मुर्शिदाबाद के प्रमुख ऐतिहासिक स्थल और घूमने की बेस्ट जगहें – Historical Places In Murshidabad in Hindi

Best Places To Visit In Murshidabad in Hindi : भागीरथी नदी के तट पर स्थित “मुर्शिदाबाद” पश्चिम बंगाल का प्रमुख ऐतिहासिक शहर है, जो मुगल और ब्रिटिश औपनिवेशिक इतिहास के लिए जाना जाता है। पश्चिम बंगाल का यह छोटा पर्यटन स्थल कई ऐतिहासिक और पर्यटन स्थलों से परिपूर्ण है, जो अतीत की सुंदरता को वर्तमान की मान्यताओं को एक साथ प्रस्तुत करता है।

यह शहर अपने पर्यटकों एक सुंदर और प्राचीन समय ले जाता है जो इतिहास की झलक के साथ साथ शांति और विस्मय का एक मिश्रण पेश करता है। यदि आप इतिहास प्रेमी है, तो आपको अपने जीवन में एक बार मुर्शिदाबाद की यात्रा जरूर करनी चाहिये, जहाँ आप मुगल और ब्रिटिश शासन में निर्मित कई ऐतिहासिक संरचनाओं देख सकगें।

तो आइये इस आर्टिकल में हम “मुर्शिदाबाद के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल” और यात्रा से जुड़ी पूरी जानकारी को डिटेल में जानेगें यकीन माने इन प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्थलों की अद्भुद वास्तुकला और इतिहास के बारे में जानकार यहाँ आने के लिए एक्साईटेड हो जायेगे –

Table of Contents

मुर्शिदाबाद का इतिहास – History of murshidabad in Hindi

मुर्शिदाबाद का प्राचीन बाण मकसूदबाद था, जिसे बदलकर नवाब मुर्शिद कुली खान, बंगाल, ओडिशा और बिहार के दीवान के नाम पर रखा गया है, जिन्होंने 1704 में अपने प्रशासन को ढाका से मकसूदबाद स्थानांतरित कर दिया था और शहर का नाम बदलकर मुर्शिदाबाद कर लिया था।

मुग़ल काल के दौरान मुर्शिदाबाद बंगाल की राजधानी हुआ करता था जबकि ब्रिटिश काल के दौरान इसे बंगाल प्रेसिडेंसी के एक जिले में परिवर्तित कर दिया गया था।

मुर्शिदाबाद में घूमने की जगहें – Best Places To Visit In Murshidabad in Hindi

हज़ार्डियरी पैलेस, मुर्शिदाबाद – Hazardiary Palace, Murshidabad in Hindi

हज़ार्डियरी पैलेस, मुर्शिदाबाद - Hazardiary Palace, Murshidabad in Hindi
Image Credit : Pk Roy

41 एकड़ के विशाल क्षेत्र में फैला हुआ “हज़ार्डियरी पैलेस” मुर्शिदाबाद के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल (Famous Tourist Places in Murshidabad) में से एक है। भागीरथी नदी के पूर्वी तट पर स्थित हज़ार्डियरी पैलेस अपनी भव्यता के लिए प्रसिद्ध है, जो मुर्शिदाबाद की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का एक शानदार उदाहरण है। हज़ार्डियरी पैलेस का निर्माण इतालवी और ग्रीक स्थापत्य शैली के अद्भुद सयोंजन से किया गया है, जो इसे पर्यटकों और कला प्रेमियों के घूमने के लिए मुर्शिदाबाद की सबसे अच्छी जगहें में से एक बनाती है।

अपने पहले के दिनों में, हज़ार्डियरी पैलेस एक रीगल हवेली था, जिसे अब अमूल्य अवशेषों के संग्रहालय में बदल दिया गया है। जहाँ नवाब के स्वामित्व वाली पुरानी कारों से लेकर सिराज-उद-दौला की बेशकीमती तलवारों तक कई ऐतिहासिक वस्तुयों को संग्रहित किया गया है।

हज़ार्डियरी पैलेस की टाइमिंग –Timing of Hazardieri Palace in Hindi

  • सुबह 9.00 बजे से शाम 5.00 बजे तक ( ध्यान दे हज़ार्डियरी पैलेस नेशनल हॉलिडे में बंद रहता है)

