भारत के 10 प्रमुख ऐतिहासिक स्थलों की जानकारी – 10 Historical Monuments In India In Hindi

10 Historical Monuments In India In Hindi, भारत संस्कृति, परंपराओं, विरासत इमारतों, मंदिरों, किलों और महलों से समृद्ध देश है। जिसकी ऐतिहासिक और सांस्कृतिक महत्व को ऊंचाईयों तक ले जाने का श्रेय देश की ऐतिहासिक, पारंपरिक और भव्य विरासत को जाता हैं। जिसमे भारत देश की प्राचीन और आश्चर्यजनक शिल्प कौशल का परिचय देती हुई कई प्रसिद्ध भारतीय स्मारकों में जैसे – गोवा के पुराने चर्च, ताजमहल, दिल्ली का कुतुब मीनार, चारमीनार, शामिल हैं,जो देश का प्रतिनिधित्व कर रहे है। भारत वर्ष इतिहास की बेजोड़ किस्सों-कहानियों से भरा हुआ देश हैं। यदि हम भारत वर्ष के इतिहास पर प्रकाश डालते है, तो पाएंगे की देश का इतिहास और प्राचीन साम्राज्य कई राजा और महाराजो के द्वारा निर्मित की गई विशाल कलाकृतियों और रचनाओ की देन हैं। जो प्रत्येक बर्ष कई हजारों पर्यटकों और इतिहास प्रेमियों को अपनी और आकर्षित करती है।

आज यहाँ हम आपको अपने लेख में भारत के 10 प्रमुख ऐतिहासिक स्थलों के बारे में अवगत कराने जा रहे हैं, तो भारत के 10 प्रमुख और लोकप्रिय ऐतिहासिक स्थलों के बारे में जानने के लिए हमारे लेख को पूरा अवश्य पढ़े।

ताज महल आगरा – Taaj Mahal Aagra In Hindi

ताज महल आगरा – Taaj Mahal Aagra In Hindi

प्रेम के प्रतीक के रूप में विश्वविख्यात ताज महल आगरा शहर में,  यमुना नदी के तट पर स्तिथ एक सफेद संगमरमर का मकबरा (Marble Mausoleum) है, जिसे दुनिया के सात अजूबों में शामिल किया गया है। ताजमहल का निर्माण 1632 में मुगल सम्राट शाहजहां द्वारा अपनी पसंदीदा पत्नी मुमताज की मौत के बाद उनकी याद में करबाया था। जो प्रत्येक बर्ष कई हजारों पर्यटकों और प्रेमियों को अपनी और आकर्षित करता है। और आपको बता दे ताजमहल में शाहजहां की कब्र भी मौजूद है जिसे शाहजहां की मृत्यु के बाद मुमताज के मकबरे के साथ ही बनाया गया था। मकबरा 17-हेक्टेयर (42 एकड़) परिसर के क्षेत्र में फैला है, जिसमें एक मस्जिद और एक गेस्ट हाउस शामिल है।

और पढ़े : ताजमहल का इतिहास और रोचाक जानकारी

मैसूर पैलेस कर्नाटक Mysore Palace Karnataka In Hindiमैसूर पैलेस कर्नाटक – Mysore Palace Karnataka In Hindi

मैसूर पैलेस भारत के कर्नाटक राज्य में मैसूर शहर में स्थित एक प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्मारक है। जो चामुंडी हिल्स के साथ शहर में सबसे प्रसिद्ध पर्यटक आकर्षणों में से एक है मैसूर के इस किले को अंबा विलास पैलेस के नाम से भी जाना जाता है। मैसूर पैलेस शाही परिवार का महल रहा है और आज भी इस महल पर उन्ही का अधिकार है।

और पढ़े : मैसूर पैलेस घूमने की जानकारी और प्रमुख पर्यटन स्थल 

बृहदेश्वर मंदिर तंजावुर –  Brihadeeswarar Temple Thanjavur In Hindiबृहदेश्वर मंदिर तंजावुर -  Brihadeeswarar Temple Thanjavur In Hindi

बृहदेश्वर मंदिर तमिलनाडु के तंजावुर (तंजोर) में स्थित एक प्राचीन मंदिर है, जिसका निर्माण राजा राजा चोल द्वारा 1010 ईस्वी में करवाया गया था। बृहदेश्वर मंदिर भगवान शिव को समर्पित एक प्रमुख मंदिर है जिसमें उनकी नृत्य की मुद्रा में मूर्ति स्थित है जिसको नटराज कहा जाता है। मंदिर को राजेश्वर मंदिर, राजराजेश्वरम और पेरिया कोविल के नाम से भी जाना जाता है। एक हजार साल पुराना यह मंदिर यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों की सूचि में शामिल है, और अपने असाधारण ऐतिहासिक और सांस्कृतिक मूल्यों की वजह से काफी प्रसिद्ध है। और आपको जानकर हैरानी होगी कि इस मंदिर को बनाने के लिए 130,000 टन से अधिक ग्रेनाइट का उपयोग किया गया था। जो दक्षिण भारतीय राजाओं की स्थापत्य कौशल और आत्मीयता को दर्शाता है।

