वैष्णो देवी मंदिर के आसपास घूमने की सबसे अच्छी जगहें – Best Places To Visit Near Vaishno Devi Mandir In Hindi

2.7/5 - (4 votes)

Best Places To Visit Near Vaishno Devi Mandir In Hindi : वैष्णो देवी मंदिर या वैष्णो माता का मंदिर जम्मू कश्मीर राज्य की त्रिकुटा पहाड़ियों में, कटरा से 15 कि.मी. की दूरी पर स्थित बहुत ही प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है। माता वैष्णो देवी मंदिर जम्मू -कश्मीर के साथ-साथ पूरे भारत का प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है जहाँ हर साल लाखों  की संख्या में श्रद्धालु मां वैष्णों का आशीर्वाद लेने के लिए जाते हैं। बता दे वैष्णो देवी एक धार्मिक ट्रेकिंग डेस्टिनेशन है जहाँ तीर्थयात्री लगभग 13 कि.मी.तक पैदल चलाकर मंदिर तक पहुँचते हैं और चमत्कारिक माँ वैष्णो देवी के दर्शन का पूण्य अर्जित करते है। माता वैष्णो देवी की यात्रा पर जाने वाले कुछ श्रद्धालु और पर्यटक इसे सिर्फ एक धार्मिक यात्रा मानते है लेकीन ऐसा नही है क्योंकी बहुत से पर्यटक इसे  हॉलिडे ट्रिप की तरह भी देखते हैं। जिसकी मुख्य बजह वैष्णो देवी मंदिर के स्थित नजदीकी पर्यटक स्थल है जिनमे अन्य कई मंदिर, नदियां सहित और भी खूबसूरत जगहें शामिल हैं जहाँ वैष्णो देवी मंदिर की यात्रा पर आने वाले लगभग सभी पर्यटक और तीर्थयात्री घूमने के लिए जाते है।

यदि आप भी अपनी फैमली या फ्रेंड्स के साथ वैष्णो माता मंदिर की यात्रा को प्लान कर रहें हैं और अपनी इस ट्रिप में वैष्णो देवी के दर्शन के बाद आसपास भी घूमना चाहते हैं तो आपको हमारे इस लेख को पूरा जरूर पढना चाहिए जिसमे हम वैष्णो देवी मंदिर के आसपास घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें के बारे बताने वाले हैं –

वैष्णो माता मंदिर के नजदीकी पर्यटक स्थल – Vaishno Mata Mandir Ke Aaspaas Ghumne Ki Jagahen in Hindi 

अक्सर में हम कही भी घूमने जाने से पहले यही सोचते है कि हम जहाँ जाने वाले हैं उसके आसपास की सभी अच्छी जगहें घूमकर ही वापिस आयें क्योंकि बहुत ही कम ऐसा होता है कि उस जगह हम दोबारा घूमने जा पायें* इसीलिए आपको भी वैष्णो देवी की यात्रा पर जाने से पहले वैष्णो माता मंदिर के आसपास घूमने की सबसे अच्छी जगहें के बारे में जरूर जान लेना चाहिए –

अर्धकुवारी गुफ़ा – Ardhkuwari Gufa In Hindi

अर्धकुवारी गुफ़ा – Ardhkuwari Gufa In Hindi
Image Credit : Sachin kumar

अर्धकुवारी गुफ़ा वैष्णो देवी मंदिर के आसपास घूमने के लिए सबसे लोकप्रिय जगहों में से एक है। बता दे यह गुफा वैष्णो देवी मंदिर के मार्ग में ही स्थित है जो तीर्थयात्रियों के लिए विश्राम भवन के रूप में भी काम करता है। 52 फीट लंबी इस गुफा को गर्बाजून गुफा के रूप में भी जाना जाता है, क्योंकी गुफा का आकार माता के गर्भ जैसा है। इस गुफा से जुडी एक पौराणिक कथा भी काफी प्रसिद्ध ​​है जिसके अनुसार माना जाता है कि जब माता वैष्णो ने भैरव वध किया था तो उसका सिर घाटी में उड़ गया, जबकी उसका शरीर अर्ध कुवारी गुफा में ही रह गया था।

