Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Mahabalipuram Temple In Hindi, महाबलीपुरम मंदिर भारत के तमिलनाडु राज्य में बंगाल की खाड़ी के किनारे कोरोमंडल तट पर स्थित एक विशाल और भव्य मंदिर हैं। महाबलीपुरम अपने जटिल नक्काशीदार मंदिरों और रॉक-कट गुफाओं के लिए जग प्रसिद्ध हैं। तमिलनाडु का यह ऐतिहासिक ममल्लापुरम या महाबलीपुरम यहां आने वाले पर्यटकों के लिए एक शानदार डेस्टिनेशन के रूप में जाना जाता हैं। महाबलीपुरम को वर्ष 1984 में यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल में शामिल किया जा चुका हैं।

यहां के कुछ प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में पंच रथ, शोर मंदिर, गणेश मंदिर और मगरमच्छ बैंक आदि शामिल हैं। यदि आप भी महाबलीपुरम की यात्रा पर जाना चाहते हैं तो हमारे इस आर्टिकल को एक बार पूरा जरूर पढ़े।

1. महाबलीपुरम का इतिहास – Mahabalipuram History In Hindi

महाबलीपुरम का इतिहास

महाबलिपुरम या ममल्लापुरम के इतिहास के बारे पता करने पर हम पाते हैं कि कभी यह एक व्यापारिक शहर था जोकि पल्लव वंश के दौरान स्थापित किया गया था। महाबलीपुरम एक महत्वपूर्ण बंदरगाह और यहां की समृद्ध गतिविधि का एक शानदार केंद्र बन गया हैं। पल्लवों वंश ने अपने पीछे एक शानदार इतिहास, वास्तुकला और संस्कृति का खजाना छोड़ा हैं। जिसमें आश्चर्यजनक मोनोलिथ, रॉक मंदिर और देवताओं की आकर्षित प्रतिमाएं आदि शामिल थी। हालाकि महाबलीपुरम का इतिहास पल्लव वंश से भी पहले सातवी-आठवी शताब्दी पुराना माना जाता हैं।

और पढ़े: तमिलनाडु के पर्यटन स्थल की जानकारी 

2. महाबलीपुरम मंदिर किसने बनवाया – Who Built The Mahabalipuram Temple In Hindi

मामल्लपुरम या महाबलीपुरम शहर की स्थापना का श्रेय 7 वीं शताब्दी ईस्वी के दौरान में पल्लव राजा नरसिंहवर्मन प्रथम को जाता हैं।

3. महाबलीपुरम मंदिर खुलने और बंद होने का समय – Mahabalipuram Temple Timing In Hindi

महाबलीपुरम मंदिर खुलने और बंद होने का समय

महाबलीपुरम मंदिर यहां आने वाले पर्यटकों के लिए सुबह 6 बजे से शाम के 6 बजे तक खुला रहता हैं।

4. महाबलीपुरम मंदिर में लगने वाला प्रवेश शुल्क – Mahabalipuram Temple Entry Fee In Hindi

महाबलीपुरम के दर्शनीय शोर मंदिर में प्रवेश करने पर 10 रूपये प्रति भारतीय नागरिक और 250 रूपये विदेशी नागरिको को एंट्री फीस देनी होती हैं।

5. महाबलीपुरम के प्रमुख पर्यटन स्थल – Mahabalipuram Nearest Tourist Places In Hindi

महाबलीपुरम पर्यटन स्थल घूमने के बाद आप इसके आसपास के प्रमुख पर्यटन स्थल घूमकर अपनी यात्रा को और अधिक रोचक बना सकते हैं। क्योंकि इस भव्य मंदिर के आसपास कई टूरिस्ट प्लेस स्थित हैं जहां आप घूमने जा सकते हैं। तो आइए हम आपको इस लेख में यहाँ के पर्यटन स्थल की सैर कराते हैं।

