मनसा देवी की कथा और मंदिर की यात्रा – Complete information of Mansa Devi temple in Hindi

Mansa Devi temple in Hindi : मनसा देवी मंदिर हरियाणा के पंचकुला जिले में मणि माजरा के पास बिलासपुर गाँव के पास स्थित एक प्रसिद्ध देवी मंदिर है। मनसा देवी मंदिर को समर्पित यह मंदिर उत्तर भारत के प्रमुख शक्ति मंदिरों में से एक है। शिवालिक पर्वत श्रृंखला की तलहटी में बसा यह मंदिर लगभग 100 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है जो एक धार्मिक स्थल होने के साथ साथ शांतिप्रिय वातावरण और आसपास की सुन्दरता के लिए भी फेमस है। इसीलिए श्र्धालुयों के साथ साथ पर्यटक भी यहाँ एकांत और प्राकृतिक सुन्दरता के मध्य समय व्यतीत करने के लिए यहाँ आते है। मंदिर परिसर में हर साल दो नवरात्र मेला का आयोजन किया जाता है जिसमे भक्तो और पर्यटकों की एक विशाल भीड़ देखने को मिलती है। मनसा देवी मंदिर का एक और प्रमुख आकर्षण एक पवित्र पेड़ है जिसके चारों ओर भक्त अपनी मनोकामना के लिए धागा बांधते है।

यदि आप प्रसिद्ध मनसा देवी मंदिर के दर्शन की योजना बना रह है या फिर इस मंदिर के बारे में और अधिक विस्तार से जानना चाहते है तो आपको हमारे इस लेख को पूरा जरूर पढना चाहिये –

Table of Contents

मनसा देवी मंदिर का इतिहास – History of Mansa Devi Temple in Hindi

मनसा देवी मंदिर के इतिहास पर नजर डालने पर हमे ज्ञात होता है की मनसा देवी मंदिर के इतिहास का लगभग 200 साल पुराना है। मनसा देवी मंदिर का निर्माण मणि माजरा के महाराजा गोपाल सिंह द्वारा 1811 में शुरू किया गया था जो लगभग चार साल बाद 1815 में बनकर तैयार हुआ। पटियाला और पूर्वी पंजाब राज्य संघ में रियासतों के विलय के बाद, मणि माजरा के राजा ने मंदिर देखभाल करने और पूजा करने के लिए पुजारी नियुक्त किए। हालांकि, उनकी जिम्मेदारियां स्वतंत्र हो गईं, और उचित सुविधाओं और भक्तों के लिए भूमि को आगे बनाए नहीं रखा जा सका।

इसने हरियाणा सरकार को मंदिर को संभालने और श्री माता मनसा देवी श्राइन बोर्ड (एसएमएमडीएसबी) स्थापित करने के लिए प्रेरित किया, जिसके परिणामस्वरूप मनसा देवी मंदिर की स्थिति में काफी सुधार हुआ है। और वर्तमान में मंदिर को सरकार द्वारा विरासत स्थल के रूप में बनाए रखा गया है।

मनसा देवी मंदिर की वास्तुकला – Architecture of Mansa Devi Temple in Hindi

मनसा देवी मंदिर की वास्तुकला - Architecture of Mansa Devi Temple in Hindi
Image Credit : sukhdev kumar

मनसा देवी मंदिर की वास्तुकला की बात करें तो यह मंदिर मुख्य रूप से दीवारों और छत पर पुष्प डिजाइनों के अलावा, दीवार चित्रों के अड़तीस पैनल वाले मुख्य मंदिर के साथ बनाया गया है। मंदिर के गर्भगृह में, लक्ष्मी और सरस्वती के साथ मुख्य देवता मनसा देवी की पूजा की जाती है। 19 वीं शताब्दी के आरंभ में महाराजा गोपाल सिंह द्वारा निर्मित, यह उत्तर भारत के सबसे प्रसिद्ध शक्ति मंदिरों में से एक है।

