Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Bundi Tourism In Hindi, बूंदी पर्यटन भारत के राजस्थान राज्य के ऐतिहासिक स्थलों में से एक है। आपको बता दें कि यह राजस्थान का एक प्रमुख जिला है। प्राचीन समय में बूंदी के आसपास का क्षेत्र विभिन्न स्थानीय जनजातियों द्वारा बसा हुआ था। बूंदी राज्य का एक ऐसा स्थल है जो अपने कई शानदार महलों, राजसी किलों के लिए जाना जाता है। बूंदी का अपना ऐतिहासिक महत्व है। आपको बता दें कि यह क्षेत्र कई वीरता की लड़ाइयों और पौराणिक कथाओं का गवाह बना है।

बूंदी की सबसे खास बात यह है कि यह पर्यटन स्थल कई नदियों, झीलों और झरनों जैसे प्राकृतिक आकर्षणों से सजा हुआ है। इस क्षेत्र में पर्यटक वनस्पतियों और जीवों की एक विशाल विविधता को देख सकते हैं। बूंदी की सुरम्य वादियों बहुत सारे लेखकों और कलाकारों को प्रेरित किया है। अगर आप राजस्थान के बूंदी पर्यटन घूमने की योजना बना रहें हैं तो हमारा यह लेख आपके बेहद काम का है क्योंकि इसमें हम आपको बूंदी के पर्यटन स्थलों की जानकारी देने जा रहें हैं।

1. बूंदी का इतिहास – Bundi History In Hindi

बूंदी का इतिहास

बूंदी के इतिहास के बारे में बात करें तो बता दें कि यह ऐतिहासिक और सांस्कृतिक रूप से समृद्ध राज्य राजस्थान में कम आवृत्ति वाले स्थानों में से एक है। बूंदी का इतिहास 12 वीं शताब्दी के शुरुआती समय का है। यह शहर कभी राजस्थान की रियासतों की राजधानी हुआ करता था। शुरुआती समय बूंदी और इसके पास के क्षेत्रों में कुछ स्थानीय जनजातियों का निवास था। इन क्षेत्रों में पाई जाने वाली जनजातियों और कुलों में, मीना सबसे शक्तिशाली और प्रमुख माने जाते थे। ऐसा माना जाता है कि बूंदी का नाम भी मीना के सरदारों के प्रमुख के नाम पर ही पड़ा है।

हाडा राजपूत भी इस राजस्थान शहर के इतिहास से जुड़े हुए हैं। हाड़ा राजपूत वास्तव में चौहान वंश से संबंधित हैं। वे 12 वीं शताब्दी से शहर पर हावी थे और लंबे समय तक ऐसा करते रहे। जब 1193 मोहम्मद गोरी ने पृथ्वीराज चौहान को एक युद्ध में पराजित किया तो पृथ्वीराज चौहान के कुछ रईस चंबल घाटी में आस-पास के इलाकों में भाग गए। बाद में चंबल नहीं के किनारे दो राज्य बने कोटा और बूंदी। ब्रिटिश शासन के दौरान, बूंदी एक स्वतंत्र राज्य के रूप में अस्तित्व में था। 1947 के बाद, शहर को राजस्थान राज्य का हिस्सा बना दिया गया।

और पढ़े: पुष्कर के प्रमुख पर्यटन स्थल और घूमने की जानकारी 

2. बूंदी राजस्थान में घूमने लायक पर्यटन और आकर्षण स्थल – Best Tourist Places To Visit In Bundi Tourism In Hindi

अगर आप राजस्थान के बूंदी की यात्रा करें जा रहें हैं। तो यहां हम आपको बूंदी के कुछ पर्यटन स्थलों के बारे में बताने जा रहें हैं जहां की यात्रा आपको जरुर करना चाहिए।

2.1 बूंदी जिले में देखने लायक ऐतिहासिक स्थल तारागढ़ का किला – Bundi Me Dekhne Layak Aetihasik Sthal Taragarh Fort In Hindi

