मुनस्यारी हिल स्टेशन की यात्रा की पूरी जानकारी – Travel Guide To Munsiyari Tourism In Hindi

Best Places To Visit In Munsiyari In Hindi, मुनस्यारी पर्यटन स्थल भारत के उत्तराखंड राज्य के पिथौरागढ़ जिले में स्थित हैं जोकि पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता हैं। मुनस्यारी भारत, नेपाल और तिब्बत की सीमाओं से लगा हुआ क्षेत्र है जोकि चारों तरफ से पहाड़ों से घिरा हुआ है। मुनस्यारी इतनी सुन्दर जगह है कि इसे उत्तराखंड के ‘छोटे कश्मीर’ के नाम से भी जाना जाता है। मुनस्यारी बर्फ से ढके पहाड़ों का सुन्दर पर्वतीय स्थल है जोकि पिथौरागढ़ जिले में सबसे तेजी से बढ़ते पर्यटन स्थलों में से एक बन गया है। मुनस्यारी अपनी कुदरती प्राकृतिक सौन्दर्यता के कारण बहुत लोकप्रिय स्थान बन गया है। मुनस्‍यारी के सामने विशाल हिमालय पर्वत श्रंखला का विश्‍व प्रसिद्ध पंचचूली पर्वत (हिमालय की पांच चोटियां) हैं जो इसके आकर्षण का केंद्र बने हुए है। प्रकृति प्रेमियों के लिए मुनस्यारी एक आदर्श स्थान के रूप में स्थित है। पर्यटक यहाँ पिकनिक मनाने आते है और साथ-साथ ट्रेकिंग का आनंद भी पाते है।

1. मुनस्यारी का इतिहास – Munsiyari History In Hindi

मुनस्यारी का इतिहास

ऐतिहासिक रूप से भी मुनस्यारी बहुत महत्त्व रखता है। मुनस्यारी गौरी गंगा नदी से मिलम तक फैला हुआ है जोकि प्राचीन समय में भारत और तिब्बत का व्यापार केंद्र था। प्राचीन समय में मुनस्यारी में शौका और भोटिया नामक दो जनजाति निवास करती थी, जोकि पूर्ण रूप से आर्थिक तौर पर भारत और तिब्बत के व्यापार पर ही निर्भर थे। सन 1962 में जब भारत और चीन के बीच युद्ध हुआ तब तक मुनस्यारी के मार्ग से यह व्यापार बहुत अच्छा चलता रहा। परन्तु युद्ध के बाद सीमा के बंद हो जाने के कारण व्यापार भी बंद हो गया।

2. मुनस्यारी की कहानी – Munsiyari Story In Hindi

मुनस्यारी की कहानी

पैराणिक कथाओं के अनुसार ऐसा कहा जाता है कि मुनस्यारी वह स्थान है जहां पर पांडवों ने स्वर्गारोहण की शुरुआत की थी। इस बात का साक्षी मुनस्यारी का पंचाचूल पर्वत है। जिसकी पांच चोटियाँ इन्ही पाँचों पांडवों का प्रतीक है। ऐसा भी कहा जाता है की जब पाण्डव स्वर्गारोहण करने वाले थे तब अंतिम बार पांडवों की पत्नी द्रोपदी ने इसी स्थान पर भोजन बनाया था।

और पढ़े: उत्तराखंड के प्रमुख पर्यटन स्थल और घूमने की जानकारी 

3. मुनस्यारी में बोली जाने वाली भाषा – Munsiyari Language In Hindi

मुनस्यारी में ज्यादातर लोग पहाड़ी भाषा बोलते है। इसके साथ ही मुनस्यारी की स्थानीय भाषा हिंदी है।

4. मुनस्यारी में घूमने लायक प्रसिद्ध दर्शनीय और पर्यटन स्थल – Tourist Attraction In Munsiyari In Hindi

