Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Chamunda Devi Temple Himachal Pradesh In Hindi चामुंडा देवी मंदिर हिमाचल प्रदेश राज्य के चंबा जिले में स्थित एक प्रचीन मंदिर और एक प्रमुख आकर्षक स्थल है। चामुंडा देवी मंदिर का निर्माण वर्ष 1762 में उमेद सिंह ने करवाया था। पाटीदार और लाहला के जंगल स्थित यह मंदिर पूरी तरह से लकड़ी से बना हुआ है। बानेर नदी के तट पर स्थित यह मंदिर देवी काली को समर्पित है, जिन्हें युद्ध की देवी के रूप में जाना जाता है। पहले इस जगह पर सिर्फ पत्थर के रास्ते कटे हुए थे, लेकिन अब इस मंदिर के दर्शन करने के लिए आपको 400 सीढ़ियों को चढ़कर जाना होगा। एक अन्य विकल्प के तौर पर आप चंबा से 3 किलोमीटर लंबी कंक्रीट सड़क के माध्यम से आसानी से पहुंचा जा सकता है।

चामुंडा देवी मंदिर करीब सात सौ साल पुराना है जिसके पीछे की तरफ से गुफा जैसी संरचना है जिसको भगवान शिव का प्रतीक माना जाता है। चामुंडा देवी मंदिर को चामुंडा नंदिकेश्वर धाम के रूप में भी जाना जाता है जिसमें भगवान शिव और शक्ति का घर है। भगवान हनुमान और भैरव इस मंदिर के सामने वाले द्वार की रक्षा करते हैं और इन्हें देवी का रक्षक माना जाता है।

चामुंडा देवी मंदिर की कहानी – Chamunda Devi Mandir Ki Kahani In Hindi

चामुंडा देवी मंदिर का इतिहास – Chamunda Devi Mandir History In Hindi

चामुंडा देवी मंदिर के पास घूमने की 5 खास जगह – Chamunda Devi Mandir Ke pass ke Paryatan Sthal In Hindi

  1. चामुंडा देवी मंदिर के पास का प्रमुख मंदिर वज्रेश्वरी मंदिर – Vajreshwari Temple Chamunda Devi Mandir Ke Pass Ka Pramukh Mandir In Hindi
  2. चामुंडा देवी मंदिर के पास की अच्छी जगह मणिमहेश झील चंबा- Manimahesh Lake Chamunda Devi Mandir Ke Pass Ghumne Ki Acchi Jagha In Hindi
  3. चामुंडा देवी मंदिर के घुमने की जगह चौगान – Chaugan Chamunda Devi Ke Pass Ghumne Ki Khass Jagha In Hindi
  4. चामुंडा देवी मंदिर के पास का प्रमुख दर्शनीय स्थल लक्ष्मी नारायण मंदिर चंबा- Lakshmi Narayan Temple Chamba Chamunda Devi Mandir Ke Pass Ka Darshniya Sthal In Hindi

चामुंडा देवी मंदिर के पास घूमने की खास जगह डलहौजी – Dalhousie Chamunda Devi Mandir Ke Pass Ghumne Ki Acchi Jagha In Hindi

चामुंडा देवी मंदिर जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Chamunda Devi Temple In Hindi

चामुंडा देवी मंदिर कैसे पहुंचे – How To Reach Chamunda Devi Temple In Hindi

  1. हवाई जहाज से चामुंडा देवी मंदिर कैसे पहुंचे – How To Reach Chamunda Devi Temple By Air In Hindi
  2. सड़क मार्ग से चामुंडा देवी मंदिर कैसे पहुंचे – How To Reach Chamunda Devi Temple By Road In Hindi
  3. रेलगाड़ी से चामुंडा देवी मंदिर कैसे पहुँचे – How To Reach Chamunda Devi Temple By Train In Hindi

चामुंडा देवी मंदिर हिमाचल प्रदेश की लोकेशन का मैप – Chamunda Devi Temple H.P Location

