चित्रदुर्ग किला घूमने की जानकारी और इसके प्रमुख पर्यटन स्थल  – Chitradurga Fort Information In Hindi

Chitradurga Fort In Hindi, चित्रदुर्ग किला भारत के कर्णाटक राज्य में चित्रदुर्ग जिले में स्थित है। चित्रदुर्ग किले को “चित्त्तलदूर्ग” भी कहा जाता है जिसका अर्थ चित्रकारी किला है जोकि पहाड़ी घाटी पर स्थित हैं। चित्रदुर्ग किले का निर्माण विशाल पत्थरों से किया गया है। चित्रदुर्ग किला एक सुरम्य किला है जोकि घाटियों, नदी और चिन्मुलाद्री रेंज के कारण बहुत ही आकर्षक दिखाई देता है। विभिन्न कन्नड़ फिल्मों के लिए एक पसंदीदा स्थान भी है। चित्रदुर्ग किला कर्नाटक राज्य की यात्रा करने वाले पर्यटकों के लिए एक लोकप्रिय आकर्षण के रूप में कार्य करता है। वेदावती नदी के तट पर बसे इस चित्रदुर्ग किले में 7 विशाल दीवारे है जोकि महाभारत की महाकाव्य पौराणिक कथाओं से भी जुड़ी हैं। किले में अनेकों मंदिर भी स्थापित है जो इसकी वास्तुकला के प्रतीक माने जाते है। चित्रदुर्ग के किले से जुडी समस्त जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे इस लेख को पूरा जरूर पढ़े।

1. चित्रदुर्ग किले का इतिहास – Chitradurga Fort History In Hindi

चित्रदुर्ग किले का इतिहास

चित्रदुर्ग के किले का इतिहास 1500 से 1800 ईस्वी में सामने आया। जब इस शानदार किले का निर्माण कई राजवंशी शासकों द्वारा करवाया गया था। इतिहासकारों द्वारा बताया गया है कि मदकर नायक के समय में हैदर अली ने चित्रदुर्ग किले पर तीन बार आक्रमण किये जिसमे से सन 1779 के अंतिम आक्रमण में हैदर अली को सफलता प्राप्त हुई और उसने फिर 200 वर्षो तक लगातार चित्रदुर्ग पर शासन किया और इस किले को और भी बड़ा बनबाया। इसके बाद ब्रिटिश सेना ने टीपू सुलतान के बेटे से युद्ध करके चित्रदुर्ग को जीत लिया और इस पर पूरी तरह से अपना अधिपत्य जमा लिया था।

2. चित्रदुर्ग किले की संरचना – Chitradurga Fort Architecture In Hindi

चित्रदुर्ग किले की संरचना
Image Credit: Tabish Khan Masoom

चित्रदुर्ग किले को सोने के किले के नाम से भी जाना जाता है। चित्रदुर्ग किले की संरचना बहुत ही आश्चर्यजनक है। इस किले की शानदार संरचना पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करती है। चित्रदुर्ग किले में 18 मंदिर है जिनमे से कुछ इस प्रकार है- गोपाला कृष्णा, वनानम्म्मा, भगवान हनुमान, नंदी, सुबराय, फाल्कनर्स और सिद्देश्वर हैं। चित्रदुर्ग किले के निचले हिस्से में एक बहुत अद्भुत मंदिर है जोकि देवी दुर्गा को समर्पित है और इसके साथ ही चित्रदुर्ग का सबसे पुराना मंदिर हिडिंबेश्वर मंदिर है। कई इस्लामी राजाओं ने अपने शासन काल में चित्रदुर्ग किले में मस्जिद का निर्माण भी करवाया है।

और पढ़े: कर्नाटक के टॉप 10 पर्यटन स्थलों की जानकारी 

3. चित्रदुर्ग दुर्ग के बारे में रोचक तथ्य – Interesting Fact About Chitradurga Kila In Hindi