बूंदी जिले में देखने लायक ऐतिहासिक स्थल तारागढ़ का किला

तारागढ़ का किला वर्ष 1354 में निर्मित है जोभारत के उत्तरी राज्य राजस्थान के अजमेर शहर में सबसे प्रभावशाली संरचनाओं में से एक है। बता दें कि बूंदी राज्य की स्थापना इसी वर्ष राव देव द्वारा की गई थी, और दौरान इस विशाल किले का निर्माण भी किया गया था। तारागढ़ किले को स्टार फोर्ट के नाम से भी जाना जाता है।

यह किला एक खड़ी पहाड़ी पर स्थित है। अरावली पर्वतमाला के नाग पहाड़ी पर स्थित यह किला बूंदी शहर के मनोरम और मनमोहक दृश्य प्रस्तुत करता है। जो भी पर्यटक इस किले को देखता है तो इस विशेषताओं की सराहना करता है। जो आज भी राजपूत शासन की भव्यता को प्रदर्शित करती हैं। अगर आप बूंदी जिले की यात्रा करने के लिए जा रहें हैं तो इसको इस किले को देखने के लिए जरुर जाना चाहिए।

2.2 बूंदी के पर्यटन स्थल मोती महल – Bundi Ke Paryatan Sthal Moti Mahal In Hindi

बूंदी के पर्यटन स्थल मोती महल

मोती महल पैलेस बूंदी का एक ऐतिहासिक स्थल है जो अपनी सुंदरता के साथ पर्यटकों को बेहद आकर्षित करता है। नागल सागर झील के दृश्य के साथ पर्यटक अरावली पहाड़ियों के मनोरम दृश्य का आनंद भी ले सकते हैं। मोती महल का निर्माण महाराजा राजा भाओ सिंह जी ने वर्ष 1645 में करवाया था। 16 वीं और 17 वीं शताब्दी के बाद के वर्षों में इस किले को राव राजा चतरसाल और फिर राव राजा उम्मेद सिंह ने अपने अधिकार में ले लिया था। इन दोनों राजाओं द्वारा किले को और भी मजबूत किया गया। उन्होंने यहां स्टेप वेल्स का निर्माण भी किया गया और किले में कई संरचनाएं भी जोड़ी।

बाद में, 19 वीं सदी में इस किले पर अजीत सिंह ने कब्जा कर लिया। उन्होंने झील के किनारे एक सुंदर उद्यान और किले के पास एक विशाल शिव मंदिर का निर्माण किया। अगर आप बूंदी की यात्रा करने की योजना बना रहें हैं तो मोती महल को अपनी सूची में अवश्य शामिल करें।

2.3 बूंदी में देखने लायक जगह बादल महल – Bundi Mein Dekhne Layak Jagha Badal Mahal In Hindi

बूंदी में देखने लायक जगह बादल महल

बादल महल बूंदी में स्थित तारागढ़ किले के परिसर में स्थित है। आपको बता दें कि इस आकर्षक महल की दीवारें उत्कृष्ट चित्रों से सजी हुई हैं। आपको बता दें कि यहां बनी पेंटिंग्स सच में देखने लायक है जो चीनी संस्कृति के प्रभाव को दर्शाते हैं।

2.4 बूंदी के आकर्षण स्थल गढ़ पैलेस – Bundi Ke Aakarshan Sthal Garh Palace In Hindi

बूंदी के आकर्षण स्थल गढ़ पैलेस

गढ़ पैलेस महल में कई राजमहल हैं, जो केंद्रीय राजसी निवास को घेरते हैं। शहर के विभिन्न शासकों ने इन छोटे महलों का निर्माण किया। आपको बता दें कि इन महल में कई किस्से और कहानियां जुड़ी हुई हैं। अपनी बूंदी यात्रा के दौरान आपको गढ़ पैलेस देखने के लिए अवश्य जाना चाहिए।

और पढ़े: भीलवाड़ा घूमने की जानकारी और प्रमुख पर्यटक स्थल

2.5 बूंदी जिले के पर्यटन स्थल हाथी पोल – Bundi Ke Paryatan Sthal Hathi Pol In Hindi

बूंदी जिले के पर्यटन स्थल हाथी पोल

हाथी पोल बूंदी के गढ़ पैलेस में एक प्रवेश द्वार है। अगर आप यहां की यात्रा करते हैं तो महल में खड़ी चढ़ाई के अंत में दो विशाल द्वार देख सकते हैं। इस विशाल द्वार को हाथी पोल कहते हैं। हाथी पोल में दो तुरही वाले हाथी होते हैं जो एक चाप बनाते हैं। हाथी पोल का निर्माण राव रतन सिंह द्वारा किया गया था।

