Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Badami Caves In Hindi, बादामी गुफा मंदिर भारत के कर्नाटक राज्य में बागलकोट जिले में स्थित दर्शनीय स्थल हैं जोकि भगवान विष्णु को समर्पित हैं। यहां चार गुफाएं स्थित हैं जिनमे से तीन हिन्दू धर्म से सम्बंधित और एक जैन धर्म से हैं। बादामी (प्राचीन नाम वातपी या वातपपी) अगत्स्य झील के किनारे पर स्थित हैं जोकि लाल पत्थरों की एक आकर्षित घाटी में स्थित हैं। पर्यटक यहां की प्राचीन गुफाओं में स्थित मंदिर, किले और नक्काशी को देखने दूर-दूर से आते हैं। द्रविड़ वास्तुकला की मिशाल के रूप में जानी जाने वाली बादामी पर्यटन प्राचीन समय में चालुक्य राजवंश की राजधानी के रूप में जाना जाता था। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बादामी शहर उत्तर और दक्षिण भारतीय शैली का शानदार उदहारण प्रस्तुत करता हैं। यदि आप बादामी गुफा टेम्पल से सम्बंधित अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को पूरा जरूर पढ़े।

1. बादामी गुफा मंदिर की संरचना – Badami Caves Architecture In Hindi

बादामी गुफा मंदिर की संरचना

बादामी गुफा की संरचना में चालुक्यों की वास्तुकला को देखा गया हैं जोकि बहुत खूबसूरत हैं और 6 वीं शताब्दी के दौरान की याद दिलाती हैं। चालुक्य वंश द्वारा यहाँ कई खूबसूरत मंदिर और गुफाओं का निर्माण किया गया है। सैंडस्टोन पहाड़ियों से निर्मित बादामी गुफा मंदिर रॉक-कट वास्तुकला का दावा प्रस्तुत करता हैं। बादामी में चार गुफा मंदिर हैं जोकि 3 हिन्दू धर्म से और एक जैन धर्म से सम्बंधित हैं। यह गुफा मंदिर अपनी सुंदर नक्काशी के लिए जाने जाते है। इन गुफा मंदिरों में दक्षिण भारतीय द्रविड़ वास्तुकला और उत्तर भारतीय नगर शैली की झलक देखने लायक होती है। हरेक गुफा में एक बरामदा, गर्भगृह, एक हॉल, स्तंभ और जलाशय आदि देख जा सकते हैं।

2. बादामी गुफा का इतिहास – Badami Caves History In Hindi

बादामी गुफा का इतिहास

Image Credit: Santhosh ML

बादामी गुफा मंदिर का इतिहास छटवीं से आठवीं शताब्दी के दौरान का हैं। बादामी गुफाओं का निर्माण पल्लव वंश के शासको द्वारा किया गया था।

और पढ़े: हम्पी घूमने की जानकारी और 30 पर्यटक स्थल

3. बादामी गुफा मंदिर की जानकारी – Badami Cave Temples Information In Hindi

बादामी गुफाओं को चालुक्य राजा मंगलेसा के शासनकाल में निर्मित किया गया था। यह चार गुफाएं हैं जिनका विवरण नीचे दिया गया हैं। इनमे से तीन हिन्दू धर्म जबकि अन्य एक जैन धर्म से सम्बंधित हैं। आपकी  जानकारी के लिए बता दें कि गुफाओं तक पहुँचने के लिए लगभग 2000 सीढ़ियां चढ़नी पड़ती हैं।

3.1 बादामी गुफा संख्या I – Badami Caves 1 In Hindi

बादामी गुफा संख्या I

गुफा संख्या एक को शैव गुफा के नाम से जाना जाता हैं। इस आकर्षित गुफा में खूबसूरत भगवान शिव की 18-सशस्त्र नृत्य नक्काशी, भगवान गणेश की दो हाथो वाली नक्काशी, महिषासुर मर्दिनी, अर्ध नरेश्वर और शंकरनारायण आदि की नक्काशी शामिल हैं। गुफा का छत एक नाग आकृति की भाती प्रतीत होता हैं।

