Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Chitrakoot Waterfalls In Hindi चित्रकोट जलप्रपात भारतीय राज्य छत्तीसगढ़ में बस्तर जिले में जगदलपुर के पश्चिम में इंद्रावती नदी पर स्थित एक प्राकृतिक झरना है। इसे भारत का नियाग्रा फॉल्‍स के रूप में भी जाना जाता हैं। यह जगदलपुर के से 38 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। चित्रकूट जलप्रपात को भारत का नियाग्रा फॉल्स कहा जाता है। यह देश का सबसे बड़ा झरना में से एक है। यह जलप्रपात लगभग 100 फीट की ऊंचाई से गिरता है और बारिश के मौसम में 150 मीटर तक चौड़ा होता है। यह विंध्याचल पर्वतमाला में स्थित है, जो छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के बीच फैला है। वैसे तो इस जलप्रपात के अद्भुत नजारे के देखने के लिए हर मौसम में पर्यटक आते हैं लेकिन खासतौर से मानसून के दौरान यहां भारी भीड़ दिखायी देती है।

  1. चित्रकोट जलप्रपात के बारे में रोचक तथ्य – Interesting Facts About Chitrakoot Waterfalls In Hindi
  2. चित्रकोट जलप्रपात देखने के लिए सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Chitrakoot Waterfalls In Hindi
  3. चित्रकोट जलप्रपात जाएं तो क्या करें – Things To Do In Chitrakoot Waterfalls In Hindi
  4. चित्रकूट जलप्रपात के आसपास घूमने की जगह – Places To Visit Near Chitrakoot Waterfalls In Hindi
  5. चित्रकोट जलप्रपात घूमने जाने वाले पर्यटकों के लिए टिप्स – Tips For Chitrakoot Waterfalls Visitors In Hindi
  6. चित्रकोट जलप्रपात कैसे पहुंचें – How To Reach Chitrakoot Falls In Hindi
  7. चित्रकोट जलप्रपात के आसपास कहां रुकें – Where To Stay Near Chitrakoot Falls In Hindi
  8. चित्रकोट जलप्रपात का पता – Chitrakoot Falls Location
  9. चित्रकोट जलप्रपात की फोटो गैलरी – Chitrakoot Falls Images

1. चित्रकोट जलप्रपात के बारे में रोचक तथ्य – Interesting Facts About Chitrakoot Waterfalls In Hindi

चित्रकोट जलप्रपात के बारे में रोचक तथ्य - Interesting Facts About Chitrakoot Waterfalls In Hindi

  • चित्रकोट जलप्रपात की तुलना दुनिया के सबसे भव्य और सुंदर झरने से की गई है।
  • चित्रकोट जलप्रपात इंद्रावती नदी पर स्थित है, जो ओडिशा से निकलती है, पश्चिम में बहती है और चित्रकोट में गिरती है, फिर आंध्रप्रदेश में प्रवेश करती है और अंत में गोदावरी नदी में विलीन हो जाती है।
  • ऑफ सीजन के दौरान यह चित्रकोट जलप्रपातकई छोटी छोटी धाराओं में फैल जाता है और एक घोड़े की नाल के आकार में अलग-अलग बहता है। हालांकि, मॉनसून के दौरान चित्रकूट झरने की भयंकर धाराएं देखने को मिलती हैं।
  • चित्रकूट फॉल्स के बाएं किनारे पर एक छोटा हिंदू मंदिर जो भगवान शिव को समर्पित है और कई प्राकृतिक रूप से निर्मित कुंड और गुफाएं हैं इन गुफाओं को पार्वती गुफाओं के नाम से जाना जाता है।
  • चित्रकोट जलप्रपात कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान के पास स्थित है। इसके अलावा इससे कुछ ही दूरी पर एक दूसरा झरना तीरथगढ़ जलप्रपात स्थित है।
  • नदी के तेज बहाव के कारण यह धुंध के बादल पैदा करता है और फिर अपने ही तल पर अर्धवृत्ताकार आकार में बने तालाब से टकराता है। विशेष रूप से सूर्यास्त के दौरान चित्रकोट जल प्रपात की सुंदरता देखी जा सकती है।
  • बाढ़ के मौसम या मानसून के मौसम के दौरान यह जलप्रपात गाद से भर जाता है। यह भारत का सबसे चौड़ा झरना है।
  • चित्रकोट जलप्रपात के नीचे तालाब के किनारे जगह जगह कई छोटे छोटे शिवलिंग हैं। इसके अलावा शिव के त्रिलूल भी हैं जिनके ऊपर जंग लग गया है।
  • चित्रकूट जलप्रपात के कोने पर बैठने वाले पक्षी अक्सर इसकी सुंदरता को बढ़ा देते हैं।
  • चित्रकूट जलप्रपात का भीषण शोर इतना तेज है कि उसके शोर के पीछे कुछ भी सुनना संभव नहीं है।
  • चित्रकोट जलप्रपात बरसात के मौसम में मिट्टी के कटाव के कारण भूरे रंग का दिखायी देता है।