  • थिमप्पा नायक इस वंश का पहला शासक था।
  • ओनाके ओबाव्वा के शव आज भी चित्रदुर्ग दुर्ग में देखने को मिलते है।
  • चित्रदुर्ग किला का क्षेत्रफल 1500 एकड़ में फैला हुआ है।
  • चित्रदुर्ग दुर्ग की उंचाई 976 मीटर है।
  • चित्रदुर्ग किले पर एक नही अनेकों शासको चालुक्यों से लेकर होयसाल और विजयनगर राजाओं ने शासन किया।
  • चित्रदुर्ग किला महाभारत से जुड़ा हुआ है।
  • चित्रदुर्ग दुर्ग में सात बहुत ही अद्भुत दीवारे है।

4. चित्रदुर्ग किला किसने बनवाया था – Who Built Chitradurga Fort In Hindi

चित्रदुर्ग किला किसने बनवाया था

चित्रदुर्ग किले के निर्माण को लेकर कोई निश्चित साक्ष्य नही है परन्तु कई इतिहासकारो के द्वारा चित्रदुर्ग किले के निर्माण का श्रेय होयसाल, चालुक्य, विजयनगर साम्राज्य के कुछ सामंती स्वामी और राष्ट्रकूट के नायकों जैसे राजवंश शासकों को दिया गया है।

5. चित्रदुर्ग फोर्ट का निर्माण कब करवाया गया – When Built Chitradurga Fort In Hindi

चित्रदुर्ग फोर्ट का निर्माण 15 वीं शताब्दी से 18 वीं शताब्दी के दौरान कई शासकों के द्वारा करवाया गया लेकिन किले का विस्तार हैदर अली और टीपू सुल्तान के शासन के दौरान किया गया था।

6. चित्रदुर्ग किले के खुलने और बंद होने का समय – Chitradurga Fort Timing In Hindi

चित्रदुर्ग फोर्ट के खुलने और बंद होने का समय सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक का है। आप पूरे दिन में किसी भी समय इस ऐतिहासिक (सोने) के किले के दर्शन करने आ सकते है।

7. चित्रदुर्ग फोर्ट का प्रवेश शुल्क – Chitradurga Fort Ticket Price In Hindi

चित्रदुर्ग फोर्ट का प्रवेश शुल्क
Image Credit: Mruthyunjaya R

चित्रदुर्ग फोर्ट में प्रवेश करने से पहले आपको टिकट लेना बहुत जरूरी है। चित्रदुर्ग किले का प्रवेश शुल्क भारतीयों के लिए 5 रूपए प्रति व्यक्ति है और विदेशी नागरिको के लिए 100 रूपए प्रति व्यक्ति है।

और पढ़े: विजयदुर्ग किल्ला सिंधुदुर्ग में घूमने लायक पर्यटन स्थल की जानकरी 

8. चित्रदुर्ग किले के आसपास में घूमने लायक प्रमुख पर्यटन स्थल – Best Places To Visit Near Chitradurga Fort In Hindi

चित्रदुर्ग में घूमने के लिए बहुत ही आकर्षक पर्यटन स्थल है और चित्रदुर्ग जिले में आपको चित्रदुर्ग के विशाल किले के अलावा भी बहुत सारे दर्शनीय और प्रसिद्ध स्थान देखने को मिलेंगे। जोकि आपकी यात्रा को बहुत यादगार बना सकते है। आप चित्रदुर्ग फोर्ट घूमने के लिए आये तो इन शानदार और लोकप्रिय स्थानों पर आना ना भूले।

8.1 वाणी विलास सागर बांध – Vani Vilas Sagar Dam In Hindi

वाणी विलास सागर बांध
Image Credit: Sahana Shetti

वाणी विलास सागर बांध चित्रदुर्ग से लगभग 32 किलोमीटर दूर स्थित बहुत ही आकर्षक बाँध है। वेदवती नदी के पार सबसे पुराना बाँध मारी कानिव के नाम से भी जाना जाता है। अपने प्रकृति के दृश्यों से यह बांध हर साल हजारों पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है। हिरियूर तालुक के पास स्थित यह बांध मैसूर महाराजाओं द्वारा बनबाया गया था और आज यह चित्रदुर्ग जिले के सबसे आकर्षित पर्यटन स्थलों में सबसे ऊपर गिना जाता है।

