रा कर सकते हैं।

ट्रेन से सहस्त्रबाहु मंदिर कैसे पहुंचे – How To Reach Sahastra Bahu Temple By Train In Hindi

ट्रेन से बागोर की हवेली उदयपुर कैसे पहुंचे

उदयपुर राजस्थान का एक प्रमुख शहर है जो रेल के विशाल नेटवर्क पर स्थित है।  उदयपुर रेलवे स्टेशन भारत के प्रमुख शहरों जैसे जयपुर, दिल्ली, कोलकाता, इंदौर, मुंबई और कोटा से ट्रेनों द्वारा जुड़ा हुआ है। भारत के कई बड़े शहरों से उदयपुर के लिए कई प्रतिदिन ट्रेन चलती हैं। रेलवे स्टेशन से सहस्त्रबाहु मंदिर लगभग 23 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है तो रेलवे स्टेशन पहुंचने के बाद आप एक टैक्सी, कैब या ऑटो-रिक्शा किराए पर लेकर सहस्त्रबाहु मंदिर पहुंच सकते हैं।

और पढ़े: फॉय सागर झील अजमेर घूमने की जानकारी 

सहस्त्रबाहु मंदिर उदयपुर का नक्शा – Sahastra Bahu Temple Udaipur Map

सास बहू मंदिर उदयपुर की फोटो गैलरी – Saas Bahu Temple Udaipur Images

और पढ़े:

Leave a Comment