जयपुर पतंग महोत्सव – Jaipur Kite Festival In Hindi

Jaipur Kite Festival In Hindi, राजस्थान भारत के सबसे रंगीन और सांस्कृतिक रूप से समृद्ध राज्यों में से एक माना जाता है। जो दुनिया भर में त्योहारों की भूमि के रूप में प्रसिद्ध है। जहाँ पतंग महोत्सव राजस्थान के सांस्कृतिक और लोकप्रिय उत्सवो में से एक है, जिसे हिन्दू त्यौहार मकर सक्रांति के दोरान उत्साह और धूमधाम के साथ सर्दियों के अंत और गर्मियों के आगमन को चिह्नित करने के लिए मनाया जाता है। जिसमे कुछ लोग मस्ती के लिए पतंग उड़ाते हैं, जबकी कुछ लोग प्रतियोगिता के लिए लिए इकट्ठा होते हैं और अपनी पसंदीदा टीम के लिए खुश होते हैं। और यह जयपुर पतंग महौत्सव स्थानीय लोगो के साथ भारतीय और विदेशी पर्यटक के लिए भी लोकप्रिय बना हुआ हुआ है । जहाँ हर साल अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव में भारतीय और विदेशी पर्यटक शामिल होते हुए देखे जाते हैं।

1. अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव राजस्थान के आयोजन का समय – Jaipur Kite Festival Date In Hindi

आपकी जानकारी के लिए बता दे की पतंग महोत्सव प्रत्येक वर्ष हिंदू त्योहार मकर संक्रांति के अवसर पर 14 जनवरी से तीन दिनों के लिए मनाया जाता है।

2. अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव जयपुर का आयोजन स्थल – Venue For International Kite Festival In Hindi

अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव जयपुर का आयोजन स्थल

अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव प्रत्येक वर्ष हिंदू त्योहार मकर संक्रांति के दिन 14 जनवरी से जयपुर पोलो ग्राउंड में शुरू होता है और 16 जनवरी को जोधपुर के उम्मेद भवन पैलेस के लॉन में आयोजित होने वाले दो प्रतियोगिताओं के समापन के साथ भव्यता से समाप्त हो जाता है।

3. जयपुर पतंग महौत्सव के विशेष आकर्षण – Special Attractions Of Jaipur Kite Festival In Hindi

  • पतंग महौत्सव जयपुर में एक बड़े पैमाने पर मनाया जाता है, जिसे अंतर्राष्ट्रीय पतंग उड़ाने का त्यौहार भी कहा जाता है।
  • राज्य पर्यटन विभाग जयपुर पोलो मैदान में इस उत्सव का आयोजन करता है, जहां प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती हैं और विजेतायो को विभिन्न पुरस्कार दिए जाते हैं।
  • इस त्योहार की ऐसी लोकप्रियता है कि राज्य पर्यटन सार्वजनिक अवकाश घोषित करता है। जिसमे स्कूल और दुकानें बंद रहती हैं, और लोग त्योहार का स्वागत करने के लिए तैयार रहते हैं।
  • इस त्यौहार के दौरान तिल लड्डू, तिल भंगुर, घेवर आदि जैसी कुछ लोकप्रिय मिठाइयाँ तैयार की जाती हैं।
  • और आपको बता दे जयपुर में आयोजित होने वाले पतंग उत्सव में पतंग उत्सव के अलावा कई सांस्कृतिक प्रदर्शन भी आयोजित किये जाते हैं, जो राजस्थान के लोक और संस्कृति के कई रंगों को जीवंतता के साथ प्रदर्शित करते हैं। जिसमे स्थानीय नर्तकों और गायकों के द्वारा उत्सव में प्रदर्शन किया जाता है।

और पढ़े: जयपुर साहित्य उत्सव 

4. जयपुर कैसे पंहुचा जाये – How To Reach Jaipur In Hindi

अगर आप जयपुर में आयोजित होने वाले अंतरराष्ट्रीय पतंग महौत्सव में जाने की योजना बना रहे है तो आप हवाई,ट्रेन और सड़क मार्ग से यात्रा करके जयपुर पहुंच सकते हैं।

4.1 फ्लाइट से जयपुर कैसे पहुंचे – How To Reach Jaipur By Flight In Hindi

फ्लाइट से जयपुर कैसे पहुंचे

आपको बता दे की जयपुर का अपना हवाई अड्डा सांगानेर हवाई अड्डा है,  जो मुख्य शहर से लगभग 13 किमी की दूरी पर है। टर्मिनल में अंतरराष्ट्रीय और घरेलू दोनों उड़ानों सहित शहर से आने और जाने वाली कई उड़ानें हैं। तो किसी भी प्रमुख शहर से यात्रा करके जयपुर हवाई अड्डा पहुच सकते है, और वहा से टैक्सी, ऑटो या बसों का उपयोग करके आप जयपुर पहुंच सकतें हैं।

4.2 ट्रेन से जयपुर कैसे जाये – How To Reach Jaipur By Train In Hindi

ट्रेन से जयपुर कैसे जाये

अगर आप ट्रेन से यात्रा करके जयपुर जाने का प्लान बना रहे है तो आपको बता दे जयपुर का अपना मुख्य रेलवे स्टेशन है जो भारत के प्रमुख शहरो से रेल मार्ग से जुड़ा हुआ है। तो आप ट्रेन से यात्रा करके जयपुर पहुंच सकते है ओर जयपुर रेलवे स्टेशन से टैक्सी या केब से जयपुर में आयोजित होने वाले अंतरराष्ट्रीय पतंग महौत्सव पहुंच सकते हैं।

4.3 सड़क मार्ग से जयपुर कैसे पहुंचे – How To Reach Jaipur By Road In Hindi

सड़क मार्ग से जयपुर कैसे पहुंचे

अगर आप जयपुर की सड़क मार्ग से यात्रा करने की योजना बना रहे है तो बता दे कि जयपुर, राष्ट्रीय राजमार्ग 8, 11 और 12 के नेटवर्क के माध्यम से भारत के सभी प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। जहा राजस्थान राज्य सड़क परिवहन निगम (आरएसआरटीसी) द्वारा जयपुर और दिल्ली के बीच एक बहुत अच्छी बस सेवा भी उपलब्ध है। तो यहाँ आप बस, केब, टैक्सी या कार से यात्रा करके अंतरराष्ट्रीय पतंग महौत्सव जयपुर पहुंच सकते है।

और पढ़े: पिंक सिटी जयपुर में घूमने की 10 खास जगह

5. जयपुर पतंग महौत्सव की फोटो गैलरी – Jaipur Kite Festival Images

और पढ़े:

Leave a Comment