दिल्ली का पुराना किला घूमने की जानकारी – Purana Qila Delhi Information In Hindi

Purana Qila In Hindi, पुराना किला भारत की राजधानी दिल्ली में स्थित एक आकर्षक संरचना है जिसका निर्माण मुगल राजा शाह सूरी द्वारा 1538 के करवाया गया था। आपको बता दें कि यह दिल्ली के प्राचीन किलों में से एक है और इस शहर के राजसी इतिहास को निहारता एक आकर्षक ऐतिहासिक स्थल है। पुराना किला परिसर लगभग पाँच मील के क्षेत्र फैला हुआ है और इस किले में प्रवेश करने के लिए तीन द्वार बनाए गए हैं।

पुराना किला इतिहास और वास्तुकला प्रेमियों के लिए स्वर्ग के समान है। अगर आप दिल्ली की यात्रा करने के लिए जा रहें हैं तो आपको पुराना किला को अपनी यात्रा में अवश्य शामिल करना चाहिए। पुराना किला के बारे में ऐसा भी कहा जाता है कि किले की सीढ़ियों से गिर कर हुमायु की मृत्यु हुई थी। अगर आप पुराना किला के बारे में और जानना चाहते हैं तो इस लेख को अवश्य पढ़ें, इस लेख में हम आपको पुराना किला का इतिहास, वास्तुकला और इसके बारे में रोचक तथ्य बताने जा रहें हैं।

Table of Contents

दिल्ली के पुराना किले का इतिहास – Purana Qila Delhi History In Hindi

Purana Qila Delhi History In Hindi

  • पुराना किले का निर्माण 1533 ईस्वी में मुगल सम्राट हुमायूं द्वारा निर्मित दीन पनाह शहर के एक भाग के रूप शेरशाह सूरी द्वारा किया गया था।
  • अफ़गानी शासकशेरशाह ने हुमायु के दीन पनाह शहर पर कब्जा कर लिया और इसका नाम शेरगढ़ रखा। उन्होंने परिसर में पांच संरचनाओं का निर्माण भी करवाया था।
  • कुछ समय बाद ही शेरशाह के मरने के बाद यह किला फिर से हुमायु के पास चला गया था। बाद में पुराना किले पर बहुत ही कम समय के लिए कई शासकों ने शासन किया था और फिर इस पर अंग्रेजों द्वारा कब्ज़ा कर लिया गया।
  • 1920 के दशक में जब एडवर्ड लुटियन ने नई दिल्ली को डिजाइन किया, तो उन्होंने राजपथ को पुराना किला से जोड़ दिया। भारत के विभाजन के समय इस किले ने मुसलमानों के लिए शरणार्थी शिविर के रूप में कार्य किया था।
  • इसके काफी समय बाद 1970 के दशक में, नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा ने पहली बार किले का इस्तेमाल अपने नाटकों- तुगलक, अंध युग और सुल्तान रजिया के लिए किया। इसके बाद धीरे धीरे यह किला सांस्कृतिक कार्यक्रमों और संगीत कार्यक्रमों की मेजबानी का केंद्र बन गया।
  • 2013-14 में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा किए गए सबसे हालिया उत्खनन से इस बात का खुलासा हुआ है कि यह किला पूर्व मौर्य साम्राज्य के समय तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व का है।
  • पुरातत्वविद् बी।बी। लाल द्वारा किए गए उत्खनन में कुछ ऐसे सबूत भी मिले थे जो महाभारत में वर्णित सभी स्थलों पर पाए गए निशानों से मिलते हुए हैं।

पुराना किला दिल्ली की वास्तुकला – Delhi’s Purana Qila Architecture In Hindi

पुराना किले की वास्तुकला मध्ययुगीन शैली के मुगल वास्तुकला का दावा करती है। इस संरचना को 18 मीटर की उंचाई की किलेबंदी के साथ नीले पत्थर के वर्क से अलंकृत किया गया है। इस किले में तीन प्रवेश द्वार बने हुए हैं जिसके पश्चिम द्वार को बारा दरवाजा के नाम दक्षिण द्वार को हुमायूँ के द्वार के रूप में एयर अंतिम द्वार को तालकी द्वार कहा जाता है। इन तीनों द्वारों में से एक बारा दरवाजा अभी भी उपयोग में है। दूसरा द्वारा शायद हुमायूँ के द्वारा बनवाया गया था इसलिए इसका नाम हुमायूँ द्वार है। हुमायूँ द्वार से कुछ ही दूरी पर हुमायूँ का मकबरा भी स्थित है।

