Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Chhatrapati Shivaji Terminus In Hindi, छत्रपति शिवाजी टर्मिनस या विक्टोरिया टर्मिनस के नाम से मशहूर यह आधुनिक पुरातन रेलवे स्टेशन भारत के महाराष्ट्र राज्य की राजधानी मुंबई में स्थित हैं। छत्रपति शिवाजी टर्मिनस को ज्यादातर सी एस टी या वी टी के नाम से भी जाना जाता हैं। मुंबई शहर का यह रेल्वे स्टेशन अद्भुत संरचना और भारत में छत्रपति शिवाजी टर्मिनस वास्तु शैलियां गोथिक कला का एक आदर्श उदाहरण प्रस्तुत करता है। छत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई की संरचना का निर्माण वर्ष 1878 किया गया था और वर्ष 1887 में इसका निर्माण किया गया। वर्ष 1997 में छत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई को यूनेस्को के तहत विश्व विरासत स्थल में शामिल कर लिया गया था। यह स्टेशन मेट्रो सिटी और स्थानीय लोगों की भीडभाड को यथास्थान तक पहुचाने के लिए हमेशा तैयार रहता हैं।

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस देश के सबसे प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्थलों में से एक है। छत्रपति शिवाजी टर्मिनस वर्तमान में मध्य रेलवे के मुख्यालय के रूप में कार्यरत हैं और देश के सभी हिस्सों से रेलवे लाइन के माध्यम से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। क्योंकि छत्रपति शिवाजी टर्मिनस लंबी दूरी के साथ-साथ छोटी-छोटी दूरी या कम्यूटर ट्रेनों के लिए एक व्यवस्थित स्टेशन के रूप में कार्य करता है। यदि छत्रपति शिवाजी टर्मिनस और इसके प्रमुख पर्यटन स्थलों के बारे में जानना चाहते हैं तो हमारे लेख को पूरा जरूर पढ़े।

1. छत्रपति शिवाजी टर्मिनस का इतिहास – Chhatrapati Shivaji Terminus History In Hindi

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस का इतिहास

छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (SCT) या विक्टोरिया टर्मिनस को वर्ष 1853 में एक रेलवे स्टेशन के रूप में तैयार किया गया था और इसे बोरी बंदर रेलवे स्टेशन के रूप में स्थापित किया गया था। वर्ष 1853 बोरी बन्दर से ठाणे तक चलने वाली पहली ट्रेन थी। सन 1878 में महारानी विक्टोरिया की स्वर्ण जयंती के अवसर पर इस रेलवे स्टेशन का टर्मिनस के रूप में पुनर्निर्माण करने का फैसला लिया गया हैं। वर्ष 1887 में इसे विक्टोरिया टर्मिनस के रूप में पहचान मिली। छत्रपति शिवाजी टर्मिनस को एक ब्रिटिश वास्तुकार एफ डब्ल्यू स्टीवंस द्वारा डिजाइन किया गया था। विक्टोरिया टर्मिनस के निर्माण में 10 वर्ष का समय लगा। वर्ष 1996 में इसका नाम बदलकर छत्रपति शिवाजी टर्मिनस रख दिया गया था।

और पढ़े: पुणे में घूमने की 10 सबसे अच्छी जगह 

2. छत्रपति शिवाजी टर्मिनस वास्तु शैलियां – Chhatrapati Shivaji Terminus Architecture In Hindi

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस वास्तु शैलियां

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस की वास्तुकला का मुख्य भाग विक्टोरियन गोथिक शैली की वास्तुकला है। छत्रपति शिवाजी टर्मिनस भारतीय वास्तुकला और विक्टोरियन इटालियन गॉथिक वास्तुकला का सुंदर उदहारण प्रस्तुत करता हैं। छत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई में जटिल नक्काशीदार ग्राउंड योजना और बुर्ज का आकर्षण अधभुत हैं। छत्रपति शिवाजी टर्मिनस की संरचना पर कुछ काम जमसेठजी जीजेभॉय स्कूल ऑफ आर्ट के विद्यार्थी द्वारा किया गया था। टर्मिनस की आंतरिक संरचना में कई विशाल कमरे बने हुए हैं और यह टर्मिनस अष्टकोणीय है। जोकि रिब्ड संरचना के रूप में दिखाई देता है इसके अलावा इसमें एक महिला के दाहिने हाथ में रखी मशाल और उसके बाएं में प्रवक्ता के साथ एक पहिया आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। बाहरी ओर कई खिड़कियां और मेहराब बने हुए हैं।

