कुटमसर गुफाएं का इतिहास और घूमने की पूरी जानकारी – Full Information about Kotumsar Cave in Hindi

Kotumsar Cave In Hindi : कुटमसर गुफाएं जगदलपुर से लगभग 40 किमी पर बस्तर के घने जंगलों में तीरथगढ़ फॉल्स के पास स्थित अद्भुद गुफाएं है। यह गुफाएं छत्तीसगढ़ राज्य की सबसे प्रसिद्ध गुफाओं में से एक है। दो किलोमीटर की लंबाई के साथ, ये दुनिया की दूसरी सबसे लंबी प्राकृतिक गुफाएँ मानी जाती हैं। कई प्रसिद्ध खोजकर्ताओं ने 1900 के दशक की शुरुआत में इस गुफा की खोज की थी। स्टैलेक्टाइट्स और स्टैलेग्मिट्स की अविश्वसनीय संरचनाओं के साथ, यह शिवलिंग जैसी आकृति बनाती है। गुफा के भीतर के पत्थर और डंठल इसे कैलाश जैसी प्रतिकृति देते हैं जिसकी पूजा भी की जाती है। ऑक्सीजन की कमी के कारण कैलाश और कुटमसर की एक निश्चित सीमा तक ही पहुंचा जा सकता हैं। इनके अलावा भारी बर्षा के कारण कुटमसर गुफाएं पर्यटकों के घूमने के लिए 16 अक्टूबर से 15 जून तक तक ही खुली रहती है।

यदि आप अपने फ्रेंड्स  या फैमली के साथ घूमने जाने को प्लान कर रहे है या फिर इन गुफायों के बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े –

Table of Contents

 कुटमसर गुफा का इतिहास – History of Kailash and Kutmasar Caves in Hindi 

कुटमसर गुफा का इतिहास ब्रटिश काल के दौरान का है जब ये गुफाएं अस्तित्व में आई थी। लेकिन आगे पुरातात्विक विभाग द्वारा किये गये अन्वेषणों के अनुसार 1980 के दशक में गुफा का सटीक रूप से मानचित्रण किया गया। जिसे 1993 को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त प्रकाशन में प्रकाशित किया गया था। तब से यह पुरातात्विक अनुसंधान के लिए एक महत्वपूर्ण स्थल बना गया है जिसे बाद में एक पर्यटन स्थल के रूप में उपयोग किया गया था। पुराने समय में गुफाओं को एक धार्मिक स्थान माना जाता है जो इतिहास के साथ-साथ क्षेत्र पर प्रकृति के प्रभाव को दर्शाते हैं।

कुटमसर में पर्यटकों के लिए किये गये निर्माण – Construction done for Tourists in Kotamsar cave  in Hindi 

कोटमसर गुफा में पर्यटकों के लिए किये गये निर्माण – Construction done for tourists in Kotamsar cave  in Hindi 
Image Credit : Satish Nishad

पूर्व-ब्रिटिश काल में अस्तित्व में आई यह गुफा आज एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल में परिवर्तित हो गयी है जहाँ हर साल हजारों पर्यटकों और शोधकर्ताओं द्वारा दौरा किया जाता है। इसी को देखते हुए आज कोटमसर गुफायों में कई इंतजाम किये हए है। पहाड़ी की दीवार में दरार बनाकर इन गुफायों तक पहुचने के लिए एक प्रवेश द्वार बनाया गया है इसके अलावा पर्यटकों के घूमने के लिए गुफा के अंत तक फैली एक कंक्रीट सड़क का निर्माण किया गया है। पार्श्व नीचे की ओर मार्ग भी हैं जो गुफा के कक्षों में बने हैं। गुफा में समग्र निर्माण पर्यटकों की सुविधा के लिए बनाया गया है।

कोटमसर गुफा की टाइमिंग – Timings of Kotamsar Cave in Hindi 

यदि आप कोटमसर गुफा घूमने जाने को प्लान कर रहे है और कोटमसर गुफा की टाइमिंग के बारे में जानना चाहते है तो हम आपको कुटमसर गुफायें पर्यटकों के घूमने के लिए 16 अक्टूबर से 15 जून तक तक प्रतिदिन सुबह 8.00 बजे से शाम 4.00 बजे तक खुली रहती है आप इस दौरान कभी भी यहाँ घूमने आ सकते है।