और पढ़े: देवप्रयाग की यात्रा के बारे में पूरी जानकारी

2. चित्रकोट जलप्रपात देखने के लिए सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Chitrakoot Waterfalls In Hindi

चित्रकोट जलप्रपात की यात्रा का सबसे अच्छा समय जुलाई से सितंबर के बीच होता है। इस दौरान मानसून का समय होता है और बारिश के बाद चित्रकोट वाटरफाल्स के ऊपर धुंधले आकाश में आप सुंदर इंद्रधनुष का भी नजारा देख सकते हैं। आपको बता दें कि यहां का इंद्रधनुष बहुत प्रसिद्ध है। यदि आप बिल्कुल परेशानी मुक्त यात्रा चाहते हैं तो नवंबर से जनवरी के सर्दियों के महीने भी फॉल्स की यात्रा करने का एक अच्छा समय हो सकता है। इस ठंडे और सुहावने मौसम में आप शांत सफेद झरने और हरियाली का आनंद उठा सकते हैं।

3. चित्रकोट जलप्रपात जाएं तो क्या करें – Things To Do In Chitrakoot Waterfalls In Hindi

चित्रकोट जलप्रपात जाएं तो क्या करें - Things To Do In Chitrakoot Waterfalls In Hindi

  • चित्रकूट झरने में एडवेंचर एक्टिविटी करने के शौकीन लोग नाव चलाने में हिस्सा लेते हैं।
  • तीर्थयात्री जलप्रपात की शांत धारा में स्नान करते हैं।
  • कम प्रवाह के मौसम में चप्पू वाली नावों का उपयोग फॉल्स के ऊपरी हिस्से में बने पूलों में किया जाता है। फॉल्स के नीचे पूल में तैराकी की अनुमति है और पैडल बोट की अनुमति है। अतः आप चित्रकोट जलप्रपात पर इन चीजों का आनंद उठा सकते हैं।

4. चित्रकूट जलप्रपात के आसपास घूमने की जगह – Places To Visit Near Chitrakoot Waterfalls In Hindi

अगर आप जगदलपुर के चित्रकोट जलप्रपात को देखने की प्लानिंग बना रहे हैं तो इसके आसपास मौजूद अन्य स्थानों को भी देख सकते हैं।

4.1 तीरथगढ़ जलप्रपात: चित्रकूट झरने के बाद यह दूसरा सबसे लोकप्रिय झरना है, जो बस्तर जिले के जगदलपुर के कांगेर घाटी में स्थित है। चित्रकूट जलप्रपात के आसपास घूमने की जगह में आप इसे देख सकते हैं।

4.2 कुटुमसर गुफा: यह गुफा कुटुमसर गांव में कांगेर नदी के तट के पास एक चूना पत्थर की गुफा है। कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान में स्थित यह गुफा भारत में सबसे जैविक रूप से खोजी गई गुफाओं में से एक है।

4.3 कैलाश गुफा: जगदलपुर के पास स्थित कैलाश गुफा बहुत लोकप्रिय पर्यटन स्थल हैं, जो कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान में स्थित हैं।

4.4 भैंसा दर्रा: भैंसा दर्रा कांगेर घाटी के अंदर पानी का कुंड है और पहाड़ियों से घिरा हुआ है। गहरे घाटियों पर स्थित जल कुंड मगरमच्छ और कछुआ के लिए सबसे अच्छी जगह है।

4.5 कांगेर धारा: यह कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान के अंदर से बहने वाली एक जलधारा है। यह छोटा सा झरना जगदलपुर के पास एक अच्छा पिकनिक स्थल है और घिरी  हुई घाटी के शानदार दृश्य के लिए प्रसिद्ध है।

4.6 दलपत सागर झील: दलपत सागर झील छत्तीसगढ़ राज्य की सबसे बड़ी कृत्रिम झीलों में से एक है, जो कमल और पानी से भरी है। झील मछली पकड़ने, नौका विहार के लिए प्रसिद्ध है।