चामुंडा देवी मंदिर हिमाचल प्रदेश की फोटो गैलरी – Chamunda Devi Temple H.P Images

1. चामुंडा देवी मंदिर की कहानी – Chamunda Devi Mandir Ki Kahani In Hindi

हजारों साल पहले धरती पर शुम्भ और निशुम्भ नामक दो दैत्यो का राज कर लिया था। उन्होंने धरती पर इतने अत्याचार कि इससे परेशान होकर देवताओं व मनुष्यो ने शक्तिशाली देवी दुर्गा की आराधना कीतो देवी दुर्गा ने कहा की वो जरुर उनकी इन दैत्यों से रक्षा करेंगी। इसके बाद दुर्गा जी ने कौशिकी के नाम से अवतार लिया इसके बाद शुम्भ और निशुम्भ के दूतो ने माता कौशिकी को देख लिया। दोनों ने शुम्भ और निशुम्भ से कहा कि आप तो तीनों लोगों के राजा है, आपके पास सब कुछ है लेकिन आपके पास एक सुंदर रानी भी होना चाहिए जो सारे संसार में सबसे सुंदर है। दूतों की इन बातों को सुंदर शुम्भ और निशुम्भ ने अपना एक दूत माता कौशिकी के पास भेजा और कहा कि कौशिकी से कहना कि शुम्भ और निशुम्भ तीनों लोको के राजा हैं और वो तुम्हे रानी बनाना चाहते हैं।

शुम्भ और निशुम्भ के कहने पर दूत ने ऐसा ही किया। कौशिकी ने दूत की बात सुनकर यह कहा कि में जानती हूँ कि वो दोनों बहुत शक्तिशाली हैं, लेकिन में प्रण ले चुकीं हूँ कि जो मुझे युद्ध में हरा देगा मैं उसी से विवाह करुँगी। जब यह बात दूत ने शुम्भ और निशुम्भ को जाकर बताई तो उन्होंने दो दूत चण्ड और मुण्ड को देवी के पास भेजा और कहा कि उसके केश पकड़ कर हमारे पास लाओ। जब चण्ड और मुण्ड ने वहां जाकर देवी कौशिकी से साथ चलने को कहा तो उन्होंने क्रोधित होकर अपना काली रूप धारण कर लिया और आसुरो को मार दिया। इन दोनों राक्षसों के सर काटकर देवी चामुंडा(काली) कोशिकी के पास लेकर आ गई जिससे खुश होकर देवी कोशिकी ने कहा कि तुमने इन दो राक्षसों को मारा है अब तुम्हारी प्रसिद्धी चामुंडा के नाम से पूरे संसार में होगी।

2. चामुंडा देवी मंदिर का इतिहास – Chamunda Devi Mandir History In Hindi

चामुंडा देवी मंदिर का इतिहास - Chamunda Devi Mandir History In Hindi

चामुंडा देवी मंदिर के इतिहास की बात करें तो बता दें कि इस मंदिर के इतिहास को लेकर भी एक कहानी बताई जाती है। 400 साल पहले राजा और पुजारी ने जब मंदिर का स्थान एक सही जगह पर परिवर्तित करने की अनुमति मांगी थी तो देवी ने पुजारी को सपने में दर्शन किये और उन्होंने मंदिर को स्थानांतरित करने की अनुमति देते हुए एक निश्चित स्थान पर खुदाई करने का आदेश दिया। जब उस जगह पर खुदाई की गई तो वहां पर एक चामुंडा देवी की मूर्ति पाई गई जिसके बाद चामुंडा देवी की मूर्ति को उसी जगह पर स्थापित किया गया और उसकी पूजा की जाने लगी।

जब राजा ने मूर्ति को बाहर लाने के लिए अपने लोगों को कहा तो लाख कोशिश के बाद भी वो उस मूर्ति को हिलाने में सक्षम नहीं हुए। इसे बाद एक बार देवी ने पुजारी को सपने में दर्शन किये और उन्होंने कहा वो सभी लोग मूर्ति को साधारण समझ कर उठाने की कोशिश कर रहे हैं। देवी ने पुजारी से कहा कि वे सुबह नहाकर पवित्र कपड़े पहन कर सम्मानजनक तरीके से मूर्ति को बाहर लायें, जो काम सारे लोग मिल कर नहीं कर पा रहे वो अकेला आदमी आसानी से कर सकेगा। जब पुजारी ने यह बात सभी लोगों को बताया कि यह देवी माँ की शक्ति थी कि वो मूर्ति को हिला तक नहीं पा रहे थे।

3. चामुंडा देवी मंदिर के पास घूमने की 5 खास जगह – Chamunda Devi Mandir Ke pass ke Paryatan Sthal In Hindi

चामुंडा देवी मंदिर अपनी खूबसूरती, अपने इतिहास और कहानी की वजह से काफी प्रसिद्ध है। आप यहां चामुंडा देवी मंदिर देखने साथ कई दूसरे पर्यटक और धार्मिक स्थलों की सैर भी कर सकते हैं। यहां हम आपको चामुंडा देवी मंदिर के पास के 5 प्रमुख पर्यटन स्थलों के बारे में बता रहे हैं जहां आपको जरुर जाना चाहिए।

