तोरणा किला पुणे घूमने की पूरी जानकारी – Complete information of Torana Fort Pune in Hindi

 Torna Fort Pune in Hindi : तोरणा किला भारत के महाराष्ट्र राज्य में पुणे जिले में स्थित एक बड़ा किला है जिसे प्रचंडगढ़ के नाम से भी जाना जाता है। तोरणा किला पहला किला था जिसे छत्रपति शिवाजी महाराज ने 1646 में कब्जे में लिया था और वह भी उनकी किशोरावस्था के दौरान इसलिए, यह एक महत्वपूर्ण ऐतिहासिक स्मारक के रूप में पहचाना जाता है। इस पहाड़ी की समुद्र तल से ऊंचाई 1,403 मीटर (4,603 फीट) है, जो इसे जिले का सबसे ऊंचा पहाड़ी-किला बनाती है। पुणे जिले में उच्चतम बिंदु पर स्थित किला और एक प्रसिद्ध पर्यटक आकर्षण के रूप में भी जाना जाता है। वीकेंड पर जाने वाले लोगो के लिए तोरणा किला आकर्षण का केंद्र बना हुआ है जहाँ पर्यटक किले के खंडहरों और इसके प्राकृतिक परिवेश का पता लगा सकते हैं। वैसे तो यह किला साल भर पर्यटकों के घूमने के लिए खुला रहता है लेकिन मानसून का मौसम यहाँ घूमने का सबसे अच्छा समय होता है।

यदि आप भी तोरणा किला घूमने जाने वाले है या इस किले के बारे में और अधिक जानना चाहते है तो इस लेख को आखिर तक जरूर पढ़े जिसमे आप तोरणा किल्ला का इतिहास, आर्किटेक्चर और इसकी यात्रा से जुड़ी पूरी जानकारी के बारे में जान सकेगें –

Table of Contents

तोरणा किला में क्या खास है ? – What Is Special In The Torana Fort in Hindi

तोरणा किला में क्या खास है ? - What Is Special In The Torana Fort in Hindi
Image Credit : Dnyanesh waman

तोरणा किला अपने ऐतिहासिक महत्व के अलावा सुरम्य और रोमांचकारी परिवेश के लिए भी जाना जाता है। वास्तव में यह पहाड़ी क्षेत्र और  ढलान ट्रेकिंग के प्रति उत्साही लोगों के बीच काफी प्रसिद्ध है। अधिकांश उन्नत स्तर की ट्रेकिंग अभियानों को आधार से किले तक साहसिक समूहों द्वारा व्यवस्थित किया जाता है। जो लोग इस क्षेत्र का पता लगाना चाहते हैं, लेकिन एक साहसिक गतिविधि में भाग लेने के लिए उत्सुक नहीं हैं, वे दोस्तों और परिवार के साथ छोटी प्रकृति की सैर पर जा सकते हैं। जिसमे रोडवेज द्वारा पहाड़ी की चोटी तक पहुंच सकते हैं या पैदल ही किले का पता लगा सकते हैं। इस प्रकार यह किला फैमली, फ्रेंड्स और कपल्स सभी के घूमने के लिए बहुत ही खास है।

तोरणा किला का इतिहास – History of Torna Fort in Hindi

तोरणा किला का इतिहास – History of Torna Fort in Hindi
Image Credit : Dhanraj Katkar

इतिहासकारों के अनुसार तोरणा किला का निर्माण 13 वीं शताब्दी में हिंदू देवता शिव के अनुयायियों शिव पंथ द्वारा किया गया था। किले के प्रवेश द्वार पर स्थित मेंगाई देवी का मंदिर इस तथ्य का समर्थन करती है कि इसे 13 वीं शताब्दी में बनाया गया था। चार सदियों बाद, 1646 में, शिवाजी महाराज ने किले पर विजय प्राप्त की। वह उस समय एक किशोरी थी (मुश्किल से 16 साल की) और उसने किले को हासिल करके मराठा साम्राज्य पर एक बड़ा प्रभाव डाला जिसके उन्होंने किले का नाम बदलकर “प्रचंड” (प्रचंड का अर्थ विशाल और गद अर्थ किला) रखा।

तोरणा किला 18 वीं शताब्दी तक छत्रपति शिवाजी महाराज की अगली पीढ़ी द्वारा नियंत्रित था। लेकिन उनके पहले पुत्र संभाजी महाराज की हत्या के बाद, मुग़ल साम्राज्य ने किले पर अधिकार कर लिया जिसके बाद औरंगजेब ने भी इसका नाम बदलकर “फुतुलबिब” कर दिया था।