जैसे ही आप इसके प्रवेश द्वार पर पहुंचेंगे आपको एक शेर और एक बाघ की प्रतिमा दिखाई देगी जोकि क्रमशः ब्रिटेन और भारत का प्रतिनिधित्व करते हैं। इसके अलावा विटोरिया टर्मिनस पूरी संरचना सैंडस्टोन, चूना पत्थर और इतालवी संगमरमर से निर्मित की गई है। छत्रपति शिवाजी टर्मिनस की वास्तुकला इतनी आकर्षित हैं जोकि ज्यादातर लोगों को अपनी ओर खींचती है। रात में स्टेशन आकर्षित रोशनी से रोशन कर दिया जाता हैं और इसकी सुन्दरता देखते ही बनती हैं। इस स्थान पर बॉलीवुड की कुछ प्रचलित फिल्म स्लमडॉग मिलियनेयर के प्रसिद्ध गीत ‘जय हो’ और रा वन के कुछ सीन फिल्माए गए हैं।

3. मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस के आसपास में घूमने लायक प्रमुख पर्यटन और आकर्षण स्थल – Chhatrapati Shivaji Terminus Ke Darshaniya Sthal In Hindi

छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस के आसपास कई खूबसूरत टूरिस्ट प्लेस है जिनकी यात्रा करना पर्यटक बहुत अधिक पसंद करते हैं। यदि आप छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस की यात्रा पर हैं तो इसके प्रमुख दर्शनीय स्थलों की यात्रा भी जरूर करे, जिनकी जानकारी हम आपको नीचे देने जा रहे हैं।

3.1 जुहू बीच मुंबई – Juhu Beach In Hindi

जुहू बीच मुंबई

जुहू बीच मुंबई में सबसे लंबा समुद्र तट है और यकीनन पर्यटकों के बीच सबसे लोकप्रिय है। जुहू समुद्र स्वाद के साथ विभिन्न प्रकार के स्ट्रीट फूड के लिए प्रसिद्ध है। जुहू के आस-पास का इलाका मुंबई का एक पॉश इलाक़ा है, जहाँ बॉलीवुड और टीवी जगत की कई मशहूर हस्तियां मौजूद हैं। यहां सबसे प्रसिद्ध अमिताभ बच्चन का बंगला है। आप प्रतिष्ठित इस्कॉन मंदिर भी जा सकते हैं, जो समुद्र तट से मीटर की दूरी पर है। 90 के दशक के दौरान मुंबई के स्थानीय लोगों के साथ जुहू समुद्र तट एक बड़ा पसंदीदा स्थल था, लेकिन पर्यटकों की एक बड़ी संख्या के कारण यह बहुत गंदा हो गया था।

3.2 गेटवे ऑफ इंडिया मुंबई – Gateway Of India In Hindi

गेटवे ऑफ इंडिया मुंबई

गेटवे ऑफ़ इंडिया मुंबई के सबसे लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण केंद्रों में से एक है। यह अपोलो बंडेर वॉटरफ्रंट में स्थित है। मुंबई के सबसे प्रतिष्ठित स्मारकों में से एक गेटवे ऑफ़ इंडिया 1924 में प्रसिद्ध वास्तुकार जॉर्ज विटेट द्वारा किंग जॉर्ज पंचम और क्वीन मैरी की मुंबई यात्रा के स्मरणोत्सव के रूप में बनाया गया था। स्मारक की भव्य संरचना भारतीय, अरबी और पश्चिमी वास्तुकला का एक सुंदर संगम है और शहर में एक लोकप्रिय पर्यटन केंद्र बन गया है।’मुंबई का ताजमहल’, नाम से प्रसिद्ध गेटवे ऑफ इंडिया की नींव 1911 में रखी गई थी और 1924 में 13 साल बाद इसका उद्घाटन किया गया था। स्वामी विवेकानंद और छत्रपति शिवाजी की मूर्तियां हैं जो गेटवे के पास ही स्थापित की गई हैं।