मुनस्यारी बहुत ही खूबसूरत क्षेत्र है जोकि पर्यटकों को बहुत आकर्षित करता है। मुनस्यारी उत्तराखण्ड का एक खूबसूरत हिल स्टेशन हैं जोकि उत्तराखंड पर्यटन को बढ़ावा देने में अहम भूमिका निभाता हैं। मुनस्यारी में आपको घूमने के लिए कई ऐसे पर्यटक स्थल मिलेंगे जहां घूमकर आप अनूठे आनंद का अनुभव करेंगे। प्रकृति की गोद मुनस्यारी ऊँची पहाड़ियों और सुन्दर दृश्यों के लिए जाना जाता है। मुनस्यारी में आने वाले पर्यटक इन स्थानों की यात्रा जरूर करते है।

4.1 मुनस्यारी में देखने लायक जगह पंचाचूली चोटी – Munsiyari Paryatan Mein Dekhne Layak Jagah Panchachuli Peaks In Hindi

मुनस्यारी में देखने लायक जगह पंचाचूली चोटी

मुनस्यारी के प्रमुख पर्यटक स्थलों में से एक पंचाचूली चोटी है जोकि पांच शिखरों से मिलकर बनी हुई है। जोहार घाटी की यह आकर्षक चोटी पिथौरागढ़ जिले की शान है। पर्यटकों को बर्फ से ढकी ये चोटी पौराणिक कथाओं की जानकारी प्रदान करने वाली है। इस पंचाचूली घाटी की सबसे पहले चढ़ाई इंडो-तिब्बत बॉर्डर पुलिस की एक टीम ने सन 1972 में हुकम सिंह के नेतृत्व में की थी।

4.2 मुनस्यारी के आकर्षण स्थल बिरथी फाल्स – Munsiyari Ke Aakarshan Sthal Birthi Falls In Hindi

मुनस्यारी के आकर्षण स्थल बिरथी फाल्स

बिरथी फाल मुनस्यारी से 35 किलोमीटर दूर स्थित बहुत ही शानदार जगह है। बिरथी फाल एक झरना है और इस झरने तक कालामुनी दर्रे से एक छोटी सी ट्रेकिंग यात्रा करते हुए आसानी से पहुंचा जा सकता है। बिरथी फाल मुनस्यारी रोड पर स्थित घने जंगलों से सुशोभित वाटरफॉल है। इस मनोरम दृश्य की छटा को देखने के लिए दूर-दूर से देशी और विदेशी पर्यटक हर साल आते है झरने का लुत्फ़ उठाते हैं।

4.3 मुनस्यारी का प्रमुख पर्यटन स्थल माहेश्वरी कुंड – Maheshwari Kund Munsiyari Ka Pramukh Paryatan Sthal In Hindi

मुनस्यारी का प्रमुख पर्यटन स्थल माहेश्वरी कुंड
Image Credit: Chandan Singh Manral

मुनस्यारी के खूबसूरत पर्यटन स्थलों में शामिल माहेश्वरी कुण्ड है जोकि बहुत आकर्षक तालाब है। यह तालाब मुनस्यारी से कुछ ही किलोमीटर की दूरी पर मदकोट रोड पर स्थित है। माहेश्वरी कुण्ड के साथ-साथ एक बहुत ही प्राचीन पौराणिक कथा जुडी हुई है। ऐसा कहा जाता है कि इस स्थान पर एक यक्ष रहते थे और उन्हें गाँव के सरपंच की लड़की से प्रेम हो गया था। परन्तु गाँव वालों ने उनकी शादी नही होने दी तो यक्ष ने क्रोध में आकार गाँव में सूखा पड़ने का श्राप दे दिया। कई वर्षों तक गाँव को सूखे का सामना करना पड़ा तब गाँव वासियों ने यक्ष से माफ़ी मांगी तब सूखा ख़त्म हुआ।

