Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Gaib Sagar Lake In Hindi, गैब सागर झील डूंगरपुर के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। यह अपनी तरफ भारी संख्या में पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए प्रसिद्ध है। आपको बता दें कि यह झील एक मानव निर्मित झील है जिसका निर्माण महाराज गोपीनाथ द्वारा 1428 में किया था। झील के पास पर्यटक कई पक्षियों के घोंसले देख सकते हैं। गैब सागर झील के पास कई प्रवासी पक्षियों की अच्छी किस्म है जो इस स्थान को अपना घर मानते हैं। यहां पर आप कई बतख, ग्रे और बैंगनी बगुले, बैंगनी मूरहेन और हरे कबूतर देख सकते हैं। जब सूरज धीरे-धीरे ढलने लगता है तो झील शाम के समय बेहद आकर्षित लगती है।

गैब सागर झील की यात्रा के दौरान आप श्रीनाथजी के मंदिर के दर्शन भी कर सकते हैं। श्रीनाथजी के अलावा पर्यटक गैब सागर झील की यात्रा के दौरान डूंगरपुर के अन्य पर्यटन स्थल जैसे बादल महल, विजय राजराजेश्वर मंदिर और उदय बिलास पैलेस की यात्रा भी कर सकते हैं। अगर आप गैब सागर झील जाने के बारे में पूरी जानकारी चाहते हैं तो इस लेख को जरुर पढ़ें, यहां हमने गैब सागर झील जाने के बारे में पूरी जानकारी दी है।

1. गैब सागर झील के लिए टिप्स – Tips To Visit Gap Sagar Lake In Hindi

गैब सागर झील के लिए टिप्स

Image Credit: Viral Jani

  • गर्मी का मौसम में इस झील की यात्रा करने के अच्छा समय नहीं है। राजस्थान में स्थित होने की वजह से यहां गर्मियों के मौसम में काफी गर्मी पड़ती है।
  • अगर आप बाहरी गतिविधियों और दर्शनीय स्थलों की यात्रा करना चाहते हैं तो सर्दियों का मौसम यात्रा करने के लिए अच्छा है।
  • सर्दियों को मौसम में यहां कई तरह के प्रवासी पक्षियों को देखा जा सकता है।
  • अगर आप गर्मियों में गैब सागर झील की यात्रा करें तो धूप से बचने के लिए सूती कपड़े, सनस्क्रीन, धूप से बचने के लिए चश्मा जरुर लेकर जाएं।

2. गैब सागर झील घुमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Gaib Sagar Lake In Hindi

 गैब सागर झील घुमने जाने का सबसे अच्छा समय

Image Credit: Shakil Malik

गैब सागर झील जाने का अच्छा समय सर्दियों (अक्टूबर से फरवरी) के दौरान होता है क्योंकि मौसम खुशनुमा रहता है और दर्शनीय स्थलों की यात्रा का पूरा मजा उठाया जा सकता है। गर्मियों के मौसम में गैब सागर झील या फिर डूंगरपुर के अन्य पर्यटन स्थलों की यात्रा करने से बचना चाहिए, क्योंकि ग्रीष्मकाल में यहां का मौसम बेहद गर्म होता है. जिसकी वजह आप अपनी यात्रा का पूरा मजा नहीं उठा पायेगे।

और पढ़े: राजस्थान के डूंगरपुर के 10 ऐसे दर्शनीय स्थल जहां आपको एक बार जरुर जाना चाहिए

3. गैब सागर झील के आसपास में घुमने लायक दर्शनीय स्थल – Places To Visit Near Gaib Sagar Lake In Hindi

डूंगरपुर के पर्यटन की दृष्टि के काफी संपन्न है अगर आप  गैब सागर झील डूंगरपुर और इसके दर्शनीय स्थलों की यात्रा करना चाहते हैं तो नीचे हम डूंगरपुर प्रमुख दर्शनीय स्थलों की जानकारी दे रहे हैं, जहां आपको अपनी यात्रा के दौरान जरुर जाना चाहिए।

3.1 उदय बिलस पैलेस – Udai Bilas Palace In Hindi

उदय बिलस पैलेस

Image Credit: Hotel Udai Bilas Palace

उदय बिलस पैलेस डूंगरपुर का प्रमुख आकर्षण है। इस महल को अब एक होटल में बदल दिया गया है। अगर आप डूंगरपुर की यात्रा करने जा रहें हैं तो आप उदय बिलस पैलेस में रुक कर भव्य राजस्थानी महल में रहने अवसर प्राप्त कर सकते हैं। महल के समृद्ध डिजाइन को देखकर हर कोई आकर्षित हो सकता है। उदय बिलस पैलेस में पारंपरिक राजपूत वास्तुकला इसकी बालकनी, खिड़कियों और मेहराबों में देखने को मिल सकती है। उदय बिलस पैलेस डूंगरपुर में देखने की सबसे अच्छी जगह में से एक है। अगर आप डूंगरपुर जाने के लिए पर्यटन स्थलों की सूची तैयार कर रहें हैं। तो उदय बिलस पैलेस का नाम जरुर शामिल करें।

