Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Vaishno Devi Yatra Trip In Hindi चलो बुलावा आया है माता ने बुलाया है। माता वैष्णो देवी की यात्रा के दौरान चाहे छोटे बच्चे हो या वृद्ध, गरीब हो या अमीर हर किसी ने इस जाप (chanting) को सुना है। यह वैष्णो देवी का गुणगान है जो भारत में सदियों से बोला जा रहा है। इसे श्रद्धालु सबसे पवित्र मंदिरों में से एक माँ वैष्णो देवी का मंदिर के दर्शन करते समय बोलते हैं। एक बड़ी प्रसिद्ध मान्यता है कि जब आप वैष्णो देवी माता के नाम की आवाज़ सुनते हैं तभी आप उन के दर्शन करने के लिए कठिन से कठिन यात्रा को भी को पूरा करने में सक्षम होते हैं।

माँ वैष्णों देवी जहाँ शायद हममे से कई सारे लोग या तो जाना चाहते हैं या फिर ऑलरेडी जा चुके हैं या आपके दोस्त या रिश्तेदार वहां से आपके लिए प्रसाद लायें हैं। हम सब ने माता वैष्णों देवी के दर्शन के बारे में अपने जान पहचान वालों से सुना है जैसे की वहां जाने में कितनी कठिनाई होती है, या हेल्थ टेस्ट पर कितने लोगो को जाने से रोक दया जाता है या फिर कभी किसी को गुफा के अन्दर सांस लेने में दिक्कत हुई हो या फिर कन्जेस्टेड महसूस हुआ हो। कोई भी तकलीफ हो, बस एक बार माता के दर्शन हो जाने पर हम इसे जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धि से कम नहीं मानते।

  1. माँ वैष्णो देवी का मंदिर – Holy Goddess Maa Vaishno Devi Temple In Hindi
  2. माता वैष्णो देवी को लेकर प्रचलित कथाएं – Mata Vaishno Devi Story In Hindi Language
  3. मां वैष्णो देवी की यात्रा की शुरुआत – A Trip To Maa Vaishno Devi Temple In Hindi
  4. माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए रहने की व्यवस्था – Tourist Accommodation Facility At Maa Vaishno Devi Temple In Hindi
  5. वैष्णो देवी जाने का सही मौसम – Best Season To Visit Maa Vaishno Devi Temple In Hindi
  6. वैष्णो देवी के भवन में उपलब्ध सुविधाएं – Facilities Available At Maa Vaishno Devi Temple In Hindi
  7. माँ वैष्णो देवी का मंदिर की यात्रा कैसे करें – How To Travel For Vaishno Devi Shrine In Hindi
  8. माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए कटरा जाने के लिए साधन – How To Reach Katra For Darshan Of Maa Vaishno Devi Temple In Hindi
  9. माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए चढ़ाई की शुरुआत – Trekking For Visiting Maa Vaishno Devi Temple In Hindi
  10. वैष्णो देवी का मंदिर जाते समय क्या उम्मीद रखें – What To Expect While You Visit The The Goddess Of Power Maa Vaishno Devi Temple In Hindi
  11. माँ वैष्णो देवी यात्रा से पहले की तैयारियां – Preparation For Touring Maa Vaishno Devi Temple In Hindi
  12. माता वैष्णो देवी के दर्शन करते हुए आपको किन चीजों की उम्मीद करनी चाहिए – What To Expect While Going To Maa Vaishno Devi Temple In Hindi
  13. माता वैष्णो देवी के दर्शन करने के लिए टिप्स – Tips For Visiting Maa Vaishno Devi Temple In Hindi

1. माँ वैष्णो देवी का मंदिर – Holy Goddess Maa Vaishno Devi Temple In Hindi

माँ वैष्णो देवी का मंदिर में हर साल लाखों श्रद्धालु दर्शन करने के लिए आते हैं। यह मंदिर जम्मू और कश्मीर के कटरा नामक जगह पर बना हुआ है। यह करीब 5,200 फीट ऊंचाई पर स्थित है। माँ वैष्णो देवी का मंदिर में माँ आदिशक्ति के तीन रूप है महासरस्वती, महालक्ष्मी और महाकाली।  यह एक गुफा मंदिर है जिसके अंदर कुल 4 मंदिर हैं।

