सफदरजंग का मकबरा घूमने की पूरी जानकारी – Safdarjung Tomb Information In Hindi

Safdarjung Tomb In Hindi, सफदरजंग मकबरा दिल्ली के जोर बाग क्षेत्र में स्थित शहर के सबसे भव्य स्मारकों में से एक है। बता दें कि दिल्ली की एक आकर्षक संरचना होने के बाद भी जगह पर पर्यटकों को ज्यादा भीड़ नहीं होती। एक तरफ दुनिया के पर्यटक जामा मस्जिद और हुमायूं के मकबरे जैसी जगहों को देखने के लिए बड़ी संख्या में जाते हैं लेकिन सफदरजंग मकबरा अक्सर पर्यटकों को आकर्षित करने से पीछे छूट जाता है। सफदरजंग मकबरा एक एक वास्तुशिल्प चमत्कार है जो अपने मजबूत इतिहास के लिए भी जाना जाता है। इस मकबरे को ‘सफदरजंग का मकबरा’ के रूप में भी जाना जाता है जो चारों तरफ से हरे-भरे बगीचों से घिरा हुआ है।

सफदरजंग मकबरे का निर्माण संगमरमर और बलुआ पत्थर से अठारहवीं शताब्दी के अंत में किया गया था जो आज भी समय के सांस्कृतिक प्रभावों को दर्शाता है। यह मकबरा मिर्ज़ा मुकीम अबुल मंसूर खान की कब्र है जिन्हें सफदरजंग के नाम से भी जाना जाता था। वे अहमद शाह बहादुर के शासन के दौरान भारतीय उपमहाद्वीप का प्रधानमंत्री या वजीर उल-हिंदुस्तान थे। अगर आप इस सफदरजंग मकबरे के बारे में और जानना चाहते हैं तो इस लेख को पूरा पढ़ें, यहां हम आपको ‘सफदरजंग के मकबरे’ के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहें हैं।

सफदरजंग मकबरे का इतिहास – Safdarjung Tomb History In Hindi

सफदरजंग मकबरे का इतिहास - Safdarjung Tomb History In Hindi
Image Credit : Nirupam Kapoor

मिर्ज़ा मुकीम अबुल मंसूर खान को सफदरजंग के रूप में जाना जाता है, जिन्होंने मुहम्मद शाह के वाइसराय के पद पर अवध की अध्यक्षता की थी। बादशाह मुहम्मद शाह के निधन के बाद सफदरजंग दिल्ली में स्थानांतरित हो गया। इसके बाद मुहम्मद शाह के बेटे अहमद शाह ने 1748 में दिल्ली में मुगल शासन की गद्दी पर बैठे, तब सफदरजंग ने वजीर उल-हिंदुस्तान के शीर्षक के साथ राज्य के प्रधान मंत्री का पद हासिल किया। इस युग के दौरान क्षेत्र अपने कार्य और प्रभाव में बिगड़ रहा था, क्योंकि उनके क्षेत्रीय शासन ने भारत के केवल उत्तरी भाग को ही कवर किया था। सफ़दरजंग एक प्रमुख राजनीतिक व्यक्ति थे और उन्होंने प्रधानमंत्री के रूप में सभी महत्वपूर्ण शक्तियों पर नियंत्रण ले लिया और इसके बाद राजा केवल मुख्यमंत्री के हाथों की कठपुतली बन गया था।

धीरे-धीरे सफदरजंग ने अपने अधिकार का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया और अपने विशेषाधिकारों का शोषण करने लगा। इसका नतीजा यह हुआ कि कुछ अदालती राजनीति के कारण उनके पद से बर्खास्त कर दिया गया था और 1753 में राज्य से निर्वासित कर दिया। राज्य से निकाले जाने के तुरंत बाद 1754 में उनकी मृत्यु हो गई और फिर उनके बेटे उनके बेटे शुजा-उद-दौला ने राजा की सहमति पर अपने पिता की याद में इस मकबरे का निर्माण करवाया।

और पढ़े : दिल्ली का पुराना किला घूमने की जानकारी 

सफदरजंग के मकबरे की वास्तुकला – Architecture Of Safdarjung Tomb In Hindi

सफदरजंग के मकबरे की वास्तुकला - Architecture Of Safdarjung Tomb In Hindi
Image Credit : Kartikeya Tripathi
  • सफदरजंग मकबरा मुगलों का अंतिम उद्यान मकबरा है जिसकी वजह से यह मुगल इतिहास में एक महत्वपूर्ण भूमिका प्राप्त करता है। इस मकबरे को एक इथियोपियाई वास्तुकार द्वारा डिज़ाइन किया गया था, जिसने इस मकबरे को हुमायूं के मकबरे के समान शैली में बनाया था।
  • सफदरजंग का मकबरा एक विशाल चौकोर बगीचे से घिरा हुआ है जहां पर पर्यटक हर तरह के पक्षियों को देख सकते हैं। परिसर के अंदर तीन गुंबदों वाली एक मस्जिद है, जो बेहद शांत जगह है।
  • मकबरे का विशाल केंद्रीय गुंबद हर किसी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करता है। इसकी दीवारों को पास से देखने पर आप कुछ दिलचस्प चीजें देख सकते हैं। मकबरे का निर्माण भूरा पीला और लाल बलुआ पत्थर से किया गया है, जिसकी वजह से यह दिल्ली के अन्य मुगल स्मारकों की तरह दिखता है।
  • प्रवेश द्वार के पास से यह मकबरा पर्यटकों को शानदार दृश्य प्रस्तुत करता है। जब कोई भी पर्यटक इस मकबरे को पहली बार देखता है तो यह उसे ताजमहल की याद दिलाता है। क्योंकि यह ताजमहल की झलक देता है।