3.2 जूना महल – Juna Mahal In Hindi

जूना महल

Image Credit: Jayant Kadge

जूना महल राजस्थान के प्रमुख ऐतिहासिक स्थलों में से एक है। यह 13 वीं शताब्दी में निर्मित एक विशाल सात मंजिला इमारत है जो बिना आधुनिक तकनीक के बिना भी एक अदभुद संरचना है। जूना महल में एक आकर्षक संरचना हैजो वॉच टॉवर, किलेबंदी और मज्जा गलियारों से भरा हुआ है। जूना महल में नीले पारेवा पत्थर का उपयोग करके मेहराबों, खिड़कियों और खंभों को सजाने के लिए किया गया है। इस संरचना को बनाने के लिए जूना महल का इस्तेमाल किया गया है जिसे दुनिया में अद्वितीय माना जाता है।

3.3 भुवनेश्वर – Bhuvaneshwar In Hindi

भुवनेश्वर

Image Credit: Kirtipalsinh Rathod

भुवनेश्वर डूंगरपुर से कुछ किलोमीटर की दूरी पर स्थित है, जहां की यात्रा एक बार आपको जरुर करना चाहिए। भुवनेश्वर आध्यात्मिक अजूबों में से एक है। यहां पहाड़ी के ऊपर शिव मंदिर स्थित है जो सुरम्य घाटियों से घिरा है। पहाड़ी चोटी अपने आध्यात्मिक यात्रियों के लिए कई प्राचीन मठ भी प्रदान करती है। रंगपंचमी के दौरान एक वार्षिक उत्सव में गेअर डांस देखा जा सकता है। जो भुवनेश्वर में आकर्षण का केंद्र है। अगर आप अपनी डूंगरपुर यात्रा के दौरान आध्यात्मिकता की खोज करना चाहते हैं और अपनी यात्रा का पूरा आनंद लेना चाहते हैं। तो भुवनेश्वर को यात्रा के दौरान घूमने जाने वाले पर्यटन स्थलों की सूची में जरुर शामिल करें।

3.4 बादल महल – Badal Mahal In Hindi

बादल महल

Image Credit: Arsh Yusufzai

बादल महल डूंगरपुर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है, जो विस्तृत डिजाइन और राजपूतों और मुगलों की स्थापत्य शैली का एक संलयन के लिए प्रसिद्ध है। बादल महल डूंगरपुर में गैबसागर झील के तट पर स्थित है। अगर आप गैब सागर झील की यात्रा जाएं तो आपको बादल महल की यात्रा करने के लिए जरुर जाना चाहिए।

3.5 देव सोमनाथ मंदिर – Deo Somnath Mandir In Hindi

देव सोमनाथ मंदिर

Image Credit: Kundan Panchal

देव सोमनाथ मंदिर डुंगरपुर से 24 किलोमीटर की दूरी पर स्थित भगवान शिव का एक बहुत ही सुंदर मंदिर है। देव सोमनाथ मंदिर सोम नदी के तट पर स्थित है और यह 12 वीं शताब्दी में निर्मित है। मंदिर का निर्माण सफेद पत्थर से किया गया है। इसमें 3 निकास हैं, जो पूर्व, उत्तर और दक्षिण की ओर हैं। इसका प्रवेश द्वार दो मंजिला हैं। गर्भगृह में एक ऊंचा गुंबद है। इसके सामने सभा मंडप है जिसे 8 राजसी स्तंभों पर बनाया गया है। अगर आप एक इतिहास प्रेमी हैं तो आपको देव सोमनाथ मंदिर घूमने के लिए जरुर जाना चाहिए।

और पढ़े: सिटी पैलेस अलवर घूमने और इसके दर्शनीय स्थल की जानकारी 

3.6 बेणेश्वर मंदिर – Beneshwar Temple In Hindi

बेणेश्वर मंदिर

Image Credit: Devendra Singh Shekhawat

बेणेश्वर मंदिर इस क्षेत्र का एक प्रमुख मंदिर है जो सोम और माही नदियों के संगम पर बनने वाले डेल्टा पर स्थित है। भगवान शिव के इस लिंग को स्वयंभू मन जाता है। यह शिवलिंग 5 फीट ऊँचा है। बेणेश्वर मंदिर के समीप ही 1793 ई में निर्मित विशु मंदिर है जो जनकुंवरी की बेटी हैं। जनकुंवरी एक अत्यंत पूजनीय संत हैं और भगवान विष्णु के अवतार माने जाते हैं। अगर आप डूंगरपुर की यात्रा करने जा रहें हैं तो आपको भगवान शिव के इस मंदिर के दर्शन करने के लिए भी अवश्य जाना चाहिए।

