Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Jakhoo Temple In Hindi, जाखू मंदिर हिमाचल प्रदेश राज्य में शिमला में स्थित एक प्रमुख मंदिर है जो जाखू पहाड़ी पर स्थित शिवालिक पहाड़ी श्रृंखलाओं की हरी-भरी पृष्ठभूमि के बीच शिमला का सबसे ऊँचा स्थल है। जाखू मंदिर एक प्राचीन स्थान है जिसका उल्लेख कई पौराणिक कथाओं में किया गया है और यह पर्यटकों को एक रहस्यमयी दृश्य प्रदान करता है। जाखू मंदिर हिंदू भगवान हनुमान जी को समर्पित है। यह स्थल शिमला में सबसे ज्यादा देखे जाने वाले मंदिरों में से एक है जो हिंदू तीर्थयात्रियों और भक्तों के साथ हर उम्र और धर्मों के पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करता है।

जाखू मंदिर में हनुमान जी की एक बड़ी प्रतिमा है जो शिमला के अधिकांश हिस्सों से दिखाई देती है। मंदिर शिमला में रिज से लगभग 2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। जाखू मंदिर में हनुमान जी की मूर्ति देश की सबसे ऊंची मूर्तियों में से एक है जो 33 मीटर (108 फीट) ऊंची है। इस मूर्ति के सामने आस-पास लगे बड़े-बड़े पेड़ भी बौने लगते हैं। इस मंदिर के बारे में पौराणिक कथा है कि लक्षमण को पुनर्जीवित करने के लिए संजीवनी बूटी खोजने के लिए जाने से पहले भगवान हनुमान कुछ आराम करने के लिए इस मंदिर वाले स्थान पर रूखे थे। अगर आप शिमला घूमने के लिए जाते हैं तो जाखू मंदिर के दर्शन के बिना आपकी यात्रा अधूरी रहेगी।

जाखू मंदिर का इतिहास और पौराणिक कथा – Jakhoo Temple History In Hindi

  1. जाखू मंदिर शिमला का प्रवेश शुल्क – Jakhoo Temple Shimla Ticket Price In Hindi
  2. जाखू मंदिर शिमला के खुलने का समय – Jakhu Mandir Timing In Hindi
  3. जाखू मंदिर शिमला घूमने के लिए समय – Time Required To Visit Jakhoo Temple In Hindi

जाखू मंदिर शिमला रोपवे – Jakhoo Temple Ropeway In Hindi

  1. जाखू मंदिर शिमला रोपवे का शुल्क – Jakhoo Temple Shimla Ropeway Ticket Price In Hindi
  2. जाखू मंदिर शिमला रोपवे का खुलने का समय – Jakhu Ropeway Shimla Timing In Hindi

जाखू मंदिर में दशहरा समारोह – Dussehra Celebrations At Jakhoo Mandir Shimla In Hindi

जाखू मंदिर शिमला की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Jakhoo Temple In Hindi

जाखू मंदिर शिमला के दर्शन के लिए टिप्स – Tips For Visiting Jakhoo Temple Shimla In Hindi

जाखू मंदिर के आस – पास घूमने की जगह – Jakhu Mandir Shimla Near By Famous Tourist Places In Hindi

जाखू मंदिर शिमला कैसे पहुँचें – How To Reach Jakhoo Temple Shimla In Hindi

  1. सड़क मार्ग से जाखू मंदिर तक कैसे पहुंचे – How To Reach Jakhoo Temple By Road In Hindi
  2. रेल मार्ग से जाखू मंदिर तक कैसे पहुंचे – How To Reach Jakhoo Temple By Train In Hindi
  3. हवाई मार्ग से जाखू मंदिर तक कैसे पहुंचे – How To Reach Jakhoo Temple By Airplane In Hindi

