Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Barmer Tourism In Hindi, बाड़मेर, राजस्थान के सबसे बड़े जिलों में से एक है। यह जिला राज्य के पश्चिम में स्थित होने की वजह से इसमें थार रेगिस्तान का एक हिस्सा भी शामिल है। यह पश्चिम में पाकिस्तान के साथ एक सीमा भी साझा करता है। आपको बता दें कि बाड़मेर राजस्थान के मजबूत इतिहास वाले क्षेत्रों में से एक है और इसके साथ ही यह अपने पर्यटन स्थलों के लिए भी काफी प्रसिद्ध है। बारमेर जिले का कुल क्षेत्रफल 28,387 वर्ग किलोमीटर (10,960 वर्ग मील) है।
जो जैसलमेर जिले और बीकानेर जिले के बाद राजस्थान राज्य का तीसरा सबसे बड़ा जिला है। यह भारत पांचवा सबसे बड़ा जिला भी है। अगर आप बाड़मेर के बारे में अन्य जैसे इतिहास और पर्यटन स्थलों के बारे में जानना चाहते हैं तो इस लेख को जरुर पढ़ें, यहां हम आपको बाड़मेर के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहें हैं।

1. बाड़मेर में क्या प्रसिद्ध है – What’s So Famous About Barmer In Hindi

बाड़मेर में क्या प्रसिद्ध है

Image Credit: Raja Prasanna.M

बाड़मेर को पुराने समय में मालाणी के नाम से जाना जाता था। यह शहर अपनी जीवंतता पर्यटकों को बेहद आकर्षित करता है। जो बाड़मेर की यात्रा करता है वो राजस्थान के ग्रामीण जीवन को यहां देख पाता है। बारमेर की यात्रा के दौरान यहां रास्ते में पड़ने वाले गाँव और लोगों की राजस्थानी पोशाकें पर्यटकों को बेहद भाती है। मार्च के महीने के समय पूरा शहर रंगों से भर जाता है क्योंकि यहां पर इस दौरान बाड़मेर महोत्सव का आयोजन होता है। बारमेर अपने पर्यटन स्थलों के अलावा अपने इस महोत्सव के लिए भी काफी प्रसिद्ध है।

2. बाड़मेर का इतिहास – Barmer History In Hindi

 बाड़मेर का इतिहास

Image Credit: Jitendra Kumar

आपको बता दें कि 12 वीं शताब्दी में इस क्षेत्र को मल्लानी के नाम से जाना जाता था। वर्तमान शहर का संस्थापक बहादा राव द्वारा किया गया था, जो एक परमार शासक हैं। उनके द्वारा एक छोटा शहर का निर्माण भी किया गया था जिसे जूना कहा जाता है। आपको बता दें कि जूना बाड़मेर शहर से 25 किलोमीटर दूर है। परमारों के बाद रावल लुका, मल्लीनाथ के बड़े पुत्र ने अपने भाई रावल मंडलाकार की मदद से जूना बाड़मेर में अपना राज्य स्थापित किए था। उन्होंने जूना के परमारों को हराया और इसे अपनी राजधानी बनाया। इसके बाद में उनके वंशज, रावत भीम जो कि एक महान योद्धा थे उन्होंने ने 1552 ई में बाड़मेर के वर्तमान शहर की स्थापना की और अपनी राजधानी को जूना से बाड़मेर स्थानांतरित कर दिया।

बाड़मेर अपने ऐतिहासिक स्मारकों और मंदिरों के लिए जाना जाता है जो इस क्षेत्र में स्थित हैं।बाड़मेर शहर में ऐसे मंदिरों स्थित हैं, जो पूरे देश के पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। बाड़मेर अपने जगदम्बे देवी के मंदिर के लिए बहुत प्रसिद्ध है। इस मंदिर के बारे में ऐसा कहा जाता है कि यह मंदिर 500 साल पुराना है। यह मंदिर मैदान से लगभग 140 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है।

और पढ़े: अलवर जिले के बाला किला पर्यटन की जानकारी 

3. बाड़मेर में मेले और त्यौहार – Fairs And Festivals In Barmer Rajasthan In Hindi

