श्रवणबेलगोला के प्रमुख पर्यटन और तीर्थ स्थल की जानकारी – Travel Guide To Shravanabelagola Tourism In Hindi

Shravanabelagola In Hindi, श्रवणबेलगोला भारत के कर्नाटक राज्य में स्थित एक प्रमुख जैन तीर्थस्थल है, जहाँ भगवान गोमतेश्वर की 57 फीट लंबी एक विशाल मूर्ति स्थापित है। इस मूर्ति को बाहुबली प्रतिमा भी कहा जाता है। कर्नाटक में हासन जिले में बेंगलुरु से 144 किमी दूर स्थित श्रवणबेलगोला में जैन मंदिरों का संग्रह हर साल कई तीर्थयात्रियों बड़ी संख्या को अपनी तरफ आकर्षित करता है। बता दें इस जगह का नाम यहां स्थित एक सुंदर श्वेत सरोवर की वजह से पड़ा है। कन्नड़ भाषा में वेल का अर्थ होता है श्वेत और गोल का मतलब होता है सरोवर। अगर आप श्रवणबेलगोला की यात्रा करने जा रहें हैं तो बता दें कि यहां स्थित तीर्थ स्थलों का दौरा करने के लिए आपको कम से कम एक दिन का समय तो चाहिए होगा। अगर आप यहां की यात्रा करने की योजना बना रहें हैं तो इस आर्टिकल को जरुर पढ़ें, यहां हम आपको श्रवणबेलगोला के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहें हैं।

1. श्रवणबेलगोला का इतिहास – Shravanabelagola History In Hindi

श्रवणबेलगोला का इतिहास

श्रवणबेलगोला में चन्द्रगिरि और विंध्यगिरि नाम की दो पहाड़ियाँ मौजूद हैं जिनके बारे में माना जाता है कि यह वो जगह है जहां पर आचार्य भद्रबाहु, चन्द्रगुप्त मौर्य और चंद्रगुप्त के आध्यात्मिक गुरु स्वयं ध्यान करते थे। चंद्रगुप्त पहाड़ियों पर चंद्रगुप्त मौर्य को समर्पित, चंद्रगुप्त बसडी स्थित है जिसे तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व में अशोक द्वारा बनाया गया था। चनद्रगिरि में भिक्षुओं के कई स्मारक भी हैं, जिनके बारे में कहा जाता है कि 5 वीं शताब्दी ईस्वी के बाद बनाये गये हैं।

बता दें कि विंध्यगिरि पहाड़ियों पर स्थित दुनिया की सबसे बड़ी अखंड मूर्ति गोमतेश्वर की 58 फीट ऊंची मूर्ति स्थित है। जैनियों के रूप में गोमतेश्वर या भगवान बाहुबली जैन धर्म के पहले तीर्थंकर थे। महापुरूषों का कहना है कि उन्होंने एक साल तक स्थिर मुद्रा में और ध्यान लगाया। बताया जा रह है कि पूरे साल ध्यान में समर्पित करने के बाद उन्होंने सर्वज्ञता प्राप्त कर ली थी। श्रवणबेलगोला में गोमतेश्वर की प्रतिमा का निर्माण 981 ईस्वी में गंगा राजवंश के एक मंत्री चनुवंडराय (Chanvundaraya) द्वारा किया गया था।

और पढ़े: कर्नाटक में घूमने के लिए 15 प्रसिद्ध तीर्थ स्थल और मंदिर

2. श्रवणबेलगोला में घुमने लायक प्रमुख तीर्थ और पर्यटन स्थल – Best Places To Visit In Shravanabelagola In Hindi

अगर आप श्रवणबेलगोला के पर्यटन स्थलों की यात्रा करने के लिए जा रहें हैं तो यहां पर आप नीचे दिए गये मंदिरों, तीर्थ स्थलों, और पर्यटन स्थल की यात्रा कर सकते हैं।

2.1 श्रवणबेलगोला के प्रमुख तीर्थ स्थल गोमतेश्वर प्रतिमा – Shravanabelagola Ke Pramukh Tirth Sthal Gomateshwara Statue In Hindi