जाखू मंदिर शिमला का नक्शा – Shimla Map

जाखू मंदिर शिमला की फोटो गैलरी – Shimla Images

1. जाखू मंदिर का इतिहास और पौराणिक कथा – Jakhoo Temple History In Hindi

जाखू मंदिर का इतिहास और पौराणिक कथा

राम और रावण के बीच रामायण की लड़ाई के दौरान जब लक्ष्मण, रावण के पुत्र इंद्रजीत के तीरे से गंभीर रूप से घायल हो गए तो उन्हें पुनर्जीवित करने के लिए हनुमान जी ने संजीवनी बूटी लेने के लिए हिमालय पर्वत पर गए थे। संजीवनी किसी भी बीमारी को ठीक कर सकती थी। ऐसा कहा जाता है कि हनुमान जी जब संजीवनी लेने जा रहे थे तो वो कुछ देर के लिए इस स्थान पर रुक गए थे जहां पर जाखू मंदिर है। ऐसा भी माना जाता है कि औषधीय पौधे (संजीवनी) को लेने जब हनुमान जी जा रहे थे तो इस स्थान पर उन्हें ऋषि ‘याकू’ मिले थे। जाखू पहाड़ी बहुत ऊँची थी लेकिन हनुमान संजीवनी पौधे के बारे में जानकारी लेने के लिए यहां उतरे थे तब वो आधी पृथ्वी में समा गई।

हनुमान द्रोणागिरी पर्वत पर आगे बढ़े और उन्होंने वापसी के समय ऋषि याकू से मिलने का वादा दिया था लेकिन समय की कमी के कारण और दानव कालनेमि के साथ उसके टकराव के कारण हनुमान उस पहाड़ी पर नहीं जा पाए। इसके बाद ऋषि याकू ने हनुमान जी के सम्मान में जाखू मंदिर का निर्माण किया था। पौराणिक कथा के अनुसार इस मंदिर को हनुमान जी के पैरों के निशान के पास बनाया गया है। इस मंदिर के आस-पास चारों ओर घूमने वाले बंदरों को हनुमान जी का वंशज कहा जाता है। वैसे तो जाखू मंदिर की तिथि ज्ञात नहीं है लेकिन इसको रामायण काल के समय का बताया जाता है।

1.1 जाखू मंदिर शिमला का प्रवेश शुल्क – Jakhoo Temple Shimla Ticket Price In Hindi

जाखू मंदिर शिमला का प्रवेश शुल्क

Image Credit: Hanumant Sachan

जाखू मंदिर के दर्शन पूरी तरह मुफ़्त है।

1.2 जाखू मंदिर शिमला के खुलने का समय – Jakhu Mandir Timing In Hindi

जाखू मंदिर शिमला के खुलने का समय

Image Credit: Aman Ayodhaya

जाखू मंदिर के दर्शन सुबह 5 से दिन के 12 बजे तक और फिर शाम को 4 से रात के 9 बजे तक होते है।

1.3 जाखू मंदिर शिमला घूमने के लिए समय – Time Required To Visit Jakhoo Temple In Hindi

जाखू मंदिर के दर्शन करने के लिए आप को लगभग एक से दो घंटा लग सकते है।

और पढ़े: डलहौजी के 5 प्रमुख पर्यटन स्थल

2. जाखू मंदिर शिमला रोपवे – Jakhoo Temple Ropeway In Hindi

जाखू मंदिर शिमला रोपवे

हिमालय के खूबसूरत दृश्यों के साथ ब्रिटिश-युग की वास्तुकला को पहाड़ी के नीचे से ऊपर तक रोपवे केबल कार द्वारा अच्छी तरह से देखा जा सकता है। शानदार गोंडोला की सवारी समुद्र तल से 8,054 फीट की उंचाई पर ले जाती है, जिसमें सिर्फ 5 से 6 मिनट लगते हैं। जाखू रोपवे राज्य के चार प्रमुख रोपवे आकर्षणों में से एक है, इसके अलाव रोहतांग में सोलंग नाला, बिलासपुर में नैना देवी और सोलन में टिम्बर ट्रायल रोपवे है। एक रोपवे केबिन में छह लोगों को ले जा सकता है और यह पूरे भारत में सबसे सुरक्षित रोपवे में से एक है। रोपवे यात्रा के दौरान आस-पास के दृश्य अपनी सुंदरता के आपको हैरान कर देते हैं।

2.1 जाखू मंदिर शिमला रोपवे का शुल्क – Jakhoo Temple Shimla Ropeway Ticket Price In Hindi

जाखू मंदिर शिमला रोपवे का शुल्क

Image Credit: Snehashish Sen

इसकी टिकट की कीमत उम्र के हिसाब से अलग-अलग होती हैं। यह 3 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए निःशुल्क है और 3-12 साल के बच्चों के लिए इसका शुक्ल 200 रूपये है। वयस्कों के लिए टिकट की लागत 250 रूपये है। बता दें कि यह सिर्फ एक तरफ का शुल्क है। आप वापस नीचे जाने के लिए कैब भी ले सकते हैं।