और पढ़े: गेटवे ऑफ इंडिया के बारे में संपूर्ण जानकारी 

3.3 मरीन ड्राइव मुंबई – Marine Drive Mumbai In Hindi

मरीन ड्राइव मुंबई

मरीन ड्राइव दक्षिण मुंबई तट के साथ नरीमन पॉइंट के दक्षिणी छोर से शुरू होता है और प्रसिद्ध चौपाटी समुद्र तट पर समाप्त होता है। तट अरब सागर को पार करता है और मुंबई में सूर्यास्त देखने के लिए सबसे अच्छी जगह है। मरीन ड्राइव को “रानी के हार” के रूप में भी जाना जाता है। लोग शाम को यहां पर शानदार सनसेट का अनुभव करने के लिए घूमने आते हैं। मुंबई के भागदौड़ वाले जीवन में मरीन ड्राइव शांत और शांति की भावना पैदा करता है। मरीन ड्राइव मुंबई के मॉनसून को और अधिक विशेष बनाता है क्योंकि बारिश के दौरान वहां से दृश्य शानदार होता है।

3.4 एलीफेंटा की गुफाएं – Elephanta Caves In Hindi

एलीफेंटा की गुफाएं

एलीफेंटा गुफाएं मुंबई शहर से लगभग 11 किलोमीटर की दूरी पर घारपुरी द्वीप पर स्थित हैं। एलीफेंटा की गुफाओं को यूनेस्को विश्व धरोहर स्थलों की सूची में वर्ष 1987 में शामिल किया जा चुका हैं। यह आकर्षित और दर्शनीय एलीफेंटा गुफाएँ मध्ययुगीन काल से रॉक-कट कला और वास्तुकला का एक शानदार नमूना है। एलिफेंटा गुफा को मूल रूप से घारपुरिची लेनि के नाम से भी जाना जाता हैं। 5वीं से 7वीं शताब्दी के दौरान के इस गुफा मंदिर का अधिकांश भाग भगवान शंकर को समर्पित हैं। एलीफेंटा गुफा को दो समूह में बांटा गया हैं, जिसका पहला भाग हिन्दू धर्म से सम्बंधित 5 गुफाओं में बांटा गया जबकि दूसरा भाग बौध धर्म से सम्बंधित दो गुफाओं का एक समूह हैं।

और पढ़े: जाने क्यों है खास मुंबई की एलिफेंटा गुफा

3.5 सिद्धिविनायक मंदिर मुंबई – Siddhivinayak Temple In Hindi

सिद्धिविनायक मंदिर मुंबई

सिद्धिविनायक मंदिर एक श्रद्धालु मंदिर है जो भगवान गणेश को समर्पित है और मुंबई, महाराष्ट्र के प्रभादेवी में सबसे महत्वपूर्ण मंदिरों में से एक है। इस मंदिर का निर्माण वर्ष 1801 में लक्ष्मण विठू और देउबाई पाटिल ने करवाया था। इस दंपति की अपनी कोई संतान नहीं थी और उन्होंने सिद्धिविनायक मंदिर बनाने का फैसला किया ताकि अन्य बांझ महिलाओं की इच्छाओं को पूरा किया जा सके। यह मुंबई के सबसे अमीर मंदिरों में से एक है और श्रद्धालु इस मंदिर में रोजाना बड़ी संख्या में आते हैं। सिद्धिविनायक मंदिर में श्री गणेश की मूर्ति है, जो लगभग ढाई फीट चौड़ी है और काले पत्थर के एक टुकड़े से बनी है।

और पढ़े: सिद्दिविनायक मंदिर दर्शन की जानकारी

3.6 हाजी अली दरगाह मुंबई – Haji Ali Dargah In Hindi

हाजी अली दरगाह मुंबई

हाजी अली दरगाह (मकबरे) की स्थापना 1431 में एक संपन्न मुस्लिम व्यापारी, सैय्यद पीर हाजी अली शाह बुखारी की याद में की गई थी। जिन्होंने मक्का की यात्रा करने से पहले अपने सभी सांसारिक सामान त्याग दिए थे। सभी क्षेत्रों और धर्मों के लोग आशीर्वाद लेने के लिए यहां आते हैं। कांच से निर्मित, मकबरा वास्तुकला के इंडो-इस्लामिक शैली का एक सुंदर चित्रण है। एक संगमरमर के आंगन में केंद्रीय मंदिर है। मुख्य हॉल में संगमरमर के खंभे हैं जो अरबी पैटर्न में व्यवस्थित होते हैं। इस्लामिक रीति-रिवाजों के अनुसार, महिलाओं और बच्चों के लिए अलग-अलग प्रार्थना कक्ष हैं। कई प्रसिद्ध हस्तियां आशीर्वाद लेने के लिए मंदिर में जाती हैं।