और पढ़े: धर्मशाला में घूमने की 10 खास जगह

3.1 चामुंडा देवी मंदिर के पास का प्रमुख मंदिर वज्रेश्वरी मंदिर – Vajreshwari Temple Chamunda Devi Mandir Ke Pass Ka Pramukh Mandir In Hindi

वज्रेश्वरी मंदिर चंबा में जनसाली बाजार के अंत में स्थित है जो चामुंडा देवी मंदिर के पास का एक प्रमुख दर्शनीय स्थल है। आपको बता दें कि देवी वज्रेश्वरी को बिजली की देवी के रूप में भी जाना जाता है। देवी वज्रेश्वरी का यह मंदिर लगभग एक हजार साल पुराना बताया जाता है और इन्हें देवी पार्वती का रूप बताया जाता है। इस मंदिर के अंदर कई हिन्दू देवी देवताओं और मूर्तियों की नक्काशी है और इसकी बाहरी दीवारों पर अठारह छोटे शिलालेख हैं। अगर आप चामुंडा देवी मंदिर के दर्शन करने के लिए जा रहे हैं तो चंबा में स्थित इस मंदिर के दर्शन करना न भूलें।

3.2 चामुंडा देवी मंदिर के पास की अच्छी जगह मणिमहेश झील चंबा- Manimahesh Lake Chamunda Devi Mandir Ke Pass Ghumne Ki Acchi Jagha In Hindi

चामुंडा देवी मंदिर के पास की अच्छी जगह मणिमहेश झील चंबा- Manimahesh Lake Chamunda Devi Mandir Ke Pass Ghumne Ki Acchi Jagha In Hindi

मणिमहेश झील हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले में स्थित एक बेहद आकर्षक झील है जिसको डल झील भी कहा जाता है। यह झील 4,080 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है जिसके नाम मणिमहेश का अर्थ होता है “शिव के आभूषण”। यह झील पर्यटकों के साथ ट्रेकिंग प्रेमियों के लिए भी आकर्षण का केंद्र है क्योंकि इसकी यात्रा में 13 किमी की पैदल दूरी भी शामिल है। इस झील के आसपास के मनमोहक पहाड़ और हरियाली देखने के बाद हर कोई अपने आप को बहुत हल्का महसूस करता है।

3.3 चामुंडा देवी मंदिर के घुमने की जगह चौगान – Chaugan Chamunda Devi Ke Pass Ghumne Ki Khass Jagha In Hindi

चामुंडा देवी मंदिर के घुमने की जगह चौगान – Chaugan Chamunda Devi Ke Pass Ghumne Ki Khass Jagha In Hindi

जो भी लोग हस्तशिल्प में दिलचस्पी रखते हैं उनके लिए चंबा में चौगान एक बहुत अच्छी जगह है। इस जगह पर आप यहां आप कई प्रकार के पत्थर और धातु की कलाकृतियाँ देख सकते हैं।

3.4 चामुंडा देवी मंदिर के पास का प्रमुख दर्शनीय स्थल लक्ष्मी नारायण मंदिर चंबा- Lakshmi Narayan Temple Chamba Chamunda Devi Mandir Ke Pass Ka Darshniya Sthal In Hindi

चामुंडा देवी मंदिर के पास का प्रमुख दर्शनीय स्थल लक्ष्मी नारायण मंदिर चंबा- Lakshmi Narayan Temple Chamba Chamunda Devi Mandir Ke Pass Ka Darshniya Sthal In Hindi

अगर आप चंबा के प्रमुख मंदिर चामुंडा देवी मंदिर के दर्शन करने के लिए आते हैं तो यहां स्थित लक्ष्मी नारायण मंदिर के लिए भी आपको जरुर जाना चाहिए। बता दें कि लक्ष्मी नारायण मंदिर चंबा सबसे पुराना और बड़ा मंदिर है जो एक शिखर के आकर में बना हुआ है। इस मंदिर में भगवान विष्णु और शिव की सबसे तेजस्वी मूर्तियों में से 6 मूर्तियां विराजमान हैं। केंद्र में स्थित भगवान विष्णु की मूर्ति को संगमरमर से उकेरा और निहारा गया है।

3.5 चामुंडा देवी मंदिर के पास घूमने की खास जगह डलहौजी – Dalhousie Chamunda Devi Mandir Ke Pass Ghumne Ki Acchi Jagha In Hindi

