Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages
Tag

madhya pradesh tourism in hindi

Browsing

Festivals Of Madhya Pradesh In Hindi, भारत के दिल के रूप में जाने जाना वाला मध्य प्रदेश अपनी सांस्कृतिक विरासत और त्यौहार के लिए प्रसिद्ध है। मध्य प्रदेश में आयोजित होने वाले लोकप्रिय फेस्टिवलो को दुनिया में कहीं और नहीं देखा जा सकता है। भारत के किसी भी अन्य स्थान की तरह मध्य प्रदेश कई धर्मों का सह अस्तित्व है जो विभिन्न त्योहारों के उत्सव के साक्षी होते हैं। जिसमे धार्मिक त्योहारों के साथ-साथ आदिवासी त्योहार भी देखने को मिलते हैं। धार्मिक त्योहारों में दशहरा, दिवाली, ईद, जैन त्योहार और क्रिसमस शामिल हैं, जबकि आदिवासी त्योहारों में मडई, भगोरिया और करबा शामिल हैं। इनके अलावा झाबुआ में भगोरिया हाट, नृत्य खजुराहो का नृत्य समरोह, ग्वालियर का तानसेन संगीत समारोह, मडई त्यौहार, और प्रयागराज का मेला भी प्रसिद्ध हैं।

Chhatarpur In Hindi, छतरपुर जिला भारत के मध्य प्रदेश राज्य का एक आकर्षित पर्यटन स्थल है जोकि अपने धार्मिक आकर्षण और शानदार वन्यजीव अभ्यारण, सुन्दर इमारते और खजानों के लिए जाना जाता हैं। छतरपुर जिले में ही पर्यटकों को खुदार और केन नदियों का संगम स्थल देखने को मिलता हैं। इसके अलावा पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए छतरपुर जिले में महाराजा छत्रसाल संग्रहालय, पन्ना राष्ट्रीय उद्यान, जटाशंकर और भीमकुंड आदि खूबसूरत स्थान हैं जहां पर्यटक घूमने के लिए जा सकते हैं। छतरपुर जिले में पर्यटकों के बीच सबसे अधिक लौकप्रिय पर्यटन स्थल यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल में शामिल खजुराहो मंदिर हैं। छतरपुर जिला चारो ओर से आकर्षित वृक्षों, पहाड़ो, नदियों और तालाबो से घिरा हुआ हैं।

Bhojpur Temple In Hindi, भोजपुर मंदिर मध्य प्रदेश राज्य के रायसेन जिले में स्थित हैं और भगवान भोलेनाथ को समर्पित हैं। भोजपुर मंदिर को भोजेश्वर मंदिर के नाम से भी जाना जाता है और इस मंदिर को पूर्व का सोमनाथ भी कहा जाता है। भोजपुर अपनी आकर्षित संरचना और इससे जुडी कथाओं, रहस्यों के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध हैं। भोजपुर मंदिर के बारे में बता दें कि यह मंदिर आज अधुरा हैं और इसका निर्माण कार्य पूरा नही हुआ है। भोजपुर मंदिर में स्थित भगवान शिव की 7 फीट से अधिक ऊँची शिवलिंग स्थापित है। इस शिवलिंग के बारे में कहां जाता है कि भगवान शिव का यह शिवलिंग एक ही पत्थर से बना दुनिया का सबसे बड़ा शिवलिंग हैं।