सफदरजंग मकबरे में गार्डन –  Safdarjung Tomb Gardens In Hindi

सफदरजंग मकबरे में गार्डन -  Safdarjung Tomb Gardens In Hindi
Image Credit : ABHISHEK KUMAR

सफदरजंग मकबरे के आसपास हुमायूं के मकबरे के डिजाइन के आधार पर विशिष्ट मुगल चारबाग शैली में गार्डन बनाया गया है। यह बगीचा 280 मीटर ऊँची दीवार से घिरा हुआ है जिसे छोटे रास्तों और वॉटर टैंक्स के साथ चार वर्गों में विभाजित है। इनमें से एक मार्ग मुख्य द्वार की ओर जाता है जबकि दूसरा मंडप की ओर जाता है। यहां मुख्य मकबरा एक ढाबे के ऊपर स्थित है, जिसकी ऊंचाई 50 मीटर है।

और पढ़े : दिल्ली हाट बाजार की पूरी जानकारी

सफदरजंग मकबरे की यात्रा करने के लिए टिप्स – Tips For Visiting Safdarjung Tomb In Hindi

सफदरजंग मकबरे की यात्रा करने के लिए टिप्स - Tips For Visiting Safdarjung Tomb In Hindi
Image Credit : Consorcio Tucanos
  • जब आप सफदरजंग मकबरे की यात्रा करने जा रहें हैं तो आप अपने शरीर को हाइड्रेटेड रखने के लिए पानी की बोतल ले जाना न भूलें।
  • आप मकबरे की यात्रा के दौरान भारत स्थित स्टालों से नाईक-नैक और स्थानीय स्मृति चिन्ह खरीद सकते हैं।
  • अगर आप पर्यटकों की भीड़ से बचना चाहते हैं तो सुबह के समय सफदरजंग मकबरे का दौरा करने के लिए जा सकते हैं।
  • परिसर में कूड़ा-कचरा न फेकें।

सफदरजंग मकबरे घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Safdarjung Tomb In Hindi

सफदरजंग मकबरे घूमने जाने का सबसे अच्छा समय - Best Time To Visit Safdarjung Tomb In Hindi
Image Credit : Chanchal Bharti

सफदरजंग मकबरे की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय शुरुआती वसंत या फरवरी का महिना है। दिसंबर और जनवरी के महीने में दिल्ली में तेज ठंड पड़ती है। इसलिए आप फरवरी और मार्च के महीने में दिल्ली की यात्रा कर सकते हैं और इस आकर्षक संरचना को देखने के लिए जा सकते हैं। अप्रैल से जून तक दिल्ली में गर्मी का मौसम होता है जो यात्रा करने के लिए आदर्श समय नहीं है।

और पढ़े : मुगल गार्डन नई दिल्ली घूमने की पूरी जानकारी

सफदरजंग मकबरे दिल्ली कैसे पहुंचे – How To Reach Safdarjung Tomb Delhi In Hindi

सफदरजंग मकबरे दिल्ली कैसे पहुंचे - How To Reach Safdarjung Tomb Delhi In Hindi

जो भी पर्यटक सफदरजंग मकबरे के लिए जाना चाहते हैं उनके लिए बता दें कि यहां तक आप मेट्रो और राज्य द्वारा संचालित बसों की मदद से आसानी से पहुंच सकते हैं। सफदरजंग मकबरे के लिए निकटतम मेट्रो स्टेशन योर लाइन पर स्थित जोर बाग मेट्रो (Jor Bagh Metro) है। इस मेट्रो से मकबरा लगभग 300 मीटर की दूरी पर है। मेट्रो स्टेशन से मकबरे तक जाने के लिए आप या तो स्थानीय बैटरी से चलने वाले रिक्शा किराये पर ले सकते हैं या फिर मकबरे तक पैदल यात्रा भी कर सकते हैं। अगर आप एक आरामदायक यात्रा करना चाहते हैं तो टैक्सी या कैब भी बुक कर सकते हैं। अगर आप किफायती यात्रा करना चाहते हैं तो बस में भी यात्रा कर सकते हैं।

सफदरजंग मकबरे दिल्ली का नक्शा – Safdarjung Tomb Delhi Map

सफदरजंग मकबरे की फोटो गैलरी – Safdarjung Tomb Images

View this post on Instagram

Safdarhung Tomb #safdarjungtomb #historic #palace #mugal

A post shared by Fantastic Marvelous (@fantastic_marvelous) on

और पढ़े :

Leave a Comment