डलहौजी हिमाचल प्रदेश का छोटा और सुंदर शहर हैं, जो यहां आने वाले पर्यटकों के लिए बेहद खास है। यह स्थान अपने प्राक्रतिक नजारों, घाटियों, फूलों, घास के मैदान और तेजी से बहने वाली नदियों से यहां आने वाले यात्रियों का दिल जीत लेता है। इस पर्यटन स्थल पर आकर आपको ब्रिटिश काल के समय की याद आएगी। डलहौजी हिमाचल प्रदेश में सबसे ज्यादा घूमी जाने वाली जगहों में से एक है जो अपनी प्राकृतिक सुंदरता और प्राचीन आकर्षण से हर किसी को मोहित कर देता है।

और पढ़े: कसौली के 10 प्रमुख पर्यटन स्थल

4. चामुंडा देवी मंदिर जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Chamunda Devi Temple In Hindi

अगर आप चामुंडा देवी मंदिर के दर्शन करने के लिए जाने का प्लान बना रहे हैं तो आप यहां जाने का सबसे अच्छा समय मार्च और अप्रैल के महीनों का होता है। यह नवरात्री का समय होता है जिसकी वजह से मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ आती है। इन महीनों में मौसम बहुत खुशनुमा होता है और ठंड भी बहुत ज्यादा नहीं पड़ती।
चामुंडा देवी मंदिर हिमाचल प्रदेश में स्थित चंबा में स्थित है, जहां पर मुख्य रूप से उत्तर भारतीय व्यंजन ज्यादा लोकप्रिय है। हालाँकि, आप यहाँ पर कुछ स्थानीय हिमाचल के व्यंजन का स्वाद भी चख सकते हैं।

5. चामुंडा देवी मंदिर कैसे पहुंचे – How To Reach Chamunda Devi Temple In Hindi

चामुंडा देवी मंदिर हिमाचल प्रदेश का एक बहुत ही लोकप्रिय मंदिर है, जिसकी यात्रा आप पहाडी सौन्दर्य का मजा लेते हुए कर सकते हैं। यहाँ की हरियाली, आकर्षक झरने पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। अगर आप इस मंदिर की यात्रा के लिए जाना चाहते हैं तो आप यहाँ सड़क मार्ग, वायु मार्ग और रेल मार्ग की सहायता की पहुँच सकते हैं।

5.1 हवाई जहाज से चामुंडा देवी मंदिर कैसे पहुंचे – How To Reach Chamunda Devi Temple By Air In Hindi

अगर आप चामुंडा देवी मंदिर के लिए हवाई जहाज से यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि इस मंदिर के सबसे पास का हवाई अड्डा गगल में है जो यहां से करीब 28 किलोमीटर दूर है। गगल एयरपोर्ट पहुँचने के बाद आप इसके बाहर से बस या कार की मदद से चामुंडा देवी मंदिर पहुँच सकते हैं।

5.2 सड़क मार्ग से चामुंडा देवी मंदिर कैसे पहुंचे – How To Reach Chamunda Devi Temple By Road In Hindi

जो यात्री सड़क मार्ग से चामुंडा देवी मंदिर जाना चाहते हैं वो यहां चलने वाली हिमाचल प्रदेश टूरिज्म विभाग की बसों का लाभ उठा सकते हैं। राज्य में चलने वाली बसें मंदिर से आपको कुछ ही दूरी पर उतारेगी। चामुंडा देवी मंदिर धर्मशाला से 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां से आप अपने निजी वाहन, कैब या टेक्सी की मदद से मंदिर पहुँच सकते हैं।

5.3 रेलगाड़ी से चामुंडा देवी मंदिर कैसे पहुँचे – How To Reach Chamunda Devi Temple By Train In Hindi

चामुंडा देवी मंदिर का सबसे निकटतम रेल स्टेशन पठानकोट है। जो भारत के प्रमुख शहरों से रेल मार्ग से जुड़ा हुआ है। पठान कोट से हिमाचल प्रदेश के लिए चलने वाली छोटी रेल गाड़ी से आप सुंदर पहाड़ियों और आकर्षक रास्तों का लुफ्त उठाते हुए मराण्डा तक पहुंच सकते हैं जो कि पालमपुर के बहुत पास स्थित है। मराण्डा से चामुंडा देवी मंदिर की दूरी 30 किलोमीटर है।

और पढ़े: मैकलोडगंज का इतिहास और घूमने की 5 सबसे खास जगह

6. चामुंडा देवी मंदिर हिमाचल प्रदेश की लोकेशन का मैप – Chamunda Devi Temple H.P Location

7. चामुंडा देवी मंदिर हिमाचल प्रदेश की फोटो गैलरी – Chamunda Devi Temple H.P Images

और पढ़े:

Write A Comment