मीनार में छत के ऊपर उभरी हुई बालकनियाँ और विस्तृत राजस्थानी शैली के मंडप बने हुए जो बेहद आकर्षक है। किले में स्थित लॉन हरे भरे परिदृश्य को प्रस्तुत करते हुए किले की सुदंरता और भी  ज्यादा बढाता है।

और पढ़े: विजयदुर्ग किल्ला सिंधुदुर्ग में घूमने लायक पर्यटन स्थल की जानकरी

पुराना किला के अन्दर घूमने के लिए प्रमुख आकर्षण स्थल – Tourist Attractions Inside Purana Qila In Hindi

Tourist Attractions Inside Purana Qila In Hindi

पुराण क़िला में किला-ए-कुहना मस्जिद – Qila-E-Kuhna Mosque At Purana Qila In Hindi

किला-ए-कुहना पुराना किला के प्रमुख आकर्षणों में से एक है जो इंडो- इस्लामिक स्थापत्य शैली को प्रदर्शित करता है। आपको बता दें कि इस संरचना का निर्माण 1541 में शेरशाह ने करवाया था। एकल गुंबद वाली मस्जिद में पाँच दरवाजों में बड़े पैमाने पर घोड़े की नाल के आकार के सामान मेहराबें बनी हैं। इसे मुख्य रूप से ‘जामी मस्जिद’ कहा जाता है जिसका  निर्माण शुक्रवार की नमाज के लिए खुद राजा और उनके दरबारियों के लिए किया गया था। किला-ए-कुहना मस्जिद के आयताकार प्रार्थना हॉल में पाँच मेहराबें या प्रार्थना स्थल (मिहराब) हैं जो पश्चिमी दीवारों (काबा की दिशा) में स्थापित हैं।

पुराण किला में शेर मंडल – Sher Mandal At Purana Qila In Hindi

शेर मंडल शीर्ष पर छत्री के साथ लाल पत्थर में निर्मित दो मंजिला अष्टकोणीय भवन है जिसका निर्माण राजा के लिए आनंद मंडल रूप में काम करता था। उन्होंने इसका निर्माण पढ़ने और आराम करने और टॉवर के ऊपर से नीचे शहर के दृश्य का आनंद लेने के उपयोग के लिए किया था। ऐसा माना जाता है कि इस इमारत का निर्माण उच्चतर था और इसका उपयोग वेधशाला के रूप में किया जाता था, लेकिन राजा की मृत्यु के कारण इसके निर्माण को बंद कर दिया गया।

पुराण किला में पुरातत्व संग्रहालय – Archaeological Museum At Purana Qila In Hindi

पुराना किला में स्थित संग्रहालय, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा किले के स्थल से खुदाई किए गए कई नमूनों को प्रदर्शित करता है। पुरातत्वविद् बी।बी। लाल द्वारा 1954-55 और 1969-73 के कई कलाकृतियाँ और निष्कर्ष यहाँ प्रदर्शित हैं। इस संग्रहालय के मुख्य प्रदर्शनों में  कुषाण वंश, राजपूतों, दिल्ली सल्तनत और मुगलों के प्राचीन साम्राज्यों से लेकर 1500 ईसा पूर्व तक के चित्रित ग्रेवेयर शामिल हैं।

पुराना किला के बारे में रोचक तथ्य – Purana Qila Interesting Facts In Hindi

  • पुराना किला के तीन प्रवेश द्वार हैं हुमायूं दरवाजा, बारा दरवाजा और तालाकी दरवाजा।
  • पुराना किला में देखने के लिए तीन लोकप्रिय चीजें किला-ए-कुहना मस्जिद, शेर मंडल और परिसर के भीतर स्थित छोटा संग्रहालय हैं।
  • 1541 में हुमायूँ से पुराना किला पर विजय प्राप्त करने पर शेरशाह द्वारा किला-ए-कुहना मस्जिद का निर्माण किया गया था।
  • किले में स्थित एक छोटा सा संग्रहालय मुगलकाल के शानदार और शानदार अवशेषों को प्रदर्शित करता है।