2.6 बूंदी के दर्शनीय स्थल सुख महल – Bundi Ke Darshaniya Sthal Sukh Mahal In Hindi

बूंदी के दर्शनीय स्थल सुख महल

सुख महल बूंदी का प्रमुख दर्शनीय स्थल है जो जैतसिंह झील के बीच स्थित है। आपको बता दें कि इस महल का निर्माण उम्मेदसिंह के शासन के दौरान किया गया है। ऐसा कहा जाता है कि ओल्ड पैलेस और सुख महल एक भूमिगत सुरंग के माध्यम से जुड़े हुए हैं। सुख महल का मुख्य आकर्षण एक सफेद संगमरमर की छतरी है। यह आकर्षक छतरी सुख महल की दूसरी मंजिल की छत पर है। सुख महल के निर्माण का उस समय के राजकुमारों के लिए उनकी नापाक गतिविधियों से स्वतंत्र होने का प्रावधान करना था।

2.7 बूंदी शहर में देखने लायक जगह चौरासी खंभों की छत्री – Bundi Me Dekhne Layak Jagha Chaurasi Khambon Ki Chhatri In Hindi

बूंदी शहर में देखने लायक जगह चौरासी खंभों की छत्री

चौरासी खंभों की छत्री बूंदी का एक ऐतिहासिक स्थल है जो इतिहास में रूचि रखने वाले लोगों के आदर्श जगह है। आपको बता दें कि यह एक बरामदा है जो 84 खंभों के सपोर्ट पर स्थित है। इस बरामदा का निर्माण देवसेना की सेवाओं का सम्मान करने के लिए राव अनिरुद्ध सिंह द्वारा 1683 में किया गया था, जो एक नर्स थी। आपको बता दें कि यह दो मंजिला एक स्मारक है जो पूजा स्थल के रूप में भी काम करता है।

2.8 बूंदी के पर्यटन स्थल भूराजी-का-कुंड – Bundi Ke Paryatan Sthal Bhoraji-Ka-Kund In Hindi

बूंदी के पर्यटन स्थल भूराजी-का-कुंड

भूराजी-का-कुंड बूंदी की एक ऐसी जगह है जो आपको अपने यात्रा के दौरान देखने के लिए जरुर जाना चहिये। भूराजी-का-कुंड देखने में बेहद सुंदर है जो 16 वीं शताब्दी में निर्मित है। आपको बता दें कि भूराजी-का-कुंड जैसे जल निकायों का निर्माण बूंदी के सूखे प्रभावित क्षेत्रों के लिए पानी के स्रोत के रूप में किया गया था।

और पढ़े: सिटी पैलेस जयपुर के बारे में जानकारी 

2.9 बूंदी में घूमने की अच्छी जगह नवल सागर झील – Bundi Me Ghumne Ki Achi Jagah Nawal Sagar Lake In Hindi

बूंदी में घूमने की अच्छी जगह नवल सागर झील

नवल सागर झील एक विशाल मानव निर्मित झील है जिसे तालगढ़ किले से देखा जा सकता है। आपको बता दें कि इस झील में कुछ छोटे द्वीप भी हैं। यह झील शहर के बीच में स्थित है इसलिए कोई भी इस झील में शहर का प्रतिबिंब देख सकता है। पूरे बूंदी शहर की दर्पण इमेज जब झील के निर्मल जल पर पड़ती है तो यह पर्यटकों को बेहद आकर्षक करती है। बूंदी की यात्रा करने वाले पर्यटकों के लिए नवल सागर झील एक प्रमुख पर्यटन स्थल है।

2.10 बूंदी के आकर्षक स्थल फूल महल – Bundi Ke Aakarshak Sthal Phool Mahal In Hindi

फूल महल एक विशाल किला है जो एक झील के किनारे स्थित है जिसे फूल सागर झील कहा जाता है। आपको बता दें कि यह फूल महल का निर्मान वर्ष 1945 में महाराजा बहादुर सिंह द्वारा शुरू किया गया था। अगर आप बूंदी की यात्रा करने जा रहें हैं तो फूल महल की यात्रा करने के लिए अवश्य जाएं।