श्रवणबेलगोला के प्रमुख तीर्थ स्थल गोमतेश्वर प्रतिमा

गोमतेश्वर प्रतिमा श्रवणबेलगोला का प्रमुख आकर्षण है जिसे देखने बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं। यह दुनिया की सबसे ऊँची अखंड मूर्ति है जिसकी उंचाई 17 मीटर है। गोमतेश्वर मूर्ति का निर्माण 10 वीं शताब्दी में गंगा वंश के राजा राजमल्ल के जनरल चामुंडराय द्वारा किया गया था। इस प्रतिमा के आधार पर तमिल और कन्नड़ में शिलालेख लिखे गए हैं। यहां हर 12 साल में एक बार “महामस्तकाभिषेक” नाम का त्यौहार मनाया जाता है, जिस दौरान प्रतिमा को दूध, केसर, घी और दही से स्नान कराया जाता है। अगर आप श्रवणबेलगोला तीर्थ स्थलों की यात्रा करने जा रहें हैं तो गोमतेश्वर प्रतिमा के दर्शन किये बिना अकी यात्रा एक दम अधूरी है।

2.2 श्रवणबेलगोला के प्रमुख मंदिर भंडारीबसादि मंदिर – Shravanabelagola Ke Pramukh Mandir Bhandaribasadi Temple In Hindi

श्रवणबेलगोला के प्रमुख मंदिर भंडारीबसादि मंदिर
Image Credit: Namisagar A

भंडारीबसादि श्रवणबेलगोला का एक प्रमुख मंदिर है जो होयसाला राजाओं के कोषाध्यक्ष हुला द्वारा 1126 में निर्मित मंदिर श्रवणबेलगोला में सबसे बड़ा है। मंदिर में कई जटिल नक्काशी और मूर्तियाँ यहाँ वास्तुकला के सरल शैलियों का प्रदर्शन करती है। भंडारीबसादि मंदिर एक बेहद प्रभावशाली संरचना, जिसे देखने के लिए आपको अवश्य जाना चाहिए।

2.3 श्रवणबेलगोला का पर्यटन स्थल जैन मठ – Shravanabelagola Ka Paryatan Sthal Jain Matha In Hindi

 श्रवणबेलगोला का पर्यटन स्थल जैन मठ
Image Credit: Harish Jain

जैन मठ श्रवणबेलगोला में स्थित एक प्रमुख संरचना है जिसे चारुक्षेत्री भट्टारक स्वामी की मठ के रूप में भी जाना जाता है। बता दें कि यह तीन मंजिला संरचना भगवान चंद्रनाथ को समर्पित है जिन्हें गणित का मुख्य देवता माना जाता है। यहां पर पर्यटक दीवार पर बने सुंदर चित्र और पीतल, तांबे और कांस्य की आकर्षक मूर्तियाँ भी देख सकते हैं।

2.4 श्रवणबेलगोला का दर्शनीय स्थल अक्कानबासदी मंदिर – Shravanabelagola Ka Darshaniya Sthal Akkanabasadi Temple In Hindi

श्रवणबेलगोला का दर्शनीय स्थल अक्कानबासदी मंदिर

अक्कानबासदी मंदिर श्रवणबेलगोला का एक प्रमुख तीर्थ स्थल है। आपको बता दें कि इस मंदिर का निर्माण 1121 ईस्वी में सोप पत्थर के उपयोग से किया गया था। यह मंदिर 5 फीट ऊंची मूर्ति के साथ पार्श्वनाथ को समर्पित है। अक्कानबासदी मंदिर होयसाल स्थापत्य शैली की विशेषता को दर्शाता है जिसे देखने के लिएय आपको जरुर जाना चाहिए।

2.5 श्रवणबेलगोला के मशहूर मंदिर चंद्रगिरी मंदिर – Shravanabelagola Ke Mashoor Mandir Chandragiri Temple In Hindi

श्रवणबेलगोला के मशहूर मंदिर चंद्रगिरी मंदिर

चंद्रगिरी मंदिर श्रवणबेलगोला में सबसे प्रसिद्ध जैन मंदिरों में से एक है। बता दें कि चंद्रगिरी पहाड़ियों के ऊपर स्थित यह मंदिर चामुंडराय द्वारा उच्च गुणवत्ता वाले ग्रेनाइट पत्थर का इस्तेमाल करके बनाया गया है। उंचाई पर स्थित यह मंदिर आसपास के जगहों के शानदार दृश्य प्रस्तुत करता है। अगर आप श्रवणबेलगोला घूमने के लिए जा रहें हैं तो आपको इस आकर्षक मंदिर के दर्शन करने के लिए अवश्य जाना चाहिए।

2.6 श्रवणबेलगोला में घूमने की खुबसूरत जगह कलाम्मा मंदिर – Shravanabelagola Me Ghumne Ki Khubsurat Jagah Kalamma Temple In Hindi