कुछ लोग तो यह भी कहते हैं कि तोरणा किला जीतने का यह युद्ध औरंगजेब का पहला वास्तविक युद्ध था। बाद में, पुरंदर की संधि (1776 में हस्ताक्षरित) के अनुसार, इसे वापस मराठी साम्राज्य में बहाल कर दिया गया और काफी समय तक मराठा साम्राज्य का मूल स्थान बना रहा।

आर्किटेक्चर ऑफ़ तोरणा किला – Architecture of Torna Fort, Pune in Hindi

आर्किटेक्चर ऑफ़ तोरणा किला - Architecture of Torna Fort, Pune in Hindi
Image Credit : Ranjeet pawar

तोरणा किला समुद्र तल से 1400 मीटर की ऊंचाई पर भारत के पश्चिमी घाट (सह्याद्री पर्वत श्रृंखला) में एक पहाड़ी पर बना है। इसमें ऊंचे पत्थर के प्राचीर हैं जो किले के खंडहर को घेरते हैं। मार्ग / सीढ़ी पर सात द्वार हैं जो प्रवेश द्वार की ओर जाते हैं। आधार के करीब पहले द्वार को बिन्नी दरवाजा और मुख्य या अंतिम प्रवेश द्वार को कोठी दरवाजा कहा जाता है। दोनों ओर ऊँची दीवारों के साथ एक संकरी गली किले के परिसर के भीतर फैली हुई है, जो गढ़ के कुछ और हिस्सों की ओर जाती है, जिसमें विभिन्न आकृतियों और समतल मैदान भी हैं। कुछ खंडहर भी ग्रैनरी, गार्ड रूम और विश्राम क्षेत्रों को दर्शाते हैं। किले में कई पानी के टैंक और आसपास कुछ मंदिर भी हैं।

और पढ़े : लोनावला में घूमने की जानकारी और इसके दर्शनीय स्थल

 तोरणा फोर्ट ट्रेकिंग और करने के लिए चीजें – Torna Fort Trekking and Things to do in Hindi

 तोरणा फोर्ट ट्रेकिंग और करने के लिए चीजें - Torna Fort Trekking and Things to do in Hindi

यदि आप अपनी फैमली या फ्रेंड्स के साथ तोरणा किला की ट्रिप को प्लान कर रहे है और यहाँ करने के लिए एक्टिविटीज को सर्च कर रहे हैं तो हम आपको बता दे तोरणा किला ट्रेकिंग, हाइकिंग और कैंपिंग जैसी साहसिक गतिविधियों के लिए प्रसिद्ध है। सहयाद्रि में किले के सुंदर परिवेश में शिविर के लिए पर्याप्त स्थान हैं। पहाड़ों का ढलान उन्नत स्तर के ट्रेक के लिए एकदम सही है क्योंकि कठिनाई स्तर अधिक है,मानसून के दौरान, यह क्षेत्र फिसलन हो जाता है और इसलिए, ट्रेकर्स को सावधान रहने की आवश्यकता होती है।

यदि आपको दर्शनीय स्थलों की यात्रा में रूचि है तो यहाँ झरने, सुरम्य घाटियाँ और पहाड़ी दृश्य हैं, जो पिकनिक और सैर के लिए भी बेहतरीन स्थान हैं। मानसून के दौरान, विशेष रूप से, बादल पर्वत की चोटियों पर नीचे की ओर घूमते हैं, जिससे आसपास के सुंदर दृश्य दिखाई देते हैं।

इस किले में कई खंड हैं जिन्हें पर्यटक देख सकते हैं। किले में प्रवेश करने पर, लोग बुधला माचे में चले जाते हैं जो घास के मैदान का एक विस्तृत विस्तार है। जैसे ही वे आगे बढ़ते हैं, वे मंदिरों, खंडहरों, पानी की टंकियों आदि के पार आ जाते हैं। एक बार जब वे किले के सबसे ऊपरी हिस्से में पहुँच जाते हैं, तो वे सिंहगढ़ किले, खडकवासला डैम, महाबलेश्वर, भटगाव डैम, रायगढ़ और प्रतापगढ़ का शानदार नज़ारा ले सकते हैं।

तोरणा फोर्ट की ट्रिप के लिए टिप्स – Tips for Trip of Torna Fort in Hindi

तोरणा फोर्ट की ट्रिप के लिए टिप्स – Tips for Trip of Torna Fort in Hindi
Image Credit : Kiran Jos

यदि आप तोरणा फोर्ट ट्रेक या यहाँ घूमने जाने वाले है तो किसी भी परेशानी से बचने के लिए नीचे दिए टिप्स को जरूर फॉलो करें