2.11 बूंदी के दर्शनीय स्थल शिक बुर्ज – Bundi Ke Darshaniya Sthal Shikar Burj In Hindi

बूंदी के दर्शनीय स्थल शिक बुर्ज -

Image Credit: Suresh Kumar Parashar

शिक बुर्ज बूंदी शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है जो सुख महल से थोड़ी दूरी पर स्थित है। शिक बुर्ज वास्तव में बूंदी के शासकों के स्वामित्व वाली एक पुरानी शिकार की जगह है। यह हंटिंग लॉज बूंदी शहर में घने जंगलों में स्थित है।

2.12 बूंदी जिले के पर्यटन स्थल रानीजी की बोरी – Bundi Ke Paryatan Sthal Raniji Ki Baori Step Wells In Hindi

बूंदी जिले के पर्यटन स्थल रानीजी की बोरी

स्टेप वेल्स बूंदी शहर की एक ट्रेडमार्क विशेषता हैं। स्टेप वेल्स का निर्माण अकाल ग्रस्त शहर को पानी उपलब्ध कराने के साधन के रूप में किया गया था। स्टेप वेल्स को स्थानीय बोली में बाउरी, वाव, कुंड या सागर भी कहा जाता है। ये स्टेप वेल्स विभिन्न आकृतियों के हैं और इनका इस्तेमाल पानी को इकट्ठा करने के लिए किया जाता है। आपको बता दें कि बूंदी में कुल 50 पुराने कुएँ और टैंक हैं।

और पढ़े: चित्तौड़गढ़ जिला के आकर्षण स्थल और घूमने की जानकारी 

3.बूंदी में खाने के लिए स्थानीय भोजन – Famous Local Food In Bundi Tourism In Hindi

बूंदी में खाने के लिए स्थानीय भोजन

बूंदी क्षेत्र की प्रकृति और इसके युद्धों के इतिहास का राजस्थान के व्यंजनों पर बहुत अधिक प्रभाव पड़ा है। प्रभाव के कारण यहां का भोजन शाकाहारी है। पानी की कमी की वजह से यहां के व्यंजन में दूध का इस्तेमाल किया जाता है। जिसकी वजह से यहां के व्यंजन दुनिया के अन्य हिस्सों में भी काफी लोकप्रिय हैं। यह व्यंजन पारंपरिक रूप से एक थाली में परोसा जाता है, जो एक ही बार में परोसे गए कई व्यंजनों के साथ एक बड़ी प्लेट होती है। दाल बाटी चूरमा, गट्टे की सब्जी, लला मास और केसरिया मुर्ग यहां का प्रसिद्ध भोजन है जिसका स्वाद आपको अवश्य लेना चाहिए।

4. बूंदी शहर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Bundi Tourism In Hindi

बूंदी शहर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

बूंदी का मौसम राजस्थान के बाकी हिस्सों के जैसा ही है। इस क्षेत्र में ग्रीष्मकाल के समय बेहद शुष्क और गर्म होता है। यहां दिन के दौरान अधिकतम तापमान 35 से 43 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है। यहां के दिन गर्म हवाओं के साथ बेहद शुष्क होते है। जैसे-जैसे यह रात के समय के करीब आता है, तापमान धीरे-धीरे कम होने लगता है, जिससे यह थोड़ा ठंडा हो जाता है। सर्दियों के दौरान यहां मौसम बेहद ठंडा हो जाता है जिससे रात के समय तापमान 5 डिग्री सेल्सियस नीचे चला जाता है। बूंदी की यात्रा करने के लिए सबसे अच्छा समय सर्दियों का होता है क्योंकि इस मौसम में पर्यटन स्थलों की यात्रा करने में बेहद आनंद आता है। बूंदी में बारिश जुलाई के महीनों तक सितंबर के मध्य तक ही रहती है। यहां के मानसून दिनों को बेहद नम बनाते हैं, जिससे आर्द्रता का स्तर 90% तक पहुंच जाता है। अगर मौसम को ध्यान में रखें तो बूंदी की यात्रा का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च तक है। इस दौरान जलवायु की स्थिति शांत और आनंदमय रहती है।