3.2 बादामी गुफा संख्या II – Badami Caves 2 In Hindi

बादामी गुफा संख्या II

बादामी की गुफा संख्या II में वैष्णव प्रभावों को त्रिविक्रम और भुवराहा के साथ प्रदर्शित किया गया हैं। इसके अलावा छत पर अनंतनायण, शिव, ब्रह्मा, विष्णु  और अन्य अष्टदिक्पालों की दर्शनीय नक्काशी की गई हैं।

3.3 बादामी गुफा संख्या III – Badami Caves 3 In Hindi

 बादामी गुफा संख्या III

गुफा संख्या तीन जोकि बादामी की सबसे बड़ी और सुन्दर गुफा हैं। पर्यटकों को सहज ही अपनी ओर आकर्षित करती हैं। गुफा संख्या III में शैव और वैष्णव से सम्बंधित नक्काशी देखने को मिलती है। केव्स-3 में त्रिविक्रम, नरसिम्हा, शंकरनारायण, भुवराहा, अनंतसयाना और हरिहर आदि को शानदार ढंग से उकेरा गया हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 578 ईस्वी के दौरान एक शिलालेख में मंगलेश द्वारा निर्माण के रिकॉर्ड की जानकारी मिलती हैं।

3.4 बादामी गुफा संख्या IV – Badami Caves 4 In Hindi

बादामी गुफा संख्या IV

गुफा संख्या तीन के पूर्व में स्थित चौथी गुफा जैन धर्म से सम्बंधित हैं। इस गुफा में गर्भगृह को सुशोभित करने वाली एक दर्शनीय छवि श्री महावीर की हैं जोकि पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं। इसके अलावा अन्य नक्काशीयों में शामिल पद्मावती सहित अन्य तीर्थकर आदि शामिल हैं।

और पढ़े: मैसूर पैलेस घूमने की जानकारी और प्रमुख पर्यटन स्थल 

4. चालुक्य वंश के बादामी गुफा के बारे में रोचक तथ्य – Interesting Facts About Badami Temple Caves In Hindi

चालुक्य वंश के बादामी गुफा के बारे में रोचक तथ्य

Image Credit: Tushar Vaish

  • बादामी गुफाओं को भारतीय रॉक-कट वास्तुकला का एक शानदार उदाहरण माना गया हैं।
  • शुरूआती दौर में बादामी चालुक्य वंश की राजधानी थी।
  • साल 2015 में यहां एक अन्य गुफा की खोज की गई हैं।
  • जनवरी-फरवरी माह के दौरान बादामी के निकट बनशंकरी मंदिर महोत्सव का आयोजन किया जाता हैं।
  • मार्च महीने में पट्टडकल में विरुपाक्ष मंदिर कार महोत्सव का आयोजन देखने लायक होता है।

5. बादामी गुफा में लगने वाला प्रवेश शुल्क – Badami Caves Entry Fees In Hindi

  • भारतीय नागरिक 10 रूपए प्रति व्यक्ति।
  • विदेशी नागरिक 100 रूपए प्रति व्यक्ति।
  • 15 वर्ष से कम उम्र के बच्चे निशुल्क।

6. बादामी गुफा मंदिर के खुलने और बंद होने का समय – Badami Caves Timings In Hindi

बादामी गुफा मंदिर के खुलने और बंद होने का समय

बादामी गुफा सुबहे के 9 बजे से शाम के 5.30 बजे तक पर्यटकों के लिए खुली रहती है ।

और पढ़े: कुक्के श्री सुब्रमण्या मंदिर कर्नाटक के दर्शन की जानकारी 

7. कर्नाटका के बादामी शहर के प्रमुख पर्यटन स्थल – Best Places To Visit In Badami City Karnataka In Hindi

बादामी पर्यटन स्थल अपने खूबसूरत गुफा मंदिरों के लिए जाना जाता हैं लेकिन गुफा मंदिर के अलावा भी बादामी में कई आकर्षित स्थान हैं। जहां घूमकर पर्यटक अपनी यात्रा को यादगार बना सकते हैं।

7. 1 बादामी शहर में घूमने के लिए ऐतिहासिक स्थल बादामी किला – Badami Mein Ghumne Ke Liye Historical Place Badami Fort In Hindi