4.4 मुनस्यारी के दर्शनीय स्थल कालामुनी मंदिर – Munsiyari Ke Darshaniya Sthal Kalamuni Temple In Hindi

मुनस्यारी के दर्शनीय स्थल कालामुनी मंदिर
Image Credit: Chandan Singh Manral

कालामुनी मंदिर मुनस्यारी से 15 किलोमीटर दूर स्थित देवी कालिका का मंदिर है जिसमे नाग भगवान की उपस्थिति भी है। यह मंदिर पर्यटकों को धार्मिक रूप से मोहित करता है। देवी कालिका के साथ-साथ इस मंदिर में कालामुनी बाबा की मूर्ति भी स्थापित है। यह मंदिर मन को शांति प्रदान करने वाला है जोकि समुद्र तल से लगभग 9500 फीट की ऊँचाई पर स्थित है।

4.5 मुनस्यारी के धार्मिक स्थल नंदा देवी मंदिर – Munsiyari Ke Dharmik Sthal Nanda Devi Temple In Hindi

मुनस्यारी के धार्मिक स्थल नंदा देवी मंदिर

मुनस्यारी के प्रमुख दर्शनीय स्थलों में से एक नंदा देवी मंदिर मुनस्यारी से 3 किलोमीटर की दूरी पर मदकोट रोड पर स्थित है। यह मंदिर 1000 वर्षों से भी अधिक पुराना है जोकि अपनी अनुपम संरचना और सुन्दर कुमाउनी वास्तुकला के लिए प्रसिद्ध है। इस स्थान पर नंदा देवी मेला हर साल अगस्त के महीने में आयोजित किया जाता है। इस मेले की शुरुआत 16 वीं शताब्दी में हुई थी जोकि आज तक कायम है। नंदा देवी मंदिर में देशी और विदेशी पर्यटकों की भीड़ लगी रहती है और हर पर्यटक यहाँ से अनौखी यादों को अपने साथ ले जाते हैं।

और पढ़े: नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान घूमने की जानकारी 

4.6 मुनस्यारी में घूमने लायक खुबसूरत जगह थमरी कुण्ड – Thamri Kund Munsiyari Ghumne Layak Khubsurat Jagah In Hindi

मुनस्यारी में घूमने लायक खुबसूरत जगह थमरी कुण्ड
Image Credit: Sadhna Sahu

मुनस्यारी से 10 किलोमीटर दूर स्थित थमरी कुण्ड बहुत ही सुन्दर तालाब है। यह स्थान धार्मिक महत्त्व भी रखता है। जब बारिश कम होती है तो यहाँ के लोग इस कुण्ड पर जाकर बारिश के लिए पूजा-अर्चना करते है। इस स्थान पर अल्पाइन और कागज़ के पेड़ बहुत मात्रा में मिलते है और कई कस्तूरी मृग भी इस जगह पर देखने को मिलते है। पर्यटकों के लिए यह स्थान बाकई देखने योग्य है।

4.7 आदिवासी विरासत संग्रहालय मुनस्यारी टूरिज्म में देखने लायक जगह – Tribal Heritage Museum Munsiyari Tourism Mein Dekhne Layak Jagha In Hindi

आदिवासी विरासत संग्रहालय मुनस्यारी टूरिज्म में देखने लायक जगह
Image Credit: Himanshu Khanwal

मुनस्यारी से 2 किलोमीटर दूर स्थित नन्सैन्न गाँव के सुरेंदर सिंह के घर में स्थित आदिवासी विरासत संग्रहालय मुनस्यारी के प्रमुख पर्यटक स्थलों में से एक है। मुनस्यारी आदिवासिओं का इलाका रहा है और भोटिया जनजाति के लोग मुनस्यारी में अधिक मात्रा में रहते थे। वे अपनी विरासत को बहुत संभाल कर रखते थे और इसी वजह से मुनस्यारी में आदिवासी विरासत संग्रहालय बनाया गया। पर्यटकों को यह संग्रहालय आदिवासियों की जीवन शैली से अवगत कराने वाला है।