3.7 विजय राजराजेश्वर मंदिर – Vijay Rajrajeshwer Temple In Hindi

विजय राजराजेश्वर मंदिर, गैबसागर झील के किनारे स्थित है। आपको बता दें कि यह मंदिर भगवान शिव और उनकी पत्नी देवी पार्वती को समर्पित है। यह मंदिर अपने समय की बेहतरीन वास्तुकला को प्रदर्शित करता है। विजय राजराजेश्वर मंदिर के निर्माण के लिए महारावल विजय सिंह द्वारा आदेश दिया गया था और यह 1923 में महारावल लक्ष्मण सिंह के शासनकाल में पूरा हुआ था।

3.8 गुड मांडप – Goodh Mandap In Hindi

गुड मंडप एक तीन मंजिला हॉल है, जिसका इस्तेमाल इसके आसपास स्थित मंदिरों के लिए किया जाता है। 64 लेग्स और 12 स्तंभों से समर्थित यह हाल बेहद आकर्षक दिखता है।

3.9 नागफणजी – Nagfanji In Hindi

नागफणजी

Image Credit: Harshil Malasiya

नागफणजी अपने जैन मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है। जो न केवल डूंगरपुर के भक्तों को आकर्षित करता है, बल्कि यहां देश के कोने-कोने से लोग यात्रा करते हैं। इस मंदिर में देवी पद्मावती, नागफणजीपरश्वनाथ और धर्मेन्द्र की मूर्तियाँ स्थित है। इस मंदिर के पास स्थित नागफणजी शिवालय भी भारी संख्या में पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करता है।

और पढ़े: सुंधा माता मंदिर के दर्शन और इसके पर्यटन स्थल की जानकारी 

4. गैब सागर झील कैसे जाये – How To Reach Gaib Sagar Lake In Hindi

गैब सागर झील, डूंगरपुर के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। आप इस झील के लिए यात्रा परिवहन के विभिन्न साधनों से कर सकते हैं, जिसकी जानकारी हमने नीचे लेख में दी है।

4.1 हवाई मार्ग द्वारा गैब सागर झील कैसे पहुंचें – How To Reach Gap Sagar Lake By Flight In Hindi

हवाई मार्ग द्वारा गैब सागर झील कैसे पहुंचें

अगर आप हवाई मार्ग द्वारा गैब सागर झील की यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि डूंगरपुर देश के अन्य प्रमुख शहरों से नियमित उड़ानों से अच्छी तरह से जुड़ा नहीं है। डूंगरपुर का निकटतम हवाई अड्डा महाराणा प्रताप हवाई अड्डा है जो उदयपुर में 124 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। हवाई अड्डे से गैब सागर झील के लिए आप किसी भी बस या टैक्सी से यात्रा कर सकते हैं।

4.2 गैब सागर झील ट्रेन से कैसे पहुंचें – How To Reach Gaib Sagar Lake By Train In Hindi

गैब सागर झील ट्रेन से कैसे पहुंचें

ट्रेन द्वारा गैब सागर झील की यात्रा करने की योजना बनने वाले पर्यटकों को बता दें कि डूंगरपुर के लिए शहर देश के अन्य प्रमुख शहरों कोई नियमित ट्रेन नहीं है। डूंगरपुर रेलवे स्टेशन, मुख्य शहर से 3 किमी दूर, डूंगरपुर को भारत के सभी प्रमुख और छोटे शहरों से। 146 किमी दूर कुंडा में कुंडलगढ़ रेलवे स्टेशन स्थित है जहां से आप अपने पर्यटन शटल तक पहुंच सकते हैं। गुजरात में उदयपुर और अहमदाबाद के बीच रेल लाइन भी यहां से होकर जाती है। देश के अन्य शहरों से डूंगरपुर जाने के लिए निकटतम रेलवे स्टेशन उदयपुर में है जो 102 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह रेलवे स्टेशन भारत के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। रेलवे स्टेशन से आप डूंगरपुर जाने के लिए आप किसी भी बस या टैक्सी की मदद ले सकते हैं।

4.3 कैसे पहुंचें गैब सागर झील सड़क मार्ग से – How To Reach Gaib Sagar Lake By Road In Hindi

कैसे पहुंचें गैब सागर झील सड़क मार्ग से

अगर आप गैब सागर झील के लिए सड़क मार्ग से यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि डूंगरपुर सड़क मार्ग द्वारा देश के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। यहां की यात्रा करने के लिए पर्यटकों को राजस्थान के सभी प्रमुख और छोटे शहरों से बस उपलब्ध है। यह शहर NH8 से 20 किलोमिटर दूर है। बता दें कि यह हाईवे दिल्ली और मुंबई और राज्य राजमार्ग (सिरोही – रतलाम राजमार्ग) के बीच है।

और पढ़े: जवाई बांध का इतिहास और इसके पर्यटन स्थल की जानकारी 

5. गैब सागर झील डूंगरपुर का नक्शा – Gaib Sagar Lake Dungarpur Map

6. गैब सागर झील की फोटो गैलरी – Gaib Sagar Lake Images

और पढ़े:

Featured Image Credit: Punit Saini

Write A Comment