और पढ़े: सोलंग वैली घूमने के बारे में संपूर्ण जानकारी

2.2 जाखू मंदिर शिमला रोपवे का खुलने का समय – Jakhu Ropeway Shimla Timing In Hindi

जाखू मंदिर शिमला रोपवे का खुलने का समय

Image Credit: Jakhu Ropeway Shimla

जाखू मंदिर के लिए रोपवे की सवारी सुबह सुबह 9:30 बजे से शाम 6:00 बजे तक (यानी सूर्यास्त तक) है।

2.3 जाखू मंदिर में दशहरा समारोह – Dussehra Celebrations At Jakhoo Mandir Shimla In Hindi

जाखू मंदिर में दशहरा समारोह

Image Credit: Sritaj Patel

हिंदू महाकाव्य रामायण में भगवान हनुमान के वीरतापूर्ण पराक्रम को याद रखते हुए जाखू मंदिर में दशहरे (विजयदशमी) का त्योहार अक्टूबर / सितंबर के महीने में एक बहुत ही धूम-धाम से मनाया जाता है। दशहरा राजा रावण पर भगवान राम की विजय के रूप में मनाया जाता है।

3. जाखू मंदिर शिमला की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Jakhoo Temple In Hindi

जाखू मंदिर शिमला की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय

Image Credit: Ashwani Verma

शिमला का शानदार मौसम इसे वर्ष के किसी भी समय घूमने के लिए एक शानदार पर्यटन स्थल बनाता है। शिमला में में मार्च से जून के बीच गर्मी के महीनों में 20 डिग्री सेल्सियस का औसत तापमान रहता है। जुलाई के दौरान और उसके बाद बारिश का मौसम भारी बारिश के कारण यात्रा करना असुविधाजनक हो सकता है। लेकिन सितंबर से लेकर जनवरी तक सर्दियों के महीने सुखद और शांत होते हैं। इस मौसम में कभी-कभी बर्फ की बौछारों के साथ काफी ठंडी और भी ज्यादा सर्द हो सकती है।

और पढ़े: चामुंडा देवी मंदिर का इतिहास और कहानी

4. जाखू मंदिर शिमला के दर्शन के लिए टिप्स – Tips For Visiting Jakhoo Temple Shimla In Hindi

जाखू मंदिर शिमला के दर्शन के लिए टिप्स

Image Credit: Anand Gabhale

  • मंदिर परिसर में कचरा- कूड़ा न फेंके, कूड़ेदान का इस्तेमाल करें।
  • कभी-कभी यहां के बंदरों से निपटना काफी मुश्किल हो जाता है और यहां के बंदर सामान छीनने के लिए काफी प्रसिद्ध हैं, इसलिए बंदरों से सावधान रहे और उनके सामने खाने की कोई भी चीज अपने हाथ में न लें। बंदरों को दूर रखने के लिए अपने हाथ में छड़ी लेकर चलें। यहां के बंदर लोगों द्वारा दिए गए खाने को उदारतापूर्वक स्वीकार करते हैं!
  • जाखू मंदिर स्थल पर खाने के लिए कई भोजनालय हैं।
  • मंदिर परिसर से बाहर निकलने से पहले घंटी बजाना अच्छा माना जाता है।

5. जाखू मंदिर के आस – पास घूमने की जगह – Jakhu Mandir Shimla Near By Famous Tourist Places In Hindi

5.1 क्राइस्ट चर्च शिमला – Christ Church Shimla In Hindi

क्राइस्ट चर्च शिमला

क्राइस्ट चर्च शिमला का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। क्राइस्ट चर्च जाखू मंदिर से 1 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। द रिज पर स्थित इस चर्च का निर्माण वर्ष 1857 में किया गया था, इस चर्च को पूरा करने में करीब 3 साल का समय लग गया था। इस चर्च में भारत का सबसे बड़ा पाइप अंग भी है, जिसे आप बॉलीवुड की सबसे बड़ी हिट फिल्मों में से एक 3 इडियट्स में देख चुके होंगे।