4.8 मुनस्यारी का आकर्षण स्थान बैतूली धार – Munsiyari Ka Aakarshan Sthan Betuli Dhar In Hindi

मुनस्यारी का आकर्षण स्थान बैतूली धार

मुनस्यारी के प्रमुख दर्शनीय स्थलों में से एक बैतूली धार है जोकि 9000 फीट की ऊँचाई पर स्थित है। यह स्थान बलति और बालम ग्लेशियरों से ढंके बर्फ के कारण प्रसिद्ध है। सूर्योदय और सूर्यास्त (Munsiyari Sunrise And Sunset Point) के समय यहाँ का नजारा बहुत ही आकर्षक लगता है। पर्यटकों को मुनस्यारी की यात्रा के दौरान इस स्थान पर जरूर आना चाहिए।

4.9 मुनस्यारी का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल गोरी गंगा नदी – Munsiyari Ka Prasidh Paryatan Sthal Gori Ganga River In Hindi

मुनस्यारी का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल गोरी गंगा नदी

मुनस्यारी के प्रमुख लोकप्रिय स्थानों में गोरी गंगा नदी का स्थान भी प्रमुख है। गोरी गंगा नदी का सफ़ेद पानी पर्यटकों के लिए राफ्टिंग का सबसे अच्छा स्थान है। यह पवित्र नदी राफ्टिंग के लिए ही प्रसिद्ध है। यह स्थान पर्यटकों को सहज ही अपनी और आकर्षित करता है।

4.10 मुनस्यारी के फेमस टूरिस्ट प्लेस दरकोट – Munsiyari Ke Famous Tourist Place Darkot In Hindi

मुनस्यारी के फेमस टूरिस्ट प्लेस दरकोट
Image Credit: Amitesh Gupta

मुनस्यारी से 6 किलोमीटर दूर स्थित दरकोट एक गाँव है जोकि खरीदारी के लिए बहुत लोकप्रिय है। दुकानदारों के लिए यह स्थान स्वर्ग के सामान है। इस गाँव में मिलने वाले पश्मीना शॉल और भेड़ के ऊन से बने कम्बल बहुत प्रसिद्ध है। पर्यटकों के लिए यह स्थान मुनस्यारी के आसपास के शिल्पकारों की कलाओं का प्रदर्शन दिखाने वाला है।

और पढ़े: उत्तराखंड के मशहूर तुंगनाथ घूमने की जानकारी 

5. मुनस्यारी घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Munsiyari In Hindi

मुनस्यारी घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

मुनस्यारी घूमने जाने का सबसे अच्छा समय मार्च से जून और सितम्बर से अक्टूबर महीने के दौरान का माना जाता हैं। हालाकि पर्यटक किसी भी समय इस पहाड़ी क्षेत्र की यात्रा का आनंद उठा सकते है। गर्मियों के समय पर्यटक यहाँ की शानदार चोटियों पर ट्रेकिंग का मजा ले सकते है।

6. मुनस्यारी का प्रसिद्ध भोजन – Famous Food Of Munsiyari In Hindi

मुनस्यारी का प्रसिद्ध भोजन

मुनस्यारी छोटा सा गाँव है इसलिए यहाँ ज्यादा रेस्टोरेंट नही है परन्तु मुनस्यारी के ढाबों पर बहुत ही स्वादिष्ट व्यंजन मिलता है। भारतीय और कुमाउनी भोजनों में मुख्य रूप से कुलका (Kulka) बहुत प्रसिद्ध पकवान है। इसके साथ ही मूंगफली, आटे और आलू के व्यंजन बहुत प्रसिद्ध है।

