कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान – Kanger Valley National Park in Hindi

Kanger Valley National Park in Hindi : कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान छत्तीसगढ़ राज्य के बस्तर जिले के जगदलपुर में स्थित है जिसका नाम यहाँ से बहने वले कांगेर नदी से लिया गया है। भारत के सबसे घने राष्ट्रीय उद्यानों में से एक के रूप में जाना जाने वाला, कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान प्रकृति प्रेमियों और वन्यजीव प्रेमियों के लिए स्वर्ग के समान है जो समृद्ध जैव विविधता, लुभावनी परिदृश्य, और झरने के लिए मशहूर है। 200 किमी वर्ग में फैले कांगेर घाटी (वैली) नेशनल पार्क, शानदार कांगेर घाटी के बीच एक बायोस्फीयर रिजर्व है, जो 34 किमी तक फैला है।

वन्य जीवन और पौधों के अलावा, यह राष्ट्रीय उद्यान तीन असाधारण गुफाओं का घर है – जो कुटुम्बसर, कैलाश और स्टेलैग्मिट्स और स्टैलेक्टाइट्स की अपनी अद्भुत भूवैज्ञानिक संरचनाओं के लिए प्रसिद्ध हैं। यदि आप कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान घूमने जाने को प्लान कर रहे है या फिर इस नेशनल पार्क के बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े –

Table of Contents

कांगेर वैली नेशनल पार्क की हिस्ट्री – History of Kanger Valley National Park in Hindi

यदि हम कांगेर वैली नेशनल पार्क की हिस्ट्री की बात करें तो इस पार्क को मुख्य रूप से वर्ष 1982 में एक राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा मिला है।

कांगेर वैली नेशनल पार्क में पाई जाने वाली वनस्पतियाँFlora of Kanger Valley National Park in Hindi

200 किमी वर्ग में फैला हुआ कांगेर वैली नेशनल पार्क एक विशिष्ट मिश्रित आर्द्र पर्णपाती प्रकार का जंगल है, जिसमें साल, सौगुन, सागौन और बाँस के पेड़ बहुतायत में उपलब्ध हैं। वास्तव में, कांगेर घाटी भारत के उन अंतिम क्षेत्रों में से एक है जहां कुंवारी और शुद्ध वन अभी भी बचे हुए हैं। शोध संगठनों द्वारा किए गए विभिन्न सर्वेक्षणों के अनुसार, पार्क में 555 शाकाहारी प्रजातियां हैं। इनमें से, 45 प्रजातियों को दुर्लभ कहा जाता है, और 12 प्रजातियां नई हैं और हाल ही में बहुत कुछ जोड़ा गया है। पार्क के अंदर समृद्ध और सुंदर फूलों की विविधता में विभिन्न औषधीय पौधे, पर्वतारोही, घास, जंगली गन्ना, फर्न, कैन, एपिफेइटिस, सागौन, बांस, नमकीन, और बहुत कुछ शामिल हैं जिन्हें इस पार्क में देखा जा सकता है।

कांगेर वैली नेशनल पार्क के वन्यजीव – Fauna of Kanger Valley National Park in Hindi

कांगेर वैली नेशनल पार्क के वन्यजीव – Fauna of Kanger Valley National Park in Hindi

भारत के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यानों में से एक कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान कई दुर्लभ और लुप्तप्राय प्रजातियों के संरक्षण के रूप में कार्य करता है। यदि हम कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान में पाए जाने वाले मुख्य वन्यजीवों की बात करें तो उनमे बाघ, माउस हिरण, तेंदुए, वाइल्डकट, सांबर, चीतल, भौंकने वाले हिरण, लंगूर, सियार, रीसस मकाक, उड़ने वाली गिलहरी, सुस्त भालू, जंगली सूअर, खरगोश, धारीदार लकड़बग्घा, अजगर, मगरमच्छ, सांप शामिल है जिन्हें यहाँ स्वतंत्र घूमते हुए देखा जा सकता है। जबकि इस क्षेत्र में पाए जाने पक्षियों में सबसे लोकप्रिय प्रजाति बस्तर मैना है जो अपनी मानवीय आवाज से सभी को मंत्रमुग्ध कर देती है।