5.2 समर हिल शिमला में घूमने वाली जगह – Summer Hill Shimla In Hindi

समर हिल शिमला में घूमने वाली जगह

समर हिल, जाखू मंदिर से 11 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है जिसको पॉटर्स हिल भी कहते हैं। पुराने समय में यहां पर कुम्हार मिट्टी के बर्तन बनाने के लिए इकट्ठा होते थे। यह पहाड़ी समुद्र तल से 1283 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है जो घाटियों और चारों ओर की हरियाली के शानदार दृश्य प्रस्तुत करती है। समर हिल प्रसिद्ध पर्यटन स्थल रिज से 5 किमी की दूरी पर स्थित है, यहां पर हर साल लाखों संख्या में पर्यटक घूमने के लिए आते हैं। अगर आप जाखू मंदिर घूमने के लिए जा रहे हैं तो आपको समर हिल की सैर भी करना चाहिए।

और पढ़े: रोहतांग दर्रा की यात्रा के बारे में संपूर्ण जानकारी 

5.3 चैल हिल स्टेशन शिमला – Chail Hill Station Shimla In Hindi

चैल हिल स्टेशन शिमला

Image Credit: Shloka Sharma

चैल एक बहुत ही आकर्षक हिल स्टेशन है जो शिमला से 44 किमी और जाखू मंदिर से 46 किमी की दूरी पर स्थित है। इस हिल स्टेशन को पटियाला के महाराजा भूपिंदर सिंह ने स्थापित किया था। इस जगह पर दुनिया का सबसे ऊँचा क्रिकेट मैदान भी है। चैल अपने खूबसूरत दृश्यों और कुंवारे जंगलों के लिए लोकप्रिय है।

5.4 अर्की किला शिमला – Arki Fort Shimla In Hindi

अर्की किला शिमला

Image Credit: Neeraj Chauhan

अर्की किले का निर्माण 1660 ईस्वी में किया गया था, जो राजपूत और मुगल वास्तुकला का मेल है। अगर आप इतिहास के बारे में जानने में रूचि रखते हैं तो आपको इस किले की यात्रा जरुर करना चाहिए। अर्की किला जाखू मंदिर से 46 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस किले को कांगड़ा चित्रों की वजह से जाना-जाता है जो इस किले को सुशोभित करते हैं। किले में जो पेंटिंग बनी हैं वो लगभग 200 साल पुरानी है लेकिन पुरानी होने के बाद भी यह आज भी काफी खूबसूरत दिखाई देती है। अगर आप जाखू मंदिर या शिमला घूमने आये हैं तो आपको इस किले को देखने के लिए जरुर जाना चाहिए।

5.5 नालदेहरा शिमला – Naldehra Shimla In Hindi

नालदेहरा शिमला

Image Credit: Arun Bakshi

समुद्र तल से 2044 मीटर की ऊंचाई पर स्थित नालदेहरा शिमला के पास एक बहुत ही खूबसूरत हिल स्टेशन है। यह जाखू मंदिर से 22 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। लॉर्ड कर्जन ने यहां एक गोल्फ कोर्स की स्थापना की थी। देवदार के घने पेड़ और और हरियाली इस जगह के वातावरण को बेहद आकर्षक बनाती है। बर्फ से ढके हिमालय पर्वत को देखने के लिए यह अच्छी जगह है। इस जगह का वातावरण इतना शांत है कि यहां चलने वाली हवाओं की आवाज को भी आप सुन सकते हैं।

अगर आप इस क्षेत्र की सैर करना चाहते हैं तो आप घोड़े की सवारी कर सकते हैं। अगर आप नलदेहरा जाते हैं तो आपको यहां सूर्योदय और सूर्यास्त देखना बेहद आकर्षक लगेगा। सीधे शब्दों में कहें तो अगर आप एक आराम वाली जगह देख रहे हैं तो यह आपके लिए एक उत्तम हिट स्टेशन है।

5.6 मशोबरा – Mashobra In Hindi

मशोबरा

Image Credit: Reeshab Dutt

मशोबरा हिमाचल प्रदेश में एक हरे-भरे मैदान में फैला हुआ है, जो लगभग 7700 फीट की ऊंचाई स्थित है। मशोबरा जाखू मंदिर से 9 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह जगह आपको आपके जीवन से सबसे शुद्ध और मुक्ति अनुभव प्रदान करती है। यह जगह उन लोगों के लिए एक आदर्श पर्यटन स्थल है जो एक शांत छोटे हिल स्टेशन की तलाश में हैं।