हज़ार्डियरी पैलेस की एंट्री फीस – Entry Fees of Hazardieri Palace in Hindi

  • इंडियन टूरिस्टस के लिए : 5 रूपये प्रति व्यक्ति
  • फॉरेन टूरिस्टस के लिए : 100 रूपये प्रति व्यक्ति

निज़ामत इमामबाड़ा – Nizmat Imbambara, Murshidabad in Hindi

निज़ामत इमामबाड़ा - Nizmat Imbambara, Murshidabad in Hindi
Image Credit : Amit Kumar Pal

मुर्शिदाबाद के प्रमुख पर्यटक स्थल (Famous Tourist Places in Murshidabad) में से एक “निज़ामत इमामबाड़ा” भागीरथी नदी के किनारे और हज़ार्डियरी महल के सामने स्थित है। निज़ामत इमामबाड़ा का निर्माण हुमायूँ जाह के पुत्र नवाब नाज़िम मानसून अली खान फ़रदुन जाह ने 1847 ई में करवाया था। वास्तव में इस मस्जिद या इमामबाड़ को सिराज-उद-डौला द्वारा निर्मित कराया गया था लेकिन आग लगने के कारण यह पवित्र स्थल खाक हो गया था जिसके बाद सिर्फ 11 महीनो में उसी जगह पर निज़ामत इमामबाड़ा का निर्माण करबाया गया था।

बता दे निज़ामत इमामबाड़ा को भारत का सबसे बड़ा इमामबाड़ा माना जाता है, जो पर्यटकों और मुस्लिम श्र्धालुयों के मुख आकर्षण का केंद्र बना हुआ है, जिसे देखने के लिए देश विदेश से पर्यटक आते है। जो भी पर्यटक मुर्शिदाबाद में घूमने लिए सबसे अच्छी जगहें सर्च कर रहे है उन्हें इस ऐतिहासिक और पवित्र स्थल घूमने जरूर जाना चाहिये।

मोती झील मुर्शिदाबाद – Moti Jheel, Murshidabad in Hindi

मोती झील मुर्शिदाबाद - Moti Jheel, Murshidabad in Hindi
Image Credit :Priyabrata Dutta

मोती झील मुर्शिदाबाद की सबसे आकर्षक जगहें में से एक है, जो स्थानीय लोगो और पर्यटकों दोनों के लिए समान रूप से लोकप्रिय बनी हुई है। मोतीझील मुर्शिदाबाद उन कुछ स्थानों में से एक है जो भारतीय और ब्रिटिश इतिहास को दर्शाता है। इस खूबसूरत घोड़े की नाल के आकार की झील की खुदाई प्रसिद्ध घासेती बेगम के पति नवाज़ मोहम्मद ने की थी जो आज मुर्शिदाबाद के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल के रूप में जानी जाती है। बता दे यह झील ब्रिटिश अधिकारियों के बीच काफी लोकप्रिय थी जिस कारण इसे कंपनी बाग’ के रूप में भी जाना गया। यदि आप मुर्शिदाबाद प्रमुख ऐतिहासिक स्थल (Historical Places In Murshidabad in Hindi) की यात्रा पर है तो आपको अपना कुछ समय मोती झील की किनारे भी जरूर व्यतीत करना चाहिये।

और पढ़े : कुरसेओंग हिल स्टेशन में घूमने की बेस्ट जगहें

फौती मस्जिद मुर्शिदाबाद – Footi Mosque, Murshidabad in Hindi

फौती मस्जिद मुर्शिदाबाद – Footi Mosque, Murshidabad in Hindi
Image Credit : Koushik Chakraborty

कुमरापोर में हज़ार्डियरी पैलेस के पूर्व की ओर स्थित “फौती मस्जिद” मुर्शिदाबाद के सबसे दिलचस्प स्थान में से एक है। माना जाता है कि यह मस्जिद का निर्माण नवाब सरफराज खान ने 1740 ईस्वी में करबाया था। इस मस्जिद के बारे एक अफबाह या कहानी भी जुड़ी हुई जिसके अनुसार माना जाता है इस मस्जिद का निर्माण सिर्फ एक रात में किये गया था, उसके बाद इस मस्जिद का निर्माण यही छोड़ दिया गया जो आज तक अधुरा है। यही दिलचस्प कहानी पर्यटकों को इस मस्जिद की ओर खिचे आने पर मजबूर कर देती है।