बाड़मेर में मेले और त्यौहार

बाड़मेर की संस्कृति ऐसी है कि इस छोटे से शहर में पूरे साल कई मेलों और त्यौहारों का आयोजन होता है। यहां के लोग अपने जिले और धर्म के विभिन्न रंगों को दिखाने का कोई मौका नहीं छोड़ते हैं।यहां लोग हर बेहद उल्लास और उत्साह के साथ मनाते हैं। बाड़मेर में आयोजित कुछ प्रमुख मेले और त्योहार इस प्रकार हैं।

  • मल्लीनाथ मवेशी मेला
  • बाड़मेर थार त्योहार

4. बाड़मेर में घुमने की जगह और पर्यटन स्थल – Tourist Places In Barmer Tourism In Hindi

बाड़मेर राजस्थान का एक जिअल होने के साथ प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। अगर आप बाड़मेर की यात्रा करने के लिए जा रहें हैं तो यहां के कई पर्यटन स्थलों की यात्रा भी कर सकते हैं। बाड़मेर के प्रमुख पर्यटन स्थलों की जानकारी हमने नीचे दी है।

4.1 बाड़मेर में प्रसिद्ध धार्मिक स्थल किराडू मंदिर – Barmer Me Prasidh Dharmik Sthal Kiradu Temples In Hindi

बाड़मेर में प्रसिद्ध धार्मिक स्थल किराडू मंदिर

Image Credit: Monish Kumar

किराडू मंदिर बाड़मेर से 35 किमी,थार रेगिस्तान के पास एक शहर में 5 मंदिर के पास स्थित हैं जिन्हें किराडू मंदिर कहा जाता है। यह सभी मंदिर वास्तुकला की अपनी सोलंकी शैली के लिए प्रसिद्ध हैं। इन मंदिरों में उल्लेखनीय और शानदार मूर्तियां हैं। यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित हैं और इन सभी पांच मंदिरों में से सोमेश्वर मंदिर सबसे अद्भुत है।

4.2 बाड़मेर जिले के आकर्षण स्थल बाड़मेर का किला – Barmer Jile Ke Aakarshan Sthal Barmer Fort In Hindi

बाड़मेर जिले के आकर्षण स्थल बाड़मेर का किला

Image Credit: Manish Kumar

बाड़मेर का किला एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है जिसको रावत भीम ने 1552 ई में बाड़मेर के वर्तमान शहर में पहाड़ी पर बनवाया था। इस किले का निर्माण उन्होंने तब करवाया था जब उन्होंने पुराने बाड़मेर को वर्तमान शहर में स्थानांतरित कर दिया था। इसक इले को बाड़मेर गढ़ के नाम से भी जाना जाता है। बाड़मेर किले की पहाड़ी 1383 फीट उंची है लेकिन रावत भीम ने 676 फीट की ऊंचाई पर किले का निर्माण करवाया है जो पहाड़ी की चोटी से भी ज्यादा सुरक्षित है।

बाड़मेर का किला शहर में आने वाले पर्यटकों के आकर्षण का प्रमुख केंद्र है। फोर्ट का मुख्य प्रवेश द्वार उत्तर दिशा की ओर है। बता दें कि इस किले के सुरक्षा द्वार पूर्व और पश्चिम दिशा की तरफ बने हैं। पहाड़ी की प्राकृतिक सुंदरता की वजह से इस किले की चारदीवारी साधारण बनाई गई थी। इस किले की सबसे खास बात यह है कि यह अपनी चारों तरफ से मंदिरों से घिरा हुआ है।

4.3 बाड़मेर के दर्शनीय स्थल गढ़ मंदिर – Barmer Ke Darshaniya Sthal Garh Temple In Hindi

बाड़मेर के दर्शनीय स्थल गढ़ मंदिर

Image Credit: Lio Marti

बाड़मेर किले की पहाड़ी पर दो महत्वपूर्ण धार्मिक स्थान हैं। जिनमें से एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित जोगमाया मंदिर है जिसे गढ़ मंदिर भी कहा जाता है। यह मंदिर 1383 की ऊँचाई पर स्थित है और 500 फीट की ऊँचाई पर नागणेची माता मंदिर है। यह दोनों मंदिर बेहद प्रसिद्ध हैं। नवरात्र के पवित्र पर्व के दौरान यहां पर मेले का आयोजन किया जाता है।