वैष्णो देवी जी को कई नामों से जाना जाता है जैसे कि माता रानी, त्रिकुटा, वैष्णवी- यह सभी माता आदिशक्ति की अभिव्यक्ति है। भारत में माता आमतौर पर माताओं के लिए पुकारा जाता है इसलिए इसको वैष्णो देवी के नाम के साथ भी जोड़ा गया है। माँ वैष्णो देवी का मंदिर एक हिंदुओं का मंदिर है और यह कटरा में त्रिकुटा पहाड़ियों पर स्थित है जो कि भारत के जम्मू और कश्मीर राज्य में आता है। माँ वैष्णो देवी का मंदिर या भवन कटरा से 13.5 किलोमीटर दूर है और यहां पहुंचने के कई साधन है जिसमें की पोनी, इलेक्ट्रिक कार, पालकी- जिसे चार लोग उठाते हैं और हेलीकॉप्टर की भी सर्विस उपलब्ध है जो की  कटरा से संजीछत तक के लिए मिल सकती है और यह कटरा से सिर्फ 9.5 किलोमीटर की दूरी पर स्तिथ है।

2. माता वैष्णो देवी को लेकर प्रचलित कथाएं – Mata Vaishno Devi Story In Hindi Language

एक प्रसिद्ध प्राचीन मान्यता के अनुसार माता वैष्णो देवी ने अपने परम भक्त श्रीधर की भक्ति से प्रसन्न होकर उसकी मदद करी थी ताकि वह भिक्षुक  और भक्तों के लिए भंडारे का आयोजन कर सके। माता वैष्णो देवी उसके भंडारे में बालिका के रूप में पहुंची और वहां भक्तों में शामिल हुए एक राक्षस भैरव नाथ का वध करने के लिए उसे त्रिकुटा पहाड़ियों पर ले गई।

जब भैरवनाथ का वध हुआ तो उसका सर वहां से 2.5 किलोमीटर दूर जाकर गिरा। इसे भैरव घाटी कहते हैं। भैरवनाथ ने मरने से पहले माता से माफी मांगी तो माता ने उससे कहा कि तुम्हें मोक्ष तभी मिलेगा जब मेरे दर्शन करने के बाद भक्त तुम्हारे मंदिर के दर्शन करने आएंगे। बाद में श्रीधर को माता वैष्णो देवी ने अपने दर्शन त्रिकुटा पर्वत की गुफा में दिए।

एक दूसरी मान्यता के अनुसार माता वैष्णो देवी ने भारत के दक्षिण में रत्नाकर सागर के यहां जन्म लिया था। उनका नाम त्रिकुटा रखा गया।

माता वैष्णो देवी ने अपने पिता से समुद्र के किनारे तपस्या करने की इच्छा जाहिर की और तपस्या में भगवान शिव की प्रार्थना की। सीता की खोज कर रहे श्रीराम को बलिका के रूप में माता वैष्णो मिली। माता ने श्रीराम को बताया कि उन्होंने राम को पति के रूप में स्वीकार किया है लेकिन राम ने कहा वे सीता को वचन दे चुके हैं इसीलिए वे कलियुग में कल्कि के रूप में प्रकट होंगे और वैष्णो देवी से विवाह करेंगे।

श्री राम ने ही माता वैष्णो देवी से उत्तर में जाकर ध्यान में लीन होने के लिए कहा और माता वैष्णो देवी ने रावण पर राम की विजय प्राप्त होने पर नवरात्र मनाने का निर्णय किया। श्री राम ने वचन दिया कि सारे संसार में मां वैष्णो देवी की पूजा की जाएगी।

3. मां वैष्णो देवी की यात्रा की शुरुआत – A Trip To Maa Vaishno Devi Temple In Hindi

मां वैष्णो देवी की यात्रा की शुरुआत - A Trip To Maa Vaishno Devi Temple In Hindi

वैष्णो देवी की यात्रा कटरा से शुरू होती है और इसमें 13 किलोमीटर की चढ़ाई होती है। कटरा से 1 किलोमीटर दूर बाणगंगा है जहां माता ने अपनी प्यास बुझाई थी और 6 किलोमीटर पर अर्धकुमारी में एक पवित्र गुफा है।  यात्रा के लिए यात्रियों को टूरिस्ट रिसेप्शन सेंटर कटरा बस स्टैंड में स्थित यात्रा रेजिसट्रेशन काउंटर से यात्रा स्लिप लेनी पड़ती है। यह स्लिप् निशुल्क मिलती है। आप यहां से कैप, कैनवास शूज, स्टिक आदि सामान किराए पर ले सकते हैं। आपके सामान को ले जाने के लिए आप एक पिट्ठू भी कर सकते हैं।

4. माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए रहने की व्यवस्था – Tourist Accommodation Facility At Maa Vaishno Devi Temple In Hindi

कटरा में आपको रहने के लिए कई सारे साधन मिल जाएंगे जिसमें कि बोर्ड के द्वारा आवास, होटल, धर्मशाला, और सरकार द्वारा बनाए गए आवास शामिल हैं। हालांकि भवन में केवल सांझीछत और अर्धकुमारी श्राइन बोर्ड के ही आवास उपलब्ध है। इसके अलावा  निशुल्क आवास के तौर पर बड़े-बड़े हॉल भी में बनाए गए हैं। आप डॉरमेट्री और किराय के रूम में भी रुक सकते हैं। इनके लिए आपको पहले से रिजर्वेशन करना पड़ेगा।

5. वैष्णो देवी जाने का सही मौसम – Best Season To Visit Maa Vaishno Devi Temple In Hindi

भवन में गर्मियों के महीने में तापमान मध्यम रहता है जबकि सर्दियों के सीजन में इसका तापमान शून्य के नीचे जाता है। इसके अलावा मानसून सीजन में तेज बारिश होती है। पवित्र मंदिर में टेंपरेचर 30 डिग्री सेल्सियस से लेकर -5 डिग्री सेल्सियस हो सकता है। ठंड के मौसम में यहां जाना बहुत मुश्किल हो सकता है क्योंकि दिसंबर, जनवरी और फरवरी के महीने में माता के भवन में भारी स्नोफॉल (बर्फबारी) होती है इसीलिए श्रद्धालुओं को सलाह दी जाती है कि वे अपने साथ गर्म कपड़े लेकर जाएं अगर वे सर्द मौसम में देवी के दर्शन करने को जाते हैं। अक्टूबर से लेकर मार्च तक के महीने तक आपको वहां गर्म कपड़ों की जरूरत महसूस हो सकती है। मई से लेकर सितंबर तक यहां मौसम काफी अच्छा रहता है जब सूती कपड़े भी पहने जा सकते हैं।

6. वैष्णो देवी के भवन में उपलब्ध सुविधाएं – Facilities Available At Maa Vaishno Devi Temple In Hindi

वैसे तो माँ वैष्णो देवी का मंदिर में कई सारी रुकने के स्थान है लेकिन फिर भी भारी संख्या में श्रद्धालु होने पर शायद आपको कॉरिडोर या जहाँ जगह मिले वहां ही सोना पड़ सकता है। आपको भवन में ब्लैंकेट आराम से किराए पर मिल जाएंगे। यहां कई सारे क्लॉक रूम उपलब्ध है जहां आप अपना कीमती सामान जमा कर सकते हैं लेकिन ध्यान रहे आपको अपना वॉलेट, फोन, कंघी, बेल्ट या कोई भी चमड़े की वस्तु दर्शन के पहले जमा करनी पड़ेगी।

7. माँ वैष्णो देवी का मंदिर की यात्रा कैसे करें – How To Travel For Vaishno Devi Shrine In Hindi

माँ वैष्णो देवी का मंदिर की यात्रा आप साल में एक या दो बार कर सकते हैं। यह एक अद्भुत जगह है और अगर आपको अपनी ऊर्जा पर पूरा विश्वास है तो आपको माता के दर्शन बहुत अच्छे से होंगे। जम्मू और कश्मीर में पहुंचने के लिए आपको ट्रेन या फ्लाइट करनी पड़ेगी। माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने श्रद्धालुओं को कई सारी सुविधाएं दे रखी है। आप जम्मू पहुंचने के बाद रेलवे स्टेशन से 500 मीटर दूर स्तिथ रूम और डॉरमेट्री (आवासी स्थल) में अपना रूम बुक करा सकते हैं।

8. माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए कटरा जाने के लिए साधन – How To Reach Katra For Darshan Of Maa Vaishno Devi Temple In Hindi

माँ वैष्णो देवी का मंदिर: माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए कटरा जाने के लिए साधन - How To Reach Katra For Darshan Of Maa Vaishno Devi Temple In Hindi