और पढ़े : पन्ना नेशनल पार्क की ट्रिप

कांगेर वैली नेशनल पार्क में करने के लिए एक्टिविटीज – – Activities to do in Kanger Valley National Park in Hindi

कांगेर वैली नेशनल पार्क में करने के लिए एक्टिविटीज - - Activities to do in Kanger Valley  National Park in Hindi

जिप्सी सफारी

कांगेर वैली नेशनल पार्क में जिप्सी सफारी करना इस पार्क की सबसे लोकप्रिय और पॉपुलर एक्टिविटीज में से एक है, जिसके बिना कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान की ट्रिप कभी पूरी हो ही नही सकती। यह जंगल सफारी एक खूबसूरत ड्राइव पे ले जाती है, जो पर्यटकों को पार्क की सुन्दरता और बिभिन्न वन्यजीवों को नजदीकी से देखने का अवसर प्रदान करती है।

ट्रेकिंग

चारों ओर की सौम्य पहाड़ियां इस पार्क को ट्रेकर्स के लिए परफेक्ट जगह बनती है। जी हाँ यह पार्क अपनी जंगल सफारी के साथ साथ ट्रेकिंग एक्टिविटीज के लिए भी काफी फेमस है जिसमे आप पार्क में हरे भरे पेड़ो के बीच पगडंडी रास्तो से गुजरते हुए ट्रेकिंग एन्जॉय कर सकते है। बता दे जब भी आप अपने फ्रेंड्स के साथ साथ कांगेर वैली टाइगर रिजर्व घूमने आयेंगे तो आप यहाँ ट्रेकिंग करके अपनी ट्रिप को एन्जॉय कर सकते है।

कांगेर वैली नेशनल पार्क की टाइमिंग – Timing of Kanger Valley National Park in Hindi

  • सुबह 7.00 बजे से शाम 4.00 तक

कांगेर वैली नेशनल पार्क की एंट्री फीस – Entry fee of Kanger Valley National Park in Hindi

कांगेर वैली नेशनल पार्क की एंट्री फीस – Entry fee of Kanger Valley  National Park in Hindi
Image Credit : Prabeen Kumar Sahu
  • इंडियन टूरिस्ट्स के लिए : 25 रूपये
  • फॉरेन टूरिस्ट्स के लिए : 200 रूपये

कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान की यात्रा के लिए टिप्स – Tips for visiting Kanger Valley National Park in Hindi

कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान की यात्रा के लिए टिप्स – Tips for visiting Kanger Valley  National Park in Hindi
Image Credit : Ruben Paul

यदि आप कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान की यात्रा पर जाने वाले है, तो किसी भी दुर्घटना और परेशानी से बचने के लिए नीचे दिए इन टिप्स को अपनी यात्रा के दौरान अवश्य फोलो करें –

  • अगर आप छोटे बच्चो के साथ घूमने जा रहे तो अपने बच्चों को अकेला न छोड़ें और उन क्षेत्रों में रहें जो आगंतुकों के लिए हैं।
  • पार्क के किसी प्रतिबंधित क्षेत्रों में प्रवेश करने की कोशिश ना करें
  • सफारी राइड में अपने गाइड की परमिशन के बिना जीप से बाहर ना निकलें।
  • कांगेर वैली राष्ट्रीय उद्यान की यात्रा में कैमरा, दूरबीन और अन्य आवश्यक चीजें जरूर साथ रखें।
  • पार्क में किसी भी जानवर को खिलाने या उनके पास जाने की कोशिश ना करें।
  • कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान की यात्रा में स्मोकिंग बिलकुल ना करें, क्योंकि इससे आग लगने का खतरा बना रहता है।

कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान में घूमने की जगहें – Places to Visit in Kanger Valley National Park in Hindi

यदि आप अपने फ्रेंड्स या फैमली के साथ कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान घूमने आने वाले है तो जान लें यह नेशनल पार्क वन्यजीवों के साथ साथ गुफाओं, झरनों और अन्य पर्यटक अट्रेक्शनो ले लिए भी प्रसिद्ध है जिन्हें आप अपनी कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान की यात्रा में देख सकते है।