मनसा देवी की कथा और महत्व – Story of Mansa Devi in Hindi

मनसा देवी की कथा और महत्व – Story of Mansa Devi in Hindi
Image Credit : R K Saini

मनसा देवी मंदिर के साथ कई किंवदंतियां जुड़ी हुई हैं। मनसा देवी की कथा की बार करें तो यह हमे उस समय ले जाती है जब देवी सती ने अपने पिता दक्ष के विरुद्ध जाकर भगवान शिव से विवाह किया था। उनके विवाह के कुछ समय पश्चात दक्ष ने एक यज्ञ का आयोजन किया जिसमे उन्होंने शिव जी को अपमानित करने के लिए उन्हें छोड़कर बाकी सभी देवी देवतायों को आमंत्रित किया। लेकिन उसके बाबजूद देवी सती उस यज्ञ में पहुच जाती है जहाँ उनको और शिव जी आपमान की जाती है और अपने पति के खिलाफ अपने पिता के शब्दों को बर्दाश्त करने में सक्षम नहीं होने पर देवी सती उसी अग्नि कुंड में कूदकर अपने प्राण त्याग देती है।

लेकिन जब इस घटना की सूचना शिव जी को मिलती है तो वह दुखी और क्रोधित हो जाते है और वीरभद्र को पैदा करके संहार करते हुए दक्ष का वध कर देते है। उसके बाद देवी सती के मृत शरीर को लेकर तांडव करने लगते है जिससे ब्रम्हांड पर सर्वनाश का खतरा मडराने लगता है। इसी से चिंतित होकर भगवान विष्णु अपने सुदर्शन चक्र के देवी सती के मृत शरीर के टुकड़े कर देते है जो जाकर धरती के अलग अलग हिस्सों में गिरते है। और बाद में देवी सती के शरीर के गिरे उन्हें टुकडो वाली जगहों पर उनके सम्मान में एक शक्ति पीठ का निर्माण किया जाता है। ठीक उसी प्रकार माना जाता है इस स्थान पर देवी सती का सर गिरा था जिनके सम्मान में यहाँ मनसा देवी मंदिर की स्थापना की गयी थी।

और पढ़े : जानिए भारत के प्रमुख 51 शक्तिपीठों के बारे में

मनसा देवी मंदिर में नवरात्र मेला – Navaratri fair at Mansa Devi temple in Hindi

मनसा देवी मंदिर में नवरात्र मेला - Navaratri fair at Mansa Devi temple in Hindi
Image Credit : R K Saini

मनसा देवी मंदिर में आयोजित होने वाला नवरात्र मेला इस मंदिर का प्रमुख आकर्षण है जिसमे देश के बिभिन्न हिस्सों हजारो उत्साही भक्त, तीर्थयात्री और पर्यटक आते हैं। त्योहार के दौरान संख्या आमतौर पर लाखों तक बढ़ जाती है। बता दे नवरात्र मेला यहाँ बर्ष में दो बार नौ दिनों के लिए आयोजित किया जाता है। उन्हें चैत्र (हिंदू कैलेंडर के पहले महीने) और अश्विन (सातवें महीने) में किया जाता है। राजसी मंदिर इन समय के दौरान जगमगा उठता हैं, और श्रद्धालुओं द्वारा गर्म रहने और दर्शन के लिए तीर्थ स्थान, कंबल, औषधालय, स्वच्छ शौचालय आदि प्रदान करने के लिए मंदिरों द्वारा सुखद व्यवस्था की जाती है। बता दे नवरात्र मेला का आयोजन और प्रबंधन श्राइन बोर्ड द्वारा किया जाता है।

मनसा देवी मंदिर की यात्रा के लिए टिप्स – Tips For Visiting Mansa Devi Temple in Hindi

  • मंदिर के बाहर की दुकानों से मंदिर का प्रसाद खरीदा जा सकता है।
  • पिकपकेट्स से सावधान रहें। अपने वाहन में अपने जूते रखें या स्टैंड पर जमा करें।
  • भीड़ से बचने के लिए जल्दी जाएँ।
  • यदि आप कुछ दिनों के लिए यहां रहना चाहते हैं, तो पास में एक पर्यटक विश्राम गृह अच्छा आवास प्रदान करता है। चंडीगढ़ अनाज मंडी एसोसिएशन द्वारा एक स्थायी लंगर यहाँ आयोजित किया जाता है, जहाँ सभी आगंतुकों को मुफ्त स्वादिष्ट भोजन परोसा जाता है!

