क्या आप जानते इस हिलती हुई झुल्ता मीनार के बारे ? यदि नही तो एक बार जरूर जान लें –

Jhulta Minar in Hindi : अहमदाबाद के सकर बाजार में स्थित झूलता मीनार सबसे पेचीदा वास्तुशिल्प आश्चर्यों में से एक है जो वास्तव में देखने योग्य है। इन मीनारों की खासियत है कि यदि मीनारों में से एक को हिलाया जाता है, तो दूसरी मीनार कुछ सेकंड के भीतर हिल जाती है यही रहस्य आज भी एक अनसुलझा रहस्य बना हुआ हैं जिसने पर्यटकों से लेकर वैज्ञानिको तक सभी को सोचने पर मजबूर कर दिया है। इसी अद्भुद घटना के कारण इसका नाम इसका नाम झूलता मीनार रखा है। बता दे 500 साल पुरानी यह मंदिर शुरू में सिदी बशीर मस्जिद का एक हिस्सा था जिसे बाद में एक गुजराती सल्तनत युद्ध के दौरान अलग कर दिया गया था।

यदि आप इस अद्भुद झुल्ता मीनार घूमने जाने वाले है या इसके बारे में और अधिक विस्तार से जानना चाहते है तो हमारे इस लेख को पूरा जरूर पढ़े –

Table of Contents

झूलता मीनार का इतिहास – History of Jhulta Minar in Hindi

यदि हम झुल्ता मीनार के इतिहास पर नजर डालें तो इसके निर्माण के पीछे दो दिलचस्प कहानियां सामने आती है। पहली कहानी की माने तो इस मस्जिद का निर्माण सुल्तान अहमद शाह के एक गुलाम सिदी बशीर द्वारा किया था, और यहीं से मस्जिद का नाम पड़ा। माना जाता है कि इस मस्जिद का निर्माण 1452 तक पूरा हो गया था, बाद में 1753 में मराठों और गुज़रात सल्तनत के ख़ानों के बीच युद्ध के दौरान नष्ट हो गया।

दूसरी कहानी में कहा गया है कि मीनारें मलिक सारंग द्वारा बनाई गई एक मस्जिद के एक भाग के रूप में बनाई गई थीं, जो मुहम्मद बेगादा के दरबार में एक रईस था जो गुज़रात का था। मीनारों के निर्माण के लिए जिस शैली और सामग्री का उपयोग किया गया है, वह मुहम्मद बगदा के शासनकाल के करीब है, जिससे 1511 या उसके बाद इसका निर्माण हुआ। दुर्भाग्य से, मस्जिद के मुख्य निकाय को ध्वस्त करने के दौरान इसके नाम और तारीख के सभी निशान गायब हो गए हैं, जिससे मीनारों के इतिहास का पता लगाना बहुत मुश्किल हो गया है।

झूलता मीनार की वास्तुकला – Architecture of Jhulta Minar in Hindi

झूलता मीनार की वास्तुकला – Architecture of Jhulta Minar in Hindi
Image Credit : ØMGiri Gôswamī

अहमदाबाद में स्थित झूलता मीनार भारत की सबसे आश्चर्यचकित कर देने वाली संरचनायों में से एक है जो मध्ययुगीन भारत की वास्तविक स्थापत्य कला का प्रदर्शन करती है जो राजपुताना प्रभावों के साथ गोथिक मुस्लिम तरीके से निर्मित हैं। ये मीनार 34 मीटर लंबी है और इसमें तीन मंजिला हैं। उनमें पत्थर से बनी अच्छी तरह से संतुलित बालकनियाँ शामिल हैं। इन बालकनियों का एकमात्र उद्देश्य मीनार की सीमा बनाना है।

मीनार को ऐसे इरादे से बनाया गया था कि मस्जिद के ऊपरी मेहराब पर थोड़ी मात्रा में बल लगाने से हर मीनार एक साथ हिलने डुलने लगेगी। इसलिए यह माना जाता है कि मीनारों का निर्माण प्राकृतिक आपदा के मामले में मस्जिद को किसी भी तरह की क्षति से बचने के मुख्य उद्देश्य से किया गया था।