और पढ़े: ऊटी के पर्यटन स्थलों के बारे में जानकारी 

5.1 . शोर मंदिर महाबलीपुरम – Shore Temple Mahabalipuram In Hindi

शोर मंदिर महाबलीपुरम

महाबलीपुरम के प्रमुख पर्यटन स्थलों में शोर मंदिर जोकि 8 वीं शताब्दी ईस्वी पूर्व का है, तीन तीर्थों का एक अधभुत संयोजन है और इस मंदिर में विष्णु मंदिर भी शामिल है। जिसका निर्माण भगवान शिव के दो मंदिरों के बीच करबाया गया है। पल्लवों द्वारा ग्रेनाइट के ब्लॉकों का उपयोग करके एक शानदार संरचना का निर्माण द्रविड़ शैली में किया गया है। शोर मंदिर तमिलनाडु राज्य में समुद्र तट पर स्थित हैं। शोर मंदिर 60 फीट ऊंचे और 50 फीट चौकोर मंच पर विश्राम करते हुए पिरामिड शैली में निर्मित किया गया है।

5.2 पंच रथ मंदिर महाबलीपुरम – Five Rathas Mahabalipuram In Hindi

पंच रथ मंदिर महाबलीपुरम

महाबलीपुरम के दर्शनीय स्थलों में पंच रथ मंदिर 7 वीं शताब्दी के अंत में पल्लवों द्वारा निर्मित किया गया एक रॉक-कट मंदिर है। महाबलीपुरम के रथ मंदिर का परिचय इन पंच रथों का नाम पांडवों और महाभारत के अन्य पात्रों के नाम के अनुसार रखा गया है। द्रौपदी रथ, धर्मराज रथ और अन्य पंच रथ शामिल हैं। पंच रथ मंदिर को यूनेस्को की विश्व धरोहर में शामिल किया गया हैं। इन सभी गुफा मंदिरों में बने मंदिरों में धर्मराज रथ सबसे बड़ा बहु मंजिला मंदिर है और द्रौपदी रथ सबसे छोटा है। कुटी के आकार का द्रौपदी रथ पहला रथ है जो प्रवेश द्वार पर स्थित है और यह रथ देवी दुर्गा को समर्पित हैं।

इसके बाद अगला रथ अर्जुन रथ है जोकि भगवान भोलेनाथ को समर्पित है। भीम चूहा मंदिर के खंभों पर आकर्षित कर देने वाली शेर की नक्काशी बनी हुई है। जबकि नकुल-सहदेव रथ पर हाथी की खूबसूरत नक्काशी देखने को मिलती हैं जोकि देवराज इंद्र को समर्पित हैं। इन सभी के बीच जो सबसे बड़ा रथ हैं वह धर्मराज का हैं और भगवान शिव को समर्पित हैं।

5.3 महाबलीपुरम बीच – Mahabalipuram Beach In Hindi

महाबलीपुरम बीच

महाबलीपुरम बीच तमिलनाडु के चेन्नई शहर से लगभग 58 किमी की दूरी पर दक्षिण में बंगाल की खाड़ी के तट पर स्थित है। महाबलीपुरम बीच लगभग 20 किमी लंबा समुद्र तट हैं जोकि 20 वीं शताब्दी के बाद से ही अस्तित्व में आया था। यह समुद्र तट धूप सेंकने, गोताखोरी, विंड सर्फिंग और मोटर बोटिंग जैसी समुद्र तट की गतिविधियों के लिए पर्यटकों के बीच लौकप्रिय हैं।

5.4 दक्षिणा चित्र महाबलीपुरम – Dakshinachitra Mahabalipuram In Hindi

दक्षिणा चित्र महाबलीपुरम

दक्षिणाचित्र एक विरासत गांव है जोकि महाबलिपुरम समुद्र तट पर स्थित है और चेन्नई शहर से लगभग 25 किलोमीटर की दूरी पर है। इस गांव को 19 वीं शताब्दी के दौरान का प्रतिनिधित्व करने वाले गांव के मॉडल के रूप में विकसित किया गया है। दक्षिण भारतीय शिल्प उद्योग यहाँ अपने कलात्मक और पारंपरिक रूप में चित्रित किया गया है।

5.5 गणेश रथ मंदिर महाबलीपुरम – Ganesh Ratha Temple Mahabalipuram In Hindi

गणेश रथ मंदिर महाबलीपुरम

गणेश रथ मंदिर पल्लव वंश द्वारा निर्मित किया गया महाबलीपुरम में एक दर्शनीय मंदिर है। गणेश मंदिर की संरचना द्रविड़ शैली में की गई हैं और यह मंदिर अर्जुन तपस्या के उत्तर की ओर स्थित है। इस मंदिर को एक चट्टान पर खूबसूरती से उकेरा गया है जिसकी आकृति एक रथ जैसी दिखाई देती हैं। शुरुआत में यह मंदिर भगवान शिव के लिए जाना जाता था लेकिन बाद इसे गणेश जी को समर्पित कर दिया गया।

