सूर्य मंदिर मोढेरा – Sun Temple, Modhera in Hindi

Sun Temple, Modhera in Hindi : गुजरात के एक छोटे से गाँव मोढेरा में पुष्पावती नदी के तट पर स्थित “सूर्य मंदिर” गुजरात के प्रमुख मंदिर में से एक है। इस मंदिर को इस तरह से बनाया गया है कि सूर्योदय और सूर्यास्त की किरणें सीधे सूर्य की मूर्ति पर पड़ती है, जिस वजह इस मंदिर को गुजरात में सबसे अधिक देखे जाने वाले मंदिर में स्थान प्राप्त है। भगवान सूर्य देव को समर्पित इस मंदिर की स्थापना 11 वीं शताब्दी में सोलंकी वंश के राजा भीमदेव ने की थी, जो गुजरात के प्राचीन मंदिर में भी एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है। बता दे इस मंदिर को  सूर्य कुंड, सभा मंडप और गुड़ा मंडप जैसे तीन हिस्सों में विभाजित किया गया है।

यह मंदिर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा संरक्षित भी स्मारक है जो भारत के सबसे प्रसिद्ध सेक्स मंदिर (Famous Sex Temples of India In Hindi) में शामिल है। मंदिर दीवारों पर हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियां साथ साथ बिभिन्न आकृतियों और उत्कृष्ट नक्काशीदार स्तंभों से सुसज्जित हैं, जो इसे श्रद्धालु, पर्यटकों और कला प्रमियों सभी के घूमने के लिए गुजारत के प्रमुख धार्मिक स्थल में से एक बनाता है। यदि आप सूर्य मंदिर मोढेरा के बारे में और अधिक विस्तार से जानना चाहते है तो इस लेख को पूरा जरूर पढ़े –

Table of Contents

सूर्य मंदिर मोढेरा का इतिहास – History of Sun Temple Modhera in Hindi

सूर्य मंदिर मोढेरा का इतिहास – History of Sun Temple Modhera in Hindi
Image Credit : Kaushik Prajapati

 मोढेरा का सूर्य मंदिर भारत के सबसे प्राचीन मंदिरों में से एक है जिसका इतिहास हमे लगभग 1000 साल पहले ले कर जाता है। शोधकर्ताओं और मंदिर में मिले शिलालेखो के अनुसार सूर्य मंदिर मोढेरा का निर्माण 1024-25 इस्वी में चौलुक्य वंश के शासनकाल में राजा भीमदेव द्वारा करबाया गया था। मंदिरों के साथ यह बने कुंड भी 11 वीं शताब्दी की शुरुआत में बनाया गया था। शिलालेख को निर्माण के बजाय गजनी द्वारा विनाश की तारीख माना जाता है क्योंकि इसके तुरंत बाद भीम सत्ता में लौट आए थे। निर्माण के बाद 12 वीं शताब्दी की तीसरी तिमाही में प्रवेशद्वार, मंदिर के बरामदे और मंदिर के द्वार और कर्ण के शासनकाल के दौरान कक्ष का निर्माण करबाया गया था।

सूर्य मंदिर मोढेरा का आर्किटेक्चर – Architecture of Sun Temple Modhera in Hindi

सूर्य मंदिर मोढेरा का आर्किटेक्चर – Architecture of Sun Temple Modhera in Hindi
Image Credit : Dino Rathod

सूर्य मंदिर मोढेरा का निर्माण मरू-गुर्जर शैली (चुलूक्य शैली) किया गया है जिसमे मुख्य रूप से तीन संरचनाये शामिल है एक हॉल (गुढ़मंड़पा), बाहरी या असेंबली हॉल (विश्राममंडल या रंगमंडल) और एक पवित्र जलाशय (कुंड) में धर्मस्थल (गर्भगृह)। सूर्य मंदिर मोढेरा के निर्माण कुछ इस तरह किया गया है की सूर्योदय और सूर्यास्त की किरणें सीधे सूर्य की मूर्ति पर पड़ती है। मंदिर की दीवारों पर हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियां साथ साथ बिभिन्न कामुक आकृतियां उकेरी हैं, जो अंतरंग कृत्यों में लिप्त मूर्तियों को दिखाती हैं। मंदिर में प्रदर्शित कामुक आकृतियों ने पूरे विश्व में प्रसिद्धी हासिल की है, जो हर साल बड़ी संख्या में पर्यटकों को अपनी और अट्रेक्ट करती है।