और पढ़े : बृहदेश्वर मंदिर तंजावुर के दर्शन की पूरी जानकारी

लोटस टेम्पल दिल्ली – Lotus Temple Delhi In Hindiलोटस टेम्पल दिल्ली – Lotus Temple Delhi In Hindi

भारत की राजधानी दिल्ली में घूमने के लिए यूं तो बहुत सी जगहें हैं, लेकिन लोटस टेम्पल दिल्ली के प्रमुख आकर्षणों और भारत के प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्थलों में से एक है। लोटस टेंपल (कमल मंदिर) दिल्ली के नेहरू नगर में बहापुर गांव में स्थित एक बहाई उपासना मंदिर है, जहां न कोई भगवान की मूर्ति है और न ही किसी तरह की भगवान की पूजा अराधना की जाती है, यहां लोग आते हैं तो बस मन की शांति पाने। इस मंदिर का आकार कमल के समान होने से इसे लोटस टेंपल नाम दिया गया है। कई जगह इसे 20वीं शताब्दी के ताजमहल के रूप में भी पहचाना जाता है।

2001 की सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार लोटस टेंपल दुनिया में सबसे ज्यादा इमारत के रूप में देखा जाने वाला पयर्टन स्थल है। दुनिया के 7 बहाई मंदिरों में से लोटस टेंपल को अंतिम मंदिर माना जाता है।

और पढ़े : दिल्ली के लोटस टेंपल घूमने की जानकरी

हवा महल जयपुर  – Hawa Mahal Jaipur In Hindi

हवा महल जयपुर  – Hawa Mahal Jaipur In Hindi

जयपुर के गुलाबी शहर में बाडी चौपड़ पर स्थित हवा महल राजपूतों की शाही विरासत, वास्तकुला और संस्कृति के अद्भुत मिश्रण का प्रतीक है। हवा महल राज्स्थान के सबसे प्राचीन इमारतों में से एक माना जाता है। बड़ी ही खूबसूरती के साथ बनाया गया हवा महल जयपुर के सबसे प्रसिद्ध पर्यटक आकर्षणों में से एक है। कई झरोखे और खिडकियां होने के कारण हवा महल को “पैलेस ऑफ विंड्स” भी कहा जाता है। भगवान श्रीकृष्ण के मुकुट जैसी इस पांच मंजिला इमारत में 953 झरोखें हैं, जो मधुमक्खियों के छत्ते से मिलते जुलते हैं, जो राजपूतों की समृद्ध विरासत का अहसास कराते हैं। लाल और गुलाबी बलुआ पत्थरों से बना हवा महल सिटी पैलेस के किनारे बना हुआ है। हवा महल की खास बात यह है कि यह दुनिया में किसी भी नींव के बिना बनी सबसे ऊंची इमारत है। वर्तमान समय में हवा महल देश-विदेश से आए पयर्टकों के घूमने के लिए शानदार स्थलों में से एक है।

और पढ़े : हवा महल की जानकारी और इतिहास 

हरमंदिर साहिब अमृतसर – Harmandir Sahib Amritsar In Hindiहरमंदिर साहिब अमृतसर – Harmandir Sahib Amritsar In Hindi

अमृतसर में स्थित हरमंदिर साहिब भारत में सबसे पवित्र और ऐतिहासिक स्थानों में से एक है। जिसे स्वर्ण मंदिर के नाम से भी जाना जाता है, आपको बता दे इस मंदिर का ऊपरी माला 400 किलो सोने से निर्मित है, इसलिए इस मंदिर को स्वर्ण मंदिर नाम दिया गया। हरमंदिर साहिब अमृतसर, पंजाब में स्थित एक सिख गुरुद्वारा है जिसके अन्दर एक पवित्र ग्रन्थ मौजूद है। कहने को तो ये सिखों का गुरुद्वारा है, लेकिन मंदिर शब्द का जुडऩा इसी बात का प्रतीक है कि भारत में हर धर्म को एकसमान माना गया है। यही वजह है कि यहां सिखों के अलावा हर साल विभिन्न धर्मों के श्रद्धालु भी आते हैं, जो स्वर्ण मंदिर और सिख धर्म के प्रति अटूट आस्था रखते हैं। इस मंदिर के चारों ओर बने दरवाजे सभी धर्म के लोगों को यहां आने के लिए आमंत्रित करते हैं।

और पढ़े : स्वर्ण मंदिर अमृतसर का इतिहास और अन्य जानकारी 

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई- Chhatrapati Shivaji Terminus Mumbai In Hindiछत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई- Chhatrapati Shivaji Terminus Mumbai In Hindi