खोश बाग मुर्शिदाबाद – Khosh Bagh, Murshidabad in Hindi

खोश बाग मुर्शिदाबाद – Khosh Bagh, Murshidabad in Hindi
Image Credit : Soumitra Das

भागीरथी नदी के पश्चिमी तट पर 8 एकड़ में सुंदर हरे भरे पेड पौधों और फूलों के बीच स्थित “खोश बाग” बंगाल के नवाबों का एक कब्रिस्तान है। खोश बाग को खुश बाग के नाम से भी जाना जाता है जिसका अर्थ है “खुशियों का बगीचा”) है। वास्तव में इस कब्रिस्तान में या बाग़ में नवाब सिराज उद-दौला, उनकी पत्नी लुत्फ़-उन-निसा, नवाब अलीवर्दी ख़ान और उनकी माँ के अलावा अन्य नवाब परिवार के सदस्यों की कब्रे है। इसी बजह से यह स्थान उनके वंशजो और मुस्लिम समुदाय के लोगो के बीच काफी महत्वपूर्ण स्थान रखता है और मुस्लिम लोगो के साथ साथ दूर दूर से इतिहास शौक़ीन और पर्यटक भीं उनको श्रधांजली देने के लिए आते है।

वासिफ मंजिल मुर्शिदाबाद – Wasif Manzil Murshidabad in Hindi

वासिफ मंजिल मुर्शिदाबाद - Wasif Manzil Murshidabad in Hindi
Image Credit : Sandip Paul

वासिफ मंजिल मुर्शिदाबाद के प्रमुख ऐतिहासिक स्थल में से एक है। हज़ार्डियरी पैलेस के दक्षिणी छोर पर स्थित, वासिफ मंजिल को न्यू पैलेस के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि इसे बहुत बाद में बनाया गया था। इस पैलेस को मुर्शिदाबाद के नवाब वासिफ अली मिर्जा खान ने बनवाया था जिसका उपयोग नवाब ने अपने निवास के रूप में किया था। वासिफ मंजिल की छोटी सरंचना  होने के बाबजूद है भी अद्भुद कारीगरी को अपने अन्दर समेटे हुए है जो इसे मुर्शिदाबाद में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें (Best Places To Visit In Murshidabad in Hindi) में से एक बनाती है।

बता दे इस महल के अन्दर एक कृत्रिम पहाड़ी का भी निर्माण किया गया था लेकिन 1867 के भूकंप में महल के अधिकांश हिस्सों के साथ नष्ट वह पहाड़ी भी नष्ट हो गयी थी। हालाकि भूकम्प के बाद वासिफ मंजिल का पुनर्निर्माण तो किया गया था लेकिन पहाड़ी का पुनर्निर्माण नही किया गया।

मुर्शिदाबाद जिला संग्रहालय – Murshidabad District Museum, Murshidabad in Hindi

मुर्शिदाबाद के प्रमुख पर्यटक स्थल (Famous Tourist Places in Murshidabad in Hindi) के रूप लिस्टेड मुर्शिदाबाद जिला संग्रहालय एक ऐसी जगह है जिसके बिना मुर्शिदाबाद की यात्रा अधूरी मानी जाती है। बता दे इस म्यूजियम का निर्माण 1965 में शुरू हुआ, जिसे पूरा होने में लगभग 20 साल लगे और आखिरकार 1985 में इस संग्रहालय का परिचालन शुरू किया गया।

यह म्यूजियम जियागंज के स्वर्गीय राय बहादुर सुरेंद्र नारायण सिंहा द्वारा दान की गई भूमि पर निर्मित किया गया है जो उनके व्यक्तिगत संग्रह को प्रदर्शित करता है। इस संग्रहालय में सुरेंद्र नारायण सिंहा जी की कलाकृतियों के साथ साथ कई दुर्लभ पुस्तकों संग्रह भी मौजूद है जिन्हें आप यहाँ देख सकेगें।