3.7 वॉक ऑफ फेम मुंबई – Walk Of Stars In Hindi

मुंबई के बैंडस्टैंड में स्थित वॉक ऑफ फेम ऐसी जगह है जहां आप बोलीवुड सितारों के हस्ताक्षर और दिग्गज सितारों की छह बड़ी मूर्तियां देख सकते हैं। हमेशा यह जगह पर्यटकों के लिए खुली रहती है।

3.8 अजंता की गुफा – Ajanta Caves In Hindi

अजंता की गुफा

अजंता की गुफाएं महाराष्ट्र राज्य के औरंगाबाद शहर से लगभग 105 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। अजंता की प्राचीन गुफा भारत में सबसे ज्यादा देखे जाने वाले पर्यटक स्थलों में से एक हैं जो भारतीय गुफा कला का सबसे महान जीवित उदाहरण हैं। यह गुफा एलोरा गुफाओं की तुलना में भी काफी पुरानी है। अजंता की गुफाएं वाघुर नदी के किनारे एक घोड़े की नाल के आकार के चट्टानी क्षेत्र को काटकर बनाई गई है। इस घोड़े के नाल के आकार के पहाड़ पर 26 गुफाओं का एक संग्रह है। अजंता की गुफाओं को यूनेस्को ने विश्व धरोहर स्थल में शामिल किया हैं।

और पढ़े: अजंता की गुफा विशेषताएं और घूमने की जानकारी 

3.9 एडलैब्स इमेजिका मुंबई – Adlabs Imagica In Hindi

एडलैब्स इमेजिका मुंबई

भारत का पहला इंटरनेशनल थीम पार्क एडलैब्स इमेजिका मुंबई में बेहद खूबसूरत दर्शनीय स्थल  है। यहां पर कई एम्यूजमेंट राइड्स और कई अट्रेक्टिव एक्टिविटीज का भी आप आनंद ले सकते हैं। यह पार्क सुबह 11 बजे से रात 9 बजे तक खुलता है।

3.10 एस्सेल वर्ल्ड मुंबई – Essel World In Hindi

एस्सेल वर्ल्ड मुंबई

Image Credit: Sachin Meher

भले ही मुंबई में एडलैड्स इमिजेका लोगों के लिए एक शानदार मनोरंजन स्थल है, लेकिन एस्सेल वर्ल्ड को इन थीम पार्कों का दादा कहा जाता है। यहां विभिन्न राइड्स और झूलों का लुत्फ लिया जा सकता है। पूरा एक दिन बिताने के लिए यह जगह लोगों के लिए बहुत अच्छी है। यह पार्क सुबह 8 बजे से शाम 7 बजे तक लोगों के लिए खुला रहता है। इसके अलावा मुंबई में आप बांद्रा वर्ली सी लिंक,ब्लू फ्रॉग क्लब और पृथ्वी थिएटर भी देखने लायक हैं।

3.11 मुंबादेवी मंदिर – Mumbadevi Temple In Hindi

मुंबादेवी मंदिर

Image Credit: Ravindra Salunkhe

मुंबादेवी मंदिर मुंबई शहर में स्थित हैं और यह इसके प्रमुख देवता देवी मुंबा हैं। इस मंदिर परिसर का निर्माण सबसे पहले वर्ष 1675 में बोरीबन्दर और बाद में सन 1737 में कालबादेवी में स्थानांतरित कर दिया गया। माना जाता हैं कि एक मुंबारक नामक राक्षस यहाँ के निवासियों को परेशान करता था जिसके संहार के लिए ब्रह्मा जी ने एक आठ-सशस्त्र देवी को भेजा जिसके शक्ति का एक रूप माना जाता हैं।

3.12 कन्हेरी गुफाएं – Kanheri Caves In Hindi

कन्हेरी गुफाएं

कन्हेरी गुफाएं बोरीवली के उत्तर क्षेत्र में संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान के अंदर एक  प्राचीन कन्हेरी गुफाएं हैं।  जिसका निर्माण काल 1 शताब्दी ईसा पूर्व और 9 वीं शताब्दी ईस्वी के बीच का माना जाता हैं। इसका नाम संस्कृत भाषा के शब्द ‘कृष्णगिरि’ से लिया गया है। पर्यटक कान्हेरी गुफा घूमने के लिए बहुत अधिक संख्या में आते  हैं।

