Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

ECR And ENCR Passport In Hindi, पासपोर्ट दो तरह के होते हैं एक होता है ECR और दूसरा ENCR। बहुत से लोगों को यह पता नहीं होता कि इन दोनों पासपोर्ट में अंतर क्या होता है और उन्हें कौनसा पासपोर्ट बनवाना चाहिए। इस लेख में हम आपको ECR और ENCR पासपोर्ट के बारे में पूरी जानकारी देंगे जिसके बाद आप यह जान जायेंगे कि इन दोनों पासपोर्ट में क्या अंतर होता है। हम यहां आपको जो भी जानकारी दे रहे हैं उसको अच्छी तरह पढ़ें क्योंकि पासपोर्ट बनवाते समय यह आपके काम जरुर आयेगी।

  1. ECR क्या होता है- ECR (Emigration Clearance Required) Kya Hai In Hindi
  2. ENCR क्या होता है – ENCR (Emigration Check Not Required) Kya Hota Hai In Hindi
  3. ECR और ENCR पासपोर्ट में क्या अंतर है- What Is The Difference Between An ECR And A Non-ECR Passport In Hindi

1. ECR क्या होता है- ECR (Emigration Clearance Required) Kya Hai In Hindi

अगर आप आप नहीं जानते कि ECR पासपोर्ट क्या होता है तो आपको बता दें कि ECR का मतलब होता है Emigration Check Required Passport। इस पास पोर्ट को उन लोगों के लिए बनाया जो लोग कम पढ़े लिखें होते हैं और पासपोर्ट बनवाते समय एप्लीकेशन फॉर्म के साथ अपनी दसवी क्लास की मार्कशीट नहीं लगाते। इस केटेगरी में वो पासपोर्ट धारक ज्यादा शामिल होते हैं जो अनपढ़ और मजदूर होते हैं और ईरान, यूएई, इंडोनेशिया आदि में काम के लिए यात्रा करते हैं। ECR पासपोर्ट धारक को विदेश जाने के दौरान प्रोटेक्टर ऑफ इमिग्रेंट्स (पीओई) द्वारा चेक किया जाता है। उन्हें उनके विभिन्न अधिकारों और धोखाधड़ी घोटालों के बारे में बताया जाता है, जिसमें इन नागरिकों को काम का लालच देकर अवैध गतिविधियों में शामिल होने से रोका जा सके।

2. ENCR क्या होता है – ENCR (Emigration Check Not Required) Kya Hota Hai In Hindi

ECNR का मतलब Immigration Check Not Required होता है जिसमें उन लोगों का पासपोर्ट बनाया जाता है कि जो लोग अपने पासपोर्ट एप्लीकेशन फॉर्म के साथ अपनी दसवी या इससे ऊपर की क्लास की मार्कशीट लगाते हैं। इस पासपोर्ट की सबसे अच्छी बात यह होती है कि इसमें पीओई क्लीयरेंस की जरूरत नहीं होती।

3. ECR और ENCR पासपोर्ट में क्या अंतर है- What Is The Difference Between An ECR And A Non-ECR Passport In Hindi

ECR और ENCR पासपोर्ट में क्या अंतर है- What Is The Difference Between An ECR And A Non-ECR Passport In Hindi

ECR और NON ECR देखने में तो बिलकुल एक जैसा लगता है लेकिन इन दोनों में एक बहुत बड़ा अंतर होता है। अगर आप विदेश पढ़ाई करने, घूमने या फिर इलाज करवाने जा रहे हैं तो ऐसी स्थित में ECR और NON ECR पासपोर्ट एक जैसा ही काम करते हैं। लेकिन जब कोई इंसान विदेश में मजदूरी करने के लिए जाता है और उसके पास ECR पासपोर्ट है तो उसे सबसे पहले प्रोटेक्टर ऑफ इमिग्रेंट्स (पीओई) से क्लीयरेंस लेना होगा।

जब आप किसी देश में जायेंगे वो वहां के एअरपोर्ट पर ही आपको इमीग्रेशन काउंटर मिल जायेगे जहां से आप प्रोटेक्टर ऑफ इमिग्रेंट्स द्वारा जांच ले सकते हैं। अगर कोई ओमान, कुवैत, जॉर्डन ,यमन ,सूडान, लीबिया, सीरिया, लेबनान, थाईलैंड, अफगानिस्तान, इंडोनेशिया, इराक, बहरीन और मलेशिया जैसे देशों में मजदूरी या काम करने के लिए जा रहा है और उसके पास ECR श्रेणी का पासपोर्ट है तो इसका मतलब यह है कि उस व्यक्ति ने अपना पासपोर्ट बनवाते समय अपनी दसवी की मार्कशीट नहीं लगाई है। ऐसी स्थिति में उस व्यक्ति को प्रोटेक्टर ऑफ इमिग्रेंट्स (पीओई) से क्लीयरेंस लेना जरुरी होता है।

जिन लोगों के पास ECNR या NON ECR केटेगरी का पासपोर्ट होता है तो इसका मतलब यह है कि उन्होंने अपना पासपोर्ट बनवाते समय दसवी या इससे आगे की क्लास की मार्कशीट लगाई थी। ऐसे लोग विदेश में काम करने बिना किसी पीओई क्लीयरेंस के जा सकते हैं। ECNR पासपोर्ट वाले लोगों विदेश में जाकर काम करने में कोई परेशानी नहीं होगी।

अब तो आप यह अच्छी तरह समझ गए होंगे कि ECRECR और ENCR पासपोर्ट में सबसे बड़ा अंतर क्या होता है। जब भी आप कभी पासपोर्ट बनवाने जाए तो ECRECR और ENCR को अच्छी तरह समझ कर ही अपना पासपोर्ट बनवाए, जिससे कि आपको बाद में किसी दिक्कत का सामना करना पड़े।

और पढ़े:

 

Write A Comment