हनुमान टोक इन हिंदी – Complete information about Hanuman Tok in Hindi

Hanuman Tok in Hindi : हनुमान टोक गंगटोक सिक्किम का एक बहुत प्रसिद्ध मंदिर है जिसका नाम हनुमान जी के नाम पर रखा गया है। इस मंदिर की सबसे खास बात यह है कि मंदिर की देखभाल भारतीय सेना द्वारा की जाती है। यह मंदिर 7,200 फीट की ऊंचाई पर स्थित मंदिर है जो दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची चोटी है जहाँ से माउंट कंचनजंगा और गंगटोक शहर के सुन्दर दृश्यों को देखा जा सकता है। साथ ही यह भी माना जाता है कि हनुमान टोक में सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं, जो देश भर के पर्यटकों के साथ-साथ स्थानीय लोगों को भी आकर्षित करती हैं।

बता दे हनुमान टोक आने वाले पर्यटक इस जगह की सुंदरता का भरपूर आनंद लेते हैं। इस जगह सूर्योदय का नजारा बेहद ख़ास होता है इसलिए अगर आप सूर्योदय देखता चाहते हैं तो आप सुबह 5:00 बजे से पहले यहां पहुंच सकते हैं जो देखने के बाद आपको एक अलग ही एहसास होगा।

यदि आप इस प्रसिद्ध की यात्रा करने की योजना तैयार कर रहे है तो एक बार इस लेख को पूरा जरूर पढ़ ले जिसके माध्यम से हम आपको हनुमान टोक की यात्रा कराने वाले है –

Table of Contents

हनुमान टोक हिस्ट्री इन हिंदी – Hanuman Tok History in Hindi

हनुमान टोक हिस्ट्री इन हिंदी – Hanuman Tok History in Hindi

हनुमान टोक का इतिहास काफी दिलचस्प और अनोखा है क्योंकि स्थानीय लोगो के अनुसार माना जाता है बहुत समय पहले, लोग यहाँ एक पत्थर की पूजा करते थे जो यहाँ खुले में स्थापित था। लेकिन एक बार अप्पाजी पंत (जो एक अधिकारी थे) उन्होंने इस पवित्र स्थल के बारे में सपना देखा जिसके बाद उन्होंने 1950 के दशक में हनुमान टोक का निर्माण करबाया और भगवान हनुमान की एक प्रतिमा को यहाँ स्थापित किया।

कुछ सालों बाद 1968 में, इस क्षेत्र को भारतीय सेना को दिया गया था, और तब से हनुमान टोक की देख रेख भारतीय सेना द्वारा ही की जाती है।

हनुमान टोक से जुडी किवदंती – Legend Of Hanuman Tok in Hindi 

हनुमान टोक से जुडी किवदंती – Legend Of Hanuman Tok in Hindi 
Image Credit : Manoj Santra

बता दे इस पवित्र स्थल से एक लोकप्रिय किवदंती भी जुड़ी हुई है जो श्र्धालुयों के लिए आस्था का केंद्र बनी हुई है। पौराणिक कथायों के अनुसार माना जाता है हनुमान टोक वह स्थान था जहां भगवान हनुमान ने संजीवनी को हिमालय से लंका ले जाते समय विश्राम किया था।

हनुमान टोक की वास्तुकला – Architecture Of Hanuman Tok in Hindi

हनुमान टोक मंदिर एक लंबे आकार के साथ एक गोल आकार की संरचना है जिसमें भगवान हनुमान के जीवन को दर्शाते हुए कई चित्रों के साथ पीले और लाल रंग का चित्रण किया गया है। अच्छी तरह से एक लकड़ी की छत और टाइलों से सुसज्जित मंदिर में कुछ कुर्सियों को रखा गया है ताकि आगंतुक आराम कर सकें। हनुमान टोक के पास एक साईं बाबा का मंदिर और सिक्किम के शाही परिवार का अंतिम संस्कार स्थल भी मौजूद है जिसे लुकश्याम के नाम से जाना जाता है।

हनुमान टोक के दर्शन का समय – Timing of Hanuman Tok in Hindi

हनुमान टोक के दर्शन का समय – Timing of Hanuman Tok in Hindi
Image Credit : Indrajit Paul

