दिल्ली की मशहूर कालकाजी मंदिर के दर्शन की पूरी जानकारी – Kalkaji Temple In Hindi

Kalkaji Temple In Hindi, कालकाजी मंदिर भारत की राजधानी दिल्ली में स्थित एक लोकप्रिय और अत्यधिक प्रतिष्ठित मंदिर है। आपको बता दें कि यह मंदिर कालकाजी नामक स्थान में स्थित है और इस स्थान का नाम मंदिर के नाम पर पड़ा है। कालकाजी मंदिर कालका देवी को समर्पित है, जो देवी शक्ति या दुर्गा के अवतारों में से एक हैं। कालकाजी मंदिर को जयंती पीठ मनोकामना सिद्ध पीठ के नाम से भी जाना जाता है जिसका अर्थ होता है कि देवी भक्तों की मनोकामना को पूरा करती हैं। मंदिर में स्थित देवी कालका की मूर्ति स्वयंभू बताई जाती है।

आपको बता दें कि कालका जी मंदिर अरावली पर्वतमाला के सूर्यकूट पर्वत पर स्थित है। इसीलिए माँ कालका देवी को ‘सूर्यकूट निवासिनी’ कहते हैं, जो सूर्यकूट में निवास करती हैं। यह आकर्षक मंदिर एक 12-तरफा संरचना है, जिसका निर्माण पूरी तरह से संगमरमर और काले रंग के पमिस पत्थरों से किया गया है। काली रंग देवी काली का प्रतीक है, इसलिए मंदिर का निर्माण काले पत्थर से किया गया है। अगर आप दिल्ली के कालकाजी मंदिर के बारे में अन्य जानकारी चाहते हैं तो इस लेख को अवश्य पढ़ें, यहां हम आपको मंदिर के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहें हैं।

कालकाजी मंदिर का इतिहास – Kalkaji Temple History In Hindi

कालकाजी मंदिर का इतिहास - Kalkaji Temple History In Hindi
Image Credit : Love kush

कहा जाता है कि कालकाजी मंदिर पिछले 3,000 वर्षों से यहां पर मौजूद है और यह उत्पत्ति के बारे में कई पौराणिक कथाओं को बताता है। हालांकि, मंदिर का सबसे पुराने हिस्से का निर्माण 1764 में किया गया था। मंदिर कालका मंदिर का निर्माण 18 वीं शताब्दी के अंत में मराठा शासकों द्वारा किया गया था। माना जाता है कि यह मंदिर महाभारत के समय का है।

पौराणिक कथा के अनुसार, पांडवों और कौरवों ने युधिष्ठिर के शासनकाल के दौरान यहां कालका देवी की पूजा की थी। यह भी माना जाता है कि भगवान ब्रह्मा कहने पर देवताओं द्वारा की गई प्रार्थना और अनुष्ठानों से प्रसन्न होकर देवी कालकाजी इस पर्वत पर प्रकट हुईं, जिन्हें सूर्य कूट माता के रूप में जाना जाता है और उन्होंने अपने भक्तों को आशीर्वाद दिया। तभी से यह पर्वत देवी कालका का निवास स्थान है और कहा जाता है कि आज भी माता अपने भक्तों की मनोकमना पूरी करती हैं।

और पढ़े : गुरु तेग बहादुर स्मारक दिल्ली की पूरी जानकारी

कलकाजी मंदिर दिल्ली में मनाये जाने वाले उत्सव – Festival At Kalkaji Temple In Hindi

वैसे तो कालका माता के भक्त साल भर मंदिर में दर्शन करने के लिए आते हैं लेकिन धार्मिक अवसरों पर, कालका देवी मंदिर में आने वाले भक्तों की संख्या काफी ज्यादा बढ़ जाती है। धार्मिक अवसरों के दौरान भक्त माता के दर्शन करने और उनका आशीर्वाद लेने के लिए मंदिर की यात्रा करते हैं। ऐसा माना जाता है कि कालका देवी अपने सच्चे भक्तों की सभी कामनाओं को पूरा करती हैं। साल में दोनों नवरात्रियों के समय मंदिर में हजारों की संख्या में भक्त माता के दर्शन के लिए आते हैं। नौ दिनों की अवधि के लिए कालका मंदिर के आसपास के क्षेत्र में एक विशाल मेले का आयोजन किया जाता है।

