श्री नाकोड़ा जैन मंदिर के दर्शन की जानकारी – Shri Nakoda Jain Temple In Hindi

Nakoda Jain Temple In Hindi, श्री नाकोड़ा जैन मंदिर तीसरी शताब्दी में निर्मित एक प्राचीन मंदिर है जिसका कई बार जीर्णोद्धार किया गया है। नाकोड़ा जैन मंदिर में पार्श्वनाथ की लगभग 58 सेमी ऊँची मूर्ति कमल की स्थिति में विराजमान है। नाकोड़ा जैन मंदिर का प्राचीन नाम वीरमपुर नगरी था, क्योंकि माना जाता है तीसरी शताब्दी के दौरान वीरसेन और नकोर्सन ने इस परम पावान मंदिर का निर्माण किया था। जो जैन समुदाय के लिए के प्रमुख आस्था केंद्र है। आपको बता दे मंदिर में स्थापित पार्श्वनाथ की प्रतिमा को नाकोडा गाँव से यहाँ लाया गया था इसीलिए इस स्थान को नाकोड़ा पार्श्वनाथ मंदिर कहा जाता है। और पौष कृष्ण की दशमी को भगवान पार्श्वनाथ के जन्मदिन के अवसर पर यहाँ एक बड़े मेला का आयोजन भी किया जाता है, जो देश के बिभिन्न कोनो से तीर्थ यात्रियों और पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है।

Table of Contents

नाकोड़ा जैन मंदिर का इतिहास – Nakoda Jain Temple History In Hindi

नाकोड़ा जैन मंदिर का इतिहास

श्री नाकोड़ा जैन मंदिर का निर्माण तीसरी शताब्दी के दौरान वीरसेन और नकोर्सन नामक दो व्यक्तियों द्वारा किया गया था। लेकिन 13 वीं शताब्दी में अलमशाह ने इस मंदिर पर आक्रमण किया और मंदिर को लूट लिया। लेकिन वो मंदिर की मूर्ति चोरी नहीं कर पाया क्योंकि मूर्ति को कुछ मील दूर नाकोड़ा गांव में छिपा दी गई थी। और कुछ समय बाद मूर्ति को नाकोड़ा गाँव से वापस लाया गया और 15 वीं शताब्दी में आचार्य श्री विजय हिमाचल सूरी द्वारा श्री नाकोड़ा भेरूजी की मूर्ति स्थापित की गई थी जिन्होंने इस मंदिर में अन्य तीर्थंकरों की मूर्तियाँ भी स्थापित की थीं।

श्री नाकोड़ा जैन मंदिर की वास्तुकला – Shri Nakoda Jain Temple Architecture In Hindi

नाकोड़ा जैन मंदिर में पार्श्वनाथ की लगभग 58 सेमी ऊँची अद्भुत नीले रंग की मूर्ति कमल की स्थिति में विराजमान है। श्री शांतिनाथ भगवान के जीवन इतिहास को मूर्तियों के रूप में प्रदर्शित किया गया है। मुख्य मंदिर के पास कई छोटे और बड़े मंदिर भी बने हुए हैं। मंदिर परिसर में पार्श्वनाथ जी की मूर्ति के साथ-साथ अन्य मंदिरों में श्री आदिनाथ भगवान और श्री शांतिनाथ भगवान की मूर्तियाँ भी स्थापित हैं। मंदिर में भगवान पार्श्वनाथ और भगवान शांतिनाथ के पूर्ण आकार के चित्र संगमरमर पर उकेरे गए हैं। मुख्य मंदिर के बाहर भगवान नेमिनाथ की दो प्राचीन मूर्तियाँ ध्यान मुद्रा में हैं।

और पढ़े : तिजारा जैन मंदिर अलवर के दर्शन की जानकारी

नाकोड़ा जैन मंदिर खुलने और बंद होने का समय –  Nakoda Ji Mandir Timing In Hindi

आपको बता दे की नाकोड़ा जैन मंदिर तीर्थ यात्रियों के घूमने के लिए प्रतिदिन सुबह 6.00 से रात 9.00 बजे तक खुला रहता है।

नाकोड़ा जैन मंदिर की एंट्री फीस – Nakoda Ji Temple Entry Fees In Hindi

नाकोड़ा जैन मंदिर में तीर्थ यात्रियों के प्रवेश के लिए किसी प्रकार चार्ज नही लिया जाता है, पर्यटक यहाँ बिना किसी शुल्क का भुगतान किये नाकोड़ा जैन मंदिर में घूम सकते हैं।

नाकोड़ा जैन मंदिर बाड़मेर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Nakoda Jain Temple In Hindi

Best Time To Visit Nakoda Jain Temple In Hindi

अगर आप नाकोड़ा जैन मंदिर बाड़मेर घूमने जाने की यात्रा करने की योजना बना रहें हैं तो आपको बता दें कि राजस्थान के इस खूबसूरत शहर को देखने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर और मार्च के महीनों के बीच है। क्योंकि इन महीनों के दौरान रेतीले क्षेत्र में साल के इस हिस्से के दौरान मौसम सुहावना रहता है। लेकिन अगर आप गर्मियों के दौरान नाकोड़ा जैन मंदिर का दौरा कर रहे हैं तो हल्के सूती कपड़ों के साथ यात्रा करना सही रहेगा। रेगिस्तानी क्षेत्र होने के कारण गर्मियों के मौसम में यहां भीषण गर्मी पड़ती है और तापमान 50 डिग्री से ऊपर पहुंच जाता है। बरसात के मौसम में बाड़मेर की यात्रा करने से बचें।