4.4 बाड़मेर के मशहूर मंदिर श्री नाकोड़ा जैन मंदिर – Barmer Ke Famous Temple Shri Nakoda Jain Temple In Hindi

बाड़मेर के मशहूर मंदिर श्री नाकोड़ा जैन मंदिर

श्री नाकोड़ा जैन मंदिर तीसरी शताब्दी में निर्मित एक प्राचीन मंदिर है जिसका कई बार जीर्णोद्धार किया गया है। 13 वीं शताब्दी में अलमशाह ने इस मंदिर पर आक्रमण किया और लूट लिया। लेकिन वो मंदिर की मूर्ति चोरी नहीं कर पाया क्योंकि वो यहां कुछ मील दूर गांव में छिपा दी गई थी। इसके बाद मूर्ति को वापस लाया गया और 15 वीं शताब्दी में मंदिर को पुनर्निर्मित किया गया।

4.5 बाड़मेर के आकर्षण स्थल देव सूर्य मंदिर – Barmer Ke Aakarshan Sthan Devka Sun Mandir In Hindi

बाड़मेर के आकर्षण स्थल देव सूर्य मंदिर

Image Credit: Vaghela Ashok

देव-सूर्य मंदिर का निर्माण 12 वीं या 13 वीं शताब्दी में किया गया था। बाड़मेर-जैसलमेर रोड के किनारे बाड़मेर से लगभग 62 किलोमीटर की दूरी पर देवका में स्थित इस मंदिर को अपनी शानदार वास्तुकला के लिए जाना जाता है। यहां गाँव में दो अन्य मंदिरों और हैं जो कि खंडहर हैं। बता दें कि इन मंदिरों में भगवान गणेश की मूर्तियां हैं।

और पढ़े: करौली के श्री महावीर जी मंदिर के दर्शन और इसके पर्यटन स्थल की जानकारी 

4.6 बाड़मेर के पर्यटन स्थल विष्णु मंदिर – Barmer Ke Paryatan Sthal Vishnu Temple In Hindi

विष्णु मंदिर बाड़मेर में सबसे महत्वपूर्ण पर्यटन स्थानों में से एक है। यह मंदिर एक वास्तुकला चमत्कार है और इसके चारों तरफ भव्य आभा है। आपको बता दें कि इस मंदिर के आस-पास का बाजार पूरे बाड़मेर में खरीदारी के लिए प्रसिद्ध हैं।

4.7 बाड़मेर में घुमने लायक जगह रानी भटियानी मंदिर – Barmer Me Ghumne Layak Jagah Rani Bhatiyani Temple In Hindi

बाड़मेर में घुमने लायक जगह रानी भटियानी मंदिर

Image Credit: Shobh Singh Tanwar

रानी भटियानी मंदिर जसोल में स्थित है। यह मंदिर खास रूप से मंगियार बार्ड समुदाय द्वारा पूजा जाता है। क्योंकि इसके बारे में कहा जाता है कि इस मंदिर ने एक मंगनियार को दिव्य दृष्टि दी है। कई लोग इस मंदिर की देवी को मजीसा या माँ के दर्भित करते हैं और उनके सम्मान में गीत भी गाते हैं। पौराणिक कथा की माने तो मंदिर की देवी एक राजपूत राजकुमारी थीं जिन्हें देवी बनने से पहले स्वरूप कहा जाता था।

4.8 बाड़मेर के फेमस टूरिस्ट प्लेस जूना फोर्ट और मंदिर – Barmer Famous Tourist Place Juna Fort & Temple In Hindi

