पवित्र स्थल “ब्रह्म सरोवर” हरियाणा की यात्रा – Information of Brahma Sarovar Haryana in Hindi

Brahma Sarovar Haryana in Hindi : “ब्रह्म सरोवर” हरियाणा के कुरुक्षेत्र में स्थित एक झील है, जिसे हिन्दुओं द्वारा बेहद पवित्र माना जाता है। इस सरोवर का नाम ब्रह्माण्ड के निर्माता भगवान ब्रम्हा जी के नाम पर रखा गया है जिससे इस सरोवर की पवित्रता का अनुमान लगाया जा सकता है। श्र्धालुयों के अनुसार इस पवित्र सरोवर में स्नान करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। यह स्थान पवित्र मंदिरों से घिरा हुआ हैं जो भक्तो को आदर्श और भक्तिमय वातावरण प्रदान करता है। ब्रम्हा सरोवर के मध्य में भगवान शिव को समर्पित को एक प्रमुख मंदिर है माना जाता है की इस मंदिर के स्वयंभू को स्वयं ब्रम्हा जी ने स्थापित किया था। नवंबर-दिसंबर में ब्रामसरोवर के तट पर वार्षिक गीता जयंती समारोह भी मनाया जाता है जिसमे राज्य और देश के बिभिन्न हिस्सों से श्रद्धालु और पर्यटक शामिल होते है।

तो आइये इस आर्टिकल के माध्यम से हम ब्रह्म सरोवर हरियाणा की हिस्ट्री, मान्यतायें और ब्रह्म सरोवर की यात्रा से जुड़ी पूरी जानकारी को जानते है –

Table of Contents

ब्रह्म सरोवर का इतिहास – History of Brahma Sarovar in Hindi

“ब्रह्म सरोवर का इतिहास” कई युगों पुराना है जिसका संबंध अलग घटनायों से रहा है। हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार ब्रह्म सरोवर ब्रह्मा को समर्पित है जिन्होंने कुरुक्षेत्र की भूमि में विशाल यज्ञ करने के बाद ब्रह्मांड का निर्माण किया था। प्राचीन काल में ब्रह्म सरोवर को रामहार्ड और सामंत पंचाका के रूप में जाना जाता था और इसे परशुराम के साथ जोड़ा जाता था जो भगवान विष्णु के अवतार थे। ब्रह्म सरोवर का उल्लेख ग्यारहवीं शताब्दी ईस्वी के अल बरुनी के संस्मरणों में भी किया गया है।

यह भी माना जाता है कि दुर्योधन ने महाभारत के युद्ध के अंतिम दिन में खुद को पानी के नीचे छिपाने के लिए इसी झील का इस्तेमाल किया था और युधिष्ठिर ने, महाभारत के युद्ध में अपनी जीत के प्रतीक के रूप में सरोवर के बीच में एक टॉवर भी बनबाया था। इनके अलावा सरोवर के उत्तरी तट पर भगवान शिव का मंदिर भी है, जिसके बारे में कहा जाता है कि इसे स्वयं भगवान ब्रह्मा ने स्थापित किया था।

ब्रह्म सरोवर की मान्यतायें – Brahm Sarovar Ki Maanyataayen in Hindi

ब्रह्म सरोवर की मान्यतायें - Brahm Sarovar Ki Maanyataayen in Hindi
Image Credit : Tayaen Rachit

ब्रह्म सरोवर भारत की सबसे पवित्र नदियों और सरोवर में से एक है, जो विशेषकर हिन्दूओं के बीच काफी महत्वपूर्ण स्थान रखता है। मान्यतायों की माने तो सूर्यग्रहण के दौरान सरोवर के पवित्र जल में डुबकी लगाना हजारों अश्वमेध यज्ञों को करने के गुण के बराबर माना जाता है। इसीलिए आम दिनों के साथ साथ सूर्यग्रहण और चन्द्रग्रहण के दौरान हजारों की संख्या में श्रद्धालु डुबकी लगाने के लिए इस पवित्र ब्रह्म सरोवर की यात्रा करते है।

गीता जयंती समारोह ब्रह्म सरोवर – Gita Jayanti samaroh Brahma Sarovar in Hindi

गीता जयंती समारोह ब्रह्म सरोवर - Gita Jayanti samaroh Brahma Sarovar in Hindi
Image Credit : Bon Vd

