Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Kuldhara Village In Hindi, कुलधरा गाँव, राजस्थान की गोल्डन सिटी जैसलमेर से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है जो पर्यटकों द्वारा देखी जाने वाली सबसे खास जगहों में से एक हैं। जब आप इस जगह की यात्रा करेंगे तो आपको पता चलेगा कि यह गाँव राजस्थान के सबसे खास आकर्षण स्थलों में से एक है जिसे आपको अपनी यात्रा में जरुर शामिल करना चाहिए। राज्य के रेगिस्तान से अलग यह जगह सुंदर और खूबसूरत के कारण बेहद प्रसिद्ध है। कुछ लोग कुलधरा गाँव को डरावना और भूतिया बताते हैं।

इस गाँव में और इसके आसपास कई भूतिया और अपसामान्य गतिविधियों की कहानी रही है लेकिन इस बात का कोई आज तक ठोस सबूत नहीं दे सका। कुलधरा गाँव अपनी स्थापत्य सुंदरता और इतिहास की वजह से घूमने की एक बहुत रोचक जगह है। अगर आप कुलधरा गाँव के बारे में और भी ज्यादा जानना चाहते हैं या फिर इस जगह की यात्रा करने की योजना बना रहे हैं तो इस आर्टिकल को पूरा जरुर पढ़ें क्योंकि इसमें हमने कुलधरा हिस्ट्री, रहस्य, इतिहास और घूमने के बारे में पूरी जानकारी दी है।

कुलधरा का इतिहास- History Of Kuldhara Village In Hindi

कुलधरा का रहस्य और कहानी- Kuldhara Village Ka Rahasya Aur Kahani In Hindi

कुलधरा गाँव मे क्या क्या कर सकते है – Things To Do At Kuldhara Village in Hindi

कुलधरा गांव घुमने का समय और प्रवेश शुल्क- Kuldhara Village Timing And Entry Fees In Hindi

कुलधरा गाँव जाने का सबसे अच्छा समय- Best Time To Visit Kuldhara Village In Hindi

कुलधरा गाँव के पास भोजनालय – Food Near Kuldhara Village Jaisalmer In Hindi

कुलधरा गाँव कैसे पहुँचे- How To Reach Kuldhara Village In Hindi

  1. कुलधरा गाँव हवाई जहाज से कैसे पहुँचे- How To Reach Kuldhara Village By Air In Hindi
  2. कुलधरा गाँव सड़क मार्ग से कैसे पहुँचे- How To Reach Kuldhara Village By Road In Hindi
  3. कुलधरा गाँव ट्रेन से कैसे पहुँचे- How To Reach Kuldhara Village By Train In Hindi

कुलधरा गाँव की लोकेशन का मैप – Kuldhara Village Location

कुलधरा गाँव की फोटो गैलरी – Kuldhara Village Images

1. कुलधरा का इतिहास – History Of Kuldhara Village In Hindi

कुलधरा हिस्ट्री- History Of Kuldhara Village In Hindi

बता दें कि कुलधरा गाँव मूल रूप से ब्राह्मणों द्वारा बसाया गया था जो पाली क्षेत्र से जैसलमेर चले गए थे और कुलधरा गाँव जाकर बस गए थे। इस गाँव की पुस्तकों और साहित्यिक लेखों में बताया गया है कि कधान नामक पाली के एक ब्राह्मण ने इस जगह पर अपना घर बनाया था और यहाँ एक तालाब खोदकर इसका नाम उधासर रखा। पाली ब्राह्मणों को पालीवाल कहते थे और यहीं से उनके वंश का नाम आता है।

कुलधरा गाँव में कई ऐसे शिलालेख और नक्काशी पाए गए, जिसमें से कई ने कुलधरा का ब्राह्मण जाति के निवास के रूप में उल्लेख किया है। कई इतिहासकारों और अन्य विद्वानों का मानना है कि कुलधरा में पालीवाल ब्राह्मणों के निवास की वजह से उनकी जाति से इस गाँव का नाम पड़ा है। सबसे से आश्चर्य की बात तो यह है कि यहां की निवासियों ने अंतर-जातीय विवाह की प्रवृत्ति का पालन किया लेकिन यह केवल ब्राह्मणों के बीच प्रचलित थी।