मुर्शिदाबाद जिला संग्रहालय खुलने का समय

  • सुबह 10.00 बजे से शाम 5.30 बजे तक

मुर्शिदाबाद जिला संग्रहालय का प्रवेश शुल्क

  • 5 रूपये प्रति व्यक्ति

और पढ़े : दीघा के प्रमुख पर्यटक स्थल और यात्रा से जुड़ी जानकारी 

मदीना मुर्शिदाबाद – Madinh Murshidabad in Hindi

मदीना मुर्शिदाबाद - Madinh Murshidabad in Hindi
Image Credit : Mridul Ghosh

मदीना हज़ार्डियरी पैलेस और इमामबाड़ा के बीच स्थित एक छोटी मस्जिद है। यह मदीना पश्चिम बंगाल के सबसे पवित्र मुस्लिम स्थानों में से एक है जहाँ हर साल हजारों की संख्या में पर्यटक और मुस्लिम श्रद्धालु दौरा करते है। बता दे इस परिसर में दो मस्जिद है एक पुरानी 18 वीं शताब्दी के दौरान नवाब सिराज उद-दौला द्वारा बनवाई गई थी जबकि दूसरी 1847 में नवाब मंसूर अली खान द्वारा नई बनाई गई थी। पुरानी मस्जिद 1842 में आग से जल गया थी इसी वजह से 1847 में नवाब मंसूर अली खान ने नई इमारत के अंदर इस मस्जिद का निर्माण किया था। इस मस्जिद में हज़रत मुहम्मद की कब्र भी मौजूद है जिस वजह से इस मदीना को पश्चिम बंगाल के सबसे पवित्र स्थल के रूप में माना जाता है।

 कठगोला, मुर्शिदाबाद – KathGola, Murshidabad in Hindi

कठगोला, मुर्शिदाबाद - KathGola, Murshidabad in Hindi
Image Credit : Krishanu Acharya

मुर्शिदाबाद से कुछ किलोमीटर की दूरी पर स्थित “कठगोला” एक शानदार महल है, जिसे व्यापार यात्राओं के दौरान मूल रूप से यूरोपीय और मुस्लिम मेहमानों का मनोरंजन करने के लिए बनाया गया था। यदि आप अपने फ्रेंड्स के साथ मुर्शिदाबाद में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें सर्च (Best Places To Visit In Murshidabad in Hindi) कर रहे है, तो आपको कठगोला घूमने अवश्य जाना चाहिये। यह शानदार महल एक बगीचा, तालाब और आदिनाथ को समर्पित एक मंदिर जैसे आकर्षणों से घिरा हुआ है जिन्हें आप यहाँ देख सकेगें। यही वजह है की कठगोला को मुर्शिदाबाद की सबसे आकर्षक जगहें में शामिल किया गया है।

बेलमपोर मार्केट मुर्शिदाबाद – Belampore Market, Murshidabad in Hindi

क्या आप जानते है ? मुर्शिदाबाद अपने ऐतिहासिक स्थल के साथ साथ साड़ियों के उत्पादन और अपने जटिल डिजाइन और पैटर्न कार्यों के लिए भी प्रसिद्ध हैं। इसी बजह से बेलमपोर मार्केट को मुर्शिदाबाद में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें (Best Places To Visit In Murshidabad in Hindi) में शामिल किया गया है जहाँ अक्सर देश विदेश से आने वाले पर्यटक इन सुंदर डिजाइन वाली साड़ियों को देखने और शोपिंग करने के लिए यहाँ आते है। इसीलिए आप जब भी अपनी फैमली के साथ मुर्शिदाबाद घूमने जायें तो बेलमपोर मार्केट में प्रसिद्ध सिल्क कोरा साड़ी के शोपिंग के लिए जरूर जायें।

कटरा मस्जिद, मुर्शिदाबाद – Katra Mosque, Murshidabad in Hindi

कटरा मस्जिद, मुर्शिदाबाद – Katra Mosque, Murshidabad in Hindi
Image Credit : Sakil Ahmed

कटरा मस्जिद, मुर्शिदाबाद के प्रमुख ऐतिहासिक स्थल (Historical Places In Murshidabad in Hindi) में से एक है जो वर्तमान में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण और पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा संरक्षित है।