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस या विक्टोरिया टर्मिनस एक ऐतिहासिक रेलवे स्टेशन है, जो सपनों के शहर महाराष्ट्र के मुंबई शहर में स्थित है। छत्रपति शिवाजी टर्मिनस देश के सबसे प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्थलों में से एक है। और इसका निर्माण वर्ष 1878 में शुरू हुआ और 1887 में पूर्ण हुआ। आपको बता दे विक्टोरिया टर्मिनस भारत के सबसे व्यस्त रेलवे स्टेशन और मध्य रेलवे के मुख्यालय में से एक है। मुंबई शहर का यह रेल्वे स्टेशन अद्भुत संरचना और छत्रपति शिवाजी टर्मिनस वास्तु शैलियां गोथिक कला का एक आदर्श उदाहरण प्रस्तुत करता है। वर्ष 1997 में छत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई को यूनेस्को के तहत विश्व विरासत स्थल में शामिल कर लिया गया था।

और पढ़े : छत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई और इसके प्रमुख पर्यटन स्थल

विक्टोरिया मेमोरियल कोलकाताThe Victoria Memorial kolkata In Hindi

विक्टोरिया मेमोरियल कोलकाता- The Victoria Memorial kolkata In Hindiपश्चिम बंगाल के प्रमुख शहर कोलकाता में स्थित विक्टोरिया मेमोरियल भारत के प्रसिद्ध ऐतिहासिक और पर्यटक स्थलों में से एक है। सफ़ेद मार्बल से निर्मित इस खूबसूरत इमारत का निर्माण रानी विक्टोरिया की स्मृति में, भारत पर उनके 25 वर्षों के शासन का जश्न मनाने के लिए किया गया था। विक्टोरिया मेमोरियल स्मारक न केवल भारत में ब्रिटिश शासन की गवाही देता है, बल्कि इंडो-सारासेनिक रिवाइवलिस्ट शैली में परिष्कृत और उत्कृष्ट वास्तुकला के उदाहरण के रूप में विख्यात है। जो कोलकता के प्रमुख पर्यटक स्थलों में से एक है, और प्रत्येक बर्ष कई हजारों भारतीय और विदेशी पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बिंदु बना हुआ है।

और पढ़े : विक्टोरिया मेमोरियल कोलकाता घूमने की पूरी जानकारी

क़ुतुब मीनार दिल्ली- Qutub Minar Delhi In Hindi

क़ुतुब मीनार दिल्ली- Qutub Minar Delhi In Hindi

कुतुब मीनार भारत में दिल्ली शहर के महरौली में ईंट से बनी, विश्व की सबसे ऊँची मीनार और प्रमुख ऐतिहासिक स्थल है। दिल्ली को भारत का दिल कहा जाता है, यहाँ पर कई प्राचीन इमारते और धरोहर जैसे -इल्तुतमिश का मकबरा, दिल्ली का लौह स्तंभ और अलाई मीनार स्थित है। इन पुरानी और खास इमारतों में से एक इमारत क़ुतुब मीनार, जो भारत और विश्व की सबसे ऊँची मीनारों में से एक है, जिसकी ऊंचाई 72.5 मीटर है। मोहाली की फतह बुर्ज के बाद भारत की सबसे बड़ी मीनार में क़ुतुब मीनार का नाम आता है।क़ुतुब मीनार भारत के सबसे खास और प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों में से एक है। यह इमारत हिंदू-मुग़ल इतिहास का एक बहुत खास हिस्सा है। जिसे यूनेस्को द्वारा भारत के सबसे पुराने वैश्विक धरोहरों की सूचि में भी शामिल किया गया है।

और पढ़े : क़ुतुब मीनार घूमने की पूरी जानकारी

साँची स्तूप साँची – Sanchi Stupa Sanchi In Hindi

साँची स्तूप साँची - Sanchi Stupa Sanchi In Hindi
Image credit : Rahul_Shende

मध्य प्रदेश राज्य की राजधानी भोपाल से 46 कि.मी. की दूरी पर स्थित साँची स्तूप भारत के प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्थलों में से एक है। साँची स्तूप को मौर्य राजवंश के सम्राट अशोक की आज्ञानुसार तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व में स्थापित किया गया था। साँची स्तूप रायसेन जिले के साँची शहर में बेतबा नदी के किनारे पर स्थित है, जो मध्यप्रदेश पर्यटन का मुख्य केंद्र बिंदु माना जाता है, जो अपनी आकर्षित कला कृतियों के लिए विश्व विख्यात है। यूनेस्को द्वारा साँची स्तूप को 15 अक्टूबर 1982 को विश्व धरोहर स्थल में शामिल किया गया था। सांची नगर एक पहाड़ी के ऊपर बसा हुआ है और हरे-भरे बागानों से घिरा हुआ है। जिससे यहा आने वाले पर्यटकों को शांति और आनंद का एहसास होता है और पर्यटक इस स्थान की और आकर्षित होते है। इस स्थान पर मौजूद मूर्तियों और स्मारकों में आपको बौद्ध कला और वास्तु कला की अच्छी झलक देखने को मिलती है। और आपको बता दे इस स्थान पर भगवान बुद्ध के अवशेषों को भी रखा गया है। 

और पढ़े :

Leave a Comment