2. कुलधरा का रहस्य और कहानी- Kuldhara Village Ka Rahasya Aur Kahani In Hindi

कुलधरा का रहस्य और कहानी- Kuldhara Village Ka Rahasya Aur Kahani In Hindi

कुलधरा गाँव की कथा या कहानी एक पर्यटक आकर्षण के रूप में इसकी सबसे खास संपत्ति है। इस गाँव की कहानी कई युगों से चली आ रही है और यहाँ कि एक स्थानीय लोककथा बन चुकी है। कुलधरा की कहानी को आप गाँव वालों से कुछ रूपये के के बदले में बहुत ही अच्छी तरह से सुन सकते हो।

लोकप्रिय मिथक के अनुसार 1800 के दशक में कुलधरा गाँव मंत्री सलीम सिंह के अधीन एक राज्य था जो गलत तरीकों से कर वसूलता था। उसने ग्रामीणों पर पहले से ही बहुत अधिक कर लगाए थे और इसके साथ ही सलीम सिंह को गाँव के मुखिया की बेटी पसंद आ गई थी। उसने गाँव वालों को धमकी दी कि अगर उन्होंने उसका विरोध करने की कोशिश करते हैं या वो उसके खिलाफ खड़े हुए तो वो उन पर और ज्यादा कर लगाएगा। अपनी बेटी के सम्मान को बचाने के लिए गाँव का मुखिया पूरे गांव सहित एक दिन रात में गांव छोड़कर भाग गए। जाते-जाते ग्रामीणों ने इस गांव को शाप दिया था कि आने वाले दिनों में इस जगह पर कोई भी नहीं रह पायेगा। भले ही इतिहासकारों का कुछ भी कहना हो लेकिन कुछ लोगों का यह भी कहना कई कि यहाँ पर भूकंप या अकाल की तरह एक प्राकृतिक आपदा थी।

और पढ़े: मध्य प्रदेश की 10 सबसे डरावनी जगह

3. कुलधरा गाँव मे क्या क्या कर सकते है – Things To Do At Kuldhara Village in Hindi

कुलधरा गाँव करने लायक चीजें- Things To Do At Kuldhara Village in Hindi

कुलधरा गाँव अब अब भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा अनुरक्षित एक ऐतिहासिक स्थल है, जिसकी वजह से अब पर्यटक इस जगह की यात्रा कर सकते हैं और चारों तरफ घूम कर इस बात का पता लगा सकते हैं कि यह गाँव पहले कैसा हुआ करता था। कुलधरा गाँव एक विशाल क्षेत्र में फैला हुआ है जिसमें लगभग 85 छोटे-छोटे आवास शामिल हैं। इस गाँव में कुछ ईंटों की संरचनाओं को छोड़ गांव की सभी झोपडियां टूटी हुई हैं। इनमे से कुछ झोपड़ी इतनी बुरी तरह टूटी हैं कि वो रेगिस्तान की रेत में लगभग दब गई हैं। इस गाँव के पास एक देवी का पुराना मंदिर भी है जिसके अंदर कई शिलालेख हैं।

इन प्राचीन शिलालेखों ने पुरातत्वविदों को गांव और इसके प्राचीन निवासियों के बारे में जानकारी इकट्ठा करने में मदद की है। कुलधरा गाँव उन लोगों के लिए स्वर्ग के सामान है जो अपनी यात्रा के दौरान भारत के खास अनुभवों की तलाश में रहते हैं और इतिहास के बारे में जानने की रूचि रखते हैं। जो लोग फोटोग्राफी या विडियोग्राफी में रूचि रखते है और कुछ खास चीजों पर लघु फिल्म या डॉक्यूमेंट्री फिल्म बनाने की तलाश में रहते हैं तो यह उन लोगों के लिए एक आदर्श स्थान है।

4. कुलधरा गांव घुमने का समय और प्रवेश शुल्क – Kuldhara Village Timing And Entry Fees In Hindi

कुलधरा गांव घुमने का समय और प्रवेश शुल्क - Kuldhara Village Timing And Entry Fees In Hindi

