डूंगरपुर के देव सोमनाथ मंदिर के दर्शन की जानकारी - Deo Somnath Temple In Hindi

डूंगरपुर के देव सोमनाथ मंदिर के दर्शन की जानकारी – Deo Somnath Temple Dungarpur In Hindi

Deo Somnath Temple In Hindi, देव सोमनाथ मंदिर डुंगरपुर से 24 किलोमीटर की दूरी पर स्थित भगवान शिव का एक बहुत ही सुंदर मंदिर है। 12 वीं शताब्दी में निर्मित देव सोमनाथ मंदिर सोम नदी के तट पर स्थित डूंगरपुर शहर का प्रमुख आस्था केंद्र है। मंदिर के पास में कई स्मारक हैं जो उन योद्धाओं की याद में बनाए गए हैं जिनका अंतिम संस्कार यहां किया गया था। जो पर्यटकों के घूमने के लिए डूंगरपुर के सबसे लोकप्रिय जगहों में से एक है, अगर आप अपनी दैनिक व्यस्तता से दूर कुछ समय शांति और भगवान् के चरणों में व्यतीत करना चाहते है तो आप डूंगरपुर में देव सोमनाथ मंदिर की यात्रा अवश्य कर सकते हैं।

Read moreडूंगरपुर के देव सोमनाथ मंदिर के दर्शन की जानकारी – Deo Somnath Temple Dungarpur In Hindi

बादल महल डूंगरपुर घूमने की जानकारी - Badal Mahal Dungarpur In Hindi

बादल महल डूंगरपुर घूमने की जानकारी – Badal Mahal Dungarpur In Hindi

Badal Mahal Dungarpur In Hindi, गैबसागर झील के तट पर स्थित बादल महल डूंगरपुर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है, जो अपने विस्तृत डिजाइन और राजपूतों व मुगलों की स्थापत्य शैली के मिश्रण के लिए प्रसिद्ध है। शाम के समय, जब शाम ढलती है, तो रंगीन रोशनी, बादल महल को आकर्षणीय रूप प्रदान करती है। जो पर्यटकों के लिए प्रमुख आकर्षण केंद्र बना हुआ है। बादल महल हर बर्ष कई हजारो पर्यटकों की मेजबानी करता है। जो अपने परिवार या दोस्तों के साथ यादगार समय बिताने विताने के लिए एक आदर्श स्थान है।

Read moreबादल महल डूंगरपुर घूमने की जानकारी – Badal Mahal Dungarpur In Hindi

राजस्थान के बेणेश्वर धाम घूमने की जानकारी - Beneshwar Dham Yatra In Hindi

राजस्थान के बेणेश्वर धाम घूमने की जानकारी – Beneshwar Dham Yatra In Hindi

Beneshwar Dham In Hindi, बेणेश्वर मंदिर डूंगरपुर का एक प्रमुख मंदिर है जो सोम और माही नदियों के संगम पर बनने वाले डेल्टा पर स्थित है। 5 फिट ऊँचे भगवान शिव के इस लिंग को स्वयंभू माना जाता है। बेणेश्वर मंदिर डूंगरपुर के प्रमुख तीर्थ स्थलों में से एक है जो स्थानीय लोगो के साथ-साथ पर्यटकों के लिए आस्था केंद्र बना हुआ है। बेणेश्वर मंदिर के समीप ही 1793 ई में निर्मित विशु मंदिर है जो जनकुंवरी की बेटी हैं। जनकुंवरी एक अत्यंत पूजनीय संत हैं जो भगवान विष्णु के अवतार माने जाते हैं। बेणेश्वर मंदिर एक ऐसा स्थान है जिसे आदिवासी संस्कृति से जुड़े इतिहास के कारण दुनिया भर में मान्यता प्राप्त है। और साथ ही विविध संस्कृतियों का दृश्य भी प्रस्तुत करता है। अगर आप डूंगरपुर की यात्रा करने जा रहें हैं तो आपको भगवान शिव के दर्शन करने के लिए बेणेश्वर मंदिर की यात्रा अवश्य करनी चाहिए।

Read moreराजस्थान के बेणेश्वर धाम घूमने की जानकारी – Beneshwar Dham Yatra In Hindi

जूना महल डूंगरपुर घूमने की जानकारी - Juna Mahal In Hindi

जूना महल डूंगरपुर घूमने की जानकारी – Juna Mahal Dungarpur In Hindi

Juna Mahal In Hindi, जूना महल राजस्थान के प्रमुख ऐतिहासिक स्थलों में से एक है। यह 13 वीं शताब्दी में निर्मित एक विशाल सात मंजिला इमारत है जो आधुनिक तकनीक के आभाव में निर्मित होने के बाबजूद भी एक अदभुद संरचना है। महल में 700 साल पुराने चित्र हैं जो शानदार महल निर्माण के प्रतीक है, जिसे  बड़ा महल या पुराण महल के नाम से भी जाना जाता है। जूना महल एक आकर्षक संरचना है जो वॉच टॉवर, किलेबंदी और मज्जा गलियारों से भरा हुआ है। और इसमें  नीले पारेवा पत्थर का उपयोग  मेहराबों, खिड़कियों और खंभों को सजाने के लिए किया गया है। जूना महल पर्यटकों के घूमने के लिए डूंगरपुर की सबसे आकर्षक जगहों में से एक है, और जो प्रत्येक बर्ष कई हजारों पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है।