मोढेरा का पौराणिक महत्व – Mythological significance of Modhera in Hindi

मोढेरा गुजरात का छोटा सा गाँव है जिसके आसपास के पुरे इलाको को पहले धर्मारण्य के नाम से जाना जाता था। पौराणिक कथायों के अनुसार भगवान राम, ऋषि वशिष्ठ की सलाह पर ब्रम्हा हत्‍या से खुद को शुद्ध करने के लिए धर्मरायण में आए थे। जिसके बाद उन्होंने धर्मारायण नामक एक बस्ती में मोधेरक को बसाया और वहाँ एक यज्ञ किया और बाद में इसे सीतापुर नाम दिया जिसे वर्तमान मोढ़ेरा के नाम से जाना जाने लगा।

सूर्य मंदिर मोढेरा में मनाये जाने वाले उत्सव – Modhera Dance Festival in Hindi

मोढेरा के सूर्य मंदिर में हर साल जनवरी के तीसरे सप्ताह में मोढेरा डांस फेस्टिवल या उत्तरार्ध महोत्सव का आयोजन किया जाता है जिसे गुजरात में मनाये जाने प्रमुख त्योहारों में से एक माना जाता है। मोढेरा नृत्य महोत्सव शास्त्रीय भारतीय नृत्य और संगीत का एक वार्षिक उत्सव है जिसे उत्तरार्ध महोत्सव के रूप में भी जाना जाता है। यह एक तीन दिवसीय उत्सव है जो भारत भर से नाट्य, कुचिपुड़ी और कथक जैसे नृत्य रूपों के साथ देश भर के प्रसिद्ध कलाकारों का स्वागत करता है। यदि आप जनवरी के आसपास मोढेरा की यात्रा पर आने वाले है तो जनवरी महीने में आयोजित होने वाले इस उत्सव में जरूर शामिल होने का प्रयास करें।

और पढ़े : गुजरात के त्यौहार और मेले

सूर्य मंदिर मोढेरा की टाइमिंग – Timings of Sun Temple Modhera in Hindi

यदि आप मोढेरा के प्रसिद्ध सूर्य मंदिर घूमने जाने का प्लान बना रहे है और इसके खुलने और बंद होने के समय के बारे में जानना चाहते है तो हम आपको बता दे मोढेरा सन मंदिर सुबह 6.00 बजे से शाम 7. 00 बजे तक खुला रहता है। लेकिन आपको यहाँ सुबह या शाम को यहाँ घूमने आना चाहिए जब सीधे सूर्य की रौशनी भगवान् सूर्यदेव की मूर्ति पर पड़ती है।

सूर्य मंदिर मोढेरा का प्रवेश शुल्क – Entry Fee of Sun Temple Modhera in Hindi

  • भारतीय पर्यटकों के लिए : 25 रूपये प्रति व्यक्ति
  • विदेशी पर्यटकों के लिए : 300 रूपये

सूर्य मंदिर मोढेरा घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit the Sun Temple Modhera in Hindi

सूर्य मंदिर मोढेरा घूमने जाने का सबसे अच्छा समय - Best time to visit the Sun Temple Modhera in Hindi
Image Credit : Im Div

वैसे तो आप साल के किसी भी समय मोढेरा के प्रसिद्ध सूर्य मंदिर की यात्रा कर सकते है लेकिन यदि मौसम की स्थिति के अनुसार बात करें तो गर्मियों में कई बार यहाँ का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस को पार कर जाता है। इसीलिए सर्दियों के महीने सूर्य मंदिर मोढेरा की यात्रा के लिए सबसे अच्छे महीने होते है। इसके अलावा आप जनवरी के चौथे सप्ताह के दौरान आयोजित होने उत्तरार्ध महोत्सव में भी घूमने जा सकते है जो यहाँ घूमने आने का सबसे अच्छा समय भी है।

और पढ़े : भारत के प्रमुख सेक्स मंदिर, जिनसे आप अनुमान लगा सकते है, की हमारे पूर्वज सेक्स को लेकर कितने सहज थे