8.2 चंद्रवल्ली गुफाएं – Chandravalli Caves In Hindi

चंद्रवल्ली गुफाएं
Image Credit: Pranam Bhat

चंद्रावल्ली गुफाएं चित्रदुर्ग शहर से लगभग 4 किलोमीटर दूर जमीन से 80 फीट नीचे स्थित है। चंद्रावल्ली गुफाओं को अंचल मठ के नाम से भी जाना जाता है जोकि एक प्राकृतिक चमत्कार के रूप में पर्यटकों को बहुत आकर्षित करती है। जमीन के अन्दर स्थित इस गुफा के पास चंद्रावल्ली नामक शिवजी का मंदिर भी है जिसमे पत्थरों से निर्मित शिवलिंग स्थापित है।

8.3 नायकनहट्टी मंदिर – Nayakanahatti Temple In Hindi

नायकनहट्टी मंदिर
Image Credit: Varun Kumar

नायकनहट्टी मंदिर चित्रदुर्ग से लगभग 35 किलोमीटर दूर साधु थिपरुद्रस्वामी के आराम करने के स्थानों में से एक है जोकि चित्रदुर्ग का आकर्षक तीर्थ स्थल भी है। फाल्गुन माह में यहाँ विशाल मेले का आयोजन किया जाता है जहां पर्यटकों को ऋषि थिपरुद्रस्वामी की समाधी के दर्शन करने के अवसर मिलते है।

और पढ़े: सबरीमाला मंदिर के रोचक तथ्य 

8.4 गायत्री जलाशय – Gayatri Jalashay In Hindi

गायत्री जलाशय
Image Credit: Uma Rao

गायत्री जलशय चित्रदुर्ग के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक लोकप्रिय पिकनिक स्थल है। गायत्री जलाशय का निर्माण सुवर्णमुखी नदी के पार मैसूर के महाराजा द्वारा करवाया गया था। गायत्री जलाशय में जो भी पर्यटक आते है वो यहाँ पिकनिक की मस्ती के साथ-साथ शाम के समय इस जलाशय के शांत जल को देखने का आनंद पाते है।

8.5 जोगीमत्ती – Jogimatti In Hindi

जोगीमत्ती
Image Credit: Chethan S

जोगीमत्ती चित्रदुर्ग से 14 किलोमीटर दूर स्थित बहुत ही आकर्षक हिल स्टेशन है। जोगीमत्ती को ’ब्यूटी एट द ग्रेट एपिटोम’ के नाम से भी जाना जाता है। जोगीमत्ती के बड़े पहाड़, हरे जंगल और बाग़-बगीचे जोगीमत्ती में पर्यटकों को बहुत आकर्षित करते है। यहाँ चट्टानों से केदार जलप्रपात बहता है जिससे यहाँ एक गुफा बन गई है और इसमें शिवलिंग और वीरभद्र की मूर्ती स्थापित है।

8.6 होल्केरे – Holalkere In Hindi

होल्केरे
Image Credit: Adarsh Kallimath

होल्केरे चित्रदुर्ग से लगभग 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित गणपति भगवान का बहुत शानदार मंदिर है। जोकि 1475 ईस्वी में चित्रदुर्ग के पलेगारों में से एक द्वारा स्थापित किया गया था। भगवान गणेश की 9 फीट ऊँची बचपन की मूर्ती के लिए लोकप्रिय होल्केरे बहुत ही प्रसिद्ध पर्यटन स्थल बन चुका है।