बादामी शहर में घूमने के लिए ऐतिहासिक स्थल बादामी किला

Image Credit: Arka Chattopadhyay

बादामी में देखने वाली जगहों में शामिल बादामी किला 543 ईस्वी चालुक वंश के राजा पुलकेसगी द्वारा निर्मित किया था। दो शिवालय परिसर के साथ यह किला एक चट्टान के शीर्ष पर स्थित हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 14 वीं शताब्दी और 16 वीं शताब्दी के दौरान निर्मित किये गए प्रहरीदुर्ग को भी इसी चट्टान पर चित्रित किया गया हैं।

7.2 बादामी शहर का आकर्षण स्थल अगस्त्य झील – Badami City Ke Aakarshan Sthal Agastya Lake In Hindi

बादामी शहर का आकर्षण स्थल अगस्त्य झील

बादामी में घूमने वाली जगहों में शामिल अगत्स्य झील यहां का प्रमुख आकर्षण हैं। यह स्थल चिकित्सा शक्तियों के लिए के लिए भी जाना जाता हैं। अगत्स्य झील बादामी में बनी सभी गुफाओं का सामना करती है। जोकि लाल बलुआ पत्थर के मंदिरों से घिरी हुई है।

7.3 कर्नाटका के बादामी प्रमुख पर्यटन स्थल ऐहोल बादामी – Badami Ke Pramukh Paryatan Sthal Aihole Badami In Hindi

कर्नाटका के बादामी प्रमुख पर्यटन स्थल ऐहोल बादामी

Image Credit: Anupkumar Desai

ऐहोल बादामी का प्रमुख पर्यटन स्थल हैं। यहां प्राचीन मंदिरों का इतिहास और उनके दर्शन के लिए पर्यटक भारी संख्या में यहां का दौरा करते हैं।यदि आप भी बादामी के दौरे पर है तो इस खूबसूरत स्थान का पर जरूर जाए।

7.4 बादामी के प्रसिद्ध दर्शनीय स्थल भूतनाथ मंदिर – Badami Ke Prasidh Darshaniya Sthal Bhoothnath Temple In Hindi

बादामी के प्रसिद्ध दर्शनीय स्थल भूतनाथ मंदिर

बादामी के दर्शनीय स्थलों में शामिल भूतनाथ मंदिर अगस्त्य झील के सामने स्थित हैं। यह दो मंदिर है जोकि स्थानीय बलुआ पत्थरो से निर्मित किए गए हैं। भूतनाथ मंदिर भगवान  भोलेनाथ को समर्पित हैं जोकि भूतनाथ के रूप विराजमान हैं।

और पढ़े: गोल गुम्बज और इसके प्रमुख पर्यटन स्थान की पूरी जानकारी 

7.5 बादामी के धार्मिक स्थल बनशंकरी मंदिर – Badami Ke Dharmik Sthal Banashankari Temple In Hindi

 बादामी के धार्मिक स्थल बनशंकरी मंदिर

Image Credit: Adarsh MK

बनशंकरी मंदिर को बनशंकरी अम्मा मंदिर के नाम से भी जाना जाता हैं। यह मंदिर बगलकोट जिले में बादामी के निकट चोलाचगड में स्थित है। हिन्दू धर्म से सम्बंधित यह कर्नाटक के सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में से एक हैं। इस मंदिर से जुडी कई कहानियां सामने आती हैं जोकि मंदिर की प्रसिद्धी की सबसे बड़ी वजह हैं। हालांकि मंदिर से जुडी सबसे रोचक बात राहू काल के दौरान मंदिर में की जाने वाली पूजा हैं जोकि हिन्दू संस्कृति के अनुसार अशुभ मानी जाती हैं।

7.6 बादामी पर्यटन में घूमने की अच्छी जगह पट्टडकल मंदिर – Badami Tourism Me Ghumne Ki Achi Jagah Pattadakal Temple In Hindi

 बादामी पर्यटन में घूमने की अच्छी जगह पट्टडकल मंदिर

Image Credit: Surojit Saha

बादामी पर्यटन में घूमने के लिए पट्टडकल एक छोटा सा गाँव है जोकि रक्तापुरा के नाम से भी जाना जाता हैं। पट्टडकल में पत्थर से बने 10 अद्भुत मंदिर हैं जोकि दर्शनीय हैं। इन मंदिरों का निर्माण 7 वीं और 8 वीं शताब्दी के दौरान किया गया था। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दस मंदिरों में से नौ हिंदू मंदिर हैं और एक जैन धर्म से सम्बंधित मंदिर है।