मुराद फराश खान द्वारा निर्मित “कटरा मस्जिद” मुर्शिद कुली खान का मकबरा है जिसे 1723 और 1724 के बीच बनाया गया था। यह भारतीय उपमहाद्वीप में सबसे बड़े कारवांसेर में से एक है। माना जाता है कि मस्जिद का निर्माण मुर्शीद कुली खान द्वारा मस्जिद में दफन किए जाने की इच्छा व्यक्त करने के बाद किया गया था।

यह मस्जिद सुंदर हरे भरे गार्डन के मध्य स्थित है जो यहाँ आने वाले पर्यटकों को सुन्दरता के साथ साथ शांत वातावरण प्रदान करती है, जो इसे मुर्शिदाबाद में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें में से एक बनाती है।

जहान कोशा तोप मुर्शिदाबाद –  Jahan Kosha Top Murshidabad in Hindi

जहान कोशा तोप मुर्शिदाबाद -  Jahan Kosha Top Murshidabad in Hindi
Image Credit : Diganta Bhaduri

जहान कोशा तोप (जिसे महान गन के रूप में भी जाना जाता है) का शाब्दिक अर्थ है दुनिया को नष्ट करने वाला। जिसे मुर्शिदाबाद शहर में कटरा मस्जिद के दक्षिण पूर्व में लगभग एक एक किलोमीटर की दूरी पर तोपखाना में रखा गया है। जहान कोशा तोप 18 फीट ऊंची और 7 की टन है, जिसका निर्माण (चांदी, सोना, सीसा, तांबा, जस्ता, टिन, लोहा और पारा) अष्टधातु को मिलाकर किया गया है। यदि आप मुर्शिदाबाद के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल घूमने जाने वाले है तो आपको इस विनाशकारी जहान कोशा तोप को देखने भी जरूर जाना चाहिये। जब भी आप यहाँ आयेंगे तो तोप के साथ साथ शरीफ मस्जिद भी घूम सकेगें जिसमे पैगंबर हजरत मोहम्मद के पदचिह्न की प्रतिकृति रखी गयी है।

मुर्शिदाबाद में शोपिंग – Shopping in Murshidabad in Hindi

मुर्शिदाबाद में शोपिंग - Shopping in Murshidabad in Hindi

बंगाल की समृद्ध संस्कृति में रंगीन, इस शहर में खरीदारी लिए बहुत कुछ है, सुंदर हस्तशिल्प से सुंदर साड़ियों तक,आप इस गंतव्य में लगभग कुछ भी खरीद सकते हैं। इसी बजह से मुर्शिदाबाद में शोपिंग करना भी मुर्शिदाबाद पर्यटन का महत्त्वपूर्ण हिस्सा माना गया है। इसीलिए आप जब भी मुर्शिदाबाद घूमने आये तो अपनी यात्रा को और अधिक यादगार बनाने के लिए शोपिंग करना ना भूलें।

मुर्शिदाबाद घूमने जाने का सबसे अच्छा समय –Best Time To Visit Murshidabad in Hindi

मुर्शिदाबाद घूमने जाने का सबसे अच्छा समय –Best Time To Visit Murshidabad in Hindi
Image Credit : Sujit koley

जो भी पर्यटक मुर्शिदाबाद घूमने जाने के लिए बेस्ट टाइम सर्च कर रहे है उन्हें अक्टूबर से मार्च के महीनो के बीच मुर्शिदाबाद के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल की यात्रा करना चाहिये। मुर्शिदाबाद में गर्मियां बेहद गर्म होती है इसीलिए मुर्शिदाबाद की सुखद यात्रा के लिए सर्दियों का समय अक्टूबर से मार्च के बीच के महीनो को सबसे अच्छा माना जाता है।

और पढ़े : कलिम्पोंग पर्यटन में घूमने के लिए बेस्ट जगहें 

मुर्शिदाबाद में रुकने के लिए होटल्स – Hotels in Murshidabad in Hindi

मुर्शिदाबाद में रुकने के लिए होटल्स - Hotels in Murshidabad in Hindi

यदि आप अपनी फैमली या दोस्तों के साथ मुर्शिदाबाद घूमने जाने का प्लान बना रहे है और मुर्शिदाबाद में रुकने के लिए होटल्स को सर्च कर रहे है, तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दे मुर्शिदाबाद में लो बजट से लेकर हाई बजट तक सभी टाइप के रूमस अवेलेवल है जिनका आप अपने बजट और चॉइस के अनुसार सिलेक्शन कर सकते है।