यदि आप हनुमान टोक की यात्रा पर जाने वाले है और इस मंदिर के दर्शन के समय को सर्च कर रहे है तो हम आपको बता दे हनुमान टोक सुबह 5.00 बजे से शाम 7.00 बजे तक श्र्धालुयों के लिए के लिए खुला रहता है इस दौरान आप कभी भी हनुमान टोक के दर्शन के लिए आ सकते है।

और पढ़े : सिक्किम की ताज गुरुडोंगमार झील घूमने की पूरी जानकारी

हनुमान टोक का प्रवेश शुल्क – Entry fees of Hanuman Tok in Hindi

हनुमान टोक की यात्रा पर आने वाले पर्यटकों और श्र्धालुयों को बता दे हनुमान टोक में प्रवेश और हनुमान जी के दर्शन के लिए कोई भी शुल्क नही है। यहाँ आप बिना किसी शुल्क का भुगतान किये घूम और दर्शन कर सकते है।

हनुमान टोक के आसपास घूमने की जगहें – Places to visit around Hanuman Tok in Hindi

गंगटोक सिक्किम का एक प्रमुख शहर और पर्यटक स्थल है जो हनुमान टोक के साथ साथ अन्य कई प्रसिद्ध मंदिर और पर्यटक स्थलों से भरा हुआ है जिन्हें आप हनुमान टोक की यात्रा दौरान घूम सकते है। यदि आप अपने फ्रेंड्स या फैमली के साथ हनुमान टोक के दर्शन के लिए जाने वाले है अपना कुछ समय निकालकर नीचे दिये गये इन प्रसिद्ध पर्यटक की यात्रा के लिए भी जरूर जायें –

  • नाथुला पास
  • एमजी रोड
  • ताशी व्यू पॉइंट
  • रेशी हॉट स्प्रिंग
  • हिमालयन जूलॉजिकल पार्क
  • बाबा हरभजन सिंह मंदिर
  • गणेश टोक
  • त्सुक ला खंग मठ
  • दो द्रुल चोर्टेन

हनुमान टोक घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit Hanuman Tok in Hindi

हनुमान टोक घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit Hanuman Tok in Hindi
Image Credit : Balu T R

अगर आप हनुमान टोक और इसके आसपास गंगटोक घूमने जाने का प्लान बना रहे हैं तो आपको बता दें कि इस आकर्षक शहर को घूमने के लिए सबसे अच्छा समय अक्टूबर से दिसंबर है, हालांकि इस हिल स्टेशन पर साल पर मौसम आनंदमय होता है। मार्च से लेकर जून के महीनों में गंगटोक में गर्मियों में एक सुखद जलवायु का अनुभव होता है जो दर्शनीय स्थलों की यात्रा के अच्छा समय है। अक्टूबर और फरवरी के बीच गंगटोक का तापमान 0 डिग्री सेल्सियस से नीचे चला जाता है इस दौरान गंगटोक एक अद्भुत आकर्षण लेता है जो आने वाले पर्यटकों के लिए बेहद खास होता है। जबकि जुलाई और सितंबर के बीच यहां मानसून का मौसम होता है इसलिए इस समय यहां जाने से बचे क्योंकि भारी बारिश से आपको बहुत असुविधा हो सकती है।

और पढ़े : गंगटोक में घूमने की 15 खास जगह

हनुमान टोक की यात्रा में रुकने के लिए होटल्स Best Hotels In Gangtok in Hindi

हनुमान टोक की यात्रा में रुकने के लिए होटल्स – Best Hotels In Gangtok in Hindi

जो भी पर्यटक हनुमान टोक की यात्रा में रुकने के लिए होटल्स सर्च कर रहे है हम उन्हें बात दे गंगटोक सिक्किम के प्रमुख शहरों में से एक है जिसमे आपको सस्ते होटलों से लेकर आलीशान रिसॉर्ट्स तक आसानी से मिल जायेंगे, जिन्हें आप ऑनलाइन या ऑफलाइन माध्यम दोनों से बुक कर सकते हैं।