Read moreजूना महल डूंगरपुर घूमने की जानकारी – Juna Mahal Dungarpur In Hindi

डूंगरपुर के गलियाकोट दरगाह घूमने की जानकरी - Galiakot Dargah In Hindi

डूंगरपुर के गलियाकोट दरगाह घूमने की जानकरी – Galiakot Dargah In Hindi

Galiakot Dargah In Hindi, डूंगरपुर से 58 किलोमीटर की दूरी पर माही नदी के तट पर स्थित गलियाकोट नामक एक बस्ती है। यह जगह सैयद फखरुद्दीन की दरगाह के लिए जानी जाती है। वह एक प्रसिद्ध संत थे जिन्हें उनकी मृत्यु के बाद गलियाकोट में दफनाया गया था। जिसे गलियाकोट दरगाह के नाम से जाने जाना लगा। गलियाकोट दरगाह को सफेद संगमरमर से बनाया गया है और उनकी शिक्षाएँ को दरगाह की दीवारों पर उकेरी गई हैं। और गुंबद के भीतरी हिस्से को सुंदर पर्णकुटी से सजाया गया है जबकि क़ुरान की शिक्षाओं को कब्र पर सुनहरे अक्षरों में वर्णित किया गया है। गलियाकोट दरगाह डूंगरपुर के प्रमुख पर्यटक स्थलों में से एक है जहाँ देश के कोने-कोने से लोग दरगाह में माथा टेकने और घूमने के लिए गलियाकोट दरगाह की यात्रा करते है।

Read moreडूंगरपुर के गलियाकोट दरगाह घूमने की जानकरी – Galiakot Dargah In Hindi

गैब सागर झील घूमने और इसके पर्यटन स्थल की पूरी जानकारी - Gaib Sagar Lake In Hindi

गैब सागर झील घूमने और इसके पर्यटन स्थल की पूरी जानकारी – Gaib Sagar Lake Information In Hindi

Gaib Sagar Lake In Hindi, गैब सागर झील डूंगरपुर के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। यह अपनी तरफ भारी संख्या में पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए प्रसिद्ध है। आपको बता दें कि यह झील एक मानव निर्मित झील है जिसका निर्माण महाराज गोपीनाथ द्वारा 1428 में किया था। झील के पास पर्यटक कई पक्षियों के घोंसले देख सकते हैं। गैब सागर झील के पास कई प्रवासी पक्षियों की अच्छी किस्म है जो इस स्थान को अपना घर मानते हैं। यहां पर आप कई बतख, ग्रे और बैंगनी बगुले, बैंगनी मूरहेन और हरे कबूतर देख सकते हैं। जब सूरज धीरे-धीरे ढलने लगता है तो झील शाम के समय बेहद आकर्षित लगती है।

Read moreगैब सागर झील घूमने और इसके पर्यटन स्थल की पूरी जानकारी – Gaib Sagar Lake Information In Hindi

डूंगरपुर में घुमने लायक 10 दर्शनीय स्थल की जानकारी – 10 Best Places To Visit In Dungarpur Tourism In Hindi

राजस्थान के डूंगरपुर के 10 ऐसे दर्शनीय स्थल जहां आपको एक बार जरुर जाना चाहिए

Dungarpur Tourism In Hindi, डूंगरपुर राजस्थान का प्रमुख पर्यटन स्थल है जो अपने कई महलों और सुंदरता की वजह से जाना जाता है। डूंगरपुर राजस्थान के एक ऐसा स्थल है जहां की यात्रा करके पर्यटक बेहद ताजा महसूस करते हैं। डूंगरपुर का प्रमुख आकर्षण यहां बहने वाली दो नदियाँ माही और सोम है जो इसे और भी ज्यादा खूबसूरत बनाती हैं। डूंगरपुर अपने पर्यटन स्थलों के अलावा अपनी वास्तुकला के लिए जाना जाता है। डूंगरपुर के जटिल महलों राजाओं और रानियों के जीवन को पत्थर में इतनी खूबसूरती से उकेरा गया है जैसा कि कभी नहीं किया गया है। डूंगरपुर एक हरे रंग का संगमरमर का पत्थर के लिए भी जाना जाता है।

Read moreराजस्थान के डूंगरपुर के 10 ऐसे दर्शनीय स्थल जहां आपको एक बार जरुर जाना चाहिए