कुटमसर गुफा की एंट्री फीस – Entry Fee of Kotamsar Cave in Hindi 

कोटमसर गुफा की एंट्री फीस - Entry Fee of Kotamsar Cave in Hindi 
Image Credit : Nitin Kumar Verma
  • पर्यटकों के लिए : 25 रूपये प्रति व्यक्ति
  • कैमरा के लिए : 25 रूपये
  • विडियोग्राफी के लिए : 200 रूपये

कुटमसर गुफा घूमने जाने के लिए टिप्स – Tips for visiting Kailash and Kutmasar Caves in Hindi 

कैलाश और कुटमसार गुफा घूमने जाने के लिए टिप्स – Tips for visiting Kailash and Kutmasar Caves in Hindi 
Image Credit : Suhana Safar

कुटमसर गुफा की यात्रा पर जाने वाले पर्यटक किसी भी असुविधा से बचने के लिए नीचे दिए गये इन टिप्स को फॉलो जरूर करें –

  • कुटमसर गुफा की यात्रा पर जाने वाले पर्यटक ध्यान दे ये गुफाएं जंगल के बीच स्थित है इसीलिए आपको यहाँ ट्रेकिंग करनी पड़ सकती है इसीलिए अपने आपको ट्रेकिंग के लिए तैयार रखें।
  • यदि आप कुटमसर गुफा के रास्तो के बारे में भ्रमित है तो एक गाइड लेना बेहतर है।
  • आप जब भी कोटमसर गुफा घूमने आयें तो विशेष रूप से ध्यान रखें की अँधेरा होने से पहले वापिस लोट आयें।
  • इन गुफायों के अन्दर ऑक्सीजन की कमी होती है इसीलिए जाड्या अन्दर ना जाएँ और यदि आपको घुटन महसूस होती है तो तुरंत वापिस निकल जायें।

और पढ़े : भोरमदेव मंदिर का इतिहास और मंदिर की यात्रा से जुड़ी जानकारी

कोटमसर गुफा के आसपास घूमने की जगहें – Places to Visit Around Kotamsar Cave in Hindi 

यदि आप कोटमसर गुफा घूमने जाने वाले है तो हम आपको बता देना चाहते है की कोटमसर गुफा के आसपास भी कई प्रसिद्ध पर्यटक स्थल मौजूद है जो अपनी समृद्ध प्राकृतिक सुंदरता के माध्यम से पर्यटकों को काफी आकर्षित करते है। इसीलिए आप जब कोटमसर गुफा घूमने आयें तो अपना कुछ समय निकालकार नीचे दिये इन पर्यटक स्थलों की यात्रा भी जरूर करें –

कुटमसर गुफा घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time to Visit Kotumsar Cave in Hindi 

कोटमसर गुफा घूमने जाने का सबसे अच्छा समय - Best Time to Visit Kotumsar Cave in Hindi 
Image Credit : Aishvarya Agarwal

कोटमसर गुफा घूमने जाने के लिए बेस्ट टाइम सर्च करने वाले पर्यटकों को बता दे सर्दियों का मौसम कोटमसर गुफा घूमने जाने के लिए सबसे अच्छा समय माना जाता है। इसका कारण मौसम ठंडा और सुखद होना है और तापमान 15 से 25 डिग्री सेल्सियस के बीच रहता है।

जबकि गर्मियों और बारिश के महीनो में कोटमसर गुफा की यात्रा से बचना चाहिये क्योंकि गर्मियों में यहाँ तापमान काफी अधिक होता है और बारिश में यहाँ काफी पानी भर जाता है और फिसलन हो जाती है।

और पढ़े : इंद्रावती राष्ट्रीय उद्यान घूमने की जानकारी

कुटमसर गुफा की यात्रा में कहाँ रुकें – Where to stay in a trip of Kotamsar Cave in Hindi 