और पढ़े: रामेश्वरम मंदिर के इतिहास, दर्शन पूजन और यात्रा के बारे में संपूर्ण जानकारी

5.6 गंगा का उद्गम महाबलिपुरम – Descent Of The Ganges Mahabalipuram In Hindi

गंगा का उद्गम महाबलिपुरम

महाबलीपुरम के प्रमुख दर्शनीय स्थलों में गंगा का उद्गम महाबलिपुरम में वेस्ट राजा स्ट्रीट पर स्थित एक विशाल चट्टान स्मारक है। इस चट्टान का निर्माण 7 वीं शताब्दी में पल्लव वंश के शासनकाल के दौरान किया गया था। चट्टान पर की गई नक्काशी पवित्र गंगा नदी स्वर्ग से पृथ्वी लौक पर आने की कहानी को बयां करती हैं।

5.7 टाइगर गुफा महाबलीपुरम – Tiger Cave Mahabalipuram In Hindi

टाइगर गुफा महाबलीपुरम

टाइगर गुफा महाबलीपुरम के उत्तर में 5 किलोमीटर की दूरी पर सालुरंकुपम गांव के पास स्थित है। यह रॉक-कट गुफा मंदिर देवी दुर्गा को समर्पित है। टाइगर गुफा में की गई नक्काशी देवी दुर्गा के जीवन में घटी एक घटना को प्रस्तुत करती हैं। यह गुफा आज एक शानदार पिकनिक स्पॉट के रूप में जानी जाती हैं।

5.8 त्रिमूर्ति गुफा मंदिर महाबलीपुरम – Trimurti Cave Temple Mahabalipuram In Hindi

त्रिमूर्ति गुफा मंदिर महाबलीपुरम

महाबलीपुरम का दर्शनीय त्रिमूर्ति गुफा मंदिर 7 वीं शताब्दी के दौरान का प्राचीन रॉक-कट मंदिर है। जोकि 100 फीट ऊंची चट्टान पर निर्मित किया गया हैं। यह मंदिर महाबलीपुरम के गणेश रथ के उत्तर की ओर स्थित है। त्रिमूर्ति गुफा मंदिर हिन्दू धर्म से सम्बंधित तीन प्रमुख देवता ब्रह्मा, विष्णु और शिव को समर्पित है।

5.9 अर्जुन की तपस्या महाबलीपुरम – Arjuna’s Penance In Hindi

अर्जुन की तपस्या महाबलीपुरम

महाबलीपुरम का आकर्षण अर्जुन की तपस्या लगभग 30 मीटर लंबी और 9 मीटर ऊँची है और यह दो विशाल शिलाखंडों पर निर्मित है। अर्जुन की तपस्या महाबलिपुरम की सबसे लोकप्रिय 7 वीं और 8 वीं शताब्दी की पत्थर की नक्काशी में से एक है। इस आकर्षित नक्काशी में भगवान, जानवर, पक्षी, अर्ध दिव्य जीव, हाथी और बंदर जैसे जानवर हैं। चट्टान पर उकेरी गई नक्काशी मूर्तिकारों के कलात्मक कौशल को प्रस्तुत करती हैं।

और पढ़े: जगन्नाथ पुरी मंदिर के बारे में संपूर्ण जानकारी 

5.10 कृष्णा का बटरबॉल महाबलिपुरम – Krishna’s Butterball In Mahabalipuram In Hindi

कृष्णा का बटरबॉल महाबलिपुरम

महाबलीपुरम के पर्यटन में कृष्णा का बटरबॉल महाबलिपुरम समुद्र तट के दूसरी ओर पहाड़ी पर एक बड़ी चट्टान है। कृष्णा का बटरबॉल गणेश रथ के पास एक पहाड़ी ढलान पर एक विशाल शिलाखंड के रूप में स्थित हैं। यह चट्टान 5 मीटर के व्यास की हैं।