कलाम्मा मंदिर श्रवणबेलगोला में स्थित एकमात्र हिंदू मंदिर है जो देवी काली को समर्पित है। अगर आप श्रवणबेलगोला की यात्रा करने के लिए जा रहें हैं तो आपको कलाम्मा मंदिर के करने अवश्य जाना चाहिए। यहां मंदिर के आसपास और परिसर के अंदर कई अन्य हिंदू देवी-देवताओं को समर्पित मंदिर भी देखे जा सकते हैं।

और पढ़े: कुक्के श्री सुब्रमण्या मंदिर कर्नाटक के दर्शन की जानकारी 

3. श्रवणबेलगोला शहर का प्रसिद्ध भोजन – Food Of Shravanabelagola In Hindi

श्रवणबेलगोला शहर का प्रसिद्ध भोजन

अगर आप श्रवणबेलगोला की यात्रा करने के लिए जा रहें हैं तो यहां पर दक्षिण कर्नाटक समृद्ध और पारंपरिक भोजन का आनंद भी ले सकते हैं। यहां के प्रमुख स्थानीय व्यंजनों में डोसा, जोलदा रोटी, इडली, वड़ा, सांभर, अक्की रोटी, शीरा, सरू, केसरी बाथ, रागी मड्डे, उप्पितु, वंगी बाथ के नाम शामिल हैं। अगर आप कुछ मीठा खाना चाहते हैं तो मैसूर पाक, ओबबट्टू, पेयासा का स्वाद ले सकते हैं।

4. श्रवणबेलगोला घूमने जाने के लिए सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Shravanabelagola In Hindi

श्रवणबेलगोला घूमने जाने के लिए सबसे अच्छा समय

अगर आप श्रवणबेलगोला की यात्रा करने की योजना बना रहें हैं तो बता दें कि यहां आने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से अप्रैल सबसे अच्छे महीने हैं। ग्रीष्मकाल में यहां पर काफी गर्म पड़ती है जबकि मानसून का मौसम क्षेत्र की वनस्पतियों और खूबसूरती को बढ़ा देता है।

और पढ़े: रामेश्वरम मंदिर के इतिहास, दर्शन पूजन और यात्रा के बारे में संपूर्ण जानकारी

5. श्रवणबेलगोला कर्नाटक कैसे पंहुचा जाये – How To Reach Shravanabelagola Karnataka In Hindi

अगर आप श्रवणबेलगोला की यात्रा करने की योजना बना रहें हैं तो बता दें कि यहाँ आप हवाई, रेलवे और सड़क मार्ग की मदद से आराम से पहुच सकते है।

5.1 श्रवणबेलगोला कैसे पहुंचे हवाई मार्ग से – How To Reach Shravanabelagola By Air In Hindi

श्रवणबेलगोला कैसे पहुंचे हवाई मार्ग से

श्रवणबेलगोला की यात्रा अगर आप हवाई जहाज द्वारा करना चाहते हैं तो बता दें कि श्रवणबेलगोला के निकटतम हवाई अड्डा मैसूर में है, जो 97 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। मैसूर हवाई अड्डा से आप कैब या टैक्सी ले सकते है और श्रवणबेलगोला शहर पहुच सकते है ।

5.2 ट्रेन से श्रवणबेलगोला कैसे पहुंचें – How To Reach Shravanabelagola By Train In Hindi

ट्रेन से श्रवणबेलगोला कैसे पहुंचें

अगर आप रेल मार्ग द्वारा श्रवणबेलगोला की यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि यहां का निकटतम रेलवे स्टेशन हासन में है जो 45 किलोमीटर दूर स्थित है, बता दें कि यहां पर कई ट्रेन रूकती हैं।

5.3 कैसे पहुँचें श्रवणबेलगोला सड़क मार्ग से – How To Reach Shravanabelagola By Road In Hindi

कैसे पहुँचें श्रवणबेलगोला सड़क मार्ग से

अगर आप सड़क मार्ग द्वारा श्रवणबेलगोला की यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि श्रवणबेलगोला  कर्नाटक के सभी बड़े शहरों से अच्छी तरह से सड़कों से भी जुड़ा हुआ है। यात्रा करने के लिए आप टैक्सी और ऑटोरिक्शा किराये पर ले सकते हैं।

और पढ़े: कर्नाटक के टॉप 10 पर्यटन स्थलों की जानकारी

6. श्रवणबेलगोला कर्नाटक का नक्शा – Shravanabelagola Karnataka Map

7. श्रवणबेलगोला की फोटो गैलरी – Shravanabelagola Images

View this post on Instagram

Lord Bahubali

A post shared by sanjit Choudhury (@sanjit_partho) on

और पढ़े:

Leave a Comment