माँ वैष्णो देवी का मंदिर के दर्शन करने के लिए आप रेलवे स्टेशन से ही कैब, टैक्सी या बस हायर करके कटरा तक पहुंच सकते हैं। श्राइन बोर्ड जम्मू से कटरा पहुंचने के लिए ट्रांसपोर्ट फैसिलिटी अभी तक उपलब्ध नहीं कराई है। किसी ट्रेवल  एजेंट की मदद से आप होटल बुक कर सकते हैं। आप चाहें तो अंतिम क्षणों में में महंगे किराए वाले होटलों से बचने के लिए होटल रिजर्वेशन पहले से ही ऑनलाइन करा ले।

9. माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए चढ़ाई की शुरुआत – Trekking For Visiting Maa Vaishno Devi Temple In Hindi

  • आप देवी के दर्शन के लिए जाते समय त्रिकुटा की सुंदरता भी देख सकते हैं। शुरुआत करने के लिए आप दर्शनी दरवाजा देखने जाएं। आपका अगला स्टॉप बाणगंगा नदी होगा। इस स्थान पर माता रानी ने अपने बालों को धोया था और अपनी प्यास बुझाई थी। अगला पड़ाव अर्धकुमारी नामक स्थान है जहां माता रानी ने 9 महीने तक भगवान शिव की तपस्या की थी और इसी समय भैरवनाथ ने उन्हें देखा था। इसलिए माता वहां से गुफा में से निकलती हुई भवन तक जा पहुंची।
  • दर्शन करने में सबसे बड़ी समस्या है भक्तों की लम्बी लाइन लगना इसलिए रजिस्ट्रेशन करने के बाद आप भवन की ओर चले जाए। आपको दर्शन का नंबर मिलने में करीब 15 से 20 घंटे लग सकते हैं।
  • श्राइन बोर्ड ने भवन तक जाने के लिए एक नया रास्ता बनाया है जहां पोनी नहीं जा सकते। यहां बहुत ही खूबसूरत पहाड़ी (ट्रैकिंग) है जिसमें आपको करीब ढाई घंटे का समय लग सकता है क्योंकि भवन यहां से 6 किलोमीटर दूर है।
  • भवन पहुंचने पर आप आरती के लिए बुकिंग कर दें क्योंकि इस यात्रा का सबसे अनमोल वक्त यही होगा। जब आरती होगी आप इतनी सारी सकारात्मक ऊर्जा से भर जायेंगे की आपको लगेगा आप स्वर्ग में हैं।
  • आरती के बाद आप भैरव घाटी में जा सकते हैं जो कि एक स्टीप घाटी है जिसे चढ़ने में आपको कठिनाई हो सकती है और पोनी (एक टट्टू या छोटा घोड़ा है) के साथ जाना तो और भी मुश्किल हो सकता है।

10. वैष्णो देवी का मंदिर जाते समय क्या उम्मीद रखें – What To Expect While You Visit The The Goddess Of Power Maa Vaishno Devi Temple In Hindi

माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए आप जिस गुफा में जाएंगे वह बहुत ही कन्जेस्टेड हो सकती है। आपको आगे पीछे से धक्के लगेंगे लेकिन गलतियां ना करें और आराम से चले। आपको माता के दर्शन करने में पूरा 1 दिन लग जाएगा। जब आप करीब आधे रास्ते तक पहुंचेंगे तब आपको बैटरी चलित बघ्घियां भी मिल जाएंगी।

11. माँ वैष्णो देवी यात्रा से पहले की तैयारियां – Preparation For Touring Maa Vaishno Devi Temple In Hindi

  • माता वैष्णो देवी के दर्शन करने से पहले अपने आप को शारीरिक रूप से स्ट्रांग बना ले क्योंकि इस यात्रा में आपको बहुत मेहनत करनी पड़ेगी। अगर आप पहली बार जा रहे हैं तो ट्रिप के दो-तीन हफ्ते पहले जितना हो सके वाकिंग और रनिंग करें।
  • माता वैष्णो देवी के दर्शन करने से पहले आप गर्म कपड़ों की खरीदारी कर ले।
  • ट्रेन की टिकट और होटल की बुकिंग अगर आप पहले से ही करके रखेंगे तो आपको बहुत सुविधा होगी।
  • अगर आप फिट नहीं है तो माता के दर्शन करने न जाएं लेकिन फिर भी अगर आप दर्शन करने जाना चाहते हैं तो आप एक म्यूल की सहायता से जा सकते हैं।
  • अगर आप एक फौजी हैं तो आपके लिए एक स्पेशल एंट्रेंस माता के भवन में बनाया गया है। जिससे आपको 2-3 घंटों में ही माता के दर्शन हो जायेंगे।
  • अगर आप वहां ठहरना चाहते हैं तो आप को वैष्णो देवी बोर्ड द्वारा मैनेज किए गए आवास में ही रहना पड़ेगा।
  • श्राइन बोर्ड के भोजनालयों का खाना ताजा और काफी सस्ता है।
  • आप निहारिका भवन, कटरा बस स्टैंड के पास या पार्वती भवन, माता के भवन के पास से आवास बुक करा सकते हैं।