और पढ़े: हिडिम्बा देवी मंदिर का इतिहास, कहानी और रोचक तथ्य 

5.7 शिमला राज्य संग्रहालय – Shimla State Museum In Hindi

शिमला राज्य संग्रहालय

शिमला राज्य संग्रहालय जाखू मंदिर से 8.7 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है, इस संग्रहालय को हिमाचल राज्य संग्रहालय और पुस्तकालय के रूप में भी जाना जाता है. वर्ष 1974 में निर्मित इस संग्रहालय को सांस्कृतिक समृद्धि को संरक्षित करने और अतीत को दर्ज करने के लिए किया गया था। शहर में स्थित औपनिवेशिक शैली की इमारत इस शहर के शानदार अतीत के बारे में गहराई से बताती है। शिमला राज्य संग्रहालय में कई मूर्तियाँ, पेंटिंग्स, हस्तशिल्प और सिक्कों का संग्रह है।

5.8 द रिज शिमला – The Ridge Shimla In Hindi

द रिज शिमला

शिमला केंद्र में स्थित द रिज एक बड़ी और खुली सड़क है जो मॉल रोड के किनारे स्थित है। रिज एक ऐसी जगह है जहां पर आपको बहुत कुछ देखने को मिलेगा। यहां आप बर्फ से ढकी पर्वत श्रृंखलाओं के शानदार नज़ारे, विशेष कलाकृतियों की बिक्री वाली दुकानों को देखेंगे। द रिज की सबसे खास बात यह है कि यह जगह ब्रिटिशकाल में गर्मियों के समय रुकने की सबसे खास जगह थी।

शिमला की यह सुंदर जगह यहां आने वाले पर्यटकों को बेहद आकर्षित करती है। बता दें कि रिज एक बाजार ही नहीं है बल्कि यह एक शहर का एक शहर का सामाजिक केंद्र भी है। शिमला का यह परिवर्तन स्थल स्थानीय लोगों और यात्रियों से भरा हुआ रहता है। यहाँ सड़क कई कैफे, बार, बुटीक, दुकानें और रेस्तरां भी हैं जो आने वाली भारी भीड़ को आकर्षित करते हैं। जाखू मंदिर से द रिज की दूरी 5 किलोमीटर है।

5.9 कुफरी – Kufri In Hindi

कुफरी

कुफरी शिमला से 17 किलोमीटर दूरी पर स्थित एक ऐसा पर्यटन स्थल है जो पर्यटकों को बेहद आकर्षित करती है। कुफरी, जाखू मंदिर से 13 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। कुफरी 2510 मीटर की ऊँचाई पर और हिमालय की तलहटी में स्थित है जो प्रकृति प्रेमियों और एडवेंचर के शौकीन लोगों के लिए आदर्श जगह है। कुफरी जाने वाले पर्यटकों को कई शानदार नजारे देखने को मिलते हैं। इस हिल स्टेशन की सबसे अच्छी बात यह है कि यहां पर्यटकों की ज्यादा भीड़ नहीं रहती।

और पढ़े: कुफरी घूमने की जानकारी और इसके 5 पर्यटक स्थल

5.10 मॉल रोड़ शिमला – Mall Road Shimla In Hindi

मॉल रोड़ शिमला

माल रोड, रिज के नीचे स्थित शिमला की एक ऐसी जगह है जो कई दुकानों, कैफे, रेस्तरां, पुस्तक की दुकानों और कई पर्यटकों के ठहरने की जगह है। अगर आप मॉल रोड घूमने आते हैं तो यहाँ की हर चीज़ को देखककर आप आश्चर्य चकित हो जायेंगे। मॉल रोड शिमला का केंद्र में स्थित है जहां कई रेस्तरां, क्लब, बैंक, दुकानें, डाकघर और पर्यटन कार्यालय स्थित हैं। इस सड़क से आप शिमला की प्राकृतिक सुंदरता को भी देख सकते हैं। माल रोड एक ऐसी जगह है जो शिमला घूमने आने वाले पर्यटकों की भीड़ को अपनी ओर खींचती है। जाखू मंदिर से मॉल रोड़ की दूरी 7 किलोमीटर है।

5.11 सोलन – Solan In Hindi

अपने मशरूम उत्पादन और टमाटर उत्पादन के लिए प्रसिद्ध सोलन को भारत के शोरूम शहर (मशरूम सिटी ऑफ इंडिया) और लाल सोने के शहर (लाल सोने का शहर) के रूप में जाना जाता है। सोलन एक ऐसा शहर है जो यहां आने वाले पर्यटक को बेहद पसंद आता है। सोनल के विकास का श्रेय ब्रिटिश को जाता है, क्योंकि ब्रिटिश सरकार ने ही इस जगह का प्रारंभिक आर्थिक विकास किया था। इस जगह की सबसे खास बात यह है कि यहां पर पूरे साल भर अच्छा तापमान रहता है, यहां के आकर्षक और प्राकृतिक दृश्य आपको हर बार आपको विनम्र कर देंगे।