मोढेरा की यात्रा में रुकने के लिए होटल्स – Hotels in Modhera in Hindi

मोढेरा की यात्रा में रुकने के लिए होटल्स - Hotels in Modhera in Hindi

यदि आप मोढेरा की यात्रा में रुकने के लिए होटल्स सर्च कर रहे है तो हम आपको बता दे वैसे तो मोढेरा एक छोटा सा गाँव है लेकिन उसके बाबजूद भी यहाँ कुछ होटल्स और होमस्टे की फैसिलिटी उपलब्ध है। जिनको आप अपनी यात्रा में आराम करने या रुकने के लिए चुन सकते है।

सूर्य मंदिर मोढेरा केसे पहुचें – How To Reach Sun Temple Modhera in Hindi

सूर्य मंदिर मोढेरा पर जाने वाले पर्यटक फ्लाइट, ट्रेन और सड़क मार्ग किसी से भी यात्रा करके जा सकते है तो आइये विस्तार से जानते है की फ्लाइट, ट्रेन या सड़क मार्ग से यात्रा करके सूर्य मंदिर केसे जा सकते है –

 फ्लाइट से सूर्य मंदिर मोढेरा कैसे पहुंचे – How To Reach Sun Temple Modhera By Airplane in Hindi

 फ्लाइट से सूर्य मंदिर मोढेरा कैसे पहुंचे – How To Reach Sun Temple Modhera By Airplane in Hindi

अगर आप फ्लाइट से सूर्य मंदिर मोढेरा जाना चाहते हैं तो आपको बता दें अहमदाबाद हवाई अड्डा मोढेरा का सबसे नजदीकी हवाई अड्डा है जो मोढेरा से लगभग 100 किमी दूरी पर स्थित है। इस हवाई अड्डे के लिए आपको देश के प्रमुख शहरों से फ्लाइट मिल जाएँगी। एयरपोर्ट पर पहुचने के बाद आप बस या एक टेक्सी बुक करके सूर्य मंदिर मोढेरा जा सकते है।

 ट्रेन से सूर्य मंदिर मोढेरा कैसे पहुंचे- How To Reach Sun Temple Modhera By Train in Hindi

ट्रेन से सूर्य मंदिर मोढेरा कैसे पहुंचे- How To Reach Sun Temple Modhera By Train in Hindi

सूर्य मंदिर मोढेरा के लिए सीधी ट्रेनें उपलब्ध भी नहीं हैं और इसका निकटतम रेलवे स्टेशन बेचारजी रेलवे स्टेशन है जो मोढेरा से लगभग 15 किमी दूरी पर स्थित है। अन्य विकल्प के रूप में आप मेहसाणा रेलवे स्टेशन के लिए भी ट्रेन ले सकते है। दोनों में से किसी भी रेलवे स्टेशन पर उतरने के बाद आप स्थानीय साधनों की मदद से सूर्य मंदिर मोढेरा पहुच सकते है।

 सड़क मार्ग द्वारा सूर्य मंदिर मोढेरा कैसे पहुंचे – How To Reach Sun Temple Modhera By Road in Hindi

 सड़क मार्ग द्वारा सूर्य मंदिर मोढेरा कैसे पहुंचे – How To Reach Sun Temple Modhera By Road in Hindi

सड़क मार्ग या बस से सूर्य मंदिर मोढेरा की यात्रा करना काफी आसान है क्योंकि एक छोटा सा गाँव होने के बाद भी मोढेरा सड़क मार्ग द्वारा गुजरात के सबसे प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। मोढेरा के लिए नियमित रूप से बसे भी संचालित की जाती है जिनसे कोई भी आसनी से सूर्य मंदिर जा सकता है।

और पढ़े : भारत के प्रमुख शास्त्रीय नृत्य

इस लेख में अपने सूर्य मंदिर का इतिहास और मंदिर की यात्रा से जुड़ी पूरी जानकारी को जाना है आपको हमारा यह लेख केसा लगा हमे कमेंट करके जरूर बतायें

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

सूर्य मंदिर का मेप – Map of Sun Temple Modhera

और पढ़े :

Leave a Comment