  • आप जब भी तोरणा फोर्ट की ट्रिप पर जाएँ तो ट्रेक के समय के आधार पर स्वेटर या बरसाती या गर्म कपड़े रखें।
  • तोरणा फोर्ट की ट्रिप में यदि ट्रेकिंग करने वाले है तो अपने आपको मेंटली रेडी रखें और हाँ यदि आप पूर्ण रूप से स्वस्थ नही हैं तो तोरणा फोर्ट की ट्रिप को कुछ समय के लिए केंसिल कर दें।
  • ट्रेकिंग करते समय आरामदायक कपडे और ट्रेकिंग शूज पहने।
  • यदि आप बारिश के मौसम में यहाँ घूमने आ रहे है तो ध्यान दे मानसून के मौसम में यहाँ के रास्ते काफी फिसलन भरे होते है इसीलिए सावधानीपूर्वक ट्रेकिंग करें।
  • ट्रेकिंग के दौरान अपने साथ पानी और कुछ खाने का आइटम ले चलें क्योंकि बीच में इन चीज आभाव हो सकता है।
  • ध्यान दे अपनी इस ट्रिप में कैमरा ले जाना बिलकुल ना भूलें क्योंकि आपको यहाँ कई ऐसे दृश्य और नज़ारे देखने को मिलेगे जिन्हें आप अपने कैमरे में केप्चर करने से मिस नही करना चाहगें।

तोरणा किला खुलने का समय – Timings of Torna Fort in Hindi

जो भी पर्यटक तोरणा फोर्ट की टाइमिंग सर्च कर रहे है हम उन्हें बता दे यह किला वैसे तो 24 घंटे खुला रहता है लेकिन दिन में यहाँ यात्रा करना सबसे अच्छा और सेफ होता है इसीलिए आप यहाँ जब भी आयें तो दिन में आयें और अँधेरा होने से पहले वापिस हो जाये।

तोरणा फोर्ट की एंट्री फीस – Entry Fee Torna Fort in Hindi

तोरणा फोर्ट की ट्रिप पर जाने वाले पर्यटकों को बता दे तोरणा किला में प्रवेश और यहाँ घूमने के लिए कोई भी शुल्क नही है यहाँ आप बिना किसी शुल्क के घूम सकते है।

और पढ़े : भारत के 8 सबसे रहस्यमयी और डरावने किले जिनके बारे में जानकार में रोंगटे खड़े हो जायेंगे

तोरणा किला के आसपास घूमने की जगहें – Places to visit around Torna Fort in Hindi

यदि आप तोरणा किला किला की ट्रिप पर जाने वाले है तो हम आपको बता दे पुणे में तोरणा किला के अलावा भी एक से बढ़कर एक पर्यटक स्थल मौजूद है जिन्हें आप अपनी यात्रा में घूमने जा सकते है तो आइये जानते है तोरणा किला के आसपास में घूमने की जगहें –

  • शिवनेरी किला
  • पश्चिमी घाट
  • आगा खान पैलेस
  • पार्वती हिल
  • राजगढ़ किला
  • लाल महल
  • राजा दिनकर केलकर संग्रहालय
  •  सिंहगढ़ किला
  • द एम्प्रेस गार्डन
  • पेशवा उद्यान चिड़ियाघर

तोरणा किला घूमने जाने का बेस्ट टाइम – Best time to visit Torna Fort in Hindi

तोरणा किला घूमने जाने का बेस्ट टाइम - Best time to visit Torna Fort in Hindi
Image Credit : Pravin Nagpure

अगर आप तोरणा किला पुणे की यात्रा करना चाहते हैं तो आप यहां मानसून और सर्दी दोनों मौसम में जा सकते हैं। जुलाई से फरवरी तक पुणे के मौसम काफी अच्छा रहता है, इसलिए यह समय महाराष्ट्र के इस विशाल शहर और इस किले की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय है। हालाकि आप गर्मी के मौसम में भी यहाँ घूमने आ सकते है क्योंकि चिलचिलाती गर्मी यहां मौसम काफी ठंडा होता है जहाँ आप आरामदायक समय व्यतीत कर सकते है।

और पढ़े : खंडाला में घूमने लायक पर्यटन स्थल की जानकारी

तोरणा किला की यात्रा में रुकने के लिए होटल्स – Hotels to stay in Pune in Hindi

तोरणा किला की यात्रा में रुकने के लिए होटल्स – Hotels to stay in Pune in Hindi

यदि आप अपने फ्रेंड्स या फैमली के साथ तोरणा किला और पुणे के अन्य पर्यटक स्थलों की ट्रिप को प्लान कर रहे है और अपनी ट्रिप पर जाने से पहले पुणे में रुकने के लिए होटल्स को सर्च कर रहे है तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दे पुणे में सभी बजट की होटल्स अवेलेवल है जिनको आप अपनी चॉइस के अनुसार सिलेक्ट कर सकते है –