7. मुनस्यारी में कहाँ रुके – Where To Stay In Munsiyari In Hindi

मुनस्यारी में कहाँ रुके

मुनस्यारी और इसके प्रमुख पर्यटन स्थलों की यात्रा करने के बाद यदि आप किसी आवास स्थान की तलाश में हैं तो हम आपको बता दें कि मुनस्यारी में कई होटल उपलब्ध हैं। जोकि आपको लो-बजट से लेकर हाई-बजट की रेंज में मिल जायेंगे।

  • जौहर हिलटॉप रिसॉर्ट (Johar Hilltop Resort)
  • गोरूमगो होमस्टे मुनस्यारी (Goroomgo Homestay Munsiyari)
  • होटल लक्ष्मी लॉज (Hotel Laxmi Lodge)
  • मिलम इन्न होटल (Milam Inn Hotel)
  • पंचाचूली व्यू होटल (Panchachuli View )

और पढ़े: उत्तराखंड के प्रसिद्ध हिल स्टेशन लैंसडाउन यात्रा की पूरी जानकारी

8. मुनस्यारी उत्तराखंड कैसे पंहुचा जाये – How To Reach Munsiyari Uttarakhand In Hindi

मुन्सियारी शहर की यात्रा के लिए आप फ्लाइट, ट्रेन और बस में से किसी साधन का भी चुनाव कर सकते हैं, लेकिन इसके बाद भी आपको एक लम्बी दूरी किसी अन्य साधन से तय करनी होगी।

8.1 फ्लाइट से मुनस्यारी कैसे पहुँचे – How To Reach Munsiyari By Flight In Hindi

फ्लाइट से मुनस्यारी कैसे पहुँचे

अगर आपने मुनस्यारी पर्यटन की यात्रा के लिए हवाई मार्ग का चुनाव किया हैं तो हम आपको बता दें कि मुनस्यारी से लगभग 214 किलोमीटर की दूरी पर देहरादून का हवाई अड्डा है। जोकि मुनस्यारी का सबसे निकटतम हवाई अड्डा है। इस हवाई अड्डे के बाहर से आपको टैक्सी आसानी से मिल जाएँगी जिसके माध्यम से आप मुनस्यारी आसानी से पहुँच सकते है।

8.2 ट्रेन से मुनस्यारी कैसे जाये – How To Reach Munsiyari By Train In Hindi

ट्रेन से मुनस्यारी कैसे जाये

अगर आपने मुनस्यारी की यात्रा के लिए रेलवे मार्ग का चुनाव किया हैं तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि काठगोदाम जोकि मुनस्यारी से लगभग 275 किलोमीटर और टनकपुर से लगभग 286 किमी दूर स्थित हैं जोकि मुनस्यारी के सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन है। आप इन रेलवे स्टेशन के बाहर से टैक्सी या बस किराए पर लेकर आसानी से मुनस्यारी पहुँच सकते है।

8.3 कैसे जाये मुनस्यारी बस से – How To Reach Munsiyari By Bus In Hindi

 कैसे जाये मुनस्यारी बस से

यदि आपने मुनस्यारी की यात्रा के लिए सड़क मार्ग का चुनाव किया है तो हम आपको बता दे कि मुनस्यारी उत्तराखंड के प्रमुख शहरों के साथ-साथ अच्छी तरह से जुड़ा हुआ हैं। दिल्ली और अन्य राज्यों से नियमित रूप से मुनस्यारी के लिए बसें चलती है। पर्यटकों को अपनी यात्रा के दौरान कई जगह बस बदलना पड़ेगा और फिर किसी अन्य साधन से मुनस्यारी पहुंचा जा सकता है।

और पढ़े: सिद्धबली बाबा मंदिर कोटद्वार उत्तराखंड के दर्शन और इसके पर्यटन स्थल की जानकारी 

9. मुनस्यारी उत्तराखंड का नक्शा – Munsiyari Uttarakhand Map

10. मुनस्यारी की फोटो गैलरी – Munsiyari Images

और पढ़े:

Leave a Comment