और पढ़े: पचमढ़ी हिल स्टेशन की यात्रा और अन्य जानकारी

5. चित्रकोट जलप्रपात घूमने जाने वाले पर्यटकों के लिए टिप्स – Tips For Chitrakoot Waterfalls Visitors In Hindi

चित्रकोट जलप्रपात घूमने जाने वाले पर्यटकों के लिए टिप्स - Tips For Chitrakoot Waterfalls Visitors In Hindi

  • चित्रकूट एक धार्मिक शहर है इसलिए जगह की पवित्रता बनाए रखें और वहां छोटे कपड़े न पहनें।
  • चट्टानों पर चलते समय सावधान रहें क्योंकि वे बहुत फिसलन भरे हैं।
  • बच्चों को झरने के पास जाने की अनुमति न दें क्योंकि पानी की गति बहुत अधिक है। यहां तक कि बड़ों को भी अपना ख्याल रखने की जरूरत है।
  • मानसून के दौरान झरना बहुत खतरनाक और हिंसक होता है, इसलिए इस समय चित्रकूट जलप्रपात घूमने के लिए अतिरिक्त देखभाल करने की आवश्यकता होती है।

6. चित्रकोट जलप्रपात कैसे पहुंचें – How To Reach Chitrakoot Falls In Hindi

इस पर्यटन स्थल पर पहुंचने के लिए कई विकल्प मौजूद हैं जिनके माध्यम से आप  यहां जा सकते हैं।

हवाई मार्ग द्वारा: चित्रकोट जलप्रपात रायपुर हवाई अड्डे या विशाखापत्तनम हवाई अड्डे के माध्यम से पहुँचा जा सकता है। यह रायपुर हवाई अड्डे से 285 किमी और विशाखापत्तनम हवाई अड्डे से 340 किमी की दूरी पर स्थित हैं। दोनों हवाई अड्डे भारत के मुख्य शहरों जैसे बैंगलोर, हैदराबाद, कोलकाता, नई दिल्ली आदि से अच्छी तरह से जुड़े हुए हैं। यहां पहुंचने के बाद आप बस या टैक्सी से चित्रकोट जलप्रपात आसानी से पहुंच सकते हैं।

ट्रेन द्वारा: जगदलपुर सिटी में रेलवे स्टेशन है जहां नियमित रूप से कोलकाता, विशाखापट्टनम, भुवनेश्वर आदि स्थानों से ट्रेनें आती हैं। जगदलपुर चित्रकोट फॉल्स से 38 किमी दूर है। स्टेशन के बाहर से चित्रकोट जलप्रपात के लिए टैक्सी आसानी से आवागमन के लिए उपलब्ध है।

सड़क मार्ग से: हालांकि जगदलपुर एक छोटा शहर है, लेकिन यह छत्तीसगढ़ में काफी लोकप्रिय है। इसलिए यह राज्य की राजधानी रायपुर के साथ-साथ राज्य के बाकी हिस्सों से भी सड़क मार्ग द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। राज्य सरकार की बसें झाँसी, इलाहाबाद, कानपुर आदि स्थानों से उपलब्ध हैं, जो आपको सीधे चित्रकोट जलप्रपात या जगदलपुर तक ले जाएंगी।

7. चित्रकोट जलप्रपात के आसपास कहां रुकें – Where To Stay Near Chitrakoot Falls In Hindi

अगर आप चित्रकोट जलप्रपात देखने की प्लानिंग बना रहे हैं तो आपको पहले ही वहां रुकने की सविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए। चूंकि चित्रकोट जलप्रपात छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले में स्थित है और यह नक्सल प्रभावित क्षेत्र है, इसलिए आपको सुरक्षा की भी दृष्टि से रहने के लिए उत्तम प्रबंध पहले से ही करने की जरूरत होती है। आपकी सुविधा के लिए बता दें कि यहां श्री जी भवन, होटल राज पैलेस, नमन बस्तर, डंडामी लक्जरी रिजॉर्ट और बस्तर जंगल रिजॉर्ट जैसे अच्छे और किफायती होटल मौजूद हैं। इन होटलों में आप अपने बजट और सुविधा के अनुसार कमरे बुक करा सकते हैं। आप चाहें तो यहां ठहरने के लिए प्री बुकिंग भी करा सकते हैं।

और पढ़े: बड़ा तालाब भोपाल घूमने की जानकारी

8. चित्रकोट जलप्रपात का पता – Chitrakoot Falls Location

9. चित्रकोट जलप्रपात की फोटो गैलरी – Chitrakoot Falls Images

और पढ़े:

Write A Comment