और पढ़े : बाड़मेर जिले में घुमने लायक आकर्षण स्थलों की जानकारी

नाकोड़ा जैन मंदिर के आसपास के आकर्षण स्थल – Best Places To Visit Near Nakoda Jain Temple In Hindi

अगर आप बाड़मेर में नाकोड़ा जैन मंदिर घूमने जाने का प्लान बना रहे है तो हम आपको बता दे बाड़मेर में नाकोडा जैन मंदिर, के अलावा भी अन्य लोकप्रिय पर्यटक स्थल है जिन्हें आप अपनी बाड़मेर की यात्रा दोरान घूम सकते हैं।

  • बाड़मेर का किला
  • गढ़ मंदिर
  • देव सूर्य मंदिर
  • विष्णु मंदिर
  • रानी भटियानी मंदिर
  • जूना फोर्ट और मंदिर
  • चेतामणि पारसनाथ जैन मंदिर
  • सफ़ेद अखाडा

नाकोड़ा जैन मंदिर बाड़मेर कैसे जाये – How To Reach Nakoda Jain Temple Barmer In Hindi

अगर आप राजस्थान के प्रमुख शहर बाड़मेर में नाकोड़ा जैन मंदिर घूमने जाने का प्लान बना रहे है तो आप देश के किसी भी प्रमुख शहरों से सड़क, हवाई और ट्रेन मार्ग से यात्रा करके नाकोड़ा जैन मंदिर बाड़मेर पहुंच सकते हैं।

हवाई जहाज से नाकोड़ा जैन मंदिर बाड़मेर कैसे पहुँचे – How To Reach Nakoda Jain Temple By Air In Hindi

हवाई जहाज से नाकोड़ा जैन मंदिर बाड़मेर कैसे पहुँचे – How To Reach Nakoda Jain Temple By Air In Hindiअगर आप हवाई मार्ग से नाकोड़ा जैन मंदिर बाड़मेर की यात्रा करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि बाड़मेर का निकटतम हवाई अड्डा जोधपुर हवाई अड्डा है जो बाड़मेर से लगभग 220 किमी की दूरी पर स्थित है। जोधपुर हवाई अड्डा  के लिए दिल्ली, मुंबई, जयपुर और उदयपुर से लगातार उड़ानें उपलब्ध हैं। हवाई अड्डे से नाकोड़ा जैन मंदिर बाड़मेर जाने के लिए आप  टैक्सी, केब या बस से यात्रा कर सकते हैं।

ट्रेन से नाकोड़ा जैन मंदिर कैसे जाये – How To Reach Nakoda Jain Temple By Train In Hindi

ट्रेन से नाकोड़ा जैन मंदिर कैसे जाये – How To Reach Nakoda Jain Temple By Train In Hindiअगर आप नाकोड़ा जैन मंदिर की यात्रा ट्रेन द्वारा करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि नाकोड़ा जैन मंदिर का निकटतम रेलवे स्टेशन बाड़मेर रेलवे स्टेशन है जो जोधपुर और अन्य प्रमुख शहरों से रेल मार्ग द्व्रारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। तो आप ट्रेन से यात्रा करके बाड़मेर रेलवे स्टेशन पहुंच सकते है और रेलवे स्टेशन से नाकोड़ा जैन मंदिर जाने के लिए आप टैक्सी, ऑटो या अन्य स्थानीय वाहनों की मदद ले सकते हैं।

सड़क मार्ग से नाकोड़ा जैन मंदिर कैसे पहुंचे – How To Reach Nakoda Jain Temple Barmer By Bus In Hindi

सड़क मार्ग से नाकोड़ा जैन मंदिर कैसे पहुंचे – How To Reach Nakoda Jain Temple Barmer By Bus In Hindiअगर आप सड़क मार्ग से नाकोडा जैन मंदिर की यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि बाड़मेर बस टर्मिनल रेलवे स्टेशन के पास स्थित है। बाड़मेर के लिए आपको जोधपुर, जयपुर, उदयपुर सहित राज्य के अधिकांश शहरों से बसें मिल जायेंगी। उसके अलावा आप टैक्सी, केब या अपनी निजी कार के माध्यम से भी नाकोड़ा जैन मंदिर पहुंच सकते हैं।

और पढ़े : नारेली जैन टेम्पल अजमेर राजस्थान घूमने की जानकारी

नाकोड़ा जैन मंदिर बाड़मेर का नक्शा – Nakoda Jain Temple Barmer Map

नाकोड़ा जैन मंदिर की फोटो गैलरी – Nakoda Jain Temple Images

View this post on Instagram

Weekend Trip -1 It is a huge temple..as it is magic of clicking on 20 mm .Thats why it is looking compact… This temple is full of art work of stones & glass works.. There was so many temples but as photography was not allowed , so i was able to click this one only… . Happy sunday people ? . ➡Canon-1200d #igersjodhpur#igersrajasthan #planetjodhpur#contourindia#mysimpleclick#mypixeldiary#_oye#_soi#_poi#inframedrapsody#framedsoliloquy#featuregram#vagrantdiaries#thisismymuse#framedeuphoria#Solitarypixels#pixelpanda_india#indiaclicks#INDIA_CLICKS#creatingnuances#capture_india#captureyourcity #_indiasb#myhappyframe#indianphotographersclub#oyemyclick#iiclicks#convexrevolution#theuncommonbox

A post shared by Pinkesh Bhati (EFIAP, EFIP) (@pxb_shots) on

और पढ़े :

Leave a Comment