3.13 मुंबई में नाइटलाइफ़ – Mumbai Nightlife In Hindi

मुंबई में नाइटलाइफ़

मुंबई को कभी ना सोने वाला शहर कहा जाता है। यहां रात में भी सड़कों पर गाड़ियों की आवाजाही रहती है और लोग सड़कों पर घूमते और मस्ती करते नजर आते हैं। यही वजह है कि मुंबई की नाइटलाइफ लोगों और बाहर से आने वाले पर्यटकों को बेहद आकर्षित करती है।

3.14 मुंबई के मशहूर स्ट्रीट मार्केट – Mumbai Local Street Markets In Hindi

मुंबई के मशहूर स्ट्रीट मार्केट

कोलाबा कॉजवे- बजट शॉपिंग के लिए मुंबई का कोलाबा कॉजवे सबसे मशहूर स्ट्रीट मार्केट है। यहां आपको ज्वेलरी, चूड़ियां, डिजाइनर बैग से लेकर सजावटी सामान भी खरीदने को मिल जाएंगे वो भी बहुत कम कीमत पर। लिंकिंग रोड- लिंकिंग रोड भी मुंबई के लोगों के लिए बेस्ट स्ट्रीट मार्केट है। यहां आपको जूते, बैग, डिजाइनर कपड़ों के साथ ज्वेलरी का शानदार कलेक्शन खरीदने को मिलेगा। यहां पर मोलभाव बहुत होता है। कई बार ज्यादा मोलभाव करने पर दुकानदार चीज की आधी कीमत तक लगा देते हैं। इसलिए लिंकिंग मार्केट में जाने से पहले मोल-भाव करने में थोड़ा स्मार्टनेस जरूर लाएं। फैशन स्ट्रीट- बॉम्बे जिमखाना के सामने महात्मा गांधी रोड पर कपड़ों के 150 से ज्यादा स्ट्रीट स्टॉल्स हैं।

पजामा से लेकर डिजाइनर वियर तक आपको ढेरों ऑप्शन के साथ यहां मिल जाएंगे। बस आपको सौदेबाजी करनी आनी चाहिए। हिल रोड- मुंबई के बांद्रा में स्थित हिल रोड स्ट्रीट मार्केट सस्ते कपड़ों, ज्वेलरी के लिए जाना जाता है। स्कार्फ से लेकर डिजाइनर मैटेलिक ज्वेलरी का शानदार कलेक्शन आपको यहां मिल जाएगा, वो भी बहुत कम कीमत पर।

3.15 काला घोड़ा कला महोत्सव मुंबई – Mumbai Kala Ghoda Festival In Hindi

काला घोड़ा कला महोत्सव मुंबई

काला घोड़ा कला महोत्सव कला, सिनेमा और संस्कृति का उत्सव मनाने वाला त्योहार है, जो हर साल काला घोड़ा के जीवंत कला जिले में आयोजित किया जाता है। प्रवेश सभी के लिए खुला और मुफ्त है और इसमें नृत्य, संगीत, दृश्य कला, रंगमंच और सिनेमा जैसे खंड शामिल हैं। यह महोत्सव हर साल 2 से 9 फरवरी तक आयोजित होता है, जिसमें केवल भारत ही नहीं बल्कि विदेशी कलाकार भी हिस्सा लेने पहुंचते हैं।

और पढ़े: खंडाला में घूमने लायक पर्यटन स्थल की जानकारी

4. छत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Chatrapati Shivaji Terminus In Hindi

 छत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

 

मुंबई जाने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से फरवरी तक है। मुंबई में मानसून के दौरान अच्छी वर्षा होती है। बारिश के शौकीन लोगों के लिए मुंबई शहर की बारिश में भीगने का अच्छा समय है। मॉनसून में आसपास की पहाड़ियों पर ट्रेक लेने के लिए आदर्श समय है। मुंबई की यात्रा के लिए गर्मी अच्छा समय नहीं है। सर्दियों के दौरान मौसम सुखद होता है।

5. छत्रपति शिवाजी टर्मिनस के आसपास कहाँ रुके – Where To Stay Near Chatrapati Shivaji Terminus Mumbai In Hindi