मनसा देवी मंदिर खुलने का समय – Timings of Mansa Devi Temple

मनसा देवी मंदिर खुलने का समय – Timings of Mansa Devi Temple
Image Credit : Alok Sharma

गर्मियों में : सुबह 4.00 बजे से रात 10.00 बजे तक

सर्दियों में : सुबह 5.00 बजे से रात 9.00 बजे तक

मनसा देवी मंदिर का प्रवेश शुल्क – Entry fee of Mansa Devi temple in Hindi

मनसा देवी के दर्शन के लिए जाने वाले भक्तो को बता दे मंदिर में प्रवेश और माता रानी के दर्शन के लिए कोई प्रवेश शुल्क नही है।

मनसा देवी मंदिर के आसपास पंचकुला में घूमनें की जगहें – Places to visit in Panchkula in Hindi

यदि आप अपनी फैमली या फ्रेंड्स के साथ मनसा देवी मंदिर की यात्रा पर जाने वाले हैं तो हम आपको बता दे पंचकुला में मनसा देवी मंदिर के साथ साथ अन्य कई प्रसिद्ध मंदिर और पर्यटक स्थल भी मौजूद है जिन्हें आपको अपनी यात्रा में अवश्य शामिल करना चाहिये तो आइये नीचे जानते है पंचकुला में घूमनें की जगहें –

  • मोरनी हिल्स
  • कैक्टस गार्डन
  • पिंजौर गार्डन
  • नाडा शाहिब
  • यादवेंद्र गार्डन
  • रामगढ़ फोर्ट
  • चटबीर चिड़ियाघर
  • चोखी ढाणी

मनसा देवी मंदिर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit Mansa Devi Temple in Hindi

मनसा देवी मंदिर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit Mansa Devi Temple in Hindi
Image Credit : Bhardwaj Ashwin Kumar

वैसे तो मनसा देवी मंदिर की यात्रा साल के किसी भी समय कर सकते है लेकिन यदि आप मनसा देवी मंदिर के साथ साथ पंचकुला के प्रमुख पर्यटक स्थल की यात्रा भी करने वाले है तो इसके लिए आपको अक्टूबर से अप्रैल के बीच के महीनों में पंचकुला की यात्रा करने चाहिये क्योंकि इस दौरान पंचकुला का मौसम काफी सुखद होता है। पंचकुला में गर्मियां काफी गर्म होती हैं इसीलिए इस दौरान यात्रा ना करने ही बेहतर होता है। यदि आप सिर्फ मनसा देवी मंदिर की यात्रा चाहते है तो फिर आपको नवरात्र मेला के दौरान यहाँ आना चाहिये।

और पढ़े : दुनिया की सबसे ऊँची अखंड मूर्ति गोमतेश्वर प्रतिमा

पंचकुला में रुकने के लिए होटल्स – Hotels in Panchkula in Hindi

पंचकुला में रुकने के लिए होटल्स – Hotels in Panchkula in Hindi

यदि आप अपने परिवार या दोस्तों के साथ मनसा देवी मंदिर पंचकुला की यात्रा पर जा रहे है और अपनी यात्रा में रुकने के लिए होटल्स को सर्च कर रहे है तो हम आपको बता दे पंचकुला में सभी बजट की होटल्स के उपलब्ध है जिनको आप अपने बजट और चॉइस के अनुसार सिलेक्ट कर सकते है।