कालका देवी मंदिर में विशेष अनुष्ठान और प्रार्थना – Special Rituals Inside Kalkaji Mandir Delhi In Hindi

कालका माता मंदिर रोजाना सुबह और शाम आरती (पूजा) से पहले दूध से दो बार कालका देवी की मूर्ति को स्नान करवाया जाता है। इसके बाद माता कि भजन गायन किया जाता है। भक्त मंदिर के प्रवेश द्वार से ठीक बाहर से प्रसाद खरीद सकते हैं। यह मंदिर के चारों ओर का वातावरण हवादार और रोशनी से भरा हुआ रहता है। भक्त वहां ध्यान करने की भी कोशिश करते हैं और शाम के समय यहां तांत्रिक आरती भी होती है।

और पढ़े : दिल्ली के बिरला मंदिर दर्शन की पूरी जानकारी

कालका देवी मंदिर पूजा और दर्शन का समय – Kalkaji Temple Pooja And Darshan Timing In Hindi

कालका देवी मंदिर पूजा और दर्शन का समय - Kalkaji Temple Pooja And Darshan Timing In Hindi
Image Credit : Lamindian
  • गर्मियों में सुबह की प्रार्थना का समय 05:00 से सुबह 6:30
  • सर्दियों में सुबह की प्रार्थना का समय 06:30 से 8:00
  • गर्मी के दिनों में शाम की प्रार्थना का समय 07:00 बजे से 8:30
  • सर्दियों में शाम की प्रार्थना का समय 06:30 से 8:00 बजे

कालका जी मंदिर की यात्रा के लिए सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Kalkaji Mandir In Hindi

कालका जी मंदिर की यात्रा के लिए सबसे अच्छा समय - Best Time To Visit Kalkaji Mandir In Hindi
Image Credit : Ganesh Jha

अगर आप कालका जी मंदिर की यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि यहां पर आप साल में किसी भी समय आ सकते हैं। नवरात्रों के त्यौहारों को श्री कालकाजी मंदिर जाने का सबसे अच्छा समय माना जाता है क्योंकि इस दौरान मंदिर में भक्तों बड़ी भीड़ आती है और मेले का आयोजन भी किया जाता है। हर शनिवार को मंदिर में तीर्थयात्रियों की भारी भीड़ होती है।

और पढ़े : इंडिया गेट दिल्ली घूमने की जानकारी 

श्री कालकाजी मंदिर के आसपास में घूमने की जगह – Best Places To Visit Near Sri Kalkaji Temple In Hindi

श्री कालकाजी मंदिर नेहरू प्लेस के पास स्थित है और इसके पास घूमने के लिए कई आकर्षक जगह है जहां आप अपनी यात्रा के दौरान जा सकते हैं। मंदिर प्रसिद्ध लोटस मंदिर और इस्कॉन मंदिर के करीब है। इसलिए आपको कालकाजी मंदिर की यात्रा के दौरान इन दोनों मंदिरों के दर्शन करने के लिए भी जाना चाहिए।

कालकाजी मंदिर कैसे पहुचे – How To Reach Kalkaji Mandir Delhi In Hindi

कालकाजी मंदिर कैसे पहुचे - How To Reach Kalkaji Mandir Delhi In Hindi

श्री कालकाजी मंदिर नेहरू प्लेस के पास स्थित है और यहां पर्यटक बड़ी आसानी से पहुंच सकते हैं। मंदिर का एक मेट्रो स्टेशन है जिसका अपना नाम कालकाजी मंदिर मेट्रो स्टेशन है जो अपने निकटतम स्टेशन का भी कार्य करता है। इस मेट्रो स्टेशन से मंदिर से केवल 180 मीटर पैदल दूरी पर है। कालकाजी मंदिर स्टेशन वायलेट लाइन और मैजेंटा लाइन मेट्रो दोनों पर स्थित है।

कालकाजी मंदिर का नक्शा – Kalkaji Mandir Delhi Map

कालकाजी मंदिर की फोटो गैलरी – Kalkaji Mandir Images

View this post on Instagram

Jai kalka maa 🙏❤ Maii Teri sada jai ho ❤🙏

A post shared by jai kalka maa (@jai_kalka_maaa) on

View this post on Instagram

Happy new year

A post shared by Prince Pandey (@prince_pandey_307) on

और पढ़े :

Featured Image Credit : Sunil

Leave a Comment