चरण पादुका मंदिर – Charan Paduka Temple In Hindi

कटरा में 1030 मीटर की ऊंचाई पर स्थित, चरण पादुका मंदिर वैष्णो देवी मंदिर के आसपास घूमने की सबसे अच्छी जगहों में से एक है। चरण पादुका मंदिर का प्रमुख आकर्षण माता वैष्णो देवी के पैरों के निशान है, जिन्हें एक चट्टान पर देखा जा सकता है। पहले यह एक छोटा मंदिर था लेकीन अब यह एक दर्शनीय और बड़े मंदिर में तब्दील हो गया है और अब निरंतर वैष्णो देवी मंदिर की यात्रा के दौरान यहाँ आने वाले पर्यटकों और श्रद्धालुओं की संख्या बढती जा रही है। इसीलिए आप जब भी माँ वैष्णो देवी के दरबार पर आयें तो अपना कुछ समय निकालकर चरण पादुका मंदिर भी दर्शन के लिए जरूर आयें।

और पढ़े : जम्मू कश्मीर के प्रमुख मंदिरों की जानकारी

त्रिकुटा पर्वत – Trikuta Parvat In Hindi

त्रिकुटा पर्वत – Trikuta Parvat In Hindi

त्रिकुटा पर्वत कटरा का एक पवित्र स्थान और पर्यटक स्थल है, जो माता वैष्णो देवी की यात्रा के लिए आने वाले हिंदू तीर्थ यात्रियों और पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। त्रिकुटा पर्वत देवघर से दुमका के रास्ते में 10 कि.मी. दूर है और 752 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है, जिसे त्रिकूटाचल के नाम से भी जाना जाता है। बता दे इस पवित्र स्थल पर त्रिकुटाचल महादेव मंदिर नामक एक शिव मंदिर भी स्थित है, जहाँ भगवान शिव और देवी त्रिशूली की पूजा की जाती है। त्रिकुटा पर्वत कटरा में घूमने के लिए सबसे आकर्षक जगहों में से एक है, और यह स्थान ज्यादातर पिकनिक स्थल के रूप में प्रसिद्ध है।

भैरों मंदिर – Bhairon Temple In Hindi

भैरों मंदिर – Bhairon Temple In Hindi
Image Credit : Basa chandraneil

भैरों मंदिर त्रिकुटा के समीप की पहाड़ी पर 2017 मीटर की ऊंचाई पर स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर माता वैष्णो देवी गुफा मंदिर के बाद अगले तीर्थस्थल के रूप में कार्य करता है, जहाँ तीर्थयात्रि घूमने जाते है। माना जाता है कि माता वैष्णो देवी की पवित्र यात्रा तभी पूरी होती है, जब भक्त भैरों मंदिर में श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। इसीलिए आप जब भी वैष्णो माता मंदिर और वैष्णो देवी मंदिर के नजदीकी पर्यटक स्थलों की यात्रा पर आयें तो भैरों मंदिर के दर्शन के लिए भी जरूर जाएँ। वैष्णो देवी मंदिर के आसपास घूमने की जगहें में शामिल भैरव मंदिर का एक हवन कुंड भी एक महत्वपूर्ण आकर्षण के रूप में चिह्नित है, जिसकी राख को पवित्र माना जाता है।

और पढ़े : भारत के 10 सबसे रहस्यमयी मंदिर

बाण गंगा नदी – Ban Ganga River In Hindi

बाण गंगा नदी – Ban Ganga River In Hindi

कटरा में स्थित बाण गंगा एक पवित्र नदी है, जहाँ अक्सर भक्त माता वैष्णो देवी यात्रा पर जाने से पहले डुबकी लगाना पसंद करते हैं जबकी कुछ श्रद्धालु वैष्णो देवी के दर्शन के बाद यहाँ घूमने के लिए आते है। हिमालय की शिवालिक श्रेणी के दक्षिणी ढलान से उत्पन्न, बाण गंगा नदी का नाम दो शब्दों “बान” और “गंगा” से पड़ा है जो भारत की पवित्र नदी गंगा के लिए चिन्हित है। इस प्रकार, इस नदी को गंगा नदी का जुड़वां भी कहा जाता है। वैष्णो देवी मंदिर के आसपास घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें में से एक बाण गंगा नदी में दो घाट हैं जहां बड़ी संख्या में हिंदू श्रद्धालु पवित्र डुबकी लगाते हैं।

और पढ़े : माता वैष्णो देवी की यात्रा की पूरी जानकारी

गीता मंदिर – Geeta Mandir In Hindi

गीता मंदिर – Geeta Mandir In Hindi
Image Credit : Anmol sharma

गीता मंदिर माता वैष्णो देवी मंदिर की यात्रा में पड़ने वाला एक और प्रसिद्ध मंदिर है। यह पवित्र मंदिर बान गंगा पुल के करीब स्थित है और सुंदर वास्तुकला का दावा करता है। मंदिर को माता वैष्णो देवी यात्रा में आगे बढ़ने से पहले तीर्थयात्रियों के लिए कुछ आराम करने के लिए एक स्थान के रूप में भी जाना जाता है। बता दे इस मंदिर के करीब एक और मंदिर है जिसे प्रथम चरण मंदिर कहा जाता है।