झूलता मीनार का रहस्य – Jhulta Minar ka Rahshy in Hindi

झूलता मीनार का रहस्य – Jhulta Minar ka Rahshy in Hindi
image Credit : VinodWeb

झूलता मीनार का रहस्य काफी दिलचस्प है जिसके बारे में सुनकर आप भी शौक हो जायेगे जी हाँ इस मीनार कुछ ऐसी ही घटना जुडी हुई जिसने इस मीनार को काफी फेमस बना दिया है। इन मीनारों के बारे में कहाँ जाता है अगर इनमे से एक मीनार हिलती है तो कुछ सेकंड बाद दूसरी मीनार अपने आप ही हिलना शुरू हो जाती है। इन मीनारों के हिलने का कारण खोजने की कोशिश की गयी जिसमे कुछ शोधकर्ताओं की खोज में पाया गया है की इन मीनारों के निर्माण में लचीले पत्थरों का प्रयोग किया था जिससे ये मीनारें अनजाने में ही झूलने वाली बन गयीं थी।

और पढ़े : भारत की 20 सबसे रहस्यमयी जगहें 

झूलता मीनार की टाइमिंग – Timings of Jhulta Minar in Hindi

झूलता मीनार की टाइमिंग – Timings of Jhulta Minar in Hindi
Image Credit : Biswajit Karmakar

यदि आप इस अद्भुद और रहस्यमयी मीनार घूमने जाने की सोच रहे है और अपनी यात्रा पर जाने से पहले झूलता मीनार की टाइमिंग के बारे में जानना चाहते है तो हम आपको बता दे झूलता मीनार पर्यटकों के घूमने के लिए प्रतिदिन सुबह 5.30 बजे से शाम 9.00 बजे तक खुली रहती है आप इस दौरान कभी भी यहाँ घूमने आ सकते है।

झूलता मीनार की एंट्री फीस – Entry Fee of Jhulta Minar in Hindi

बता दे झूलता मीनार में प्रवेश और घूमने के लिए कोई भी एंट्री फीस नही है आप बिना किसी शुल्क का भुगतान आराम से यहाँ घूम सकते है।

झूलता मीनार के आसपास घूमने की जगहें – Places to visit around Jhulta Minar in Hindi

यदि आप अपने परिवार या दोस्तों के अहमदाबाद में झूलता मीनार घूमने जाने का प्लान बना रहे है, तो हम आपको बता दे अहमदाबाद में झूलता मीनार के अलावा भी अन्य आकर्षक पर्यटक स्थल मौजूद है जिन्हें आप अपनी झूलता मीनार की यात्रा के दौरान घूमने जा सकते हैं –

  • साबरमती आश्रम
  • सिदी सैय्यद मस्जिद
  • कैलिको वस्त्र संग्रहालय
  • सरदार वल्लभाई पटेल राष्ट्रीय संग्रहालय
  • जामा मस्जिद
  • वस्त्रपुर झील
  • साबरमती रिवरफ्रंट
  • परिमल गार्डन
  • लोथल
  • लॉ गार्डन
  • भद्रा किला
  • वैष्णोदेवी मंदिर
  • कांकरिया झील
  • विश्व विंटेज कार संग्रहालय
  • श्री स्वामीनारायण मंदिर
  • गुजरात साइंस सिटी

झूलता मीनार घूमने जाने का सबसे अच्छा समय –Best time to visit Jhulta Minar in Hindi

झूलता मीनार घूमने जाने का सबसे अच्छा समय –Best time to visit Jhulta Minar in Hindi
Image Credit : Dhrumit Bhavsa

वैसे तो आप साल के किसी भी झूलता मीनार की यात्रा पर आ सकते है। लेकिन यदि आप झूलता मीनार के साथ साथ अहमदाबाद के अन्य पर्यटक स्थलों की यात्रा भी करना चाहते है तो उनके लिए आपको गर्मी के मौसम में बचना चाहिए क्योंकि इस दौरान काफी अधिक हो जाता है। इसीलिए सर्दियों के महीने अहमदाबाद की यात्रा के लिए सबसे अच्छी महीने होते है।