  • होटल आइकॉन Hotel Icon
  • रामदा प्लाजा, चंडीगढ़, ज़ीरकपुर (Ramada Plaza, Chandigarh, Zirakpur)
  • जेम्स होटल (James Hotel)
  • प्राइड होंम (Pride Home)

मनसा देवी मंदिर पंचकुला केसे जायें – How To Reach Mansa Devi Temple Panchkul in Hindi

अगर आप मनसा देवी मंदिर पंचकुला घूमने जाने का प्लान बना रहे हैं और सर्च कर रहे है की हम पंचकुला केसे पहुचें ? तो आपको इसके बारे में ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि आप नीचे पंचकुला पहुचने के लिए प्रमुख साधनों के बारे में डिटेल में जानने वाले है –

फ्लाइट से मनसा देवी मंदिर कैसे पहुंचे – How To Reach Mansa Devi Temple By Flight in Hindi

फ्लाइट से मनसा देवी मंदिर कैसे पहुंचे – How To Reach Mansa Devi Temple By Flight in Hindi

अगर आप पंचकुला पहुचने लिए फ्लाइट से ट्रेवल करना चाहते है, तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दे उज्जैन का सबसे निकटतम एयरपोर्ट चंडीगढ़ अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है जो मनसा देवी मंदिर पंचकुला से लगभग 21 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

चंडीगढ़ एयरपोर्ट के लिए आपको देश के सभी बड़े शहर जैसे मुंबई, कोलकाता, दिल्ली, भोपाल और अहमदाबाद से फ्लाइट मिल जाएगी। फ्लाइट से ट्रेवल करके चंडीगढ़ एयरपोर्ट पहुंचने के बाद, आप टेक्सी बुक करके आसानी से मनसा देवी मंदिर पहुच सकते है।

ट्रेन से मनसा देवी मंदि केसे पहुचें – How To Reach Mansa Devi Temple By Train in Hindi

ट्रेन से मनसा देवी मंदिर केसे पहुचें – How To Reach Mansa Devi Temple By Train in Hindi

जिन पर्यटकों ने मनसा देवी मंदिर पंचकुला जाने के लिए ट्रेन का सिलेक्शन किया है, उन्हें हम बता दे पंचकुला का अपना रेलवे स्टेशन है, जिसे चंडीमंदिर रेलवे स्टेशन कहा जाता है। इसके अलावा चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन भी पंचकुला के बहुत करीब है। कई ट्रेन नियमित रूप से संचालित होती हैं जो भारत के महत्वपूर्ण शहरों से चंडीगढ़ को जोड़ती हैं। आप इन दोनों में से किसी भी स्टेशन के लिए ट्रेन ले सकते है और स्टेशन पर उतरने के बाद स्थानीय परिवहन के साधनों की मदद से मनसा देवी मंदिर जा सकते है।

सड़क मार्ग से मनसा देवी मंदिर केसे जायें – How To Reach Mansa Devi Temple By Road in Hindi

सड़क मार्ग से मनसा देवी मंदिर केसे जायें - How To Reach Mansa Devi Temple By Road in Hindi

अगर आप मनसा देवी मंदिर बस या सड़क मार्ग से आना चाहते हैं तो जान लें कि पंचकुला चण्डीगढ़ के माध्यम से हरियाणा और भारत के सभी प्रमुख शहरों से जुड़ा है इसीलिए बस या सड़क मार्ग से यात्रा करके मनसा देवी मंदिर आना बहुत ही आसन और आरामदायक है।

और पढ़े : लेपाक्षी मंदिर का रहस्य और यात्रा से जुड़ी जानकारी

इस लेख में आपने मनसा देवी मंदिर दर्शन और यात्रा से जुड़ी पूरी जानकारी को जाना है आपको हमारा ये आर्टिकल केसा लगा हमने कमेंट्स में जरूर बताये।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

मनसा देवी मंदिर के मेप – Map of Mansa Devi Temple

और पढ़े :

Featured Image Credit : Angad Kumaar

Leave a Comment