हनुमान टोक गंगटोक केसे पहुचें – How To Reach Hanuman Tok Gangtok in Hindi

हनुमान टोक गंगटोक मुख्य शहर से लगभग 11 किमी दूर गंगटोक-नाथुला राजमार्ग पर स्थित है जहाँ आप फ्लाइट, ट्रेन और सड़क मार्ग से यात्रा करके पहुच सकते है। पार्किंग तक पहुंचने के बाद, आपको ऊपर की ओर पक्की सीढ़ियाँ चढ़ने की ज़रूरत है। हालांकि, चिंता की बात नहीं है क्योंकि चढ़ाई आसान और प्रशंसनीय है और पक्की सीढ़ियों के बीच में आराम करने के लिए बेंच भी हैं। यदि आप हनुमान टोक जाने के लिए परिवहन के अन्य साधनों के बारे में जानना चाहते है तो नीचे दी गयी जानकारी को पढ़े –

 फ्लाइट से हनुमान टोक गंगटोक कैसे पहुंचे – How To Reach Hanuman Tok Gangtok By Airplane in Hindi

फ्लाइट से हनुमान टोक गंगटोक कैसे पहुंचे – How To Reach Hanuman Tok Gangtok By Airplane in Hindi

अगर आप फ्लाइट से हनुमान टोक गंगटोक जाना चाहते हैं तो आपको बता दें कि इस शहर का अपना गंगटोक हवाई अड्डा नहीं है और इसलिए देश के बड़े शहरों से गंगटोक के लिए सीधी उड़ान संभव नहीं है। गंगटोक के सबसे पास का हवाई अड्डा पश्चिम बंगाल में स्थित बागडोगरा में है जो गंगटोक से 124 किमी दूरी पर स्थित है। इस हवाई अड्डे के लिए आपको देश के प्रमुख शहरों से फ्लाइट मिल जाएँगी। एयरपोर्ट पर पहुचने के बाद आप बस या एक टेक्सी बुक करके हनुमान टोक गंगटोक जा सकते है।

 ट्रेन से हनुमान टोक गंगटोक कैसे पहुंचे- How To Reach Hanuman Tok Gangtok By Train in Hindi

ट्रेन से हनुमान टोक गंगटोक कैसे पहुंचे- How To Reach Hanuman Tok Gangtok By Train in Hindi

रेलवे द्वारा गंगटोक पहुँचने की पूरी जानकारी हमने यहाँ दी है। बता दें कि हनुमान टोक गंगटोक के लिए सीधी ट्रेनें उपलब्ध भी नहीं हैं और इसका निकटतम रेलवे स्टेशन न्यू जलपाईगुड़ी में स्थित है जो गंगटोक से 117 किमी दूरी पर स्थित है। न्यू जलपाईगुड़ी रेलवे स्टेशन कोलकाता और नई दिल्ली दोनों प्रमुख शहरों के अलावा कई छोटे शहरों से भी जुड़ा हुआ है रेलवे स्टेशन से हनुमान टोक जाने के लिए आप एक टैक्सी किराए पर ले सकते हैं।

 सड़क मार्ग द्वारा हनुमान टोक गंगटोक कैसे पहुंचे – How To Reach Hanuman Tok Gangtok By Road in Hindi

सड़क मार्ग द्वारा हनुमान टोक गंगटोक कैसे पहुंचे – How To Reach Hanuman Tok Gangtok By Road in Hindi

अगर आप अपनी पर्सनल कार से हनुमान टोक गंगटोक की यात्रा के लिए जाना चाहते हैं तो आपको बता दें कि राष्ट्रीय राजमार्ग 31 ए मार्ग के माध्यम से  गंगटोक जाना सबसे सुविधाजनक रहेगा। सड़क मार्ग जाने का सबसे अच्छा फायदा यह होता है कि आप जरूरत पड़ने पर कहीं भी रुक सकते  है। सड़क से जाने वाले यात्रियों की मदद के लिए मार्ग के किनारे कई एटीएम, ईंधन पंप और भोजन आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं।

और पढ़े : अप्रैल में घूमने के लिए भारत की सबसे अच्छी जगहें

इस लेख में आपने हनुमान टोक का इतिहास और मंदिर की यात्रा से जुड़ी पूरी जानकारी को जाना है आपको हमारा यह लेख केसा लगा हमे कमेंट करके जरूर बतायें।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

हनुमान टोक का मेप – Map of Hanuman Tok

और पढ़े :

Featured Image Credit : Jay Basu

Leave a Comment