7.7 बादामी में देखने लायक जगह मालेगिट्टी शिवालय किला और मंदिर बादामी – Badami Me Dekhne Layak Jagah Malegitti Shivalaya Fort And Badami Temple In Hindi

बादामी में देखने लायक जगह मालेगिट्टी शिवालय किला और मंदिर बादामी

Image Credit: Arun Subramaniam

बादामी में दर्शनीय प्राचीन मालेगिट्टी शिवालय किला और मंदिर चालुक्य वास्तुकला का एक भव्य उदाहरण प्रस्तुत करता हैं। इसमें शानदार नक्काशीदार, रॉक-कट मंदिर है जोकि बादामी शहर में एक ऊबड़-खाबड़ पथरीली चट्टानी स्थान से घिरा हुआ है। मंदिर का निर्माण 7 वीं शताब्दी के दौरान किया गया था और चालुक्य वंश की प्रारंभिक वास्तुकला की द्रविड़ शैली को जीवित रखे हुए हैं।

7.8 बादामी के मशहूर पर्यटन स्थल बादामी पुरातत्व संग्रहालय – Badami Me Famous Paryatan Sthal Archaeological Museum In Hindi

बादामी के मशहूर पर्यटन स्थल बादामी पुरातत्व संग्रहालय

Image Credit: Hucheshwar Desai

बादामी पुरातत्व संग्रहालय कई प्राचीन संस्कृतिक कलाकृतियों को समेटे हुए हैं जोकि उत्तरी पहाड़ी की तलहटी में स्थित एक ऐतिहासिक खजाने के रूप में जाना जाता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पुरातत्व संग्रहालय में कई खूबसूरत मूर्तियां, शिलालेख,  वास्तुशिल्प आदि संरक्षित है। मुख्य रूप से यहां प्राचीन पत्थर, मूर्तियां और औजार देखने को मिलते हैं। पुरातत्व संग्रहालय के अंदर चार गैलरी है और और इसके बरामदे में भगवान शिव, भगवान गणेश और भगवान विष्णु को चित्रित किया गया है। पर्यटक इस संग्रहालय में भारी संख्या में घूमने के लिए जाते हैं।

7.9 बादामी के प्रसिद्ध मंदिर महाकूटा मंदिर – Badami Ke Prasidh Mandir Mahakuta Temple In Hindi

 बादामी के प्रसिद्ध मंदिर महाकूटा मंदिर

Image Credit: Aniket Bhumkar

बादामी के बहारी क्षेत्र में स्थित महाकूटा मंदिर एक दर्शनीय स्थान हैं जोकि चालुक्यों के अद्वितीय रॉक-कट निर्माण पैटर्न को प्रस्तुत करता हैं। मंदिर का निर्माण सातवी शताब्दी में किया गया था जोकि भगवान शिव को समर्पित हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यहाँ का महाकूटेश्वर मंदिर सबसे बड़ा है जोकि द्रविड़ और नगर शैलियों को उजागर करता हैं।

और पढ़े: मंगलौर के दर्शनीय स्थल की जानकारी 

8. बादामी पर्यटन में खरीददारी – Shopping In Badami Tourism In Hindi

बादामी पर्यटन में खरीददारी

बादामी पर्यटन स्थल खरीददारी के लिए एक अहम स्थान है। जो कि अपने हाथ से बनी कलाकृतियों के लिए प्रसिद्ध है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बादामी मे चंदन और शीशम की आकर्षित मूर्तियां मिलती है। इसके अलावा आप बादामी में आभूषणों की खरीदारी भी कर सकते हैं।

9. बादामी गुफा मंदिर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Badami Cave In Hindi

बादामी गुफा मंदिर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

बादामी गुफा मंदिर घूमने जाने के लिए सबसे अच्छा समय अक्टूबर से अप्रैल के बीच का माना जाता है। हालाकि बारिश के मौसम में भी मंदिर की यात्रा की जा सकती हैं लेकिन पथरीला क्षेत्र होने के कारण गर्मियों के मौसम में यहाँ आने से परहेज करे तो अच्छा रहेगा।

10. बादामी टूरिज्म में खाने के लिए प्रसिद्ध भोजन – Famous Food In Badami Tourism In Hindi