पटनीटॉपPatnitop in Hindi

पटनीटॉप – Patnitop in Hindi

यदि माता वैष्णो का मंदिर आध्यात्मिक स्वर्ग है तो कटरा से लगभग 80 कीलोमीटर की दूरी पर स्थित पटनीटॉप प्राकृतिक बैकुंठ है जो की हिमालय की गोद में बसा हुआ है। पटनीटॉप के प्राकृतिक सौंदर्य, घने देवदार के जंगल और फलते-फूलते हरे-भरे परिदृश्य कुछ ऐसे है की वैष्णो देवी मंदिर की यात्रा पर आने वाले पर्यटक और श्रद्धालु दोनों ही इसकी और खिचे आने पर मजबूर हो जाते है। सर्दियों के मौसम में यहाँ खूबसूरत बर्फ़बारी भी देखने को मिलती है जिस दौरान पर्यटक यहाँ जमकर स्कीइंग, पैराग्लाइडिंग, पैरासिलिंग जैसे स्नो गेम्स का लुफ्त उठाते है। इसीलिए जो भी पर्यटक वैष्णो देवी मंदिर के आसपास घूमने की जगहें सर्च कर रहें हैं उन्हें अपनी यात्रा के दौरान पटनीटॉप घूमने जरूर आना चाहिए।

झज्जर कोटली – Jhajjar Kotli in Hindi

झज्जर कोटली – Jhajjar Kotli in Hindi
Image Credit : Dar Owais

वैष्णो माता मंदिर के नजदीकी स्थित प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों में शुमार झज्जर कोटली कटरा की बेहद खूबसूरत जगह हैं जो अपने शांत वातावरण और मनमोहनीय सुन्दरता के लिए जानी जाती है। यदि आप माँ वैष्णो की कठिन यात्रा के बाद अपनी फैमली या फ्रेंड्स के साथ आराम करना चाहते है तो झज्जर कोटली एक दम परफेक्ट जगह है जहाँ आप अपनी थकान मिटा सकते है। बता दे झज्जर कोटली कटरा का फेमस पिकनिक स्पॉट भी है जहाँ आप अपनी फैमली के साथ पिकनिक एन्जॉय कर सकते है। इसके अलावा यदि आप अपने फ्रेंड्स के साथ वैष्णो माता मंदिर घूमने आ रहें हैं तो आप झज्जर कोटली कैम्पिंग के लिए भी आ सकते है और अपनी इस आध्यात्मिक ट्रिप में कुछ रोमांचक मुमेंट्स ऐड कर सकते है।

सनासर  – Sanasar in Hindi 

सनासर  – Sanasar in Hindi 

कटरा से लगभग 2 घंटे की दूरी पर स्थित सनासार एक खूबसूरत हिल स्टेशन है जो अपने खूबसूरत दृश्यों और एडवेंचर एक्टिविटीज के लिए फेमस है। यदि आप अपने फ्रेंड्स के साथ माँ वैष्णो देवी मंदिर की यात्रा पर जाने वाले हैं और अपनी इस यात्रा को थोडा रोमांचक बनाना चाहते है तो आपको सनासर घूमने जरूर जाना चाहिए। जहाँ आप पैराग्लाइडिंग, बोट राइड  और रॉक क्लाइम्बिंग जैसी अन्य कई थ्रिलर एक्टिविटीज को एन्जॉय कर सकते हैं। देखा जाए तो सनासर वैष्णो माता के दर्शन के साथ कश्मीरी संस्कृति का अनुभव करने और एडवेंचर एक्टिविटीज को एन्जॉय करने के लिए परफेक्ट टूरिस्ट डेस्टिनेशन है।

और पढ़े : कटरा के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल घूमने की जानकारी

इस आर्टिकल में आपने वैष्णो माता मंदिर की यात्रा के दौरान (Vaishno Mata Mandir Ke Aaspaas Ghumne Ki sabse Acchi Jagahen) घूमने के लिए अन्य पर्यटक स्थलों के बारे में जाना है आपको हमारा यह लेख केसा लगा हमे कमेंट्स में जरूर बतायें।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

और पढ़े :

Leave a Comment