डूंगरपुर के गलियाकोट दरगाह घूमने की जानकरी – Galiakot Dargah In Hindi

Galiakot Dargah In Hindi, डूंगरपुर से 58 किलोमीटर की दूरी पर माही नदी के तट पर स्थित गलियाकोट नामक एक बस्ती है। यह जगह सैयद फखरुद्दीन की दरगाह के लिए जानी जाती है। वह एक प्रसिद्ध संत थे जिन्हें उनकी मृत्यु के बाद गलियाकोट में दफनाया गया था। जिसे गलियाकोट दरगाह के नाम से जाने जाना लगा। गलियाकोट दरगाह को सफेद संगमरमर से बनाया गया है और उनकी शिक्षाएँ को दरगाह की दीवारों पर उकेरी गई हैं। और गुंबद के भीतरी हिस्से को सुंदर पर्णकुटी से सजाया गया है जबकि क़ुरान की शिक्षाओं को कब्र पर सुनहरे अक्षरों में वर्णित किया गया है। गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर के प्रमुख पर्यटक स्थलों में से एक है जहाँ देश के कोने-कोने से लोग दरगाह में माथा टेकने और घूमने के लिए गलियाकोट दरगाह की यात्रा करते है।

Table of Contents

गलियाकोट दरगाह का इतिहास – Galiakot Dargah History In Hindi

Galiakot Dargah History In Hindi
Image Credit: Hozefa Mithaiwala

गलियाकोट दरगाह सैयद फखरुद्दीन को समर्पित है, बाबजी मौला सैयदी फखरुद्दीन 11 वीं शताब्दी के पवित्र इस्माइली, फातिम, मुस्तली संत हैं, सैयद फखरुद्दीन पहले इस्माइली थे, जो राजस्थान के भीलों और स्थानीय आदिवासियों के बीच मिशनरी काम के दौरान शहीद हुए और उनको भारत के गलियाकोट में दफन किया गया था।

गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर खुलने और बंद होने का समय – Galiyakot Dargah Dungarpur Timing In Hindi

गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर खुलने और बंद होने का समय
Image Credit: Joj Key

गलियाकोट दरगाह पर्यटकों के घूमने के लिए सूर्योदय से लेकर देर रात तक खुली रहती है।

और पढ़े : ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती दरगाह राजस्थान घूमने की पूरी जानकारी

डूंगरपुर की गलियाकोट दरगाह की एंट्री फीस – Dungarpur’s Galiyakot Dargah Entry Fees In Hindi

अगर आप डूंगरपुर में गलियाकोट दरगाह घूमने का प्लान बना रहे है तो हम आपको बता दे गलियाकोट दरगाह में पर्यटकों के घूमने के लिए कोई प्रवेश शुल्क नही है।

गलियाकोट दरगाह घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Galiyakot Dargah In Hindi

गलियाकोट दरगाह घूमने जाने का सबसे अच्छा समय
Image Credit: Mohammed Gadiwala

वैसे तो आप गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर की यात्रा साल के किसी भी समय कर सकते हैं, लेकिन डूंगरपुर घूमने का सबसे अच्छा समय सर्दियों (अक्टूबर से फरवरी) के दौरान होता है क्योंकि इस समय डूंगरपुर का मौसम खुशनुमा रहता है जिससे यहाँ के दर्शनीय स्थलों की यात्रा का पूरा मजा उठाया जा सकता है। डूंगरपुर एक ऐसा पर्यटन स्थल है जहां सर्दियों के मौसम में यात्रा करना काफी अच्छा होगा। और आपको बता दे मार्च से शुरू होने वाली ग्रीष्मकाल के दौरान डूंगरपुर की यात्रा से बचें क्योंकि इस समय डूंगरपुर राजस्थान का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुँच जाता है जो आपकी डूंगरपुर की यात्रा को हतोत्साहित कर सकता है।

और पढ़े : अजमेर शरीफ दरगाह राजस्थान घूमने की पूरी जानकारी

गलियाकोट दरगाह के आसपास के लोकप्रिय पर्यटन स्थल – Tourist Places Around Galiyakot Dargah In Hindi

राजस्थान का खूबसूरत शहर डूंगरपुर विभिन्न पर्यटक और दर्शनीय स्थलों से भरा पड़ा हुआ हैं, तो यदि आप डूंगरपुर में गलियाकोट दरगाह घूमने जाने की योजना बना रहे है तो आप डूंगरपुर में गलियाकोट दरगाह के साथ-साथ इन प्रमुख पर्यटन स्थलों पर भी घूमने जा सकतें हैं, जिनकी जानकारी हम आपको नीचे देने जा रहे हैं-

गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर कैसे जाये – How To Reach Galiyakot Dargah Dungarpur In Hindi

अगर आप गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर घूमने जाने की योजना बना रहें हैं तो हम आपको बता दें आप सड़क, रेल और हवाई मार्ग से यात्रा करके गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर पहुंच सकते है। अगर आप डूंगरपुर जाने के लिए परिवहन के विभिन्न तरीकों के बारे में जानना चाहते हैं तो नीचे दी गई जानकारी को पढ़ें।

हवाई जहाज से गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर कैसे पहुंचें – How To Reach Galiyakot Dargah By Flight In Hindi

हवाई जहाज से गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर कैसे पहुंचें – How To Reach Galiyakot Dargah By Flight In Hindi

अगर आप हवाई मार्ग द्वारा गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर की यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि सीधे फ्लाइट से डूंगरपुर की यात्रा करने के लिए हवाई मार्ग उपलब्ध नही है। डूंगरपुर का निकटतम हवाई अड्डा महाराणा प्रताप हवाई अड्डा है जो डूंगरपुर से लगभग 120 किलोमीटर दूर है। जो भारत के प्रमुख शहरो से हवाई मार्ग से जुड़ा हुआ है। तो आप फ्लाइट से यात्रा करके महाराणा प्रताप हवाई अड्डा पहुंच सकते है, और  हवाई अड्डे से डूंगरपुर जाने के लिए आप किसी भी बस या टैक्सी से यात्रा कर सकते हैं।

ट्रेन से गलियाकोट दरगाह कैसे पहुंचे – How To Reach Galiyakot Dargah Dungarpur By Train In Hindi

ट्रेन से गलियाकोट दरगाह कैसे पहुंचे – How To Reach Galiyakot Dargah Dungarpur By Train In Hindi

जो भी पर्यटक ट्रेन द्वारा गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर की यात्रा करना चाहते हैं। उनके लिए बता दें कि डूंगरपुर रेलवे स्टेशन, मुख्य शहर से 3 किमी दूर, है लेकिन डूंगरपुर के लिए देश के अन्य प्रमुख शहरों कोई नियमित ट्रेन उपलब्ध नहीं है। देश के अन्य शहरों से डूंगरपुर जाने के लिए निकटतम रेलवे स्टेशन उदयपुर में है जो डूंगरपुर से 82 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। तो आप भारत के किसी भी प्रमुख शहर से पहले उदयपुर रेलवे स्टेशन पहुंच सकते है और फिर रेलवे स्टेशन से डूंगरपुर जाने के लिए आप किसी भी बस या टैक्सी की मदद ले सकते हैं।

सड़क मार्ग से गलियाकोट दरगाह कैसे जाये – How To Reach Galiyakot Dargah By Road In Hindi

सड़क मार्ग से गलियाकोट दरगाह कैसे जाये – How To Reach Galiyakot Dargah By Road In Hindi

यदि आप गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर की यात्रा सड़क मार्ग से करने की योजना बना रहे है तो हम आपको बता दे डूंगरपुर सड़क मार्ग द्वारा देश के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। डूंगरपुर के लिए राजस्थान के सभी प्रमुख और छोटे शहरों से नियमित बसे उपलब्ध है। यह शहर NH8 से 20 किलोमिटर दूर है। बता दें कि यह हाईवे दिल्ली और मुंबई और राज्य राजमार्ग (सिरोही – रतलाम राजमार्ग) के बीच है। तो आप बस, टैक्सी या अपनी निजी कार से यात्रा करके आसानी से गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर पहुंच सकते हैं।

और पढ़े : राजस्थान के डूंगरपुर के 10 ऐसे दर्शनीय स्थल जहां आपको एक बार जरुर जाना चाहिए

इस आर्टिकल में आपने गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर के बारे में जाना है आपको हमारा यह आर्टिकल केसा लगा हमे कमेन्ट करके जरूर बतायें।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर का नक्शा – Galiyakot Dargah Dungarpur Map

गलियाकोट दरगाह की फोटो गैलरी – Galiyakot Dargah Images

और पढ़े :

Featured Image Credit: Abizar Sabuwala

Leave a Comment