तोरणा किला पुणे केसे पहुचें – How to Reach Torna Fort Pune in Hindi

यदि आप तोरणा किला की ट्रिप को प्लान कर रहे है और सर्च कर रहे है की हम तोरणा किला केसे पहुचें तो हम आपको बता दे तोरणा किला पुणे से सहयाद्री माउंटेन रेंज में लगभग 54 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। पुणे बस स्टैंड, पुणे रेलवे जंक्शन या पुणे हवाई अड्डे पर उतरने वाले यात्रियों को सड़क मार्ग से वेलहे गांव तक आगे की यात्रा करनी होगी। सार्वजनिक परिवहन पुणे में काफी अच्छा है और किले के आधार तक दूरी को कवर करने के लिए एक शहर की बस, ऑटो रिक्शा, ओला, उबेर या अन्य पर्यटक किराये की टैक्सी के बीच एक का चयन कर सकता है।

फ्लाइट से तोरणा किला पुणे केसे जायें – How to Reach Torna Fort Pune by Flight in Hindi

फ्लाइट से तोरणा किला पुणे केसे जायें – How to Reach Torna Fort Pune by Flight in Hindi

यदि आपने पुणे  घूमने जाने के लिए फ्लाइट का सिलेक्शन किया है तो हम आपको बता दे पुणे एयरपोर्ट शहर के केंद्र में स्थित है, जो कि एक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है। यहां के लिए आपको दुनियाभर से उड़ाने मिल जाएगी, इसके अलावा आपको पुणे के लिए भारत के सभी बड़े प्रमुख हवाई अड्डों से फ्लाइट आसानी से मिल जाएगी। यह हवाई अड्डा तोरणा फोर्ट से लगभग 70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। एयरपोर्ट पर उतरने के बाद, तोरणा फोर्ट पहुंचने के लिए आप बस, केब या एक टैक्सी किराए पर ले सकते हैं, जहाँ आप लगभग 2 -3 घंटे का सफ़र करके तोरणा किला भटिंडा पहुंच जायेंगे।

तोरणा फोर्ट पुणे ट्रेन से केसे जायें – How to Reach Torna Fort  Pune by Train in Hindi

तोरणा फोर्ट पुणे ट्रेन से केसे जायें – How to Reach Torna Fort  Pune by Train in Hindi

ट्रेन से ट्रेवल करके भटिंडा की यात्रा पर जाने वाले पर्यटकों को बता दे पुणे में अपना खुद का रेलवे जंक्शन भी मौजूद है जो देश के सबसे बड़े रेलवे जंक्शनों में से एक है, और कई एक्सप्रेस और सुपर फ़ास्ट ट्रेनों से राज्य और देश के प्रमुख शहरों से जुड़ा है इसीलिए आप देश के किसी भी हिस्से से आसानी से ट्रेन से सफ़र करके पुणे पहुच सकते सकते है। और रेलवे स्टेशन पर उतरने के बाद स्थानीय साधनों की मदद से तोरणा किला जा सकते है।

सड़क मार्ग से तोरणा किला पुणे केसे पहुचें – How to Reach Torna Fort Pune by Raod in Hindi

सड़क मार्ग से तोरणा किला पुणे केसे पहुचें – How to Reach Torna Fort Pune by Raod in Hindi

तोरणा किला पुणे सड़कों और मेट्रो लाइन से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। अगर आप परिवहन के सबसे सस्ते साधनों से यात्रा करना चाहते हैं तो बस से पुणे यात्रा के लिए जाएं। बस से पुणे यात्रा के लिए टिकट ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से बुक कर सकते हैं। महाराष्ट राज्य सरकार के अलावा पुणे की निजी बसें भी दैनिक सेवाएं प्रदान करती हैं। पुणे के मुख्य बस स्टेशन चिंचवाड़ और पुणे (बाय-पास) हैं, इन दोनों बस स्टेशन पर बस मुख्य रूप से रूकती हैं।

और पढ़े : पुणे में घूमने की 10 सबसे अच्छी जगह

इस आर्टिकल में आपने तोरणा किला का इतिहास और इसकी यात्रा से जुड़ी जानकारी को डिटेल में जाना है आपको हमारा ये आर्टिकल केसा लगा हमे कमेंट्स में जरूर बतायें।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

तोरणा किला का मेप – Map of Torna Fort in Hindi 

और पढ़े :

Leave a Comment