पुराना किला में लाइट एंड साउंड शो की जानकारी – Purana Qila Light And Sound Show In Hindi

पुराना किला में लाइट एंड साउंड शो की जानकारी

पुराना किला में प्रकाश और ध्वनि शो को 2011 में शुरू किया गया था तब से यहां लगातार पर्यटकों को आकर्षित कर रहा है। यह लाइट एंड साउंड शो आपको दिल्ली की मुगल काल से ब्रिटिश भारत की आधुनिक दिल्ली की यात्रा की प्रस्तुत करता है। इसे “इश्क-ए-दिल्ली ” के रूप में नामित किया गया है, जिसे देखने के बाद कोई भी दिल्ली शहर से प्यार करने लगेगा। इसमें 11 वीं शताब्दी की दिल्ली से शुरू होने वाले इस शो में महाभारत और इंद्रप्रस्थ के मिथक को शामिल किया गया है और यह आपको वर्तमान समय में वापस लाता है। इस शो के कुछ हिस्सों को 3 डी में प्रदर्शित किया जाता है।

  • हिंदी शो का समय – शाम 7:30 – 8:30
  • अंग्रेजी शो का समय – रात 9:00 – 10:00
  • शुक्रवार को शो बंद रहता है।

पुराना किला में लाइट एंड साउंड शो टिकट की कीमत – Purana Qila Light And Sound Show Ticket Price In Hindi

  • वयस्कों के लिए: 100 रूपये
  • बच्चों के लिए: 50 रूपये (3 से 12 साल के बीच)

और पढ़े: दतिया महल की जानकारी और इससे जुड़ी रोचक बातें 

पुराना किला घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Purana Qila In Hindi

पुराना किला घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

पुराना किला की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय दिन में 3:00 बजे है। अगर आप अपनी यात्रा का पूरा मजा लेना चाहते हैं तो आपको सर्दियों के मौसम में दिल्ली की यात्रा करना चाहिए। क्योंकि इस समय बेहद सुहावना होता है, जिसमें आप घूमने-फिरने, लॉन में बैठने, नौका विहार का आनंद ले सकते हैं। अगर आप ध्वनि और लाइट शो का आनंद लेना चाहते हैं सूर्यास्त के बाद पुराना किला के लिए जाएं।

पुराना किला, दिल्ली कैसे पहुंचें – How To Reach Purana Qila Delhi In Hindi

पुराना किला, दिल्ली कैसे पहुंचें

अगर आप पुराना किला के लिए यात्रा करना चाहते हिं तो बता दें कि दिल्ली शहर मेट्रो और राज्य द्वारा संचालित बसों के माध्यम से जुड़ा हुआ है। पुराना किला जाने के लिए सबसे नज़दीकी मेट्रो स्टेशन प्रगति मैदान मेट्रो है, जो ब्लू लाइन पर स्थित है। किला मेट्रो से लगभग 2 किलोमीटर दूर है। मेट्रो स्टेशन से किला जाने के लिए आप  स्थानीय या बैटरी से चलने वाले रिक्शा को किराए पर ले सकते हैं। अगर आप अपनी यात्रा को ओर भी ज्यादा आरामदायक बनाना चाहते हैं तो टैक्सी या कैब बुक कर सकते हैं। इसके अलावा आप बस से भी यात्रा कर सकते हैं, जो आपके लिए किफायती होगी।

और पढ़े: चित्रदुर्ग किला घूमने की जानकारी और इसके प्रमुख पर्यटन स्थल

पुराना किला, दिल्ली का नक्शा – Purana Qila Delhi Map

पुराना किला की फोटो गैलरी – Purana Qila Images

View this post on Instagram

Entrance for Purana Quila

A post shared by Rajinder Sood (@bantas53) on

View this post on Instagram

#puranaqila #nepsabin #mobileupload #delhi

A post shared by Sabin Adhikari (@nepsabin) on

और पढ़े:

Leave a Comment