और पढ़े: मैकलोडगंज का इतिहास और घूमने की 5 सबसे खास जगह 

5.12 श्री गुरु सिंह सभा – Sri Guru Singh Sabha In Hindi

श्री गुरु सिंह सभा

Image Credit: Tajinder Singh

श्री गुरु सिंह सभा, जाखू मंदिर से लगभग 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है जो लगभग 109 साल पुराना है। इसकी स्थापना पटियाला के महाराजा भूपिंदर सिंह ने की थी। यह गुरुद्वारा चैल के मुख्य बाजार से कुछ मीटर की दूरी पर स्थित है। इसके सामने समानांतर लंबे और सुंदर पेड़ हैं जो इसको जो शानदार चित्रों के लिए आदर्श भूमि बनाते हैं। शिमला के पास यह स्थान परिवारों और समूहों लिए बहुत ही कम मूल्यों में कमरे उपलब्ध कराता है। इस सिख मंदिर के पास एक वन क्षेत्र मौजूद है जो शानदार दृश्य प्रदान करता है।

5.13 कुल्लू – Kullu In Hindi

कुल्लू

आम तौर पर कुल्लू, मनाली के साथ मिलकर एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है, जो अपने अपने मनोवैज्ञानिक दृश्यों और देवदार के पेड़ों से ढकी राजसी पहाड़ियों के साथ एक खुली घाटी है। 1230 मीटर की ऊंचाई पर स्थित कुल्लू प्रकृति से प्यार करने वाले लोगों के लिए स्वर्ग के सामना है जो अपने मनोरम दृश्यों की वजह से हिमाचल प्रदेश में सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है। बता दें कि आमतौर पर यहां आने वाले पर्यटक कुल्लू और मनाली दोनों को एक साथ घूमना पसंद करते हैं। प्रकृति की गोद में बता यह छोटा सा शहर आने वाले पर्यटकों को अपने सुरम्य परिदृश्यों से मंत्रमुग्ध कर देता है। कुल्लू में आप रघुनाथ मंदिर और जगन्नाथी देवी मंदिर जैसे कुछ महत्वपूर्ण मंदिरों के दर्शन भी कर सकते हैं।

और पढ़े: कुल्लू मनाली के बारे में पूरी जानकारी

5.14 ग्रीन वैली शिमला – Green Valley Shimla In Hindi

ग्रीन वैली शिमला

Image Credit: Debayan Dey

ग्रीन वैली एक सुंदर और आकर्षक पर्वत श्रृंखला है जो जाखू मंदिर से 13 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और शिमला से कुफरी के रास्ते पर पड़ती है। यह शानदार घाटी शिमला का एक खास पर्यटन स्थल है। ग्रीन वैली में हरियाली और सुंदरता इतनी मंत्रमुग्ध कर देने वाली है कि कोई भी इंसान यहां आकर सब कुछ भूल जाता है। ग्रीन वैली चारों तरफ से पहाड़ियों से घिरी हुई जो देवदार के घने जंगलों से ढकी हुई हैं।

5.15 ठियोग – Theog In Hindi

ठियोग

Image Credit: Amit Mehta

ठियोग राज्य के कम भीड़-भाड़ वाले आकर्षणों में से एक है जो हिमालय की बाहों में लिपटा हुआ है। ठियोग एक बेहद लोकप्रिय हिल स्टेशन है जो पर्यटकों को भीड़-भाड़ वाले स्थानों से दूर लाकर शांत वातावरण प्रदान करता है। ठियोग, जाखू मंदिर से 27 किलोमीटर की दूरी पर और मुख्य शहर शिमला से 32 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