8.7 अडूमल्लेश्वर मंदिर चित्रदुर्ग – Adumalleshwara Temple In Hindi

अडूमल्लेश्वर मंदिर चित्रदुर्ग
Image Credit: Harisha M

अडूमल्लेश्वर मंदिर चित्रदुर्ग किले से 4 किलोमीटर दूर स्थित भगवान शंकर को समर्पित बहुत प्राचीन मंदिर है। यह एक गुफा मंदिर है जिसमे नंदी भगवान के मुख से बारहमासी धरा निकलती है। मंदिर में एक छोटा चिड़ियाघर भी है जोकि कई जानवरों का घर है। जिसमें चीता, बाघ और कई अन्य आकर्षण शामिल हैं। इसके अलावा मंदिर के सामने एक तालाब है जिसमें कई बड़ी मछलियाँ देखने को मिलती हैं।

और पढ़े: जोग जलप्रपात शिमोगा कर्नाटक 

8.8 जामिया मस्जिद – Jamia Masjid In Hindi

जामिया मस्जिद
Image Credit: Azmulla

जामिया मस्जिद चित्रदुर्ग का सबसे खूबसूरत मंदिर है जिसका निर्माण मैसूर के राजा सुलतान फ़तेह अली टीपू द्वारा करवाया गया था। इस मंदिर की वनावट सहज ही पर्यटकों को बहुत आकर्षित करती है।

8.9 दशरथ रामेश्वर – Dasaratha Rameshwara In Hindi

दशरथ रामेश्वर
Image Credit: MV chandan

दशरथ रामेश्वर चित्रदुर्ग का बहुत ही धार्मिक स्थान है जहां महाराजा दशरथ द्वारा श्री श्रवण को तीर से मारा गया था। महाराजा दशरथ ने हिरण समझ कर अनजाने में श्रवण कुमार पर तीर चलाया था। इसके बाद दशरथ जी ने अपने पुत्र राम के साथ प्रायश्चित करने के साथ यहाँ पर एक शिवलिंग स्थापित करवाया। दशरथ रामेश्वर मंदिर का उल्लेख रामायण में मिलता है और इस स्थान पर पर्यटक भारी संख्या में आते हैं।

8.10 अंकाली मठ – Ankali Mutt In Hindi

अंकाली मठ
Image Credit: Shivakumar

अंकली मठ चित्रदुर्ग किले से लगभग 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक प्राचीन मठ है। इस मठ के अन्दर पांच शिवलिंग है जिन्हें पांडवों ने स्थापित किया था। इस गुफा के प्रवेश द्वार में होयसला राजा नरसिम्हा तृतीय के शासनकाल के दौरान 1286 ईस्वी से संबंधित शिलालेख शामिल हैं।

और पढ़े: मैसूर शहर के 10 मशहूर पर्यटन स्थल की जानकारी 

9. चित्रदुर्ग के प्रमुख उत्सव – Chitradurga Famous Festivals In Hindi

चित्रदुर्ग में हर साल फरवरी-मार्च के महीने में फाल्गुन माह के समय थिपरुद्रस्वामी नायकनहट्टी के मंदिर त्यौहार का आयोजन किया जाता हैं जोकि ऋषि मुनियों को समर्पित मंदिर है। यह उत्सव चित्रदुर्ग का सबसे प्रसिद्ध उत्सव है। इसके अलावा भी कर्णाटक राज्य में कई उत्सव जैसे- गणेश चतुर्थी, गौरी महोत्सव, पट्टडकल नृत्य महोत्सव, महामस्तकाभिषेक (श्रवणबेलगोला) आदि मनाये जाते है।

10. चित्रदुर्ग किला घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Chitradurga Fort In Hindi

चित्रदुर्ग किला घूमने जाने का सबसे अच्छा समय
Image Credit: Sunil Pawar

चित्रदुर्ग जाने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च के महीनों का है। हालाकि साल के किसी भी महीने में आप चित्रदुर्ग किला घूमने जा सकते है।

11. चित्रदुर्ग का प्रसिद्ध भोजन – Chitradurga Famous Food In Hindi

चित्रदुर्ग का प्रसिद्ध भोजन

चित्रदुर्ग के प्रसिद्ध भोजन में मुख्य रूप से मेंवे इडली, वड़ा, चाउ बाथ, कॉफ़ी चाय आदि हैं। क्रिस्पी, गर्म और स्वादिष्ट पकवानों में मसाला डोसा और प्लेन डोसा है। आप चित्रदुर्ग के प्रसिद्ध व्यंजनों का स्वाद जीवन भर नही भूल पाएंगे।