नवंबर और दिसंबर में आयोजित होने वाला “गीता जयंती समारोह” ब्रह्म सरोवर में मनाया जाने वाला सबसे प्रसिद्ध उत्सव है जिसे बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। बता दे इस उत्सव के दौरान लोगो द्वारा ब्रह्म सरोवर के पवित्र जल में दीप दान किये जाते है औए एक भव्य आरती की जाती है। गीता जयंती समारोह लगभग एक सप्ताह तक चलता है जिसमे नाटक, नृत्य प्रदर्शन, सामाजिक अभियान, प्रदर्शनियां, पवित्र समारोह और प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है। इसके अलावा, कुछ प्रतिभाशाली कारीगर देश भर से ब्रह्म सरोवर की यात्रा करते हैं और सरोवर के चारों ओर अपने स्टॉल लगाते हैं।

और पढ़े : भारत के 5 पवित्र सरोवर जहाँ स्नान करने से होती है मोछ की प्राप्ति

 ब्रह्म सरोवर खुलने का समय – Brahma Sarovar Opening Time in Hindi

बता दे यह पवित्र सरोवर 24 घंटे खुला रहता है, लेकिन यदि आप ब्रम्ह सरोवर घूमने जाना चाहते है तो आपको सुबह 6.00 बजे से शाम 7.00 बजे तक घूमने जाना चाहिये।

ब्रह्म सरोवर का प्रवेश शुल्क – Entrance fee of Brahma Sarovar in Hindi

यदि आप अपनी फैमली के साथ हरियाणा के पवित्र स्थल ब्रम्ह सरोवर घूमने जाने वाले है और अपनी यात्रा पर जाने से  पहले ब्रम्ह सरोवर के प्रवेश शुल्क के बारे जानना चाहते है, तो हम आपको बता दे यहाँ श्र्धालुयों के प्रवेश और सरोवर में स्नान के लिए कोई भी शुल्क नही है।

ब्रह्म सरोवर के आसपास कुरुक्षेत्र में घूमने की जगहें – Places to visit in Kurukshetra in Hindi 

क्या आप जानते है ? कुरुक्षेत्र में ब्रम्ह सरोवर के साथ साथ भी कई प्रसिद्ध मंदिर और पर्यटक स्थल मौजूद है जिन्हें अक्सर ब्रम्ह सरोवर की यात्रा पर आने वाले पर्यटक घूमना पसंद करते है। इसीलिए आप जब भी अपने परिवार या दोस्तों के साथ ब्रम्ह सरोवर घूमने जायें तो आप यहाँ नीचे दिए गये कुरुक्षेत्र के इन प्रसिद्ध पर्यटक स्थल की यात्रा भी करें –

  • ज्योतिसर
  • भीष्म कुंड
  • शेख चिल्ली का मकबरा
  • राजा हर्ष का टीला
  • भद्रकाली मंदिर
  • पैनोरमा और विज्ञान केंद्र
  • श्रीकृष्ण संग्रहालय
  • सरस्वती वाइल्ड लाइफ सेंचुरी
  • चिल्ला चिल्ला वाइल्ड लाइफ सेंचुरी
  • लक्ष्मी नारायण मंदिर
  • राजा कर्ण का किला

ब्रह्म सरोवर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit Brahma Sarovar in Hindi

ब्रह्म सरोवर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय - Best time to visit Brahma Sarovar in Hindi
Image Credit : Abhishek Prasad

वैसे तो बर्ष के किसी भी समय ब्रम्ह सरोवर की यात्रा की जा सकती है लेकिन यदि हम सबसे अच्छे समय की बात करें तो ब्रह्म सरोवर की यात्रा का आदर्श समय नवंबर और दिसंबर के दौरान होता है जब यहाँ गीता जयंती मनाई जाती है। यह सामरोह यहाँ बड़े ही धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है जिस दौरान बड़ी संख्या में पर्यटक शामिल होते है। इन महीनो का मौसम भी सुहावना होता है, जो कुरुक्षेत्र के अन्य प्रसिद्ध पर्यटक स्थल घूमने जाने के लिए भी परफेक्ट होता है।

और पढ़े : कुरुक्षेत्र शहर में घूमने लायक दर्शनीय स्थल की जानकारी

कुरुक्षेत्र में कहाँ रुके – Hotels In Kurukshetra In Hindi

कुरुक्षेत्र में कहाँ रुके – Hotels In Kurukshetra In Hindi

यदि आप अपनी फैमली या फ्रेंड्स के साथ ब्रम्ह सरोवर और कुरुक्षेत्र के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल को प्लान कर रहे है और अपनी यात्रा में रुकने के लिए होटल्स सर्च कर रहे है तो हम आपकी जानकारी के लिए कुरुक्षेत्र में लों-बजट से लेकर हाई-बजट के कई होटल उपलब्ध हैं।