  • होटल सम्राट (Hotel Samrat)
  • द ब्लिस होटल गोविंदा (The Bliss Hotel Govinda)
  • समृद्धि बैंक्वेट गार्डन एंड रिसॉर्ट्स (Samriddhi Banquet Garden & Resorts)
  • होटल नंदिनी (Hotel Nandini)

मुर्शिदाबाद केसे पहुचें – How To Reach Murshidabad in Hindi

मुर्शिदाबाद की यात्रा पर जाने वाले पर्यटकों को बता दे आप फ्लाइट, ट्रेन या सड़क मार्ग में से किसी से भी ट्रेवल करके मुर्शिदाबाद जा सकते है। तो आइये हम नीचे डिटेल से जानते है की हम फ्लाइट, ट्रेन या सड़क मार्ग से मुर्शिदाबाद केसे जायें।

 फ्लाइट से मुर्शिदाबाद केसे जायें – How to Reach Murshidabad by Flight in Hindi

 फ्लाइट से मुर्शिदाबाद केसे जायें – How to Reach Murshidabad by Flight in Hindi

यदि आपने मुर्शिदाबाद घूमने जाने के लिए फ्लाइट का सिलेक्शन किया है तो जान लें मुर्शिदाबाद के लिए कोई सीधी फ्लाइट कनेक्टविटी नही है। मुर्शिदाबाद का निकटतम हवाई अड्डा नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा कोलकाता में है, जो मुर्शिदाबाद से लगभग 171 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह हवाई अड्डा भारत के प्रमुख शहरों से हवाई मार्ग द्वारा जुड़ा है और यहाँ दैनिक रूप से भी बिभिन्न उड़ाने संचालित की जाती है। एयरपोर्ट पर उतरने के बाद, मुर्शिदाबाद पहुंचने के लिए आप बस, केब या एक टैक्सी किराए पर ले सकते हैं।

मुर्शिदाबाद ट्रेन से केसे जायें – How to Reach Murshidabad by Train in Hindi

मुर्शिदाबाद ट्रेन से केसे जायें – How to Reach Murshidabad by Train in Hindi

ट्रेन से ट्रेवल करके मुर्शिदाबाद की यात्रा पर जाने वाले पर्यटकों को बता दे मुर्शिदाबाद में कोई सीधा ट्रेन रूट भी नही है। मुर्शिदाबाद का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन मारवाहा है, जो मुर्शिदाबाद शहर से 13 किमी दूर है। जबकि दूसरा मुख्य स्टेशन खगराघाट स्टेशन है ये दोनों कोलकाता के साथ साथ राज्य के कुछ प्रमुख शहरों से रेल मार्ग द्वारा जुड़े हुए है। इसीलिए इस स्टेशनों के लिए ट्रेन ना होने पर आप कोलकाता जंक्शन के लिए ट्रेन ले सकते है और फिर बहा से इन  स्टेशन के लिए ट्रेन ले सकते है।

मुर्शिदाबाद सड़क मार्ग से केसे पहुचें – How to Reach Murshidabad by Raod in Hindi

मुर्शिदाबाद सड़क मार्ग से केसे पहुचें – How to Reach Murshidabad by Raod in Hindi

मुर्शिदाबाद राज्य के विभिन्न शहरों से सड़क मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है, और इसलिए देश के किसी भी हिस्से से मुर्शिदाबाद की यात्रा करना आसान है। हालांकि मुर्शिदाबाद में कोई बस स्टैंड नहीं है, आपको मुर्शिदाबाद जाने के लिए शहर से लगभग 95 किलोमीटर दूर मालदा से टैक्सी लेनी होगी।

और पढ़े : पश्चिम बंगाल के पर्यटन स्थल की जानकारी

इस आर्टिकल में आपने मुर्शिदाबाद के प्रमुख ऐतिहासिक स्थल (Historical Places In Murshidabad in Hindi) और मुर्शिदाबाद में घूमने की सबसे अच्छी जगहें को जाना है आपको हमारा आर्टिकल केसा लगा हमे कमेंट्स में जरूर बतायें।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

मुर्शिदाबाद का मेप – Map of murshidabad in Hindi

और पढ़े :

Leave a Comment