5.11 महिषमर्दिनी गुफा महाबलीपुरम – Mahishamardini Cave In Hindi

महिषमर्दिनी गुफा महाबलीपुरम

महिषमर्दिनी गुफा महाबलिपुरम के पर्यटन में चिंगलपुट जिले में स्थित एक अखंड मूर्ति है। महिषमर्दिनी गुफा 7 वीं शताब्दी के मध्य की है और महाबलिपुरम आने वाले पर्यटकों के बीच अधिक लौकप्रिय हैं। यह गुफा देवी मां को समर्पित हैं और गुफा के में शिव, पार्वती और मुरुगन की नक्काशी है।

5.12 धर्मराज गुफा महाबलीपुरम – Dharmaraja Cave In Hindi

धर्मराज गुफा 7वीं शताब्दी की एक शानदार कलात्मक गुफा मंदिर संरचना है, इसमें तीन खाली मंदिर हैं। गुफा में तीन देवताओं के लिए तीन गर्भगृह बने हुए हैं जोकि वर्तमान में खाली हैं। शिलालेख के अनुसार इस गुफा को अतींतकामा मंडपम भी कहा जाता है।

और पढ़े: कोयम्बटूर पर्यटन स्थल के बारे में जानकारी

5.13 वराह गुफा मंदिर महाबलीपुरम – Varaha Cave Temple Mahabalipuram In Hindi

वराह गुफा मंदिर महाबलीपुरम

महाबलीपुरम की मशहूर वराह गुफा मंदिर एक मंडप के साथ-साथ एक अखंड रॉक-कट मंदिर है। यह गुफा भी यहां की अन्य गुफाओं की तरह ही 7 वीं शताब्दी की है और इसका निर्माण ग्रेनाइट पहाड़ी की चट्टानी दीवारों पर किया गया है। मण्डपम की दीवारों पर भगवान विष्णु वराह के रूप में स्थित हैं और भूदेवी के साथ मूर्ती बनी हुई हैं। पर्यटक इस गुफा में घूमने बड़ी संख्या में आते हैं।

5.14 थिरुकलुकुंड्राम मंदिर महाबलीपुरम – Thirukalukundram Temple In Hindi

थिरुकलुकुंड्राम मंदिर महाबलीपुरम

थिरुक्लुकुंदराम मंदिर महाबलीपुरम का एक दर्शनीय स्थल है, जोकि पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। यह दर्शनीय मंदिर महाबलीपुरम के पश्चिम में 15 किलोमीटर की दूरी पर है। थिरुकलुकुंड्राम मंदिर भगवान शिव को समर्पित है और डच, अंग्रेजी और प्राचीन भारतीय भाषा में सुंदर शिलालेख यहा देखने को मिल जायेंगे। थिरुकलुकुंड्राम मंदिरके प्रमुख देवता अरुलमिघु वेदागिरेश्वर और अरुलमिघु थिरुमलईयुलडयार हैं।

5.15 थिरुक्कलमलाई मंदिर महाबलीपुरम – Thirukadalmallai Temple In Hindi

थिरुक्कलमलाई मंदिर महाबलीपुरम

थिरुक्कलमलाई मंदिर का निर्माण पल्लव वंश के राजा द्वारा समुद्र की लहरों से मूर्तियों की सुरक्षा के लिए करबाया गया था। इस मंदिर के प्रमुख देवता भगवान विष्णु हैं, जिन्हें वालवेंदई ज्ञानपीरन के नाम से भी जाना जाता है। यह मंदिर समुद्र के पास अपने आदिवराह तीर्थस्थल के लिए प्रसिद्ध हैं।

और पढ़े: मदुरई का मीनाक्षी मंदिर के दर्शन की जानकारी 

6. महाबलीपुरम का स्थानीय भोजन – Local Food Of Mahabalipuram In Hindi

महाबलीपुरम का स्थानीय भोजन

महाबलीपुरम में रेस्तरां और कैफे आपको विभिन्न प्रकार व्यंजनों परोसते हैं। स्ट्रीट फूड के रंग और मसाले, एक विस्तृत, पारंपरिक और प्रामाणिक थेली के साथ-साथ पश्चिमी व्यंजनों की एक लम्बी सूची हैं। आप यहाँ एक सामान्य दक्षिण भारतीय थाली भी ले सकते हैं। जिसमें इडली, डोसा, अप्पम, वड़ा, उपमा सांभर, मीठा पोंगल, केसरी, पायसम और भी बहुत कुछ आपको मिल जायेगा।