भैंसा दरहा

जगदलपुर से 65 किमी की दुरी पर कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान में स्थित भैंसा दरहा एक जल कुंड है जहाँ मगरमच्छ और कछुए पाये जाते है। यह जगह शांत वातावरण और हरी भरी हरियाली से घिरी हुई है जहाँ अक्सर आसपास के लोग पिकनिक मनाने के लिए आते है। ध्यान दे आप जब भी यहाँ आये तो सतर्क रहे क्योंकि यहाँ कई बार मगरमच्छ को देखा गया है।

कांगेर धरा वॉटरफॉल

कांगेर धरा जगदलपुर से 35 किमी दूर कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान के अंदर स्थित एक फेमस पिकनिक स्पॉट है। बता दे झरने के क्षेत्र में प्रवेश करने के लिए जिला वन कार्यालय से अनुमति लेना आवश्यक है। जब भी आप यहाँ आयेगें तो झरने के पानी में मस्ती कर सकते हैं और फैमली या फ्रेंड्स के साथ क्वालिटी टाइम स्पेंड कर सकते है।

 तीरथगढ़ वाटर फाल्स

 तीरथगढ़ वाटर फाल्स
Image credit : Bibhuti Bhushan Biswas

तीरथगढ़ वाटर फाल्स कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान की ट्रिप में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें में से एक है। तीरथगढ़ झरने को पानी के दूधिया सफेद रंग के कारण मिल्की फॉल भी कहा जाता है। जब पानी जमा होता है और चट्टानी ढलान के साथ गिरता है। तो दूर से देखने पर ऐसा लगता है जैसे ताजा दूध किसी पहाड़ी से नीचे गिर रहा हो। इस झरने का पानी 100 फीट से अधिक की ऊँचाई से नीचे बहता हुआ शानदार पानी शानदार दृश्य प्रस्तुत करता है जिसे देखने के लिए दूर दूर से पर्यटक यहाँ आते है। इस झरने के पास भगवान शिव और मा पार्वती को समर्पित एक मंदिर भी है जो यहाँ आने वाले लगभग सभी पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है।

कोटमसर गुफाएं

कोटमसर गुफाएं
Image credit : Aditya Verma

जगदलपुर से लगभग 40 किमी दूर स्थित, कोटमसर गुफाएं लगभग 1370 मीटर तक फैली हुई हैं और 35 मीटर भूमिगत हैं। शुद्ध चूना पत्थर से निर्मित, यह आकर्षक गुफा कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान के पश्चिमी भाग में कांगेर नदी के निकट है। कई प्रसिद्ध खोजकर्ताओं ने 1900 के दशक की शुरुआत में इस गुफा की खोज की थी। यह छत्तीसगढ़ राज्य की सबसे प्रसिद्ध गुफाओं में से एक है। जब भी आप यहाँ आयेगें तो कीर्ण चरणों के माध्यम से गुफाओं में प्रवेश कर सकते हैं और मुख्य हॉल में जाने से पहले बहुत संकीर्ण कक्षों और मार्ग से गुजरना होगा जो प्रभावशाली ध्वनिकी पेश करता है। कृपया इस तथ्य पर ध्यान दें कि गुफाओं के गहरे क्षेत्रों में ऑक्सीजन की कमी है और सुरक्षा के उद्देश्यों के लिए गुफायों के कुछ हिस्से पर्यटकों और स्थानीय लोगो के लिए प्रतिबंधित है।

 कैलाश गुफाएं

कोटमसर गुफाओं के समान, कैलाश गुफाएं जगदलपुर से 40 किमी दूर मिकुलवाड़ा जिले के पास स्थित हैं। 1993 में इन गुफाओं की खोज की गई थी। लगभग 250 मीटर लंबी और 40 मीटर भूमिगत, इन चूना पत्थर की गुफाओं के अंत में एक शिवलिंग के आकार की शानदार संरचना भी देखने को मिलती है।