12. माता वैष्णो देवी के दर्शन करते हुए आपको किन चीजों की उम्मीद करनी चाहिए – What To Expect While Going To Maa Vaishno Devi Temple In Hindi

  • माता वैष्णो देवी के दर्शन को आए इतने सारे तीर्थयात्री के कारण वहां लॉकर फैसिलिटी उपलब्ध कराई गई है लेकिन हो सकता है कि कभी कभार सबके लिए यह उपलब्ध न हो पाए।
  • माँ वैष्णो देवी का मंदिर जाने के लिए बने ट्रैक पर आपको कई सारी डिस्पेंसरी और केमिस्ट की शॉप मिल सकती है और इसके अलावा दर्शनार्थीयों के लिए डॉक्टर और मेडिकल-एड भी चौबीसों घंटे उपलब्ध है।
  • माता वैष्णो देवी के दर्शन को हजारों श्रद्धालु आते हैं। कुछ त्योहारों पर जैसे कि नवरात्रि के समय भक्तों की संख्या बहुत बढ़ जाती है इसलिए दर्शन के समय बहुत लंबी कतारें होती है और आपको इस समय मुख्य मंदिर में पहुंचने में कई घंटे लग जाते हैं।
  • माँ वैष्णो देवी का मंदिर पहुंचने के बाद सबसे पहले चेकप्वाइंट पर निशुल्क भंडारा होता है जहां श्रद्धालुओं को गर्म और ताजा खाना परोसा जाता है।
  • माता वैष्णो देवी के दर्शन को आए श्रद्धालुओं को रेंट पर या निशुल्क आवास भी उपलब्ध कराया जाता है।

13. माता वैष्णो देवी के दर्शन करने के लिए टिप्स – Tips For Visiting Maa Vaishno Devi Temple In Hindi

  • भवन के अंदर आपको ब्लैंकेट की सुविधा उपलब्ध है जिसको कि आप किराए पर ले सकते हैं।
  • आपको अपना लगेज क्लॉक रूम में जमा करना पड़ेगा।
  • जम्मू से कटरा के लिए स्टेट ट्रांसपोर्ट और प्राइवेट ट्रांसपोर्ट की बसें रोजाना उपलब्ध है।
  • जेकेएसआरटीसी की बसें भी जम्मू रेलवे स्टेशन पर उपलब्ध हैं।
  • अपनी यात्रा स्लिप लेना ना भूलें क्योंकि इसके ना होने पर आपको बाणगंगा गेट के आगे नहीं जाने दिया जाएगा।
  • भवन तक जाने के लिए बहुत सारे खान पान के स्थान बनाये गए हैं।
  • बैटरी ऑपरेटेड ऑटोस भी आपको यहां मिल जाएंगे जिससे कि वृद्ध , विकलांग अथवा मरीजों को माता के दर्शन करने में आसानी होगी और इसकी कीमत ₹100 प्रति व्यक्ति है। लेकिन यह ऑटो शाम को नहीं चलते हैं।
  • धोखेबाज लोगो से सावधान रहे, अगर कोई आपसे कहता है कि मेरा वॉलेट खो गया है तो ऐसे लोगों पर ध्यान न दें और कोई अगर आपका पीछा ना छोड़े तो उसे साफ पुलिस स्टेशन का रास्ता दिखा दे।
  • कटरा जम्मू कश्मीर से 50 किलोमीटर स्थित है और बस का किराया ₹35 से ₹40 प्रति व्यक्ति है।
  • अगर आपके आर्मी में कनेक्शन है तो आप स्पेशल पास बनवा कर माता वैष्णो देवी के दर्शन कर सकते हैं इससे आप जनरल लाइन से निकलकर माता के दर्शन बहुत जल्दी करने में समर्थ होंगे।
  • भवन में प्रसाद उपलब्ध है इसलिए कटरा से प्रसाद खरीद कर ना ले जायें।

 

Read More: केदारनाथ का इतिहास, जाने से पहले जरूर जान लें ये बातें – Kedarnath Yatra, History Of Kedarnath In Hindi

Write A Comment