बादामी टूरिज्म में खाने के लिए प्रसिद्ध भोजन

बादामी में स्वादिष्ट भोजन की भरमार हैं। बादामी के स्थानीय भोजन में सबसे प्रसिद्ध उड़द की दाल, गुड़, चावल, रागी, ज्वार और नारियल हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बादामी में खाना थोड़ा तीखा और खट्टा होता है और नारियल के तेल में पका हुआ होता हैं। यदि आप मांस, मछली और समुद्री भोजन के शौकीन हैं तो आपके लिए इसकी व्यवस्था भी मिल जाएगी। हलवा, चिरौटी और मैसूर पाक मिठाई कुछ अन्य प्रमुख व्यंजन हैं।

11. बादामी गुफा मंदिर के आसपास कहां रुके – Where To Stay Near Badami Cave Temple In Hindi

बादामी गुफा मंदिर के आसपास कहां रुके

बादामी गुफा मंदिर घूमने वाले पर्यटकों को बता दें कि यहाँ कई अच्छे होटल है जोकि पर्यटकों को उचित मूल्य पर मिल जाते हैं। आप होटल का चुनाव अपनी जरूरत अनुसार कर सकते हैं।

  • द हेरिटेज रिसोर्ट (The Heritage Resort)
  • होटल राजसंगम इंटरनेशनल (Hotel Rajsangam International)
  • होटल बादामी कोर्ट (Hotel Badami Court)
  • कृष्णा हेरिटेज (Krishna Heritage)
  • होटल मयूरा चालुक्य (Hotel Mayura Chalukya)

और पढ़े: जाने उडुपी का कृष्ण मंदिर के बारे में 

12. बादामी गुफा बादामी कैसे जाए – How To Reach Badami Caves In Hindi

बादामी गुफा मंदिर के लिए पर्यटक फ्लाइट, ट्रेन और बस में से किसी का भी चुनाव कर सकते हैं।

12.1 फ्लाइट से बादामी गुफा मंदिर कैसे पहुचे – How To Reach Badami Cave Temples By Flight In Hindi

फ्लाइट से बादामी गुफा मंदिर कैसे पहुचे

बादामी गुफा मंदिर की यात्रा के लिए यदि आपने हवाई मार्ग का चुनाव किया हैं तो हम आपको बता दें कि बादामी का सबसे नजदीकी हवाई अड्डा बेलगाम में है जोकि गुफा मंदिर से लगभग 190 की दूरी पर हैं। आप यहाँ से स्थानीय साधनों की मदद से बादामी गुफा मंदिर आसानी से पहुँच जाएंगे।

12.2 ट्रेन से बादामी गुफा कैसे जाए – How To Reach Badami Caves By Train In Hindi

ट्रेन से बादामी गुफा कैसे जाए

यदि बादामी गुफा मंदिर जाने के लिए आपने रेल्वे मार्ग का चुनाव किया हैं तो हम आपको बता दें कि बादामी का अपना रेलवे स्टेशन हैं जोकि आसपास के सभी शहरो से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ हैं। रेलवे स्टेशन से आप यहाँ के स्थानीय साधनों की मदद से हिल स्टेशन आसानी से पहुंच जाएंगे।

12.3 कैसे जाए बादामी गुफा मंदिर बस से – How To Reach Badami Cave By Bus In Hindi

कैसे जाए बादामी गुफा मंदिर बस से

बादामी गुफा मंदिर की यात्रा के लिए यदि आपने सड़क मार्ग का चुनाव किया हैं तो हम आपको बता दें कि बस के माध्यम से आप आसानी से अपनी यात्रा पूरी कर सकते है। इसके अलावा आप अपने निजी साधनों की मदद से भी बादामी गुफा मंदिर पहुँच सकते हैं क्योंकि यह स्थान सड़क मार्ग से अपने अपने आसपास के शहरो से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ हैं।

और पढ़े: बैंगलोर में घूमने वाली जगहें 

13. बादामी गुफा बादामी का नक्शा – Badami Caves Map

14. बादामी गुफा मंदिर की फोटो गैलरी – Badami Caves Images

View this post on Instagram

""""""

A post shared by Nagarjun Reddy (@nagarjun.rede) on

और पढ़े:

Write A Comment