बाड़मेर के फेमस टूरिस्ट प्लेस जूना फोर्ट और मंदिर

Image Credit: Jogendra Gour

जूना किला पुराना बाड़मेर है जो राव द्वारा निर्मित मुख्य शहर था लेकिन रावत भीम के शासन के दौरान उन्होंने बाड़मेर को नए स्थान पर स्थानांतरित कर दिया जहां अभी वर्तमान बाड़मेर शहर स्थित हैं। पुराना बाड़मेर यानि जूना शहर से 25 किलोमीटर दूर है। बता दें कि यह अपने जैन मंदिर और पुराने किले के लिए प्रसिद्ध है। जूना अपने अतीत के गौरव और पुरानी विरासत के खंडहर के रूप में आज भी बना हुआ है। मंदिर के पास एक पत्थर के खंभे पर शिलालेख है जो यह बताता है कि यह 12 वीं या 13 वीं शताब्दी में बनाया गया था। जूना पहाड़ियों से घिरा हुआ है और इसके पास एक छोटी झील भी स्थित है। अगर आप बाड़मेर जिले की यात्रा करने जा रहें हैं तो आपको जूना किले को अपनी सूचि में जरुर शामिल करना चाहिए।

4.9 बाड़मेर में प्रसिद्ध जगह चेतामणि पारसनाथ जैन मंदिर – Barmer Ki Prasidh Jagah Chintamani Parasnath Jain Temple In Hindi

बाड़मेर में प्रसिद्ध जगह चेतामणि पारसनाथ जैन मंदिर

Image Credit: Akshay Jain

चेतामणि पारसनाथ जैन मंदिर को अपनी शानदार मूर्तियों और सजावटी चित्रों के लिए जाना जाता है। इस मंदिर के आंतरिक भाग में कांच के साथ कलमकारी की गई है। आपको बता दें कि इस मंदिर का निर्माण 16 वीं शताब्दी में श्री नेमाजी जीवाजी बोहरा ने किया था। यह मंदिर बाड़मेर शहर के पश्चिमी भाग में एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। अगर आप बाड़मेर शहर की यात्रा करने की योजना बना रहें हैं। तो आपको इस चेतामणि पारसनाथ जैन मंदिर को अपनी सूचि में जरुर शामिल करना चाहिए।

4.10 बाड़मेर जिले में देखने लायक जगह सफ़ेद अखाडा – Barmer Jile Me Dekhne Layak Jagah Safed Akhara In Hindi

बाड़मेर जिले में देखने लायक जगह सफ़ेद अखाडा

Image Credit: Hrashvardhan Prajapati

सफ़ेद अखाड़ा महाबार रेत टिब्बा के रास्ते पर स्थित है जिसे सिद्धेश्वर महादेव मंदिर के रूप में भी जाना जाता है। यह एक मंदिर है जो एक बगीचे के साथ स्थित है। मंदिर परिसर के अंदर भगवान शिव, राधा- कृष्ण और हनुमान को समर्पित मंदिर स्थित है। मंदिर परिसर में बड़े बगीचे हैं जो दिखने में बेहद सुंदर है। मंदिर के बगीचों में पर्यटक मोरों को घूमते हुए भी देख सकते हैं। सफ़ेद अखाड़ा उन पर्यटन स्थलों में से एक है जिसे अक्सर पर्यटकों द्वारा अनदेखा किया जाता है। अगर आप बाड़मेर की यात्रा करने जा रहें हैं तो आपको सफेद अखाडा की सैर जरुर करना चाहिए। अगर आप शहर की हलचल से शांति के कुछ पल बिताना चाहते हैं तो यह बगीचे के शांत वातावरण का आनंद लेने एक बहुत अच्छी जगह है।

और पढ़े: जालोर टूरिज्म के टॉप 10 पर्यटन स्थल घूमने की जानकारी 

5. बाड़मेर यात्रा के लिए टिप्स – Tips For Visiting Barmer Tourism In Hindi

बाड़मेर यात्रा के लिए टिप्स

  • अगर आप सर्दियों के मौसम में बाड़मेर की यात्रा कर रहें हैं तो अपने साथ वूलेन और अच्छे जूते लेकर जाएँ।
  • अगर आप गर्मियों के दौरान शहर का दौरा कर रहे हैं तो हल्के सूती कपड़े सबसे अच्छे रहेंगे
  • गर्मियों के दौरान यहां का तापमान 51 डिग्री सेल्सियस से से ऊपर भी जा सकता है।