  • होटल मेज़बान रीजेंसी
  • होटल पर्ल मार्क
  • आर के रियासत रिज़ॉर्ट
  • होटल किमाया
  • डिवाइन क्लार्क्स इन सूट

ब्रह्म सरोवर कुरुक्षेत्र कैसे जाये – How To Reach Brahma Sarovar Kurukshetra In Hindi

ब्रह्म सरोवर कुरुक्षेत्र की यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालु और पर्यटक फ्लाइट, ट्रेन या सड़क मार्ग में से किसी से भी ट्रेवल करके कुरुक्षेत्र जा सकते है।

तो आइये नीचे डिटेल जानते है की फ्लाइट, ट्रेनऔर रोडवे से ब्रह्म सरोवर कुरुक्षेत्र केसे जायें –

फ्लाइट से ब्रह्म सरोवर कुरुक्षेत्र कैसे पहुंचे – How To Reach Brahma Sarovar Kurukshetra By Flight In Hindi

फ्लाइट से ब्रह्म सरोवर कुरुक्षेत्र कैसे पहुंचे – How To Reach Brahma Sarovar Kurukshetra By Flight In Hindi

ब्रह्म सरोवर कुरुक्षेत्र की यात्रा के लिए यदि आपने फ्लाइट का सिलेक्शन किया हैं तो हम आपको बता दें कि कुरुक्षेत्र पहुंचने के लिए सबसे निकटतम एयरपोर्ट चंडीगढ़ और दिल्ली हैं। जोकि क्रमशः लगभग 86 किलोमीटर और 175 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं। आप इन दोनों में से किसी भी एयरपोर्ट के लिए फ्लाइट ले सकते है और एयरपोर्ट पर उतरने के बाद बस या टैक्सी की मदद से आप ब्रह्म सरोवर कुरुक्षेत्र पहुंच जाएंगे।

कुरुक्षेत्र ट्रेन से कैसे पहुंचे – How To Reach Brahma Sarovar Kurukshetra By Train In Hindi

कुरुक्षेत्र ट्रेन से कैसे पहुंचे – How To Reach Brahma Sarovar Kurukshetra By Train In Hindi

जो भी पर्यटक ट्रेन से ट्रेवल करके कुरुक्षे जाना चाहते है, हम उन्हें बता दे कुरुक्षेत्र में अपना खुद का जंक्शन मौजूद है जो भारत के कई प्रमुख शहरों से नियमित ट्रेनों के माध्यम से जुड़ा है। इसीलिए आप भारत के प्रमुख शहरों से कुरुक्षेत्र के लिए ट्रेन ले सकते है। रेलवे स्टेशन पर उतरने के बाद पर्यटक स्थानीय परिवहनो के माध्यम से ब्रह्म सरोवर पहुच सकते है।

ब्रह्म सरोवर कुरुक्षेत्र सड़क मार्ग से केसे जायें – How To Reach Brahm Sarovar Kurukshetra By Road in Hindi

ब्रह्म सरोवर कुरुक्षेत्र सड़क मार्ग से केसे जायें – How To Reach Brahm Sarovar Kurukshetra By Road in Hindi

ब्रह्म सरोवर कुरुक्षेत्र के माध्यम से सड़क मार्ग द्वारा राज्य के सभी प्रमुख शहरो से जुड़ा है, इसीलिए सड़क मार्ग और बस से ब्रम्ह सरोवर की यात्रा करना काफी आसान है। ब्रह्म सरोवर पिपली से 6 किमी की दूरी पर स्थित है और इसके दो बस स्टैंड भी हैं जहाँ के लिए हरियाणा के कई शहरों से बसे संचालित की जाती है।

और पढ़े : करनाल के 10 प्रमुख पर्यटक स्थल

इस लेख में आपने ब्रह्म सरोवर की यात्रा और कुरुक्षेत्र के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल को जाना है, आपको हमारा ये लेख केसा लगा हमे कमेंट्स में जरूर बतायें।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

ब्रह्म सरोवर का मेप – Map of Brahma Sarovar in Hindi

और पढ़े :

Leave a Comment