5.16 तत्तापानी – Tattapani In Hindi

तत्तापानी

Image Credit: Vipin Kumar

तत्तापानी हिमाचल प्रदेश में एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। बता दें कि यह एक विचित्र क्षेत्र है, जो किसी वंडरलैंड से कम नहीं है। तत्तापानी पर्यटन शिलमा शहर से करीब 60 किलोमीटर की दूरी पर एक प्राकृतिक पर्यटन स्थल है जो कई आकर्षणों को को संग्रहीत करता है। पहाड़ों के बीच बसे इस खूबसूरत पर्यटन स्थल को आप कभी मिस नहीं करना चाहेंगे। तत्तापानी में मंदिर, गुफाएं, घास के मैदान, गर्म पानी के झरने जैसे आकर्षण के अलावा ट्रेकिंग, रिवर राफ्टिंग और रॉक क्लाइम्बिंग जैसे एडवेंचर खेल भी शामिल हैं। सतलुज नदी और हरी भरी घाटी के साथ शांत वातावरण में पैदल चलता आपके थके हुए दिमाग को शांति प्रदान करता है। तत्तापानी, जाखू मंदिर से 53 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

5.17 कामना देवी मंदिर – Kamna Devi Temple In Hindi

कामना देवी मंदिर

Image Credit: Maharaj Das

कामना देवी मंदिर शिमला से 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक खूबसूरत मंदिर है जो लुभावने पहाड़ों से घिरा हुआ है। कामना देवी मंदिर प्रसिद्ध जाखू मंदिर से 11 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। जुंगा के राणा ने देवी काली को समर्पित इस मंदिर का निर्माण किया था। प्राकृतिक घाटियां और मैदानी इलाके इस स्थान को घेरे हुए है इसलिए साल भर यहां पर पर्यटकों की भीड़ रहती है। यहां से पर्यटक 2155 मीटर की ऊँचाई पर खड़े होकर शिमला के प्रमुख स्थानों जैसे कि जूग, तारा देवी, सुबाथू, सोलन जिले के कुछ हिस्सों, पुरानी शिमला और चूर चांदनी धार के आकर्षक दृश्यों को देख सकते हैं। प्रकृति-प्रेमियों और रोमांच-चाहने वालों के लिए यह स्थान धरती पर किसी स्वर्ग से कम नहीं है।

और पढ़े: कसौली के 10 प्रमुख पर्यटन स्थल 

5.18 तारा देवी मंदिर – Tara Devi Temple In Hindi

तारा देवी मंदिर

तारा देवी मंदिर तराव पर्वत की मनोरम पहाड़ियों में शिमला के पश्चिमी तरफ स्थित 250 साल पुराना मंदिर है। यह मंदिर बुलंद पहाड़ों, देवदार के जंगलों और शिमला के शांत ग्रामीण इलाकों के लुभावने दृश्य प्रदान करता है। आप यहां पर अपनी इंद्रियों को और आत्मा शांत करने के लिए यहां पर कुछ समय बिता सकते हैं। इस मंदिर में स्थानीय लोगों द्वारा पूजा की जाती है और त्योहारों के मौसम यहां काफी भीड़ रहेती है। बता दें कि तारा देवी मंदिर जाखू मंदिर से करीब 24 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

5.19 संकट मोचन मंदिर – Sankat Mochan Temple In Hindi

संकट मोचन मंदिर

Image Credit: Amrita Bhattacharyya

संकट मोचन मंदिर मंदिर जाखू मंदिर से 13 किलोमीटर दूरी कालका-शिमला राजमार्ग पर हरे भरे पेड़ों और पहाड़ों के बीच स्थित है जो यहां आने वाले भक्तों को शांति प्रदान करता है। हनुमान जी के अलावा यहां गवान राम, शिव और गणेश की मूर्तियां भी स्थापित हैं। इस मंदिर की खास बात यह है कि हर रविवार को सभी भक्तों के लिए लंगर आयोजित करता है। यहां से पर्यटक हिमालय पर्वतमाला के साथ शिमला शहर का शानदार दृश्य देख पाएंगे।

5.20 फागु – Fagu In Hindi

फागु

Image Credit: Debabrata Mandal

Fagu ट्रेकर्स और प्रकृतिवादियों के लिए एक बहुत अच्छी जगह है। Fagu की प्राकृतिक सुंदरता पर्यटकों को आराम और शांति प्रदान करती है। फागु, जाखू मंदिर से 17 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां से आप पश्चिमी हिमालय और पूर्व में शिवालिक श्रेणी को अच्छी तरह देख सकते हैं। शिमला जिले के उच्चतम बिंदुओं में से एक होने के नाते यहां का मौसम गर्मियों को दौरान शांत और सुखद रहता है। अगर आप किसी आदर्श बर्फ वाली जगह तलाश कर रहे हैं, तो आपको सर्दियों के मौसम के शुरू होने के कुछ समय पहले ही Fagu की यात्रा करनी चाहिए।