7. महाबलीपुरम घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Mahabalipuram In Hindi

महाबलीपुरम घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

महाबलिपुरम की यात्रा पर आप वर्ष में कभी भी जा सकते हैं लेकिन यहाँ जाने के लिए सबसे अच्छा समय नवम्वर से फरवरी माह के बीच का माना जाता हैं, क्योंकि इस दौरान मौसम यात्रा करने के लिए बिलकुल अनुकूल रहता हैं।

8. महाबलीपुरम में कहां रुके – Where To Stay In Mahabalipuram In Hindi

महाबलीपुरम में कहां रुके

महाबलीपुरम और इसके प्रमुख पर्यटन स्थल की यात्रा करने के बाद यदि आप यहाँ रुकना चाहते हैं, तो हम आपको बता दें कि यहाँ आपको लो-बजट से लेकर हाई-बजट के होटल आसानी से मिल जायेंगे।

  •  ग्रांडे बे रिज़ॉर्ट और स्पा
  •  इंटरकांटिनेंटल चेन्नई महाबलिपुरम रिज़ॉर्ट
  •  सिल्वर मून गेस्ट हाउस
  • राजलक्ष्मी गेस्ट हाउस
  •  होटल मामल्ला हेरिटेज

और पढ़े: केरल के मशहूर हिल स्टेशन मुन्नार के पर्यटन स्थल 

9. महाबलीपुरम कैसे जाये – How To Reach Mahabalipuram In Hindi

महाबलीपुरम पर्यटन स्थल जाने के लिए आप फ्लाइट, ट्रेन और बस में से किसी का भी चुनाव कर सकते हैं। इस दर्शनीय स्थल तक पहुंचने के लिए हर तरह के विकल्प मौजूद है।

9.1 महाबलीपुरम फ्लाइट से कैसे पहुंचे – How To Reach Mahabalipuram By Flight In Hindi

महाबलीपुरम फ्लाइट से कैसे पहुंचे

महाबलीपुरम की यात्रा के लिए यदि आपने हवाई मार्ग का चुनाव किया हैं तो हम आपको बता दें कि महाबलीपुरम के लिए कोई सीधी उड़ान सेवा नहीं है। महाबलीपुरम के लिए सबसे निकटतम हवाई अड्डा चेन्नई एयरपोर्ट हैं जोकि लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर चेन्नई में स्थित हैं। हवाई अड्डे से आप टैक्सी किराए पर ले सकते हैं।

9.2 ट्रेन से महाबलीपुरम कैसे जाये – How To Reach Mahabalipuram By Train In Hindi

ट्रेन से महाबलीपुरम कैसे जाये

महाबलीपुरम पर्यटन स्थल की यात्रा के लिए यदि आपने रेलवे मार्ग का चुनाव किया है तो हम आपको बता दें कि महाबलीपुरम के लिए कोई सीधी ट्रेन सेवा नहीं है। लेकिन सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन एग्मोर रेलवे स्टेशन है जोकि चेन्नई शहर में स्थित है। रेलवे स्टेशन से आप टैक्सी किराए से ले सकते हैं।

9.3 महाबलीपुरम कैसे पहुंचे बस से – How To Reach Mahabalipuram By Bus In Hindi

महाबलीपुरम कैसे पहुंचे बस से

महाबलीपुरम टूरिस्ट प्लेस की यात्रा के लिए यदि आपने बस का चुनाव किया हैं, तो हम आपको बात दें कि महाबलीपुरम सडक मार्ग के माध्यम से आसपास के सभी शहरों से बहुत अच्छी तरह से कनेक्ट हैं। आप चेन्नई मार्ग से बस या टैक्सी के माध्यम से आसानी से महाबलीपुरम पहुंच जायेंगे।

और पढ़े: कन्याकुमारी में घूमने की जगह और पर्यटन स्थल 

10. महाबलीपुरम मंदिर का नक्शा – Mahabalipuram Temple Map

11. महाबलीपुरम मंदिर की फोटो गैलरी – Mahabalipuram Temple Images

और पढ़े:

Write A Comment