और पढ़े : छत्तीसगढ़ के पर्यटन स्थल की जानकारी

कांगेर वैली नेशनल पार्क घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit Kanger Valley National Park in Hindi

कांगेर वैली नेशनल पार्क घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit Kanger Valley National Park in Hindi
Image Credit : Sobharani Lakra

नवंबर से अप्रैल का समय कांगेर वैली नेशनल पार्क घूमने जाने का सबसे अच्छे समय होता है। यह महीने साल का ऐसा समय होता है जब बादल साफ होने के साथ तापमान ठंडा होता है। जिसमे आप बिना पसीना बहाएं एक सुखद मौसम में वैली नेशनल पार्क की यात्रा कर सकते है। साथ ही सर्दियों के मौसम में वन्यजीवों को देखे जाने की संभवना भी सबसे अधिक होती है।

कांगेर वैली नेशनल पार्क केसे पहुचें – How to reach Kanger Valley National Park in Hindi

कांगेर वैली नेशनल पार्क की यात्रा पर जाने वाले पर्यटकों को बता दे इस पार्क के लिए कोई सीधी ट्रेन या फ्लाइट कनेक्टविटी नही है। इसीलिए सड़क मार्ग से यात्रा करके कांगेर वैली नेशनल पार्क घूमने आना सबसे बेहतर विकल्प है लेकिन इसके बाबजूद भी जो पर्यटक ट्रेन या फ्लाइट से ट्रेवल करके कांगेर वैली नेशनल पार्क जाना चाहते है वो नीचे दी जाने वाली जानकारी को जरूर पढ़ ले।

फ्लाइट से कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान केसे जायें – How to Reach Kanger Valley National Park by Flight in Hindi

फ्लाइट से कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान केसे जायें – How to Reach Kanger Valley National Park by Flight in Hindi

यदि आपने कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान घूमने जाने के लिए फ्लाइट का सिलेक्शन किया है, तो जान लें कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान निकटतम एयरपोर्ट रायपुर में है जो पार्क से लगभग 330 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह हवाई अड्डा भारत के प्रमुख शहरों से हवाई मार्ग द्वारा जुड़े है और यहाँ दैनिक रूप से भी बिभिन्न उड़ाने भी संचालित की जाती है।

फ्लाइट से ट्रेवल करके एयरपोर्ट पर उतरने के बाद, कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान पहुंचने के लिए आप बस, केब या एक टैक्सी किराए पर ले सकते हैं।

ट्रेन से कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान केसे जायें – How to Reach Kanger Valley National Park by Train in Hindi

ट्रेन से कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान केसे जायें – How to Reach Kanger Valley National Park by Train in Hindi

ट्रेन से ट्रेवल करके कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान की यात्रा पर जाने वाले पर्यटकों को बता दे कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान का नजदीकी रेल टर्मिनल जगदलपुर रेलवे स्टेशन है। जो पार्क से लगभग 27 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

सड़क मार्ग से कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान केसे पहुचें – How to Reach Kanger Valley National Park by Raod in Hindi

सड़क मार्ग से कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान केसे पहुचें – How to Reach Kanger Valley National Park by Raod in Hindi

यदि आप सड़क मार्ग या बस से ट्रेवल करके कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान घूमने जाना चाहते है, तो हम आपको बता दे जगदलपुर के माध्यम से छत्तीसगढ़ के सभी प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। जगदलपुर के लिए आसपास के सभी प्रमुख शहरों से बसे भी संचालित की जाती है। साथ ही यदि आप आसपास के शहरों से यात्रा कर रहे है तो आप सेल्फ ड्राइव या एक टेक्सी बुक करके भी कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान आ सकते है।

और पढ़े : भारत के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यान की जानकरी

इस आर्टिकल में आपने कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान की ट्रिप से रिलेटेड पूरी इन्फोर्मेशन को डिटेल में जाना है आपको हमारा ये आर्टिकल केसा लगा हमे कमेंट्स में जरूर बतायें।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

कांगेर वैली नेशनल पार्क का मेप – Map of Kanger Valley  National Park in Hindi

और पढ़े :

Featured image Credit : N Benimadhab Choudhury

Leave a Comment