12. चित्रदुर्ग में कहाँ रुके – Where To Stay In Chitradurga In Hindi

चित्रदुर्ग में कहाँ रुके

आप चित्रदुर्ग के किले के दर्शन तथा यहाँ के आस-पास के अन्य दार्शनिक स्थल घूमने के बाद चित्रदुर्ग में आवास स्थान की तलाश कर रहे है। तो हम आपको बता दे कि चित्रदुर्ग में सस्ती होटलों से लेकर आपकी चॉइस के अनुसार कई तरह के आवास विकल्प हैं। आप अपनी सुविधा के अनुसार किसी भी होटल का चुनाव कर सकते है।

  • होटल रवि मयूर इंटरनेशनल (Hotel Ravi Mayur International)
  • वशिष्ठ डीलक्स लॉज (Vashishata Deluxe Lodge)
  • होटल वेदा कम्फर्ट्स (Hotel Veda Comforts)
  • होटल ऐश्वर्या किला (Hotel Aishwarya Fort)
  • होटल नवीन रीजेंसी (Hotel Naveen Regency)

और पढ़े: भारत की 20 सबसे रहस्यमयी जगहें 

13. चित्रदुर्ग किला चित्रदुर्ग कर्नाटक कैसे पंहुचा जाये – How To Reach Chitradurga Fort Chitradurga Karnataka In Hindi

चित्रदुर्ग किले की यात्रा के लिए आप फ्लाइट, ट्रेन और बस में से किसी का चुनाव कर सकते हैं।

13.1 चित्रदुर्ग किला हवाई मार्ग से कैसे पहुंचे – How To Reach Chitradurga Fort By Flight In Hindi

चित्रदुर्ग किला हवाई मार्ग से कैसे पहुंचे

यदि आपने चित्रदुर्ग किला जाने के लिए हवाई मार्ग का चुनाव किया हैं तो हम आपको बता दें कि चित्रदुर्ग का सबसे निकटतम हवाई अड्डा बैंगलोर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है जोकि चित्रदुर्ग से लगभग 197 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। आप इस हवाई अड्डे से यहाँ के स्थानीय साधन के माध्यम से चित्रदुर्ग किले तक आसानी से पहुँच सकते है।

13.2 चित्रदुर्ग किला रेल मार्ग से कैसे पहुंचे – How To Reach Chitradurga Fort By Train In Hindi

चित्रदुर्ग किला रेल मार्ग से कैसे पहुंचे

चित्रदुर्ग किला घूमने जाने के लिए यदि आपने रेल मार्ग का चुवाव किया हैं तो हम आपको बता दे कि चित्रदुर्ग का सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन है चिकज्जुर जंक्शन है। जहाँ से आप किसी स्थानीय साधन के माध्यम से चित्रदुर्ग किले तक आसानी से पहुँच सकते है।

13.3 चित्रदुर्ग किला सड़क मार्ग से कैसे पहुंचे – How To Reach Chitradurga Fort By Road In Hindi

चित्रदुर्ग किला सड़क मार्ग से कैसे पहुंचे

चित्रदुर्ग किले की यात्रा के लिए यदि आपने सड़क मार्ग का चुवा किया हैं तो हम आपकी बता दें कि चित्रदुर्ग बैंगलोर-पुणे राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित है और इस मार्ग पर चलने वाली केएसआरटीसी (KSRTC) बसों के माध्यम से आप अपनी यात्रा कर सकते है। हालाकि आप अपने निजी साधन का उपयोग भी अपनी यात्रा के लिए कर सकते हैं।

और पढ़े: भानगढ़ किले का रहस्य और खास बाते 

14. चित्रदुर्ग किला कर्नाटक का नक्शा – Chitradurga Fort Karnataka Map

15. चित्रदुर्ग किले की फोटो गैलरी – Chitradurga Fort Images

और पढ़े:

Leave a Comment