अगर आप इस गांव की यात्रा करना चाहते हैं तो आप यहां हफ्ते में किसी भी दिन सुबह 8:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक जा सके हैं। जैसा कि हम आपको बता चुकें हैं कि इस गाँव को प्रेतवाधित या भूतिया माना जाता है, इसलिए स्थानीय लोग सूर्यास्त के बाद फाटकों को बंद कर देते हैं।

कुलधरा गाँव के लिए प्रवेश शुल्क के रूप में प्रति व्यक्ति 10 रूपये और यदि आप कार से जा रहे हैं 50 रूपये देने होंगे।

और पढ़े: राजस्थान की 8 सबसे डरावनी और भूतिया जगह

5. कुलधरा गाँव जाने का सबसे अच्छा समय- Best Time To Visit Kuldhara Village In Hindi


राजस्थान एक ऐसा राज्य है जो वर्ष के आधे समय बेहद गर्म रहता है, जिसके चलते कुलधरा घूमने का आदर्श समय अक्टूबर से मार्च तक का होगा। इन महीनों में गर्मी थोड़ी कम पड़ती है, इसलिए इस समय आप सूरज की तेज गर्मी से बचकर रेगिस्तान में घूमने का आनंद ले सकते हैं।

6. कुलधरा गाँव के पास भोजनालय – Food  Near Kuldhara Village Jaisalmer In Hindi

जैसलमेर राजस्थान का एक प्रमुख शहर है यहां पर आप राजस्थानी व्यंजन और समृद्ध मांसाहारी भोजन का स्वाद ले सकते हैं। यहां के रेस्तरां के मेनू में स्वादिष्ट भोजन की लिस्ट देखकर अपने मुंह में पानी आ जायेगा।

7. कुलधरा गाँव कैसे पहुँचे- How To Reach Kuldhara Village In Hindi

कुलधरा गाँव राजस्थान के जैसलमेर के मुख्य शहर से लगभग 18-20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। राजस्थान की यात्रा करते हुए आप जैसलमेर पहुंचकर कुलधरा गाँव पहुंचने के लिए टैक्सी किराये पर ले सकते हैं।

और पढ़े: भारत की 30 सबसे डरावनी और भूतिया जगह

7.1 कुलधरा गाँव हवाई जहाज से कैसे पहुँचे- How To Reach Kuldhara Village By Air In Hindi

यदि आप जैसलमेर के कुलधरा गांव जाने के लिए हवाई मार्ग का चुनाव करते हैं तो हम आपको बता दें कि यहा से सबसे नजदीकी हवाई अड्डा जैसलमेर हैं जो कि इस गांव से 22  किलोमीटर की दूरी पर हैं और यह हवाई अड्डा मुंबई, दिल्ली और बैंगलोर से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। यहां के लिए सबसे अच्छा विकल्प जोधपुर हवाई अड्डा है जो कि लगभग 285 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

7.2 कुलधरा गाँव सड़क मार्ग से कैसे पहुँचे- How To Reach Kuldhara Village By Road In Hindi

कुलधरा गाँव सड़क मार्ग से कैसे पहुँचे- How To Reach Kuldhara Village By Road In Hindi

यदि आप कुलधरा गांव सड़क मार्ग से जाना चाहते हैं तो राजस्थान राज्य सड़क परिवहन निगम द्वारा नियमित रूप से चलने वाली बसों के माध्यम से आप अपने पर्यटक स्थल तक आसानी से पहुँच जायेंगे।

7.3 कुलधरा गाँव ट्रेन से कैसे पहुँचे- How To Reach Kuldhara Village By Train In Hindi

कुलधरा गांव से लगभग 2 कोलोमीटर की दूरी पर जैसलमेर का रेलवे स्टेशन है। यह स्टेशन दिल्ली, मुंबई और बैंगलोर देश के अन्य प्रमुख शहरों से बहुत अच्छी तरह से जुड़ा हुआ हैं।

और पढ़े: भानगढ़ किले का रहस्य और खास बाते

8. कुलधरा गाँव की लोकेशन का मैप – Kuldhara Village Location

9. कुलधरा गाँव की फोटो गैलरी – Kuldhara Village Images

और पढ़े:

Write A Comment