6. बाड़मेर घुमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Barmer Tourism In Hindi

बाड़मेर घुमने जाने का सबसे अच्छा समय

Image Credit: Himanshu Verma

अगर आप बाड़मेर की यात्रा करने की योजना बना रहें हैं तो आपको बता दें कि राजस्थान के इस खूबसूरत शहर को देखने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर और मार्च के महीनों के बीच है। क्योंकि इन महीनों के दौरान रेतीले क्षेत्र में साल के इस हिस्से के दौरान मौसम सुहावना रहता है। लेकिन अगर आप गर्मियों के दौरान शहर का दौरा कर रहे हैं तो हल्के सूती कपड़ों के साथ यात्रा करना सही रहेगा। रेगिस्तानी क्षेत्र होने के कारण गर्मियों के मौसम में यहां भीषण गर्मी पड़ती है और तापमान 50 डिग्री से ऊपर पहुंच जाता है। बरसात के मौसम में बाड़मेर की यात्रा करने से बचें।

और पढ़े: शाहबाद किला बारां घूमने और इसके आकर्षण स्थल की जानकारी

7. बाड़मेर राजस्थान कैसे जाये – How To Reach Barmer In Hindi

बाड़मेर राजस्थान का एक प्रमुख जिला और पर्यटन स्थल है। सड़क मार्ग से ये शहर और जोधपुर जैसे प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। बाड़मेर अपना हवाई कोई अड्डा नहीं है लेकिन जोधपुर से सड़क और रेल मार्ग से इसकी अच्छी कनेक्टिविटी है। आप देश के प्रमुख शहरों से सड़क, हवाई और ट्रेन मार्ग से बाड़मेर की यात्रा कर सकते हैं।

7.1 हवाई जहाज से बाड़मेर कैसे पहुँचे – How To Reach Barmer By Air In Hindi

हवाई जहाज से बाड़मेर कैसे पहुँचे

अगर आप हवाई मार्ग से बाड़मेर की यात्रा करना चाहते हैं तो बा दें कि इसा निकटतम हवाई अड्डा जोधपुर में बाड़मेर से लगभग 220 किमी दूर है। दिल्ली, मुंबई, जयपुर और उदयपुर से लगातार उड़ानें हैं। हवाई अड्डे से बाड़मेर जाने के लिए टैक्सी उपलब्ध हैं। विकल्प के रूप में बाड़मेर से लगभग 320 किमी दूर जयपुर में निकटतम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा भी है।

7.2 बाड़मेर ट्रेन से कैसे पहुँचे – How To Reach Barmer By Train In Hindi

बाड़मेर ट्रेन से कैसे पहुँचे

जो भी पर्यटक ट्रेन द्वारा यात्रा करना चाहते हैं उनके लिए बता दें कि बाड़मेर रेलवे स्टेशन जोधपुर से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। जोधपुर के लिए भारत के प्रमुख शहरों से कई ट्रेन उपलब्ध हैं। बाड़मेर पहुँचने के लिए रेलगाड़ी एक सस्ता साधन है।

7.3 कैसे पहुंचे बाड़मेर सड़क मार्ग से – How To Reach Barmer By Bus In Hindi

कैसे पहुंचे बाड़मेर सड़क मार्ग से

अगर आप सड़क मार्ग से बाड़मेर की यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि बाड़मेर बस टर्मिनस रेलवे स्टेशन के पास स्थित है। बाड़मेर के लिए आपको जोधपुर, जयपुर, उदयपुर सहित राज्य के अधिकांश शहरों से बसें मिल जायेंगी।

और पढ़े: उदयपुर के सबसे खुबसूरत मंदिर: जग मंदिर से जुडी पूरी जानकारी

8. बाड़मेर राजस्थान का नक्शा – Barmer Rajasthan Map

9. बाड़मेर की फोटो गैलरी – Barmer Images

View this post on Instagram

i love barmer ? #krgajjubanna #barmer #barmerboys #barmer

A post shared by kr gajendra sodha (@kr_gajju_banna_tibniyar_) on

और पढ़े:

Write A Comment