और पढ़े: टोंक जिले में घूमने लायक पर्यटन स्थल की पूरी जानकारी

5. बूंदी कैसे जाये – How To Reach Bundi Rajasthan In Hindi

बूंदी सड़कों द्वारा भारत से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। बूंदी शहर के लिए नियमित बस सेवाएं उपलब्ध हैं जो निजी और सरकारी मालिकों दोनों के द्वारा संचालित की जाती हैं। बूंदी में अपना कोई हवाई अड्डा नहीं है, यहां का निकटतम हवाई अड्डा 210 किमी दूर जयपुर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है। यह हवाई अड्डा बूंदी शहर को भारत से प्रमुख शहरों से जोड़ता है। बूंदी के लिए निकटतम रेलवे स्टेशन बूंदी से 40 किमी दूर कोटा में है।

5.1 फ्लाइट से बूंदी कैसे पहुंचे – How To Reach Bundi By Flight In Hindi

फ्लाइट से बूंदी कैसे पहुंचे

अगर आप हवाई मार्ग से बूंदी की यात्रा करना चाहते हैं, तो बता दें कि इसका निकटतम हवाई अड्डा जयपुर हवाई अड्डा है, जो लगभग 150 किमी की दूरी पर है। आप बूंदी तक टैक्सी या कैब की मदद से बूंदी पहुँच सकते हैं।

5.2 बूंदी सड़क मार्ग से कैसे पहुंचें – How To Reach Bundi By Road In Hindi

बूंदी सड़क मार्ग से कैसे पहुंचें

जो भी पर्यटक राजस्थान राज्य की यात्रा करने जा रहें हैं और बूंदी की यात्रा सड़क मार्ग द्वारा करना चाहते हैं। तो बता दें कि यह शहर राज्य के कई शहरों जैसे जयपुर, अजमेर, कोटा के अलावा देश के अन्य राज्य उत्तर प्रदेश, दिल्ली से भी सडक मार्ग जुड़ा हुआ है। जयपुर और बूंदी के बीच की दूरी 206 किमी है।

5.3 कैसे पहुंचे बूंदी ट्रेन से – How To Reach Bundi By Train In Hindi

कैसे पहुंचे बूंदी ट्रेन से

अगर आप बूंदी की यात्रा ट्रेन द्वारा करना चाहते हैं तो बता दें कि निकटतम रेलवे स्टेशन कोटा में है, जो बूंदी से 35 किमी दूर है। स्टेशन के बाहर से आप टैक्सी या कैब की मदद से बूंदी आसानी से पहुँच सकते हैं। कोटा से बूंदी तक टैक्सी से यात्रा करने के लिए आपको लगभग 500 रूपये किराया देना होगा।

और पढ़े: करौली जिले का इतिहास और आकर्षण स्थल की जानकारी 

6. बूंदी राजस्थान का नक्शा – Bundi Rajasthan Map

7. बूंदी की फोटो गैलरी – Bundi Images

View this post on Instagram

Raniji ki Baori Bundi Rajasthan

A post shared by Mahendra Verma (@mahendra.verma.7545) on

View this post on Instagram

?✈ @coupleonbike • • • ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~ Tag @NomadicLadkiya and use #BanjaraLadki to get featured ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~ Who needs to be behind the closed doors to welcome the New Year? This is definitely not what we love to do. Instead, we wanted to welcome the year 2018 with our arms wide open whilst feeling the wind in hair, enjoying beautiful vistas, breathing fresh air. •••••••••••••••••••••••••••••••••• So, we planned a short sweet ride to Bundi where we stayed @amourcasa which was arranged by @stayonskill . This is the first image which we clicked on our New Year’s bike ride. More coming up soon. Stay tuned! • • • • #coupleonbike #couplestravel #travelblogger #travelcouple #bike #ride #rideout #bikelife #traveltheworld #beautifulplaces #travelblog #travelpics #igtravel #traveladdict #travelogger #mytravelgram #EatTravelLiveRepeat #instatravel #bundi #rajasthan #rajasthan #rajasthandiaries #rajasthantrip #rajasthantourism #lakes #forts #heritage #trellingjaipur

A post shared by बंजारा लड़की Travel Inspiration (@meinbanjaran) on

और पढ़े:

Write A Comment