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस के आसपास कहाँ रुके

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस के आसपास लो-बजट से लेकर हाई-बजट के कई होटल बने हुए हैं। जिनमे से आप अपनी आवश्यकतानुसार होटल ले सकते हैं।

  • इंटरकांटिनेंटल मरीन ड्राइव
  • एस्टोरिया होटल मुंबई
  • होटल मरीन प्लाजा
  • वेस्ट एंड होटल
  • होटल रेसीडेंसी फोर्ट

6. छत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई में खाने के लिए स्थानीय भोजन – Local Food Of Mumbai In Hindi

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई में खाने के लिए स्थानीय भोजन

मुंबई के प्रसिद्ध भोजन में वड़ा पाव काफी मशहूर है। वड़ा पाव यहां के लोगों का फेवरेट स्ट्रीट फूड है। यहां तक की बाहर से आने वाले पर्यटक को भी वड़ा पाव का स्वाद बेहद लुभाता है। अच्छी बात ये है कि वड़ा पाव की मात्र 20 रूपए की प्लेट से आप अपना पेट भर सकते हैं। मुंबई में अंतर्राष्ट्रीय व्यंजनों की एक बड़ी रेंज के भी रेस्टोरेंट हैं। इसके अलावा यहां उत्तर भारतीय और दक्षिण भारतीय व्यंजनों के भी अच्छे रेस्टोरेंट्स हैं। अगर आप विभिन्न ड्रिंक्स का स्वाद लेना चाहते हैं तो कोलाबा में गोकुल, बांद्रा में जनता और पवई में लक्ष्मी जैसे कई सस्ती जगहें हैं।

और पढ़े: ठाणे शहर के प्रमुख पर्यटन स्थल की जानकारी

7. छत्रपति शिवाजी टर्मिनस कैसे जाये – How To Reach Chatrapati Shivaji Terminus Mumbai In Hindi

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस की यात्रा के लिए आप फ्लाइट, ट्रेन और बस में से किसी का भी चुनाव कर सकते हैं।

7.1 फ्लाइट से छत्रपति शिवाजी टर्मिनस कैसे पहुंचे – How To Reach Chatrapati Shivaji Terminus By Flight In Hindi

फ्लाइट से छत्रपति शिवाजी टर्मिनस कैसे पहुंचे

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई में स्थित हैं और आप यहाँ आने के लिए यदि हवाई मार्ग का चुनाव करते हैं तो बता दें कि आप सीधे छत्रपति शिवाजी टर्मिनल एयरपोर्ट मुंबई के लिए फ्लाइट ले सकते हैं। क्योंकि मुंबई शहर देश-विदेश के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह संपर्क बनाए हुए हैं। छत्रपति शिवाजी टर्मिनल अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा देश का दूसरा सबसे व्यस्त एयरपोर्ट माना जाता हैं।

7.2 छत्रपति शिवाजी टर्मिनस ट्रेन से कैसे पहुंचे – How To Reach Chatrapati Shivaji Terminus By Train In Hindi

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस ट्रेन से कैसे पहुंचे

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस एक शानदार रेलवे स्टेशन है जो दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन भी माना जाता है। पर्यटक सीधे मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस पर उतर सकते हैं।

7.3 छत्रपति शिवाजी टर्मिनस कैसे पहुंचे बस से – How To Reach Chatrapati Shivaji Terminus Bus In Hindi

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस कैसे पहुंचे बस से

मुंबई के पास देश के सभी हिस्सों से सड़क संपर्क हैं और मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे सबसे लोकप्रिय है। सड़क की स्थिति देश के बाकी हिस्सों से बेहतर है। एशियाड बस सेवा दादर रोड पर स्थित एक बस टर्मिनल है जहाँ से बसें नियमित रूप से पुणे जाती हैं। महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम महाराष्ट्र के विभिन्न शहरों से मुंबई में सेवाएं प्रदान करता है। विक्टोरिया टर्मिनस तक आप बस के माध्यम से भी आसानी से पहुँच जायेंगे।

और पढ़े: मुंबई की यात्रा और मुंबई के दर्शनीय स्थल

8. छत्रपति शिवाजी टर्मिनस का नक्शा – Chatrapati Shivaji Terminus Map

9. छत्रपति शिवाजी टर्मिनस की फोटो गैलरी – Chatrapati Shivaji Terminus Images

और पढ़े:

Write A Comment