और पढ़े : भारत की 8 सबसे प्रसिद्ध और सबसे ऊँची मीनारे 

झूलता मीनार की यात्रा में रुकने के लिए होटल्स – Hotels in Ahmedabad in Hindi

झूलता मीनार की यात्रा में रुकने के लिए होटल्स - Hotels in Ahmedabad in Hindi

यदि आप अपनी फैमली या दोस्तों के साथ झूलता मीनार अहमदाबाद घूमने जाने का प्लान बना रहे है। और अहमदाबाद में किसी होटल की तलाश में हैं, तो हम आपको बता दें केरल की मशहूर वेम्बनाड झील के आसपास अहमदाबाद में आपको लो बजट से लेकर हाई बजट तक सभी प्रकार के होटल मिल जायेगे, जिनकी आप अपनी सुविधानुसार चुनाव कर सकते हैं।

झूलता मीनार अहमदाबाद केसे पहुचें – How to Reach Jhulta Minar Ahmedabad in Hindi

झूलता मीनार अहमदाबाद की आकर्षण संरचना है जहाँ तक पहुचने के लिए आप अहमदाबाद के किसी भी हिस्से एक केब ऑटो या टेक्सी बुक कर सकते है। लेकिन उससे पहले आपको अहमदाबाद आना होगा जिसके लिए आप भारत के किसी भी शहर से फ्लाइट, ट्रेन या सड़क मार्ग से यात्रा कर सकते है।

फ्लाइट से झूलता मीनार अहमदाबाद केसे पहुचें – How to Reach Jhulta Minar Ahmedabad by Flight in Hindi

फ्लाइट से झूलता मीनार अहमदाबाद केसे पहुचें – How to Reach Jhulta Minar Ahmedabad by Flight in Hindi

यदि आपने अहमदाबाद जाने के लिए फ्लाइट का सिलेक्शन किया है, तो हम आपको बता दे सरदार वल्लभभाई पटेल अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा अहमदाबाद का अपना हवाई अड्डा है। जो भारत के कई प्रमुख शहरों से नियमित फ्लाइट्स से जुड़ा हुआ है। एक बार जब एयरपोर्ट पहुंच जाते है तो यहाँ से झूलता मीनार पहुंचने के लिए आप बस, टेक्सी या एक कैब बुक कर सकते है।

ट्रेन से झूलता मीनार अहमदाबाद केसे पहुचें – How to Reach Jhulta Minar Ahmedabad by Train in Hindi

ट्रेन से झूलता मीनार अहमदाबाद केसे पहुचें – How to Reach Jhulta Minar Ahmedabad by Train in Hindi

झूलता मीनार अहमदाबाद रेलवे स्टेशन के माध्यम से पश्चिम रेलवे के माध्यम से अन्य सभी शहरों से जुड़ा हुआ है, जिसे कालूपुर स्टेशन भी कहा जाता है। कई एक्सप्रेस और सुपर फास्ट ट्रेनें अहमदाबाद को अन्य प्रमुख शहरों से जोड़ती हैं। स्टेशन से बस, ऑटो और टैक्सी जैसे स्थानीय परिवहन आसानी से उपलब्ध हैं जिनसे आप आराम से झूलता मीनार जा सकते है।

सडक मार्ग से झूलता मीनार अहमदाबाद केसे जायें – How to Reach Jhulta Minar Ahmedabad by Road in Hindi

सडक मार्ग से झूलता मीनार अहमदाबाद केसे जायें - How to Reach Jhulta Minar Ahmedabad by Road in Hindi

अहमदाबाद अपने आसपास के सभी प्रमुख शहरों से सड़क मार्ग द्वारा काफी अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है इसीलिए सड़क मार्ग या बस से झूलता मीनार की यात्रा करना काफी आसान है।

और पढ़े : अहमदाबाद शहर के आकर्षक स्थलों की जानकारी

झूलता मीनार का मेप – Map of Jhulta Minar

और पढ़े :

Featured Image Credit : Bratati Sarkar

Leave a Comment