कोटमसर गुफा की यात्रा में कहाँ रुकें – Where to stay in a trip of Kotamsar Cave in Hindi 

यदि आप कोटमसर गुफा घूमने जाने वाले है लेकिन अपनी यात्रा पर जाने से पहले रुकने के लिए होटल्स सर्च कर रहे हैं तो हम आपको बता दे कोटमसर गुफा के नजदीकी शहर जगदलपुर में लो बजट से लेकर हाई बजट तक सभी प्रकार की होटल्स उपलब्ध है जिनको आप अपने बजट के अनुसार सिलेक्ट कर सकते है।

कुटमसर गुफा केसे पहुचें – How to reach Kotumsar Cave in Hindi

कोटमसर गुफा की यात्रा पर जाने वाले पर्यटकों को बता दे इस गुफा के लिए कोई सीधी ट्रेन या फ्लाइट कनेक्टविटी नही है। इसीलिए सड़क मार्ग से यात्रा करके कोटमसर गुफा घूमने आना सबसे बेहतर विकल्प है लेकिन इसके बाबजूद भी जो पर्यटक ट्रेन या फ्लाइट से ट्रेवल करके कोटमसर गुफा जाना चाहते है वो नीचे दी जाने वाली जानकारी को जरूर पढ़ ले।

फ्लाइट से कुटमसर गुफा केसे जायें – How to Reach Kotumsar Cave by Flight in Hindi

फ्लाइट से कोटमसर गुफा केसे जायें – How to Reach Kotumsar Cave by Flight in Hindi

यदि आपने कोटमसर गुफा घूमने जाने के लिए फ्लाइट का सिलेक्शन किया है, तो जान लें कुटमसर गुफा का निकटतम एयरपोर्ट रायपुर में है जो यहाँ से लगभग 330 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह हवाई अड्डा भारत के प्रमुख शहरों से हवाई मार्ग द्वारा जुड़े है और यहाँ दैनिक रूप से भी बिभिन्न उड़ाने भी संचालित की जाती है।

फ्लाइट से ट्रेवल करके एयरपोर्ट पर उतरने के बाद, कुटमसर गुफा पहुंचने के लिए आप बस, केब या एक टैक्सी किराए पर ले सकते हैं।

ट्रेन से कुटमसरगुफा केसे जायें – How to Reach Kotumsar Cave by Train in Hindi

ट्रेन से कोटमसर गुफा केसे जायें – How to Reach Kotumsar Cave by Train in Hindi

ट्रेन से ट्रेवल करके कोटमसर गुफा की यात्रा पर जाने वाले पर्यटकों को बता दे कोटमसर गुफा का नजदीकी रेल टर्मिनल जगदलपुर रेलवे स्टेशन है। जो गुफा से लगभग 27 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

सड़क मार्ग से कुटमसर गुफा केसे पहुचें – How to Reach Kotumsar Cave by Raod in Hindi

सड़क मार्ग से कोटमसर गुफा केसे पहुचें – How to Reach Kotumsar Cave by Raod in Hindi

यदि आप सड़क मार्ग या बस से ट्रेवल करके कुटमसर गुफा घूमने जाना चाहते है, तो हम आपको बता दे कैलाश और कुटमसर  गुफाएं जगदलपुर के माध्यम से छत्तीसगढ़ के सभी प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। जगदलपुर के लिए आसपास के सभी प्रमुख शहरों से बसे भी संचालित की जाती है। साथ ही यदि आप आसपास के शहरों से यात्रा कर रहे है तो आप सेल्फ ड्राइव या एक टेक्सी बुक करके भी कोटमसर गुफा आ सकते है।

और पढ़े : छत्तीसगढ़ के पर्यटन स्थल की जानकारी

इस आर्टिकल में आपने कुटमसर गुफा की ट्रिप से रिलेटेड पूरी इन्फोर्मेशन को डिटेल में जाना है आपको हमारा ये आर्टिकल केसा लगा हमे कमेंट्स में जरूर बतायें।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

कुटमसर गुफा का मेप – Map of Kotumsar Cave 

और पढ़े :

Leave a Comment