और पढ़े: शिमला में घूमने की 15 जगह

6. जाखू मंदिर शिमला कैसे पहुँचें – How To Reach Jakhoo Temple Shimla In Hindi

जाखू मंदिर पहाड़ी की चोटी पर स्थित मंदिर शिमला शहर के केंद्र से 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। जाखू मंदिर तक जाने के लिए या तो आप टैक्सी किराए पर ले सकते हैं या टट्टू की सवारी कर सकते हैं या पहाड़ी से 2 किलोमीटर की सुरम्य पगडंडी पैदल चल सकते हैं। मंदिर तक पहुंचने के लिए रोपवे/ केबल कार भी उपलब्ध है।

6.1 सड़क मार्ग से जाखू मंदिर तक कैसे पहुंचे – How To Reach Jakhoo Temple By Road In Hindi

सड़क मार्ग से जाखू मंदिर तक कैसे पहुंचे

अगर आप सड़क मार्ग से जाखू मंदिर या शिमला की यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि शिमला सड़क मार्ग से देश के कई बड़े शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। राष्ट्रीय राजमार्ग 22 शिमला को चंडीगढ़ से जोड़ता है, जो इसका निकटतम बड़ा शहर है। शिमला सड़क माध्यम से हिमाचल प्रदेश के प्रमुख शहरों और कस्बों से भी जुड़ा हुआ है। HRTC (हिमाचल रोड ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन) मुख्य सार्वजनिक क्षेत्र की परिवहन सेवा है। आप लक्जरी, सेमी-डीलक्स, ए / सी और नॉन ए / सी बसों के बीच से यात्रा कर सकते हैं। चंडीगढ़ से दिन भर शिमला के लिए बसें हैं और दिल्ली से दैनिक बसें हैं। चंडीगढ़ और दिल्ली से आप शिमला के लिए कैब या टैक्सी भी किराये पर ले सकते हैं।

6.2 रेल मार्ग से जाखू मंदिर तक कैसे पहुंचे – How To Reach Jakhoo Temple By Train In Hindi

रेल मार्ग से जाखू मंदिर तक कैसे पहुंचे

जाखू मंदिर मुख्य शिमला शहर से 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। अगर आप ट्रेन से शिमला या जाखू मंदिर के लिए यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि शिमला में अपना एक छोटा रेलवे स्टेशन है जो शहर के केंद्र से सिर्फ 1 किलोमीटर दूर है और यह एक छोटी गेज रेल ट्रैक द्वारा कालका से जुड़ा हुआ है। शिमला की टॉय ट्रेन कालका और शिमला के बीच चलती है जो दोनों के बीच की 96 किलोमीटर की दूरी लगभग 7 घंटे में तय करती है।  कालका शिमला के करीब का रेलवे स्टेशन है, जो नियमित ट्रेनों द्वारा चंडीगढ़ और दिल्ली से जुड़ा हुआ है। आपको दिल्ली और चंडीगढ़ से कालका के लिए ट्रेन लेनी होगी।

6.3 हवाई मार्ग से जाखू मंदिर तक कैसे पहुंचे – How To Reach Jakhoo Temple By Airplane In Hindi

हवाई मार्ग से जाखू मंदिर तक कैसे पहुंचे

अगर आप हवाई जहाज से जाखू मंदिर या शिमला की यात्रा करने की योजना बना रहे हैं तो बता दें कि जुबारहटी शिमला से लगभग 23 किलोमीटर दूर है जो इसका निकटतम हवाई अड्डा है। जुब्बड़हट्टी के लिए चंडीगढ़ और दिल्ली कई नियमित उड़ानें उपलब्ध हैं। इस हवाई अड्डे पर पहुंचने के बाद आप शिमला जाने के लिए आसानी से टैक्सी प्राप्त कर सकते हैं और शिमला से जाखू मंदिर के लिए जा सकते हैं।

और पढ़े: मनाली अभयारण्य घूमने की जानकारी और पर्यटन स्थल

7. जाखू मंदिर शिमला का नक्शा – Shimla Map

8. जाखू मंदिर शिमला की फोटो गैलरी – Shimla Images

View this post on Instagram

#jakhootemple 🙂

A post shared by Balwinder Singh (@bunny_singh404) on

और पढ़े:

Write A Comment